यदि ग्लोबल वार्मिंग के कारण सारे ग्लेशियर पिघल जाएं तो पूरी पृथ्वी कितनी मीटर पानी से ढक जाएगी?...


play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि ग्लोबल वार्मिंग के कारण जो एसआरए ग्लेशियर पिघल जाए तो पूरी धरती पर कितनी मोटाई की पानी की तरह से थक जाएगी तुम्हें सबसे पूरी धरती पर जो है पानी जम जाएंगे की भी दिखाइए तो हमारी धरती पर टीम जो भाग 1 भाग से जमीन है सबसे ज्यादा पूरे भारत में राष्ट्रीय नदी गंगा के आकार में बदलाव नहीं है बल्कि इसके पीछे हमारी तापमान में बढ़ोत्तरी हमारी गौ मुख में आकृति भी बदलती जा रही है और विज्ञान संस्थान के जुड़े वरिष्ठ दंत विशेषज्ञ ने बताया है डॉक्टर डीपी डोभाल की उत्तराखंड में कुल 968 ग्लेशियर है और सभी जगह लगातार पीछे खींच रखे जाते हैं और केदारनाथ त्रासदी के कारण बने 14 बारी दुख रानी एवं दो ना करे जैसे प्रमुख जिले से डीजे है लगातार कम होती जा रही है तो इससे हमारे देश को काफी नुकसान हो सकता आने वाले समय में काफी ज्यादा जो है पानी का भी दर्द बढ़ सकता है और साथ में हमारे देश की जा सकती है

yadi global warming ke karan jo SRA glacier pighal jaaye toh puri dharti par kitni motai ki paani ki tarah se thak jayegi tumhe sabse puri dharti par jo hai paani jam jaenge ki bhi dikhaaiye toh hamari dharti par team jo bhag 1 bhag se jameen hai sabse zyada poore bharat mein rashtriya nadi ganga ke aakaar mein BA dlav nahi hai BA lki iske peeche hamari taapman mein BA dhottari hamari gau mukh mein akriti bhi BA dalti ja rahi hai aur vigyan sansthan ke jude varishtha dant visheshagya ne BA taya hai doctor dipi dobhal ki uttarakhand mein kul 968 glacier hai aur sabhi jagah lagatar peeche khinch rakhe jaate hai aur kedarnath trasadi ke karan BA ne 14 BA ari dukh rani evam do na kare jaise pramukh jile se DJ hai lagatar kam hoti ja rahi hai toh isse hamare desh ko kaafi nuksan ho sakta aane waale samay mein kaafi zyada jo hai paani ka bhi dard BA dh sakta hai aur saath mein hamare desh ki ja sakti hai

यदि ग्लोबल वार्मिंग के कारण जो एसआरए ग्लेशियर पिघल जाए तो पूरी धरती पर कितनी मोटाई की पानी

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  58
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!