रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया ?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो बेटी भगवान राम को पसीने काल्पनिक कहां या रामायण की घटनाओं को लोग काल्पनिक मानें तो यह तो विचार अपने-अपने है इस संसार में तुम लाठी के बल से किसी को भी उसकी भावनाओं को चेंज नहीं कर सकते लाठी के बल से शरीर गुलाम बनाया जा सकता है तलवार के बल से भी शरीर गुलाम बनाया जा सकता है लेकिन मन को और विचारों को आप गुलाम नहीं बना सकते हैं जब भी इसी बात को ध्यान में रखकर के स्वामी विवेकानंद ने एक बात बहुत अच्छी कही है स्वामी विवेकानंद ने कहा है कि शरीर से शरीर को स्वतंत्र कराया जा सकता है वह सरलता से लेकिन जो मानसिक रूप से गुलाम हो गए हैं उन लोगों को कदापि स्वतंत्र नहीं कराया जा सकता है लिस्ट निकली कि आप हम हम भारतीय लोग शारीरिक रूप से तो अंग्रेजों के से स्वतंत्र 15 अगस्त सन 1947 में हो गए लेकिन मानसिक रूप से आज भी भारतीय अंग्रेजी का गुलाम है यही कारण है कि हम राष्ट्रभाषा हिंदी को आज तक यह स्वीकार नहीं कर पाए पूरे भारतीय कि हमारी राष्ट्रभाषा है राष्ट्रभाषा को संवैधानिक रूप से स्वीकार किया गया लेकिन आज भी दक्षिण भारत में हिंदी को बोलना पसंद नहीं करते हैं ना हिंदी कब हिंदी को चाहते हैं वे हिंदी का विरोध करते हैं अपितु अभी तक आपने देखा था कि सरकारी का कोर्ट के कार्य आदि सभी जूते अधिकारी वर्ग अधिकांश अंग्रेजी भाषा को ही प्रयोग देता था अंग्रेजी पहनावा है अंग्रेजी खानपान है अंग्रेजी भी चार के अंग्रेजी कल्चर आती जा रही है इसका मतलब हम आज भी मानसिक रूप से गुलाम है यह प्रमाणित होता है अब सवाल इस बात का है कि किसी ने कहा कि भाई राम काल्पनिक कोई कह रहा है रामायण काल की मीटिंग भारत में तो बोलता है ना तुमको एक चुटकुला सुना रहा हूं मैं आपको भी सुनिए आप एक बार एक सऊदी अरब से उत्तर भारत में आया सुकून आया तो भारतीय कुत्ते उससे बड़ी झील सी करने लगे भैया तू यहां क्यों आ गया चेहरे के सऊदी अरब बड़ी मस्ती हमारी हम तो आराम से रहते थे खूब बढ़िया सुविधाएं थी मां पर क्या क्या मस्त कुछ नहीं सुनता ही नहीं है बेकार है तो भारतीय कुत्तों ने कहा कि यार तू तो स्वर्ग को छोड़कर वजह से सुखों को छोड़कर किया भारत में क्यों आ गया क्या मतलब था तो उसने कहा बस एक ही सुखवा नहीं था कि क्या इच्छा अनुसार भोंकने का शिकवा नहीं था वहां उतना ही भूखा जा सकता था जितना कि सरकार चाहती थी या वहां का संविधान चाहता था जबकि भारत में स्वतंत्रता के नाम पर कितना ही मौका जा सकता है हर किसी के अपने अपने विचार हैं कोई रामायण को कल पिक मानता है कुरान को काल्पनिक मानता है कि विचारों की सुनता तो है क्योंकि यदि ऐसा नहीं होता तो किसी के सामने साक्षात राम को भी खड़े हो जाएं आ करके और कहे कि मैं भगवान हूं मैं विष्णु का अवतार हूं तो भी इंसान नहीं मानेगा क्योंकि मानो तो भगवान है नहीं मानो तो कुछ नहीं है तो बेटे के दुनिया बहुत अजीब है बाकी यदि महसूस करोगे तो राम कण कण में है कल भी थे आज भी हैं और हमेशा रहेंगे जय श्री राम

dekho beti bhagwan ram ko pasine kalpnik kaha ya ramayana ki ghatnaon ko log kalpnik manen toh yah toh vichar apne apne hai is sansar me tum lathi ke bal se kisi ko bhi uski bhavnao ko change nahi kar sakte lathi ke bal se sharir gulam banaya ja sakta hai talwar ke bal se bhi sharir gulam banaya ja sakta hai lekin man ko aur vicharon ko aap gulam nahi bana sakte hain jab bhi isi baat ko dhyan me rakhakar ke swami vivekananda ne ek baat bahut achi kahi hai swami vivekananda ne kaha hai ki sharir se sharir ko swatantra karaya ja sakta hai vaah saralata se lekin jo mansik roop se gulam ho gaye hain un logo ko kadapi swatantra nahi karaya ja sakta hai list nikli ki aap hum hum bharatiya log sharirik roop se toh angrejo ke se swatantra 15 august san 1947 me ho gaye lekin mansik roop se aaj bhi bharatiya angrezi ka gulam hai yahi karan hai ki hum rashtrabhasha hindi ko aaj tak yah sweekar nahi kar paye poore bharatiya ki hamari rashtrabhasha hai rashtrabhasha ko samvaidhanik roop se sweekar kiya gaya lekin aaj bhi dakshin bharat me hindi ko bolna pasand nahi karte hain na hindi kab hindi ko chahte hain ve hindi ka virodh karte hain apitu abhi tak aapne dekha tha ki sarkari ka court ke karya aadi sabhi joote adhikari varg adhikaansh angrezi bhasha ko hi prayog deta tha angrezi pahanava hai angrezi khanpan hai angrezi bhi char ke angrezi culture aati ja rahi hai iska matlab hum aaj bhi mansik roop se gulam hai yah pramanit hota hai ab sawaal is baat ka hai ki kisi ne kaha ki bhai ram kalpnik koi keh raha hai ramayana kaal ki meeting bharat me toh bolta hai na tumko ek chutkula suna raha hoon main aapko bhi suniye aap ek baar ek saudi arab se uttar bharat me aaya sukoon aaya toh bharatiya kutte usse badi jheel si karne lage bhaiya tu yahan kyon aa gaya chehre ke saudi arab badi masti hamari hum toh aaram se rehte the khoob badhiya suvidhaen thi maa par kya kya mast kuch nahi sunta hi nahi hai bekar hai toh bharatiya kutto ne kaha ki yaar tu toh swarg ko chhodkar wajah se sukho ko chhodkar kiya bharat me kyon aa gaya kya matlab tha toh usne kaha bus ek hi sukhva nahi tha ki kya iccha anusaar bhonkane ka shikwa nahi tha wahan utana hi bhukha ja sakta tha jitna ki sarkar chahti thi ya wahan ka samvidhan chahta tha jabki bharat me swatantrata ke naam par kitna hi mauka ja sakta hai har kisi ke apne apne vichar hain koi ramayana ko kal pic maanta hai quraan ko kalpnik maanta hai ki vicharon ki sunta toh hai kyonki yadi aisa nahi hota toh kisi ke saamne sakshat ram ko bhi khade ho jayen aa karke aur kahe ki main bhagwan hoon main vishnu ka avatar hoon toh bhi insaan nahi manega kyonki maano toh bhagwan hai nahi maano toh kuch nahi hai toh bete ke duniya bahut ajib hai baki yadi mehsus karoge toh ram kan kan me hai kal bhi the aaj bhi hain aur hamesha rahenge jai shri ram

देखो बेटी भगवान राम को पसीने काल्पनिक कहां या रामायण की घटनाओं को लोग काल्पनिक मानें तो यह

Romanized Version
Likes  506  Dislikes    views  6690
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Professor Sourabh Soni

Professor History( Arcelogist)

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया कि पूरे विश्व को पता है पूरे हिंदुस्तान को पता है कि रामायण में राम भगवान को काल्पनिक बताने वाली जो लेडी है उनका नाम है श्रीमती सोनिया गांधी की कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष इन्होंने जमीन की सत्ता थी दो यार ते जाते थे उन्होंने कहा था सुप्रीम कोर्ट में एफिडेविट डाला था वह में लिखा था कि राम इस नॉट एक्जिस्ट मैगी राम नाम की कोई चीज ही नहीं है ना तो रामसेतु है हमारी तो राम है इन्होंने को काल्पनिक कहा था कांग्रेस के श्रीमती सोनिया गांधी जी ने

ramayana me ram ko kalpnik ka mantra kaun bataya ki poore vishwa ko pata hai poore Hindustan ko pata hai ki ramayana me ram bhagwan ko kalpnik batane wali jo lady hai unka naam hai shrimati sonia gandhi ki congress party ke adhyaksh inhone jameen ki satta thi do yaar te jaate the unhone kaha tha supreme court me Affidavit dala tha vaah me likha tha ki ram is not ekjist maggi ram naam ki koi cheez hi nahi hai na toh ramsetu hai hamari toh ram hai inhone ko kalpnik kaha tha congress ke shrimati sonia gandhi ji ne

रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया कि पूरे विश्व को पता है पूरे हिंदुस्तान को प

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने गाना मन में राम को काटने का मंत्र बताएं मदद दी अगर उन्होंने मदद की तो हर तरह से उन्होंने मदद की उन्होंने अपने सखा निषादराज से मदद दे और उसके बाद गंगा के तट पर केवट राणा से भगवान राम ने मदद दी क्योंकि केवट ने भगवान राम का पुरस्कार देना स्वीकार नहीं किया था कातक प्रभु जवाब बनवास कहां से लौट के आएंगे दवा जो पुरस्कार देंगे मैं स्वीकार कर लूंगा तो बनवास कांच इंदौर के सामने केवट को अपने वादे के अनुसार उन्हें पुरस्कार दिया इसी तरह से विभिन्न प्रकार के ऋषि मुनियों से उन्होंने ज्ञान का किया उनसे मदद भी उनकी सहायता ली और फिर कसमंडा के राज सुग्रीव से मदद से स्वयं लंका के लंकापति रावण के भाई विभीषण ने उनसे जान मांगी तो उन्होंने भी बचेगी अंगद से भगवान के भक्त स्वयं श्री हनुमान जी के केसरी नंदन हनुमान जी से और जामुन की जीत से न नींद से सबसे भगवान राम ने कुछ ना कुछ लिया और ना केवल ज्ञान लिया स्वामी विश्वामित्र वशिष्ठ सबसे उन्होंने उनको चाणक्य ज्ञान चीता गुरु माता से प्रियंका ने मंच का ज्ञान

aapne gaana man me ram ko katne ka mantra bataye madad di agar unhone madad ki toh har tarah se unhone madad ki unhone apne Sakha nishadraj se madad de aur uske baad ganga ke tat par kevat rana se bhagwan ram ne madad di kyonki kevat ne bhagwan ram ka puraskar dena sweekar nahi kiya tha katak prabhu jawab banvaas kaha se lot ke aayenge dawa jo puraskar denge main sweekar kar lunga toh banvaas kanch indore ke saamne kevat ko apne waade ke anusaar unhe puraskar diya isi tarah se vibhinn prakar ke rishi muniyon se unhone gyaan ka kiya unse madad bhi unki sahayta li aur phir kasmanda ke raj sugreev se madad se swayam lanka ke lankapati ravan ke bhai vibhishan ne unse jaan maangi toh unhone bhi bachegi angad se bhagwan ke bhakt swayam shri hanuman ji ke kesari nandan hanuman ji se aur jamun ki jeet se na neend se sabse bhagwan ram ne kuch na kuch liya aur na keval gyaan liya swami vishwamitra vashistha sabse unhone unko chanakya gyaan chita guru mata se priyanka ne manch ka gyaan

आपने गाना मन में राम को काटने का मंत्र बताएं मदद दी अगर उन्होंने मदद की तो हर तरह से उन्हो

Romanized Version
Likes  391  Dislikes    views  3989
WhatsApp_icon
user

RAVI DATTA

Dentist

2:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार जय श्री राम दोस्तों जी आपका किशन है रामायण में राम को काल्पनिक मंत्र कौन बताए तो दोस्तों सुनने में आता है कि भगवान श्रीराम को शुरू उन्होंने यह कर रहे थे तो उन्हें काल्पनिक मंत्र बताए गया था भगवान श्री भोले नाथ द्वारा शिव जी द्वारा तो उसके बाद में उन्होंने काल में मंत्र का जप किया और भगवान श्री राम का जो तारक मंत्र है वह है श्रीराम का तारक मंत्र देता है अपार सुख और सौभाग्य श्री राम जय राम जय जय राम श्री राम जय राम जय जय राम यह 7 शब्द वाला एक तारक मंत्र है साधारण से दिखने वाले इस मंत्र में जो शक्ति छिपी हुई है वह अनुभव का विषय है इसे कोई भी कहीं भी कभी भी कर सकता है कल बराबर मिलता है दोस्तों तो आप अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए अपने सुख समृद्धि चाहने के लिए आप इस मंत्र का जाप कर सकते हैं मॉर्निंग इवनिंग जब भी आपको टाइम मिले आप इस मंत्र का जाप कीजिएगा अपने अंदर जो अपार शक्तियों का भंडार एक उभर कर आएगा उसे आप कभी कल्पना भी नहीं कर सकते कि अपनी बॉडी के अंदर इतना अपार शक्ति का भंडार छिपा हुआ है दोस्तों प्रत्येक हिंदू परिवार में देखा जा सकता है कि बच्चे के जन्म से जन्म में राम के नाम का सोहर होता है वैवाहिक आदि शुभ अवसरों पर श्रीराम के गीत गाए जाते हैं राम नाम को जीवन का महामंत्र माना गया है दोस्तों राम शर्मा में मस्तरवा मुक्त है राम सबकी चेतना का सजीव नाम है असमर्थ रघुनाथ कहीं भगत जी वृद्धा ने प्रत्येक राम भक्तों के लिए राम उसके हृदय में वास करता भाग्य और सांत्वना देने वाले हैं जब मन सहज रूप में लगे तब ही मंत्र जाप करें और तारक मंत्र श्री से प्रारंभ होता है और श्री को सीता अथवा शक्ति का प्रतीक माना गया है दोस्तों इसलिए आप अपनी जिंदगी में अगर सुख समृद्धि और खूब सारे धन सुखदा सुख संपदा देवा आते हैं तो भगवान श्री राम का जो यह 7 मंथ नाम वाला मंत्र है इसका जाप करें अपनी बुरी के अंदर जो आप महसूस करेंगे अलग ही उर्जा का संचार होना शुरू हो जाता है तो आप अपनी जिंदगी में बहुत कुछ कर सकते हैं बस अपने आप पर विश्वास रखिए गा और जिंदगी में सदैव अच्छे कर्म करना है बुराइयों से दरियाबाद सकते का साथ दीजिएगा कभी भी असत्य मत बोलने की बोलने और अपने आप पर कॉन्फिडेंस हो और जिंदगी में कर दिखाए को चर्चा की दुनिया करना चाहे आपके जैसा थैंक यू सो मच ऑल द बेस्ट गॉड ब्लेस यू

hello namaskar jai shri ram doston ji aapka kishan hai ramayana me ram ko kalpnik mantra kaun bataye toh doston sunne me aata hai ki bhagwan shriram ko shuru unhone yah kar rahe the toh unhe kalpnik mantra bataye gaya tha bhagwan shri bhole nath dwara shiv ji dwara toh uske baad me unhone kaal me mantra ka jap kiya aur bhagwan shri ram ka jo taarak mantra hai vaah hai shriram ka taarak mantra deta hai apaar sukh aur saubhagya shri ram jai ram jai jai ram shri ram jai ram jai jai ram yah 7 shabd vala ek taarak mantra hai sadhaaran se dikhne waale is mantra me jo shakti chipi hui hai vaah anubhav ka vishay hai ise koi bhi kahin bhi kabhi bhi kar sakta hai kal barabar milta hai doston toh aap apni zindagi me aage badhne ke liye apne sukh samridhi chahne ke liye aap is mantra ka jaap kar sakte hain morning evening jab bhi aapko time mile aap is mantra ka jaap kijiega apne andar jo apaar shaktiyon ka bhandar ek ubhar kar aayega use aap kabhi kalpana bhi nahi kar sakte ki apni body ke andar itna apaar shakti ka bhandar chhipa hua hai doston pratyek hindu parivar me dekha ja sakta hai ki bacche ke janam se janam me ram ke naam ka sohar hota hai vaivahik aadi shubha avasaron par shriram ke geet gaayen jaate hain ram naam ko jeevan ka mahamantra mana gaya hai doston ram sharma me mastarava mukt hai ram sabki chetna ka sajeev naam hai asamarth raghunath kahin bhagat ji vriddha ne pratyek ram bhakton ke liye ram uske hriday me was karta bhagya aur santwana dene waale hain jab man sehaz roop me lage tab hi mantra jaap kare aur taarak mantra shri se prarambh hota hai aur shri ko sita athva shakti ka prateek mana gaya hai doston isliye aap apni zindagi me agar sukh samridhi aur khoob saare dhan sukhda sukh sampada deva aate hain toh bhagwan shri ram ka jo yah 7 month naam vala mantra hai iska jaap kare apni buri ke andar jo aap mehsus karenge alag hi urja ka sanchar hona shuru ho jata hai toh aap apni zindagi me bahut kuch kar sakte hain bus apne aap par vishwas rakhiye jaayega aur zindagi me sadaiv acche karm karna hai buraiyon se dariyabad sakte ka saath dijiyega kabhi bhi asatya mat bolne ki bolne aur apne aap par confidence ho aur zindagi me kar dekhiye ko charcha ki duniya karna chahen aapke jaisa thank you so match all the best god bless you

हेलो नमस्कार जय श्री राम दोस्तों जी आपका किशन है रामायण में राम को काल्पनिक मंत्र कौन बताए

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  1380
WhatsApp_icon
user

Pt.Sudhakar shukla

🦚 Birth kundli Specialist🌹भारत भाग्य विधाता🚩

0:35
Play

Likes  59  Dislikes    views  1472
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे रामायण में रामदेव कल्पना का मंत्र कौन बताया को कुछ इंसान नया क्वेश्चन सही समय कौन सा मंत्र है आप पूछ रहे हैं तो वचन स्पष्ट कीजिए

mujhe ramayana me ramdev kalpana ka mantra kaun bataya ko kuch insaan naya question sahi samay kaun sa mantra hai aap puch rahe hain toh vachan spasht kijiye

मुझे रामायण में रामदेव कल्पना का मंत्र कौन बताया को कुछ इंसान नया क्वेश्चन सही समय कौन सा

Romanized Version
Likes  282  Dislikes    views  2014
WhatsApp_icon
user

मधुपाल सिंह नागपुरे

लाइब्रेरियन( ग्रंथपाल) मार्गदर्शक । मित्र सलाहकार। सुलभ ज्ञान। सत्य दर्शक ।

10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया है दो मित्रों और ऐसा हैं रामायण में राम को जो कल अपनी कह रहे हैं यह ऐसे जो लोग हैं यह वास्तव में जो हैं मतलब लिमिटेड के लोग हैं जो प्रभु श्रीराम को काल्पनिक पात्र कहते हैं यह रामायण को सिर्फ एक काव्य महाकाव्य कहते हैं तो यह इनकी महा मूर्खता है और यह जो मूर्खता है इनकी यह जबरदस्ती की मूर्खता है ऐसा नहीं कि वे नहीं जानते वे जानते हैं कि राम सत्य थे राम ईश्वर रूपी हैं थे नहीं कर सकता मैं राम अवतार भी लिए ईश्वर ने राम के रूप में विष्णु अवतार तो यह मतलब वास्तविक है मगर क्या है जो लोग विरोध कर रहे हैं इनको सिर्फ विरोध करना है इसीलिए ऐसी बातें कर रहे हैं जो हिंदुत्व से हिंदू धर्म से और सनातन धर्म से जो लोग नफरत करते हैं यह लोग ऐसे ही दुष्प्रचार हमेशा करते रहते हैं इन्हें कोई और दूसरा काम है नहीं कोई अच्छा काम तो कर नहीं सकते तो खाली दिमाग शैतान का घर इनका दिमाग सिर्फ बुराई करने में ही लगा हुआ होता है रामायण में राम जो है कल्पनिक नहीं है राम वास्तविक चरित्र है और राम जो है श्री विष्णु के अवतार थे और धरती पर इन्होंने अयोध्या में राजा दशरथ के यहां जन्म लिया था और इनके जो छोटे भाई थे श्री लक्ष्मण जी शेषनाग के अवतार हैं तो कहने का अर्थ यह है रामायण में जो भी मतलब चरित्र चित्रण किया गया है वह काल्पनिक नहीं है सब ईश्वर के ही मतलब द्वारा गढ़ा गया राज वास्तविक घटनाओं पर आधारित वे जीवंत पात्र थे जो यहां से हजारों वर्ष पूर्व यहां धरती पर अपनी लीलाएं कर कर यहां से चले गए एक आदर्शवाद के सिद्धांत को यहां पर धरती पर मतलब धर्म की रक्षा हेतु वे धरती पर आए यह धर्म किस तरह से चलना चाहिए उसके लिए श्री विष्णु जी ने राम का अवतार लिया था और वही पूरा जीवन उनका जो रोल है वह इसी रोल में रहें और इसी चरित्र को भरते रहें और एक आदर्श सिद्धांत यहां स्थापित करने के पश्चात प्रभु श्रीराम धरती से विदा हो गए और फिर से मतलब विष्णु लोक में चले गए तो राम जो है यह विष्णु जी के अवतार हैं फिर मैं बिल्कुल भी नहीं कहूंगा राम कभी समाप्त हो नहीं सकते राम कन कन कन में मौजूद हैं राम सबके अंदर मौजूद है जो विरोध कर रहे हैं उनके भी अंदर मौजूद है काम जो विरोध कर रहे हैं उनके शरीर और उनके रानियों में भी राम है तभी तो यह बार-बार राम-राम कर रहे हैं अन्यथा यह राम-राम नहीं करते कहने का तात्पर्य यह है कि यह सिर्फ एक नफरत की वजह से हो रहा है हिंदुत्व हिंदू धर्म और सनातन धर्म से जो नफरत कर रहे हैं ऐसे लोग ही एक प्रकार का दुष्प्रचार कर रहे हैं अपनी मूर्खता पूर्ण करके और मूर्खता पूर्ण उदाहरण देकर के इनकी एक सोची-समझी साजिश है हिंदुत्व को दबाने की और सनातन धर्म को दबाने की या सनातन धर्म पर दबाव बनाने की एक रणनीति के तहत ए लोग ऐसा बयान देते हैं सबसे पहली बात अगर कोई हिंदू मुस्लिम धर्म से संबंधित किन्हीं 1 चीजो का भी विरोध कर दे पूरे देश में बवाल खड़ा हो जाता है अगर कोई हिंदू बौद्ध धर्म से संबंधित किसी एक चीजों पर उठा ले पूरे देश में बवाल हो जाता है क्रिश्चियन धर्म से संबंधित चीजों का कोई हिंदू विरोध कर दे तो देश में बवाल हो जाता है तो और यह सारे जो बाकी जो सारी चीजें जो हिंदू का हिंदुत्व का और सनातन धर्म का विरोध करते हैं एक ही मंच पर खड़े हो जाते हैं और सब मिलकर हिंदू का हिंदुत्व का और सनातन धर्म का विरोध करने लगते हैं और विरोध करने के लिए जब जब अवसर मिलते हैं ऐसे ही मतलब बयान देते रहते हैं ऐसी ही बातें तेजी से फैल आने का कार्यक्रम यह लोग करते रहते हैं इनका उद्देश्य है हिंदू को बदनाम करो हिंदुत्व को बदनाम करो और सनातन धर्म को बदनाम करो जो सक्सेस शांतिप्रिय धर्म है जो सबसे सहनशील धर्म है जो मतलब सब को सहारा देता है सब में ईश्वर का अंश देखता है सब में मासूमियत देखता है जो कत्ल का विरोध करता है जो बेवजह किसी को मासूम को मार देने का विरोध करता है यहां तक कि पशु-पक्षियों को भी मार देने का विरोध करता है यह हिंदू है यह हिंदू धर्म है यही हिंदुत्व है और यही सनातन धर्म है चाहे कोई इंसान हो पशु पक्षी हो या कोई जानवर हो किसी की भी हत्या करने का जो विरोध करता है वही हिंदू है वही हिंदुत्व है वही हिंदू धर्म है और वही सनातन धर्म है तो इन लोगों से अच्छाइयां बर्दाश्त नहीं होती है हिंदू की हिंदुत्व की हिंदू धर्म की और सनातन धर्म की क्योंकि इन सब के धर्मों के अंदर इतनी ज्यादा बुराइयां भरी हुई है कि यह कहीं ना कहीं सिर्फ विरोध करना ही जानते हैं अब हिंदू खुलकर के हर चीजों का विरोध नहीं करता है क्योंकि भारत में लोकतांत्रिक संविधान हैं और यहां सब को समान रूप से अपने धर्मों को हिसाब से रहने का अधिकार हमारा संविधान देता है इसका मतलब यह नहीं है कि हिंदू कायर हिंदू डरपोक है हिंदू डरपोक नहीं है हिंदू कायर नहीं है हिंदू सिर्फ सहनशील है और उसकी सहने की भी एक सीमा है हिंदू जब जब खड़ा हुआ है तो फिर धरती पर बवंडर आया है हिंदू जब जब खड़ा हुआ है तो धरती पर तांडव मचा है तो हिंदुओं को छेड़ना बंद करना चाहिए ऐसे लोगों ने हिंदुओं से की भावनाओं से बिल्कुल भी ना खेले मैं भी एक हिंदू हूं मुझे भी ठेस पहुंचती है जब लोग इस तरह से मेरे ईश्वर को मेरे आराध्य को मेरे पूज्य देवी देवताओं का बारंबार अपमान करते चाहे वे जिस भी जाति धर्म या मजहब के लोग हो जब भी मेरे इष्ट देवी देवताओं और आराधिका अपमान करते हैं तो मुझे सबसे बड़ी पीड़ा होती है और एक हिंदू होने के नाते मेरी आत्मा को चोट होती है यही चोट हर हिंदू और हिंदुत्व को मानने वाले हिंदू धर्म को मानने वाले और सनातन धर्म को मानने वाले हर व्यक्ति के दिल पर चोट अवश्य ही पूछनी चाहिए और ऐसे बयानों का ऐसी दुर्घटनाओं का पुरजोर विरोध होना चाहिए अभी जैसे हमने पालघर मुंबई में जो घटना देखा है दो और जो साधु संत थे और उनका एक जो मतलब ड्राइवर कार चलाने वाला इन मासूमों की अपेक्षा जिसके अंतर्गत कहीं ना कहीं यह

aapne poocha hai ramayana me ram ko kalpnik ka mantra kaun bataya hai do mitron aur aisa hain ramayana me ram ko jo kal apni keh rahe hain yah aise jo log hain yah vaastav me jo hain matlab limited ke log hain jo prabhu shriram ko kalpnik patra kehte hain yah ramayana ko sirf ek kavya mahakavya kehte hain toh yah inki maha murkhta hai aur yah jo murkhta hai inki yah jabardasti ki murkhta hai aisa nahi ki ve nahi jante ve jante hain ki ram satya the ram ishwar rupee hain the nahi kar sakta main ram avatar bhi liye ishwar ne ram ke roop me vishnu avatar toh yah matlab vastavik hai magar kya hai jo log virodh kar rahe hain inko sirf virodh karna hai isliye aisi batein kar rahe hain jo hindutv se hindu dharm se aur sanatan dharm se jo log nafrat karte hain yah log aise hi dushprachar hamesha karte rehte hain inhen koi aur doosra kaam hai nahi koi accha kaam toh kar nahi sakte toh khaali dimag shaitaan ka ghar inka dimag sirf burayi karne me hi laga hua hota hai ramayana me ram jo hai kalpanik nahi hai ram vastavik charitra hai aur ram jo hai shri vishnu ke avatar the aur dharti par inhone ayodhya me raja dashrath ke yahan janam liya tha aur inke jo chote bhai the shri lakshman ji sheshnaag ke avatar hain toh kehne ka arth yah hai ramayana me jo bhi matlab charitra chitran kiya gaya hai vaah kalpnik nahi hai sab ishwar ke hi matlab dwara gadha gaya raj vastavik ghatnaon par aadharit ve jivant patra the jo yahan se hazaro varsh purv yahan dharti par apni lilaen kar kar yahan se chale gaye ek adarshwad ke siddhant ko yahan par dharti par matlab dharm ki raksha hetu ve dharti par aaye yah dharm kis tarah se chalna chahiye uske liye shri vishnu ji ne ram ka avatar liya tha aur wahi pura jeevan unka jo roll hai vaah isi roll me rahein aur isi charitra ko bharte rahein aur ek adarsh siddhant yahan sthapit karne ke pashchat prabhu shriram dharti se vida ho gaye aur phir se matlab vishnu lok me chale gaye toh ram jo hai yah vishnu ji ke avatar hain phir main bilkul bhi nahi kahunga ram kabhi samapt ho nahi sakte ram kan kan kan me maujud hain ram sabke andar maujud hai jo virodh kar rahe hain unke bhi andar maujud hai kaam jo virodh kar rahe hain unke sharir aur unke raniyon me bhi ram hai tabhi toh yah baar baar ram ram kar rahe hain anyatha yah ram ram nahi karte kehne ka tatparya yah hai ki yah sirf ek nafrat ki wajah se ho raha hai hindutv hindu dharm aur sanatan dharm se jo nafrat kar rahe hain aise log hi ek prakar ka dushprachar kar rahe hain apni murkhta purn karke aur murkhta purn udaharan dekar ke inki ek sochi samjhi saajish hai hindutv ko dabane ki aur sanatan dharm ko dabane ki ya sanatan dharm par dabaav banane ki ek rananiti ke tahat a log aisa bayan dete hain sabse pehli baat agar koi hindu muslim dharm se sambandhit kinhi 1 cheejo ka bhi virodh kar de poore desh me bawaal khada ho jata hai agar koi hindu Baudh dharm se sambandhit kisi ek chijon par utha le poore desh me bawaal ho jata hai Christian dharm se sambandhit chijon ka koi hindu virodh kar de toh desh me bawaal ho jata hai toh aur yah saare jo baki jo saari cheezen jo hindu ka hindutv ka aur sanatan dharm ka virodh karte hain ek hi manch par khade ho jaate hain aur sab milkar hindu ka hindutv ka aur sanatan dharm ka virodh karne lagte hain aur virodh karne ke liye jab jab avsar milte hain aise hi matlab bayan dete rehte hain aisi hi batein teji se fail aane ka karyakram yah log karte rehte hain inka uddeshya hai hindu ko badnaam karo hindutv ko badnaam karo aur sanatan dharm ko badnaam karo jo success shantipriye dharm hai jo sabse sahanashil dharm hai jo matlab sab ko sahara deta hai sab me ishwar ka ansh dekhta hai sab me masumiyat dekhta hai jo katl ka virodh karta hai jo bewajah kisi ko masoom ko maar dene ka virodh karta hai yahan tak ki pashu pakshiyo ko bhi maar dene ka virodh karta hai yah hindu hai yah hindu dharm hai yahi hindutv hai aur yahi sanatan dharm hai chahen koi insaan ho pashu pakshi ho ya koi janwar ho kisi ki bhi hatya karne ka jo virodh karta hai wahi hindu hai wahi hindutv hai wahi hindu dharm hai aur wahi sanatan dharm hai toh in logo se achaiya bardaasht nahi hoti hai hindu ki hindutv ki hindu dharm ki aur sanatan dharm ki kyonki in sab ke dharmon ke andar itni zyada buraiyan bhari hui hai ki yah kahin na kahin sirf virodh karna hi jante hain ab hindu khulkar ke har chijon ka virodh nahi karta hai kyonki bharat me loktantrik samvidhan hain aur yahan sab ko saman roop se apne dharmon ko hisab se rehne ka adhikaar hamara samvidhan deta hai iska matlab yah nahi hai ki hindu kayar hindu darpok hai hindu darpok nahi hai hindu kayar nahi hai hindu sirf sahanashil hai aur uski sahane ki bhi ek seema hai hindu jab jab khada hua hai toh phir dharti par bavandar aaya hai hindu jab jab khada hua hai toh dharti par tandav macha hai toh hinduon ko chedna band karna chahiye aise logo ne hinduon se ki bhavnao se bilkul bhi na khele main bhi ek hindu hoon mujhe bhi thes pohchti hai jab log is tarah se mere ishwar ko mere aradhya ko mere PUJYA devi devatao ka barambar apman karte chahen ve jis bhi jati dharm ya majhab ke log ho jab bhi mere isht devi devatao aur aradhika apman karte hain toh mujhe sabse badi peeda hoti hai aur ek hindu hone ke naate meri aatma ko chot hoti hai yahi chot har hindu aur hindutv ko manne waale hindu dharm ko manne waale aur sanatan dharm ko manne waale har vyakti ke dil par chot avashya hi puchani chahiye aur aise bayanon ka aisi durghatnaon ka purjor virodh hona chahiye abhi jaise humne palghar mumbai me jo ghatna dekha hai do aur jo sadhu sant the aur unka ek jo matlab driver car chalane vala in masumon ki apeksha jiske antargat kahin na kahin yah

आपने पूछा है रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया है दो मित्रों और ऐसा हैं रामायण

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  686
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम काल्पनिक नहीं है हमारी कल्पना में राम बसे हुए हैं अगर आप अपने बाबा के पिताजी और उनके बाबा के लिए अपने पिताजी से पूछेंगे बाबा से पूछा कि को कैसे थे तो आपको एक काल्पनिक चित्र ही मतलब बता पाएंगे और ठेके नहीं थे भाई ऐसा तो नहीं है जब तक विश्वास 9 के बिना विश्वास नहीं करता तेरे बिन राम श्रद्धा और भक्ति विश्वास नहीं होगा राम का मंत्र मालूम पड़ेगा आपको और आप बिल्कुल 84 के चक्कर में घूमते रहेंगे और कष्टों के साथ रहेंगे अपना कर्म पूरा कीजिए श्रद्धा है मानवीय दृष्टिकोण में मिलते हैं अपनी सांसो को रोक करके भगवान को देखने के लिए प्रयास कीजिए जवाब ध्यान लगाएंगे तो आपको दीपक जलता मिलेगा उद्दीपक के अंदर ही आपको उनके दर्शन हो जाएंगे लेकिन सच्ची श्रद्धा से जवाब करेंगे उसके लिए आपको खाना भी छोड़ ध्यान करना पड़ेगा मानव सेवा करो

ram kalpnik nahi hai hamari kalpana me ram base hue hain agar aap apne baba ke pitaji aur unke baba ke liye apne pitaji se puchenge baba se poocha ki ko kaise the toh aapko ek kalpnik chitra hi matlab bata payenge aur theke nahi the bhai aisa toh nahi hai jab tak vishwas 9 ke bina vishwas nahi karta tere bin ram shraddha aur bhakti vishwas nahi hoga ram ka mantra maloom padega aapko aur aap bilkul 84 ke chakkar me ghumte rahenge aur kaston ke saath rahenge apna karm pura kijiye shraddha hai manviya drishtikon me milte hain apni saanso ko rok karke bhagwan ko dekhne ke liye prayas kijiye jawab dhyan lagayenge toh aapko deepak jalta milega uddipak ke andar hi aapko unke darshan ho jaenge lekin sachi shraddha se jawab karenge uske liye aapko khana bhi chhod dhyan karna padega manav seva karo

राम काल्पनिक नहीं है हमारी कल्पना में राम बसे हुए हैं अगर आप अपने बाबा के पिताजी और उनके ब

Romanized Version
Likes  180  Dislikes    views  1425
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

Likes  8  Dislikes    views  263
WhatsApp_icon
user
1:05
Play

Likes  108  Dislikes    views  2157
WhatsApp_icon
user
3:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार बंधु भाइयों आपका सवाल है रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया है भाइयों यह सवाल समझ में नहीं आ रहा है काल्पनिक का मंत्र कौन हो बताएं देखिए जहां तक मैं समझ रहा हूं कि आप यह सवाल कर रहे हैं कि भगवान राम को जो है कपोल कल्पना किसने माना है क्योंकि मुझे याद आ रही है कि पहले मीडिया में जो इस पर एक चर्चा हुई थी नास्तिक लोगों द्वारा लेकिन मैं आपको 2 शब्दों में बता देता हूं आपको हम पर विश्वास नहीं करेंगे नासा की सेटेलाइट पर तो विश्वास करते हैं ना जिसने सबसे पहले भगवान राम द्वारा बनाया हुआ राम सेतु का जो है ऐडम्स ब्रिज करके जो है उसमें खुद रेखाएं देखी थी भारत और श्रीलंका के बीच में जो पाक जलडमरूमध्य है वहां पर आप खुद बताइए कि सेटेलाइट से ली गई तस्वीर झूठी है झूठी हो सकती है झूठी नहीं हो सकती है तो बहनों भाइयों राम जी हैं हमारे काल्पनिक नहीं है उनका जो संदेश है मर्यादा पुरुषोत्तम का माता पिता की आज्ञा का पालन करने का उन्हें हमें मानना चाहिए और वह हमारे आराध्य हैं इसमें कोई दो मत नहीं है जिनको कल्पना मानना है उन्हें मानने दीजिए आपको इससे क्या लेना देना है इस संसार में बहुत सारे लोग हैं जो अपने माता पिता को ही नहीं मानते हैं तुमको क्या कहेगा तो भगवान को क्यों मानेंगे और हमें क्या जरूरत पड़ी है ऐसे लोगों को यह कहने का कि नहीं हो तुम भी मानो यह तो अपना-अपना सेल्फ कर्म है और सिर्फ कर्म अपना स्वाह कर्म है स्वकर्म में जो है जैसा हम करेंगे वैसा ही हम प्राप्त करेंगे हमें किसी के बहकावे में नहीं आने चाहिए और और भी बहुत सारे पुख्ता सबूत हैं भगवान राम के इसमें आपको किसी तीसरे पक्ष को जो इसे काल्पनिक मानता हो उसे स्वीकार करें और अपने जिले में बैठे श्री राम को याद करें कि आपके बेड़ा पार कर देंगे तो यह चीज कल्पना नहीं है हकीकत है और हकीकत जो होता है वह अनुभव किया जाता है दूसरे के कहने में हम क्यों रहे हमें जो है जो शुरू से क्या हुआ है डरता था जो परंपरा में चली आई हुई है हम उसे ही स्वीकार करते हैं और इसके लिए रामायण है आप इसको पढ़िए या अन्य गुरुजनों से इसके बारे में रामायण की कहानियों को सुनी है कि आप को आनंद प्रदान करेंगे जीवन जीने का सच्चा अर्थ आपको देंगे और आपके मन में जो है सकारात्मक भाव भर देंगे यह सबसे बड़ी बात है आज के युग में नकारात्मक भाव इतना तीव्र गति से फैल रहा है जिसका कोई वर्णन नहीं इसीलिए अपने आपको सकारात्मक भाव बना करके रखें तभी जो है आप जीवन में सफल हो सकते हैं धन्यवाद

namaskar bandhu bhaiyo aapka sawaal hai ramayana me ram ko kalpnik ka mantra kaun bataya hai bhaiyo yah sawaal samajh me nahi aa raha hai kalpnik ka mantra kaun ho bataye dekhiye jaha tak main samajh raha hoon ki aap yah sawaal kar rahe hain ki bhagwan ram ko jo hai kapol kalpana kisne mana hai kyonki mujhe yaad aa rahi hai ki pehle media me jo is par ek charcha hui thi nastik logo dwara lekin main aapko 2 shabdon me bata deta hoon aapko hum par vishwas nahi karenge NASA ki satellite par toh vishwas karte hain na jisne sabse pehle bhagwan ram dwara banaya hua ram setu ka jo hai aidams bridge karke jo hai usme khud rekhayen dekhi thi bharat aur sri lanka ke beech me jo pak jaldamarumadhya hai wahan par aap khud bataiye ki satellite se li gayi tasveer jhuthi hai jhuthi ho sakti hai jhuthi nahi ho sakti hai toh bahnon bhaiyo ram ji hain hamare kalpnik nahi hai unka jo sandesh hai maryada purushottam ka mata pita ki aagya ka palan karne ka unhe hamein manana chahiye aur vaah hamare aradhya hain isme koi do mat nahi hai jinako kalpana manana hai unhe manne dijiye aapko isse kya lena dena hai is sansar me bahut saare log hain jo apne mata pita ko hi nahi maante hain tumko kya kahega toh bhagwan ko kyon manenge aur hamein kya zarurat padi hai aise logo ko yah kehne ka ki nahi ho tum bhi maano yah toh apna apna self karm hai aur sirf karm apna swaah karm hai swakarm me jo hai jaisa hum karenge waisa hi hum prapt karenge hamein kisi ke bahakaave me nahi aane chahiye aur aur bhi bahut saare pukhta sabut hain bhagwan ram ke isme aapko kisi teesre paksh ko jo ise kalpnik maanta ho use sweekar kare aur apne jile me baithe shri ram ko yaad kare ki aapke beda par kar denge toh yah cheez kalpana nahi hai haqiqat hai aur haqiqat jo hota hai vaah anubhav kiya jata hai dusre ke kehne me hum kyon rahe hamein jo hai jo shuru se kya hua hai darta tha jo parampara me chali I hui hai hum use hi sweekar karte hain aur iske liye ramayana hai aap isko padhiye ya anya gurujanon se iske bare me ramayana ki kahaniyan ko suni hai ki aap ko anand pradan karenge jeevan jeene ka saccha arth aapko denge aur aapke man me jo hai sakaratmak bhav bhar denge yah sabse badi baat hai aaj ke yug me nakaratmak bhav itna tivra gati se fail raha hai jiska koi varnan nahi isliye apne aapko sakaratmak bhav bana karke rakhen tabhi jo hai aap jeevan me safal ho sakte hain dhanyavad

नमस्कार बंधु भाइयों आपका सवाल है रामायण में राम को काल्पनिक का मंत्र कौन बताया है भाइयों य

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

bokka kamat

Bakwaas Karna

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण को जो काल्पनिक करते हैं उनको अपने अस्तित्व पर भी प्रश्न उठानी चाहिए रामायण को काल्पनिक करने वाले उस बालू की धूल की तरह है जो हवाओं में इधर उधर भी करते रहते हैं हमारा धर्म बहुत बड़ा है इसकी अनंत गहराइयों आकाश पाताल जमीन सब जगह व्याप्त है आपकी से काल्पनिक कहोगे काल्पनिक अगर आप मानते हो प्रेम उठता है आपकी और हमारे धर्म ग्रंथों रामायण महाभारत के बहुत सारे अवशेष मिले जो यह बताती है कि रामायण कभी घटित हुई थी महाभारत के महाभारत काल के बहुत सारे अवश्य मिले और बिल्कुल काल्पनिक नहीं है जो काल्पनिक कहते हैं वह सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए करते हैं बहुत सारी आपको पार्टियां मिल जाएंगे जो कभी भगवान राम को काल्पनिक कहती थी और आज जनेऊ पहन कर घूमते हैं तो यह राजनीति का एक प्रोपेगंडा है और कुछ नहीं आपको अपने धर्म के ऊपर गर्व करनी चाहिए और आप बहुत भाग्यशाली हैं कि आप रामायण जैसे ग्रंथ को पढ़ते हैं और हिंदू धर्म में आपका जन्म हुआ है

ramayana ko jo kalpnik karte hain unko apne astitva par bhi prashna uthani chahiye ramayana ko kalpnik karne waale us baalu ki dhul ki tarah hai jo hawaon me idhar udhar bhi karte rehte hain hamara dharm bahut bada hai iski anant gaharaiyon akash paatal jameen sab jagah vyapt hai aapki se kalpnik kahoge kalpnik agar aap maante ho prem uthata hai aapki aur hamare dharm granthon ramayana mahabharat ke bahut saare avshesh mile jo yah batati hai ki ramayana kabhi ghatit hui thi mahabharat ke mahabharat kaal ke bahut saare avashya mile aur bilkul kalpnik nahi hai jo kalpnik kehte hain vaah sirf raajnitik fayde ke liye karte hain bahut saari aapko partyian mil jaenge jo kabhi bhagwan ram ko kalpnik kehti thi aur aaj janeu pahan kar ghumte hain toh yah raajneeti ka ek propaganda hai aur kuch nahi aapko apne dharm ke upar garv karni chahiye aur aap bahut bhagyashali hain ki aap ramayana jaise granth ko padhte hain aur hindu dharm me aapka janam hua hai

रामायण को जो काल्पनिक करते हैं उनको अपने अस्तित्व पर भी प्रश्न उठानी चाहिए रामायण को काल्प

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
user

Kanta Jhanwar

Self Employed

0:53
Play

Likes  62  Dislikes    views  841
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!