हमारे देश में डाक्टरों, इन्जीनियर और अन्य बुद्धिमान लोगों की वोटों की कीमत एक अन पढ़ गँवार की वोट के बड़ा बर क्यों है?...


user

Dr. Gaurav Kaushal

Homeopathy Doctor

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश धर्मनिरपेक्ष जैसे सबके लिए समान ठीक है तू मोटो की कीमत एक अनपढ़ गवार फुट के बराबर इसलिए क्योंकि हम लोग के यहां कोई भी बड़ा छोटा नहीं है वोट वोट होता है वो जहां भी दिया जा सकता है उसके लिए कोई अलग नहीं है चाहे प्रधानमंत्री उसके लिए भी बोलते हैं और चाहे कोई उठा लेता हो उसके लिए भी मूड के अधिकार से मैं तो यह जरूरी है कि आप यह सोचते हो क्या के डाक्टर इंजीनियर लोग हैं आपके आप जो गरीब लोग नहीं समझ में आता

hamara desh dharmanirapeksh jaise sabke liye saman theek hai tu moto ki kimat ek anpad gavar feet ke barabar isliye kyonki hum log ke yahan koi bhi bada chota nahi hai vote vote hota hai vo jaha bhi diya ja sakta hai uske liye koi alag nahi hai chahen pradhanmantri uske liye bhi bolte hain aur chahen koi utha leta ho uske liye bhi mood ke adhikaar se main toh yah zaroori hai ki aap yah sochte ho kya ke doctor engineer log hain aapke aap jo garib log nahi samajh me aata

हमारा देश धर्मनिरपेक्ष जैसे सबके लिए समान ठीक है तू मोटो की कीमत एक अनपढ़ गवार फुट के बरा

Romanized Version
Likes  98  Dislikes    views  1110
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

neha

student Bsc 1st Year

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने सवाल किया है कि हमारे देश में डॉक्टरों इंजीनियरों और अन्य बुद्धिमान लोगों के वोट की कीमत एक अनपढ़ गवार बोर्ड के बराबर क्यों हैं मतदान का अधिकार भारत में एक-एक कर नहीं दिया गया है कि जो पढ़ा लिखा होगा वही बोल दे सकता है भले ही वह डॉक्टर इंजीनियर हो या कोई अनपढ़ गवार हूं जो भी भारत का नागरिक है सबको समान नागरिकता दी गई है और जो भारत का नागरिक के मूल वोट कर सकता है वह जिस भी पार्टी को चाहे जिस विनीता को चाहे वह वोट कर सकता है वह उसके ऊपर डिपेंड करता है कोई क्या सोचता है उसको जो भी अच्छी सुविधाएं और उसकी समस्याओं को दूर करना चाहे वह उन्हें वोट करने के लिए स्वतंत्र हैं जिसको चाहे वह कर सकते हैं जैसे डॉक्टर इंजीनियर बुद्धिमान लोग ये भी पढ़े लिखे होते हैं तो इनमें समझदारी थोड़ी ज्यादा होती है थोड़ी ज्यादा समझदार होते हैं इसलिए सोच समझकर ऐसे नेता को ही वोट करते हैं जो हमारे देश के लिए कुछ अच्छा कर सके वही जो पढ़े-लिखे के पढ़े-लिखे के अलावा यह जो अनपढ़ लोग होते हैं तो इनका क्या होता है कि थोड़ी छोटी लाइन की सोच थोड़ी ऐसी छोटी सी होती है कि यह अपने बारे में सोचते हैं या ज्यादा बड़ा नहीं सोच पाते तो यह जैसे स्तर पर सोच पाते हो उस हिसाब से यह मूड करते हैं अपने नेता को इसके अलावा जो पढ़े-लिखे लोग होते हैं वह थोड़ा अच्छा ज्यादा सोच सकते हैं थोड़े बुद्धिमान होते हैं इसलिए वह अच्छे नेता को छुपाते डाला कि वह लोग दूसरे लोगों को जो पढ़े-लिखे ने उनको समझा कर सकते हैं कि आप कैसे नेता को वोट दीजिए हो या क्या खिलाया जाए क्या बोला तू जो भारत का नागरिक है उसको समान रूप से अधिकार प्राप्त है कि वह किसे वोट देगा यह उसकी सूचना दें इसलिए मतदान का वह तो सबको बराबर ही है और सब की वोट की कीमत बराबर होगी

apne sawaal kiya hai ki hamare desh me doctoron engineero aur anya buddhiman logo ke vote ki kimat ek anpad gavar board ke barabar kyon hain matdan ka adhikaar bharat me ek ek kar nahi diya gaya hai ki jo padha likha hoga wahi bol de sakta hai bhale hi vaah doctor engineer ho ya koi anpad gavar hoon jo bhi bharat ka nagarik hai sabko saman nagarikta di gayi hai aur jo bharat ka nagarik ke mul vote kar sakta hai vaah jis bhi party ko chahen jis vinita ko chahen vaah vote kar sakta hai vaah uske upar depend karta hai koi kya sochta hai usko jo bhi achi suvidhaen aur uski samasyaon ko dur karna chahen vaah unhe vote karne ke liye swatantra hain jisko chahen vaah kar sakte hain jaise doctor engineer buddhiman log ye bhi padhe likhe hote hain toh inmein samajhdari thodi zyada hoti hai thodi zyada samajhdar hote hain isliye soch samajhkar aise neta ko hi vote karte hain jo hamare desh ke liye kuch accha kar sake wahi jo padhe likhe ke padhe likhe ke alava yah jo anpad log hote hain toh inka kya hota hai ki thodi choti line ki soch thodi aisi choti si hoti hai ki yah apne bare me sochte hain ya zyada bada nahi soch paate toh yah jaise sthar par soch paate ho us hisab se yah mood karte hain apne neta ko iske alava jo padhe likhe log hote hain vaah thoda accha zyada soch sakte hain thode buddhiman hote hain isliye vaah acche neta ko chhupaate dala ki vaah log dusre logo ko jo padhe likhe ne unko samjha kar sakte hain ki aap kaise neta ko vote dijiye ho ya kya khilaya jaaye kya bola tu jo bharat ka nagarik hai usko saman roop se adhikaar prapt hai ki vaah kise vote dega yah uski soochna de isliye matdan ka vaah toh sabko barabar hi hai aur sab ki vote ki kimat barabar hogi

अपने सवाल किया है कि हमारे देश में डॉक्टरों इंजीनियरों और अन्य बुद्धिमान लोगों के वोट की क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
play
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन जो भी डॉक्टर इंजीनियर या जो दूसरे लोग होते हैं वह भी इंसान ही होते हैं तो हमेशा इंसान की कद्र होती है हालांकि अगर प्रोफेशन अच्छा है तो निश्चित तौर से आपको जो है समाज में रेस्पेक्ट मिलता है बट जो वोट देने का हक है वह सबके लिए बराबर है और जो है कि कि वो इंसान है तो इसलिए एक ही कैटेगरी में रखकर किसी को भी इलेक्शन में पोषण इंपॉर्टेंस नहीं दे रहते हैं

lekin jo bhi doctor engineer ya jo dusre log hote hain vaah bhi insaan hi hote hain toh hamesha insaan ki kadra hoti hai halaki agar profession accha hai toh nishchit taur se aapko jo hai samaj mein respect milta hai but jo vote dene ka haq hai vaah sabke liye barabar hai aur jo hai ki ki vo insaan hai toh isliye ek hi category mein rakhakar kisi ko bhi election mein poshan importance nahi de rehte hain

लेकिन जो भी डॉक्टर इंजीनियर या जो दूसरे लोग होते हैं वह भी इंसान ही होते हैं तो हमेशा इंसा

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  266
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!