क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन कर के ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है आपकी राय?...


user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पोस्ट बहुत पसंद है मुझे आप ने कहा है कि क्या कम कपड़े पहनकर नंगा पर जाकर की फिल्म हट जाए बिलकुल नहीं अगर ऐसा होता तो सारी फिल्में नंगी कपड़े पहने के बाद ही बने लगती जींस फिल्म के अंदर मूवी के अंदर जीत की सादगी वाली फिल्में बनी है उसका ही अच्छी मोहित हुई आपने देखा होगा और सर पीछे नहीं हैं आपने पीछे देखा भी होगा आप उसके मुझे नाम भी याद नहीं है क्योंकि मैं बहुत कम देखता हूं तो पूछा था चलिए और छह छह महीने तक लगातार चली है जितनी सादगी वाली फिल्में बनी है जितनी पारिवारिक या ऐतिहासिक फिल्म बनी है परिवार प्रश्नों में हो या ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी नग्नता की फिल्म चलती है अगर करते होंगे फिल्म का रेप करते हुए नहीं है या फिर एक ट्रेंड चल पड़ा है कि सर के क्या हमें यह सब करना होता है मुझे उसे पसंद आता बिल्कुल ऐसी मानसिकता के कुछ ही लोग हैं जो यह सब चीज कम कपड़े आज नेता पसंद करते हैं कुछ लोग उसी मानसिकता है जो साधना देखना पसंद करते हैं तो यह बिल्कुल गलत है कि यह सब सफलता का मापदंड है मूवी का धन्यवाद

aapka post bahut pasand hai mujhe aap ne kaha hai ki kya kam kapde pehankar nanga par jaakar ki film hut jaaye bilkul nahi agar aisa hota toh saari filme nangi kapde pehne ke baad hi bane lagti jeans film ke andar movie ke andar jeet ki saadgi wali filme bani hai uska hi achi mohit hui aapne dekha hoga aur sir peeche nahi hain aapne peeche dekha bhi hoga aap uske mujhe naam bhi yaad nahi hai kyonki main bahut kam dekhta hoon toh poocha tha chaliye aur cheh cheh mahine tak lagatar chali hai jitni saadgi wali filme bani hai jitni parivarik ya etihasik film bani hai parivar prashnon me ho ya etihasik prishthbhumi par bani nagnata ki film chalti hai agar karte honge film ka rape karte hue nahi hai ya phir ek trend chal pada hai ki sir ke kya hamein yah sab karna hota hai mujhe use pasand aata bilkul aisi mansikta ke kuch hi log hain jo yah sab cheez kam kapde aaj neta pasand karte hain kuch log usi mansikta hai jo sadhna dekhna pasand karte hain toh yah bilkul galat hai ki yah sab safalta ka maapdand hai movie ka dhanyavad

आपका पोस्ट बहुत पसंद है मुझे आप ने कहा है कि क्या कम कपड़े पहनकर नंगा पर जाकर की फिल्म हट

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  193
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Devender

Business Owner

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं यह जरूरी नहीं है कंटेंट अच्छा होना चाहिए लोग पसंद करते हैं ऐसा नहीं है हिस्टोरिकल मूवी आजकल बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही है भारतीय लोग इन चीजों को नकार चुके हैं और इस तरह की फिल्में कम बजट में ज्यादा हिट करने का प्रयास डायरेक्टर प्रोडूसर का रहता है पर मेरी मन तो यह संभव नहीं हो पाता अक्सर ऐसी फिल्में फ्लॉप सी हो जाती है क्योंकि भारत के लोग ऐसी चीजों को नकार देते हैं

nahi yah zaroori nahi hai content accha hona chahiye log pasand karte hain aisa nahi hai historical movie aajkal bahut accha pradarshan kar rahi hai bharatiya log in chijon ko nakar chuke hain aur is tarah ki filme kam budget me zyada hit karne ka prayas director producer ka rehta hai par meri man toh yah sambhav nahi ho pata aksar aisi filme flop si ho jaati hai kyonki bharat ke log aisi chijon ko nakar dete hain

नहीं यह जरूरी नहीं है कंटेंट अच्छा होना चाहिए लोग पसंद करते हैं ऐसा नहीं है हिस्टोरिकल मूव

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

अशोक गुप्ता

Founder of Vision Commercial Services.

0:50
Play

Likes  7  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदमी का क्या कम कपड़े पहन कर लूंगा प्रदर्शन करते ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है ऐसा नहीं भेजना लेकिन लोगों की और धारणा बन गई है एक पेंट बन गया है अगर कोई फिल्म इस जगह से टॉप चली आती फिर सब लोग उसका अनुसरण कर लेते हैं उसी ट्रेन को बनाकर उसका फिल्म की सफलता का आधार मानने के लिए निर्वस्त्र या कम कपड़े पहनकर पर ऑपरेशन करना आज का एक बहुत बड़ा जो है किंग लेकिन समझदार लोग फुल पोषाहार की पद्धति भारतीय संस्कृति और भारतीय कुशलता के अगर फ्रेंड बनाते हैं किसी धर्म पर किसी कर्म पर किसी अध्यात्मिक ज्ञान पर कृषि आदर्श चरित्र पर डकैत फिल्म केवल हिट नहीं होगी सुपरहिट कई सालों तक पदों पर चाहिए परसों चमन प्रति बदलने की चक्रवर्ती

aadmi ka kya kam kapde pahan kar lunga pradarshan karte hi filmo ko hit kiya ja sakta hai aisa nahi bhejna lekin logo ki aur dharana ban gayi hai ek paint ban gaya hai agar koi film is jagah se top chali aati phir sab log uska anusaran kar lete hain usi train ko banakar uska film ki safalta ka aadhar manne ke liye nirvastra ya kam kapde pehankar par operation karna aaj ka ek bahut bada jo hai king lekin samajhdar log full poshahar ki paddhatee bharatiya sanskriti aur bharatiya kushalata ke agar friend banate hain kisi dharm par kisi karm par kisi adhyatmik gyaan par krishi adarsh charitra par dacoit film keval hit nahi hogi superhit kai salon tak padon par chahiye parso chaman prati badalne ki chakravarti

आदमी का क्या कम कपड़े पहन कर लूंगा प्रदर्शन करते ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है ऐसा नही

Romanized Version
Likes  386  Dislikes    views  4481
WhatsApp_icon
user

आदित्य प्रताप सिंह

Counsellor- Career,Marriage,Life,Sex,Political,Social

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी नहीं आ जा आज के जमाने के लोगों ने तो प्रूफ कर दिखाया है कि ऐसा नहीं है लेकिन हां यह भी एक सच है कि आप फिल्में बेचने के लिए इजीली एक्सेस करने के लिए और इजी मनी मेकिंग मशीन आईडिया तो यह है ही है इसमें कोई शक नहीं है क्योंकि आजकल दीजिए वेब सीरीज वगैरा या फिल्म बनी साफ-सुथरी तो बहुत मुश्किल से ही बन पा रही है सब दूसरी बनने का तो आप मतलबी छोड़ दीजिए क्योंकि यह सब कंटेंट दिखाकर वह अपने आपको ज्यादा प्रोग्रेसिव दिखाने की कोशिश करते हैं और थोड़ा जल्दी अपनी चीजों को हिट कराने को पैसे कमाने की सोचते हैं लेकिन हां यह भी एक सच में बहुत से फिल्मकार ऐसे हैं जिन्होंने यह ग्रुप कर दी अगर यह नहीं उसके बावजूद अगर आपका कांटेक्ट अच्छा है कांटेक्ट नींद कब ला रहे हो सब्जेक्ट ला रहे हो उसमें कितनी दम है उसमें से कुछ नहीं लेकिन उसके बाद भी लाजवाब है फिल्म में ठीक है आज आपको थोड़ा देखना पड़ेगा लेकिन यह तो जानने के लिए मेन पैसा है हिट या फ्लॉप

haan ji nahi aa ja aaj ke jamane ke logo ne toh proof kar dikhaya hai ki aisa nahi hai lekin haan yah bhi ek sach hai ki aap filme bechne ke liye ijili access karne ke liye aur easy money making machine idea toh yah hai hi hai isme koi shak nahi hai kyonki aajkal dijiye web series vagera ya film bani saaf suthri toh bahut mushkil se hi ban paa rahi hai sab dusri banne ka toh aap matlabi chhod dijiye kyonki yah sab content dikhakar vaah apne aapko zyada progressive dikhane ki koshish karte hain aur thoda jaldi apni chijon ko hit karane ko paise kamane ki sochte hain lekin haan yah bhi ek sach me bahut se filmakar aise hain jinhone yah group kar di agar yah nahi uske bawajud agar aapka Contact accha hai Contact neend kab la rahe ho subject la rahe ho usme kitni dum hai usme se kuch nahi lekin uske baad bhi lajawab hai film me theek hai aaj aapko thoda dekhna padega lekin yah toh jaanne ke liye main paisa hai hit ya flop

हां जी नहीं आ जा आज के जमाने के लोगों ने तो प्रूफ कर दिखाया है कि ऐसा नहीं है लेकिन हां यह

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1012
WhatsApp_icon
user

निर्मला विश्नोई

अध्यापिका व समाज सेवा

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है नहीं इसे बिल्कुल भी नहीं किया जा सकता और फिल्में मनोरंजन के लिए होती है नेकी पड़ता का प्रदर्शन करने के लिए और कोई भी फिल्म हो अगर उसका सार्थक उद्देश्य है हमारे देश में ऐसे बहुत से अच्छे नतीजे हैं जिन पर लोगों को जागरूक करने के लिए उनको समाज से के बारे में बताने के लिए उस पर फिल्में बन सकती है और जो समझते हैं किसी भी प्रकार की जो प्राचीन रूढ़ीवादी पर है तो उन को समाप्त करने के लिए उस विषय वस्तु पर फिल्में बनाई जा सकती है और वही फिल्में हिट भी होती है और इसमें कपड़ों के जो कोई भूमिका नहीं होती है आजकल तो उस फिल्मों में थोड़ा कुछ ज्यादा का प्रदर्शन हो रहा है जिसकी वजह से 10:00 पर्सेंट लोग यह समझते हैं कि मैं तो इसकी वजह से होता है नहीं बिल्कुल भी नहीं इसमें उसका कोई भी योगदान नहीं होता बल्कि इससे कई बार तो इसका बुरा प्रभाव पड़ता है तो कपड़े पर निर्भर नहीं होगा कि फिल्म हिट होगी उसकी विषय वस्तु कैसी होनी चाहिए वह किस प्रकार से प्रस्तुत करते हैं और उसका वह अन्य लोगों पर क्या प्रभाव डालती है इस चीज का उस पर ज्यादा असर पड़ता है

kya kam kapde pehankar ya nanga pradarshan karke hi filmo ko hit kiya ja sakta hai nahi ise bilkul bhi nahi kiya ja sakta aur filme manoranjan ke liye hoti hai neki padta ka pradarshan karne ke liye aur koi bhi film ho agar uska sarthak uddeshya hai hamare desh me aise bahut se acche natije hain jin par logo ko jagruk karne ke liye unko samaj se ke bare me batane ke liye us par filme ban sakti hai aur jo samajhte hain kisi bhi prakar ki jo prachin rudhivadi par hai toh un ko samapt karne ke liye us vishay vastu par filme banai ja sakti hai aur wahi filme hit bhi hoti hai aur isme kapdo ke jo koi bhumika nahi hoti hai aajkal toh us filmo me thoda kuch zyada ka pradarshan ho raha hai jiski wajah se 10 00 percent log yah samajhte hain ki main toh iski wajah se hota hai nahi bilkul bhi nahi isme uska koi bhi yogdan nahi hota balki isse kai baar toh iska bura prabhav padta hai toh kapde par nirbhar nahi hoga ki film hit hogi uski vishay vastu kaisi honi chahiye vaah kis prakar se prastut karte hain aur uska vaah anya logo par kya prabhav daalti hai is cheez ka us par zyada asar padta hai

क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है नहीं इसे बिल्क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

2:28
Play

Likes  18  Dislikes    views  255
WhatsApp_icon
user

Pramod Kushwaha

famous Motivational Guru N Painter

3:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो मैं प्रमोद कुशवाहा मोटिवेशनल गुरु जबलपुर एमपी से वोकल परिवार में आपका स्वागत है किसी ने प्रश्न किया है क्या तुम कपड़े पहन कर या प्रदर्शन करके ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है आपकी राय हर व्यक्ति को जो व्यक्ति है हर व्यक्ति कहता है यह गलत है यह पिक्चर अच्छी नहीं है इसमें नंगता बताइए टॉकीज में काफी काफी दिन तक चलती है इतने दिन तक चलने का मतलब है कि हर व्यक्ति उसको चोरी चुपके देख रहा है भाई बहन से चुपके देख रही है भाई-बहन चुपके देख रहा है बहन भाई से चुपके देख रहा है वह पिक्चर मां बच्चे चुपके देख रहे हैं बच्चे मां-बाप से चुपके देख रहे हैं पड़ोसी आप से चुपके देख रहे हैं आप पर उसी से चुपके देख रहे हैं देख सब रहे हैं और कह रहे हैं कि नग्न पिक्चर अच्छी नहीं है अरे जब नग्न है तो आप जाई क्या हो रहे हैं उसके बारे में चर्चा करने की जरूरत है क्या और आप ना ना हो चाहे कैसी पिक्चर है उसमें से जो आपको अच्छा लगे वह निकाल दीजिए जो गड़बड़ लगे उसको बोलने और करने में बहुत अंतर होता है और वह मसाला है लोगों को अच्छा लगता है उन्हें रिजेक्ट किया हुआ है लोग बोलते कुछ हैं करते कुछ बोलेंगे मदद देखने पूरे लोग जाएंगे इतनी पिक्चर करो रुपए कमाई हो रही है अगर चल नहीं रही होती ना होती गड़बड़ होती अच्छा नहीं लगता है तो फिर कोई जाता ही नहीं इतनी भीड़ जाना ही है तो सबको पसंद आ रही है और मसाला जरूरी है आज के समय में आपको जो अच्छा लगे उससे कहा कि आपको अच्छा नहीं लगे जबरदस्ती तो बोल नहीं रहे देखिए आप जबरदस्ती जा रहे हैं और फायदा करा रहे हैं अब जैसे चुनाव वाले चुनाव आता है ना तो नेता आपके घर में कौन सा अक्षर आता है कुछ नेता चोर होते हैं आपके घर आकर बोल रहे हैं मतदान कीजिए समझ गए मतदान कीजिए हमें मतदान कीजिए वह घर पर बोल कर गए कि बिना कहे कि हम चोर हैं हम बदमाश हैं हम 5 साल आपको जीवन में नहीं देखेंगे हमें मतदान कीजिए फिर भी उन्हें को वोट दान करके आ गए वह अपने मुंह से बोल रहे हैं मतदान कीजिए मैं आप का भला नहीं कर पाऊंगा फिर भी आप बोर्ड दान करके आ गए अपना कीमती 1 वोट तो कर भवन को पड़ेगा पूछने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद ऐसे ही प्रश्न का जवाब देते रहेंगे

hello main pramod kushwaha Motivational guru jabalpur MP se vocal parivar me aapka swaagat hai kisi ne prashna kiya hai kya tum kapde pahan kar ya pradarshan karke hi filmo ko hit kiya ja sakta hai aapki rai har vyakti ko jo vyakti hai har vyakti kahata hai yah galat hai yah picture achi nahi hai isme nangata bataiye talkies me kaafi kaafi din tak chalti hai itne din tak chalne ka matlab hai ki har vyakti usko chori chupake dekh raha hai bhai behen se chupake dekh rahi hai bhai behen chupake dekh raha hai behen bhai se chupake dekh raha hai vaah picture maa bacche chupake dekh rahe hain bacche maa baap se chupake dekh rahe hain padosi aap se chupake dekh rahe hain aap par usi se chupake dekh rahe hain dekh sab rahe hain aur keh rahe hain ki nagna picture achi nahi hai are jab nagna hai toh aap jaii kya ho rahe hain uske bare me charcha karne ki zarurat hai kya aur aap na na ho chahen kaisi picture hai usme se jo aapko accha lage vaah nikaal dijiye jo gadbad lage usko bolne aur karne me bahut antar hota hai aur vaah masala hai logo ko accha lagta hai unhe reject kiya hua hai log bolte kuch hain karte kuch bolenge madad dekhne poore log jaenge itni picture karo rupaye kamai ho rahi hai agar chal nahi rahi hoti na hoti gadbad hoti accha nahi lagta hai toh phir koi jata hi nahi itni bheed jana hi hai toh sabko pasand aa rahi hai aur masala zaroori hai aaj ke samay me aapko jo accha lage usse kaha ki aapko accha nahi lage jabardasti toh bol nahi rahe dekhiye aap jabardasti ja rahe hain aur fayda kara rahe hain ab jaise chunav waale chunav aata hai na toh neta aapke ghar me kaun sa akshar aata hai kuch neta chor hote hain aapke ghar aakar bol rahe hain matdan kijiye samajh gaye matdan kijiye hamein matdan kijiye vaah ghar par bol kar gaye ki bina kahe ki hum chor hain hum badamash hain hum 5 saal aapko jeevan me nahi dekhenge hamein matdan kijiye phir bhi unhe ko vote daan karke aa gaye vaah apne mooh se bol rahe hain matdan kijiye main aap ka bhala nahi kar paunga phir bhi aap board daan karke aa gaye apna kimti 1 vote toh kar bhawan ko padega poochne ke liye bahut bahut dhanyavad aise hi prashna ka jawab dete rahenge

हेलो मैं प्रमोद कुशवाहा मोटिवेशनल गुरु जबलपुर एमपी से वोकल परिवार में आपका स्वागत है किस

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  187
WhatsApp_icon
user

nirurajput

Life Coach

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको किसने क्या कपड़े पहनकर या नंगा प्रदूषण करके ही टीमों को हिट किया जा सकता है आप की क्या रहेगी कुछ हद तक कर सकते हैं अगर थोड़ी सी ठीक हूं फिर यह प्रदर्शन कर सकते फिल्म हिट भी हो सकती है क्योंकि देखना चाहती है हम देखा होगा कहीं सोशल मीडिया पर बैंक ए सी पोस्ट होती उनको कैसे लाइक जाती है अगर कोई हीरोइन अच्छा अच्छी पिक डाल दिए नंगी नहीं दूसरी पिक डालती है तो उसमें लाइक कमाते हैं और दूसरी तरह की पिक डाली जाती है सिलाई कितनी है बढ़ते उसके फॉलो वर्ष होते देखते आप टिकटोक चलाते चलाते इसमें आप देखते आजकल लड़कियों की लड़कियों पर लाइक ज्यादा की जाती है उसकी फुल और की किस लड़की को ज्यादा होते शहर की लड़की गांव की जो कपड़े की उनको जो वहां का रहना सहना समय उन पर लोग लाइक करते हैं फूलों और करते

aapko kisne kya kapde pehankar ya nanga pradushan karke hi teamo ko hit kiya ja sakta hai aap ki kya rahegi kuch had tak kar sakte hain agar thodi si theek hoon phir yah pradarshan kar sakte film hit bhi ho sakti hai kyonki dekhna chahti hai hum dekha hoga kahin social media par bank a si post hoti unko kaise like jaati hai agar koi heroine accha achi pic daal diye nangi nahi dusri pic daalti hai toh usme like kamate hain aur dusri tarah ki pic dali jaati hai silai kitni hai badhte uske follow varsh hote dekhte aap tiktok chalte chalte isme aap dekhte aajkal ladkiyon ki ladkiyon par like zyada ki jaati hai uski full aur ki kis ladki ko zyada hote shehar ki ladki gaon ki jo kapde ki unko jo wahan ka rehna sahna samay un par log like karte hain fulo aur karte

आपको किसने क्या कपड़े पहनकर या नंगा प्रदूषण करके ही टीमों को हिट किया जा सकता है आप की क्य

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  232
WhatsApp_icon
user
0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आप का फैशन है क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन कर कर ही फिल्म को हिट बनाया जा सकता है तो मेरा मानना है कि ऐसा कुछ नहीं होता एक फिल्म को हिट बनाने के लिए उसमें महत्वपूर्ण होती है एक व्यक्ति का प्रदर्शन के उपलक्ष में किस तरीके से उसमें प्रदर्शन किया और साथ ही साथ उसकी एक्टिंग भी बहुत ज्यादा इंपोर्टेंट है अगर स्कूल में व्यक्ति की एक्टिंग बहुत अच्छे से की है अपना किरदार बहुत अच्छे से निभाया है वह ज्यादा से ज्यादा महत्वपूर्ण है और साथ ही साथ फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते गाने गाने हमारी पिक्चर को हिट कर देते हो शादी साथ जो व्यक्ति को किरदार है जो उनकी एक्टिंग को हिट बनाती है ना कि कम कपड़े धन्यवाद

jaisa ki aap ka fashion hai kya kam kapde pehankar ya nanga pradarshan kar kar hi film ko hit banaya ja sakta hai toh mera manana hai ki aisa kuch nahi hota ek film ko hit banane ke liye usme mahatvapurna hoti hai ek vyakti ka pradarshan ke uplaksh me kis tarike se usme pradarshan kiya aur saath hi saath uski acting bhi bahut zyada important hai agar school me vyakti ki acting bahut acche se ki hai apna kirdaar bahut acche se nibhaya hai vaah zyada se zyada mahatvapurna hai aur saath hi saath film me mahatvapurna bhumika nibhate gaane gaane hamari picture ko hit kar dete ho shaadi saath jo vyakti ko kirdaar hai jo unki acting ko hit banati hai na ki kam kapde dhanyavad

जैसा कि आप का फैशन है क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन कर कर ही फिल्म को हिट बनाया जा

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

yog guru (Sunil)

योगा , प्राणायाम & मेडिटेशन & LIFE SCIENCE.

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कम कपड़े पहनकर यार नंगा प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट किया जा सकता है आपकी ईरान आजकल क्या जमाना मुरली जगाना है इसमें लोग अंग प्रदर्शन ही देखते हैं अगर कोई कपड़ा पहन कर कुछ कर रहा है तो उसको नहीं देखेंगे अंग प्रदर्शन वाला ज्यादा हिट जल्दी हो जाता है इसलिए अंग प्रदर्शन वाला कोई प्राथमिकता कुछ लोग दे रहे हैं

kya kam kapde pehankar yaar nanga pradarshan karke filmo ko hit kiya ja sakta hai aapki iran aajkal kya jamana murli jagaana hai isme log ang pradarshan hi dekhte hain agar koi kapda pahan kar kuch kar raha hai toh usko nahi dekhenge ang pradarshan vala zyada hit jaldi ho jata hai isliye ang pradarshan vala koi prathamikta kuch log de rahe hain

क्या कम कपड़े पहनकर यार नंगा प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट किया जा सकता है आपकी ईरान आजकल क

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि हम फिल्म को शूटिंग करते समय या प्रदर्शन करते समय कम कपड़े पहने या नंगा होकर के प्रदर्शन करें हमको प्रदर्शन करने की सोच अच्छी है तो हम किसी भी हालत में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं वरना हम चाहे जो भी करें अच्छा प्रदर्शन नहीं करते

aisa nahi hai ki hum film ko shooting karte samay ya pradarshan karte samay kam kapde pehne ya nanga hokar ke pradarshan kare hamko pradarshan karne ki soch achi hai toh hum kisi bhi halat me accha pradarshan kar sakte hain varna hum chahen jo bhi kare accha pradarshan nahi karte

ऐसा नहीं है कि हम फिल्म को शूटिंग करते समय या प्रदर्शन करते समय कम कपड़े पहने या नंगा होकर

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
user

Reetu

Private Teaching

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आप का सवाल है क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्मों को हिट किया जा सकता है आपकी आज एक कब्रस्तान का यान अंग प्रदर्शन करते इसलिए अच्छे सुंदर वस्त्र पहनकर बातचीत में के टाइम में मदद से खुद चलाना सीख जाओगे जो भी हमें अपनी सोच बना रखी है कि हम पूर्ण रूप से वस्त्र दान का भी हो सकती हैं हिट ही होंगे धन्यवाद

namaste aap ka sawaal hai kya kam kapde pehankar ya nanga pradarshan karke hi filmo ko hit kiya ja sakta hai aapki aaj ek kabrastan ka yaan ang pradarshan karte isliye acche sundar vastra pehankar batchit me ke time me madad se khud chalana seekh jaoge jo bhi hamein apni soch bana rakhi hai ki hum purn roop se vastra daan ka bhi ho sakti hain hit hi honge dhanyavad

नमस्ते आप का सवाल है क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्मों को हिट किया जा स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाय फ्रेंड गुड मॉर्निंग आपके द्वारा काफी बढ़िया घोषित किया गया पर मैं आपको यह बता दो क्या बिल्कुल ही ऐसा ना करें पूरे नंगे होकर प्रदर्शन नहीं करें ऐसा इसलिए क्योंकि यह फिल्मों में दिखाई जाती है और फिल्मों की आप एक बात तो जानते होंगे क्योंकि फिल्म एक काल्पनिक होता है वह किसी के द्वारा गढ़ी गई होती है अक्सर में ऐसा होता नहीं है रे फिल्म के शुरुआत में 1 वर्ड बोली जाती है कि इस कहानी के सारे पात्र काल्पनिक है इसका मतलब यह होता है कि बस एक कल्पना करके देखा गया है कि इस तरह की संभावना से इस तरह की बातें हो सकती है पर रियल लाइफ में ऐसा नहीं है आप जब भी अगर प्रदर्शन भी करना चाहते हो तो बिल्कुल शांति तरीके से करें इससे क्या होगा कि आपकी बात आसानी से गवर्मेंट तक पहुंचेगी और गवर्मेंट को भी समय मिलेगा आपकी बातों को सुनने का समझने का और उन पर राजनीति कितने निर्णय लेने का आपको एक एग्जांपल देता हूं आपने अन्ना हजारे का नाम सुना होगा एक ऐसे महान शख्सियत हैं जो बिना कुछ किए शांति से अपने सारे मांगों को मनवाने और आने वाले टाइम में उसका ठीक एग्जांपल लोकपाल के रूप में दिख रहा है और ऐसे ही एक और एग्जांपल हैं अपने राष्ट्रपिता गांधी जी इन्होंने भी बहुत लास्ट टाइम में जब इनके कानपुर पूरी छूट गई थी तब उन्होंने हिंसा का सहारा लिया और उसकी गतिविधि अपनाए थे थैंक यू

hi friend good morning aapke dwara kaafi badhiya ghoshit kiya gaya par main aapko yah bata do kya bilkul hi aisa na kare poore nange hokar pradarshan nahi kare aisa isliye kyonki yah filmo me dikhai jaati hai aur filmo ki aap ek baat toh jante honge kyonki film ek kalpnik hota hai vaah kisi ke dwara gadhee gayi hoti hai aksar me aisa hota nahi hai ray film ke shuruat me 1 word boli jaati hai ki is kahani ke saare patra kalpnik hai iska matlab yah hota hai ki bus ek kalpana karke dekha gaya hai ki is tarah ki sambhavna se is tarah ki batein ho sakti hai par real life me aisa nahi hai aap jab bhi agar pradarshan bhi karna chahte ho toh bilkul shanti tarike se kare isse kya hoga ki aapki baat aasani se government tak pahunchegi aur government ko bhi samay milega aapki baaton ko sunne ka samjhne ka aur un par raajneeti kitne nirnay lene ka aapko ek example deta hoon aapne anna hazare ka naam suna hoga ek aise mahaan shakhsiyat hain jo bina kuch kiye shanti se apne saare maangon ko manvane aur aane waale time me uska theek example lokpal ke roop me dikh raha hai aur aise hi ek aur example hain apne rashtrapita gandhi ji inhone bhi bahut last time me jab inke kanpur puri chhut gayi thi tab unhone hinsa ka sahara liya aur uski gatividhi apnaye the thank you

हाय फ्रेंड गुड मॉर्निंग आपके द्वारा काफी बढ़िया घोषित किया गया पर मैं आपको यह बता दो क्या

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  192
WhatsApp_icon
user

Usha Devi Urawat Krishna

हाउस वाईफ

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो फिल्माने ही बताएंगे ऐसे भी कौन से बड़े कपड़े पहन कर घूमते हैं लड़कियों को ठंड में अदनान के घुमा देते अपने बड़ा एकदम कोट पैंट पहन के घूमते हैं ठीक होते हैं

yah toh filmane hi batayenge aise bhi kaun se bade kapde pahan kar ghumte hain ladkiyon ko thand me adnan ke ghuma dete apne bada ekdam coat pant pahan ke ghumte hain theek hote hain

यह तो फिल्माने ही बताएंगे ऐसे भी कौन से बड़े कपड़े पहन कर घूमते हैं लड़कियों को ठंड में अद

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का वर्तमान समय यही डिमांड करता है पर मेरे हिसाब से यह उतना ही होना चाहिए जितना भोजन में नमक का स्वाद अगर जनता इस ओर रुझान करती है और सब लोग इसी प्रकार के प्रदर्शन के लिए आतुर रहते हैं तो यह पतन का कारण हो सकता है

aaj ka vartaman samay yahi demand karta hai par mere hisab se yah utana hi hona chahiye jitna bhojan me namak ka swaad agar janta is aur rujhan karti hai aur sab log isi prakar ke pradarshan ke liye aatur rehte hain toh yah patan ka karan ho sakta hai

आज का वर्तमान समय यही डिमांड करता है पर मेरे हिसाब से यह उतना ही होना चाहिए जितना भोजन में

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user

Chotu Dada

लखनऊ

1:31
Play

Likes  6  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user
1:10
Play

Likes  3  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं अब कपड़े पहन के फिल्मों को हिट नहीं किया जा सकता बहुत सी ऐसी फिल्में जिसमें 100 साल की तरह पूरे कपड़े पहने और बहुत बड़ी है

nahi ab kapde pahan ke filmo ko hit nahi kiya ja sakta bahut si aisi filme jisme 100 saal ki tarah poore kapde pehne aur bahut badi hai

नहीं अब कपड़े पहन के फिल्मों को हिट नहीं किया जा सकता बहुत सी ऐसी फिल्में जिसमें 100 साल क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  63
WhatsApp_icon
user

Manu

Nursing

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्म को हिट किया जा सकता है नहीं ऐसी बात नहीं किसी भी फिल्म में यह बात सच है कि कम कपड़े पहनने से फर्क पड़ता है फिल्म ज्यादा कीट होती है लेकिन सारी लेकिन सिर्फ नंगापन ही फिल्म को हिट करें ऐसी बात नहीं है ऐसी फिल्में जिसमें नंगापन नहीं है लेकिन फिर भी फिर भी वह सुपरहिट सुपर डुपर हिट हुई है जैसे गोविंदा की फिल्म शोला और शबनम इसमें बिल्कुल भी नंगापन नहीं था फिर भी वह सुपर डुपर हिट हुई है और अमिताभ बच्चन की फिल्म शोले उसमें नंगापन नहीं है फिर भी सुपर डुपर हिट हुई है क्योंकि सबसे ज्यादा किसी फिल्म को प्रसिद्ध होने के लिए चाहिए तो वह है फिल्म की स्टोरी फिल्म की स्टोरी अच्छी होगी डायलॉग अच्छे होंगे गाने अच्छे होंगे तो वह फिल्म सुपरहिट होनी होनी है सिर्फ नंगापन के आधार पर कोई भी अपनी फिल्म को सुपर डुपर हिट नहीं करा सकता जैसे रामायण और महाभारत है यह सीरियल बहुत ज्यादा फेमस क्यों गई इनमें कोई नंगापन था क्या नहीं क्योंकि इनका प्रजेंटेशन अच्छा था फिल्म की स्टोरी अच्छी थी तो किसी भी फिल्म के सुपर डुपर हिट करने के लिए उनकी स्टोरी मेन चीज होती है लेकिन नंगापन

kya kam kapde pehankar ya nanga pradarshan karke hi film ko hit kiya ja sakta hai nahi aisi baat nahi kisi bhi film me yah baat sach hai ki kam kapde pahanne se fark padta hai film zyada kit hoti hai lekin saari lekin sirf nangapan hi film ko hit kare aisi baat nahi hai aisi filme jisme nangapan nahi hai lekin phir bhi phir bhi vaah superhit super dupar hit hui hai jaise govinda ki film shola aur shabnam isme bilkul bhi nangapan nahi tha phir bhi vaah super dupar hit hui hai aur amitabh bachchan ki film sholay usme nangapan nahi hai phir bhi super dupar hit hui hai kyonki sabse zyada kisi film ko prasiddh hone ke liye chahiye toh vaah hai film ki story film ki story achi hogi dialogue acche honge gaane acche honge toh vaah film superhit honi honi hai sirf nangapan ke aadhar par koi bhi apni film ko super dupar hit nahi kara sakta jaise ramayana aur mahabharat hai yah serial bahut zyada famous kyon gayi inmein koi nangapan tha kya nahi kyonki inka prajenteshan accha tha film ki story achi thi toh kisi bhi film ke super dupar hit karne ke liye unki story main cheez hoti hai lekin nangapan

क्या कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके ही फिल्म को हिट किया जा सकता है नहीं ऐसी बात नही

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Yeeshu Informer

Business Owner

3:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छी सवाल है यही तो सबके मन में सवाल पैदा हो रहे हैं आखिर क्या जरूरी है ऐसा करने की इस पहचान को मतलबी बना करके इतना पत्थर बना दिया है कि इसका कोई जवाब नहीं जेनरेशन क्या है जेनरेशन आपके ऊपर डिपेंड करता है अब हर जेनरेशन में जीत सकते हैं पहले जनरेसन में भी इतना महान लोग जीते थे इतना इज्जत कमाते थे अभी की जनरेशन में भी कई लोग महान ने इज्जत दार हैं जिंदगी आपकी है हर काम के लिए आपको डिसीजन लेना है सब कुछ आप पर डिपेंड करते हैं कौन पोस्ट कर रहे हैं आपको कि इस जनरेशन में ऐसा कुछ करोगे तब आपका नाम और पापुलैरिटी बढ़ेगी कोई नहीं कह रहे हैं जस्ट आपकी मिसअंडरस्टैंड के वजह से आप इस तरह के काम को करने लग जा रहे हैं यह बहुत गलत हो रहे हैं सबके साथ हमारे साथ इंसानियत के साथ पहले की जनरेशन में पहनने के लिए कपड़ा क्या हुआ स्त्री नहीं थे तब ऐसे गुजारा करना होता था जो उनकी गलती बिल्कुल नहीं है अभी के जनरेसन में सब कुछ होने के बावजूद हम समझदार होने के बावजूद जानबूझकर उस वस्त्र को उस कपड़े को देखकर छोटे-छोटे काटकर छोटे-छोटे बनाकर बनते जा रहे हैं पढ़ने लग रहे हैं कुछ दिन फ्यूचर जेनरेशन में ऐसे लगता है कि वस्त्र फाइन आएंगे ही नहीं ऐसे ही घूमेंगे यह हम बना रहे हैं आप बना रहे हैं हमारे वजह से हम यह भी इसको बनाकर छोड़ दे रहे हैं और आगे इससे ज्यादा ऐसी बनेगी यहां पर हमें इसको सुदानी है बनानी है एक मिडिल जनरस उनको नजर डालते हुए जो साधारण भाषा में बोली जाती है कि सिंपल एकदम सिंपल कोई भी देखे आपको तो उनके मन में आपके लिए एक ही जवाब रहे वह कितना कितना अच्छे पहना वाट है उसके कितने अच्छे लग रहे हैं हर किसी के मन में आपके बारे में एक सकारात्मक विचार बने उनमें एक तख्ती फायदा हो आपके बारे में सोचने की जो वह सोच सोच सकें हर किसी के सामने ऐसा रहे कि हमेशा आपके बारे में अच्छा सोच सकें

bahut achi sawaal hai yahi toh sabke man me sawaal paida ho rahe hain aakhir kya zaroori hai aisa karne ki is pehchaan ko matlabi bana karke itna patthar bana diya hai ki iska koi jawab nahi generation kya hai generation aapke upar depend karta hai ab har generation me jeet sakte hain pehle janaresan me bhi itna mahaan log jeete the itna izzat kamate the abhi ki generation me bhi kai log mahaan ne izzat daar hain zindagi aapki hai har kaam ke liye aapko decision lena hai sab kuch aap par depend karte hain kaun post kar rahe hain aapko ki is generation me aisa kuch karoge tab aapka naam aur papulairiti badhegi koi nahi keh rahe hain just aapki misandarastaind ke wajah se aap is tarah ke kaam ko karne lag ja rahe hain yah bahut galat ho rahe hain sabke saath hamare saath insaniyat ke saath pehle ki generation me pahanne ke liye kapda kya hua stree nahi the tab aise gujara karna hota tha jo unki galti bilkul nahi hai abhi ke janaresan me sab kuch hone ke bawajud hum samajhdar hone ke bawajud janbujhkar us vastra ko us kapde ko dekhkar chote chote katkar chote chote banakar bante ja rahe hain padhne lag rahe hain kuch din future generation me aise lagta hai ki vastra fine aayenge hi nahi aise hi ghumenga yah hum bana rahe hain aap bana rahe hain hamare wajah se hum yah bhi isko banakar chhod de rahe hain aur aage isse zyada aisi banegi yahan par hamein isko sudani hai banani hai ek middle genres unko nazar daalte hue jo sadhaaran bhasha me boli jaati hai ki simple ekdam simple koi bhi dekhe aapko toh unke man me aapke liye ek hi jawab rahe vaah kitna kitna acche pehna watt hai uske kitne acche lag rahe hain har kisi ke man me aapke bare me ek sakaratmak vichar bane unmen ek takhti fayda ho aapke bare me sochne ki jo vaah soch soch sake har kisi ke saamne aisa rahe ki hamesha aapke bare me accha soch sake

बहुत अच्छी सवाल है यही तो सबके मन में सवाल पैदा हो रहे हैं आखिर क्या जरूरी है ऐसा करने की

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल तो आपका बहुत है इंटरेस्टिंग है कम कपड़े पहनकर जा नंगा और दर्शन करके ही फिल्म को हिट किया जा सकता है आपकी अदाएं टाइम है यह जो सब चीज में चेंज हो गया है पर एग्जांपल आपकी सोच पहले क्या थी अब यंगस्टर्स की सोच क्या है तो सोच में उस टाइम पर नीचे आ गया फर्स्टवॉल सबकी सोच ऐसी है कभी नहीं हो सकती इस ब्रह्मांड में इस भूलोक में आपके थैंक्स अलग है मेरी चंचल के फैमिली में बेस्ट थिंग्स अलग होगी सबकी सोच अलग होती है कोई पांच किस फॉर इंटरव्यू से छूटता है कोई किसको इंटरव्यू से सोता है अब यह तो डिपेंड है देखने वाले में करता है कि वह किस तरीके से देखता है जो उसे दिखाया जा रहा है वह उसे उससे कुछ सोशल मैसेज आया दिल करता है यह जिंदगी कि उसे कोई सीख मिलती है या क्या-क्या मिलता है सोचने वाले की सोच पर डिपेंड है किस तरीके और किस नदी से किस को देखता है उसके क्या मतलब निकलता है हां आजकल का जो ट्रेन चल रहा है कुछ हर चीज एक चीज को दोष नहीं दे सकते सब चीजें बराबर की जिम्मेदार जिम्मेदार है पहले जो है मान मर्यादा कुछ और थी इस संस्कार को छोड़ते तो इंसान उन चीजों को सोचते थे समझते थे और उसे फॉलो करते हैं आजकल सब देता है तो है थोड़ी सी चेंज हो रही है आजकल यह कम करें यह है जस्ट एक फैशन और फिल्म डायरेक्टर और प्रोड्यूसर डायरेक्टर प्रोडूसर के फोटो ब्लू से देखा जाए तो ऑडियंस है चेंज थोड़ा सा अपने फॉर इंटरव्यूज है कुछ ना कुछ दिखाने की कोशिश करती है आप कई डायरेक्टर रेस्टोरेशन में चलते हुए मैसेज पर फिल्म बना देते हैं कुछ उनकी कोई कहानी बहुत जबरदस्त है कोई तीन बहुत अच्छा होता है कईयों के में अश्लीलता और नंगापन नहीं होता और कहीं डायरेक्टर अजय मान मर्यादा में रखकर कुछ दिखाते भी हैं कुछ नई भी दिखाती है कुछ हमारी कुछ हीरोइन सा पोस्ट आप ही बोल देते कि मैं ऐसे कपड़े नहीं पहन लूंगा ऐसे कुछ सींस नहीं करूंगी कई जो है कई डायरेक्टर्स के साथ से मिर्च मसाला है इंडस्ट्रीज वेरी बिग मार्केट अगर चलना है तो आपको अपने आपको चेंज चेंज करना पड़ेगा कह दे मार्केट है तो मार्केट में हर चीज होती है हर चीज चलती है पहले टाइम को छोड़ता है तो अब लोगों के सोच और नजरिए बदल बदल चुके हैं तो यस ट्रस्ट वह चीज देखना पसंद करते हैं तो जो बूढ़े दूर है जो उस सोचकर है उस टाइप के आदमी है उन्हें यह अश्लीलता लगते हैं पर यंगस्टर्स के सबसे अच्छा डायरेक्टर प्रोड्यूसर के एडिशनल एसपी कौन से सॉरी माय मिस्टेक डायरेक्टर प्रदूषण के दृष्टिकोण से यह एक के मिर्च मसाला फिल्मों को अच्छे तरीके से मार्केट में बेचने की कला है एक फ्रेंड है बाकी इंसान की अपनी भी सोचा है की वाकई अच्छा भी दिखा रहे हैं कई बुरा भी दिखा रहे हैं अब यह तो खुद पर ही डिपेंड के इंसान क्या सोचता है क्या मतलब निकलता है निकाला है अपनी चीज को पब्लिसिटी करके अच्छे तरीके से अपनी चीज को बेचने का उनकी जगह शायद हम भी होता है शायद हम भी ऐसा ही करते हैं तो हर चीज पर चेंज होती जा रही है अगर आप चेंज नहीं हो गए तो सिस्टम निर्माण चेंज क्या होता है प्रकृति का नियम है आप पहले लोगे सिंपल देते थे आजकल पिज्जा खाते बर्गर जाते हैं मतलब की बीयर बार में रहते हैं पार्टी वगैरह में जाते हैं तो क्या हाल है जो दुनिया है यह सिस्टम है और आप चेंज नहीं होगी तो सिस्टम आप को बदल देगा तो चेंज निर्माण प्रकृति का नियम है आपको एक उदाहरण देकर हम समझाते हैं इंडिया के अंदर बैंक बैंक में कंप्यूटर सहायक कंप्यूटर का कई लोगों ने किया था विरोध और कई प्रशंसक उन्हें किया था उन्होंने नेगेटिव पॉइंट्स नहीं लिए उन्होंने नकारात्मक सोच के लिए सकारात्मक सोच ली उसे बात को समझा और एक्सेप्ट किया और कंप्यूटर के बेस पर क्यों नहीं मतलब की है तरक्की भी की है तो यह सब इंसान के ऊपर डिपेंड कैसे कब चेंज होना है और किस चीज में चेंज है बाकी बाकी नहीं इन सब चीजों की बात हो बाकी तो मेरे बहुत अच्छे संस्कार की जो पैदाइश है वह इन चीजों को पसंद नहीं करता और देखेगा भी तो अपने दिमाग में नहीं रहेगा तो कभी कुछ एक पक्ष का वह निर्दोष संस्कारों की भी कुछ है वह जाती है संस्कारों की भी होती है बात कई अच्छे संस्कार में आज भी अपने बड़े हैं तो कहीं मतलब की नहीं है कोई नशा करते हैं कोई नहीं करते यह संस्कार और इसके बातें बाकी इंसान के अपने भी सो जा ओके जी थैंक यू

yah sawaal toh aapka bahut hai interesting hai kam kapde pehankar ja nanga aur darshan karke hi film ko hit kiya ja sakta hai aapki adaen time hai yah jo sab cheez me change ho gaya hai par example aapki soch pehle kya thi ab youngsters ki soch kya hai toh soch me us time par niche aa gaya farstaval sabki soch aisi hai kabhi nahi ho sakti is brahmaand me is bhulok me aapke thanks alag hai meri chanchal ke family me best things alag hogi sabki soch alag hoti hai koi paanch kis for interview se chhutataa hai koi kisko interview se sota hai ab yah toh depend hai dekhne waale me karta hai ki vaah kis tarike se dekhta hai jo use dikhaya ja raha hai vaah use usse kuch social massage aaya dil karta hai yah zindagi ki use koi seekh milti hai ya kya kya milta hai sochne waale ki soch par depend hai kis tarike aur kis nadi se kis ko dekhta hai uske kya matlab nikalta hai haan aajkal ka jo train chal raha hai kuch har cheez ek cheez ko dosh nahi de sakte sab cheezen barabar ki zimmedar zimmedar hai pehle jo hai maan maryada kuch aur thi is sanskar ko chodte toh insaan un chijon ko sochte the samajhte the aur use follow karte hain aajkal sab deta hai toh hai thodi si change ho rahi hai aajkal yah kam kare yah hai just ek fashion aur film director aur produecer director producer ke photo blue se dekha jaaye toh adiyans hai change thoda sa apne for interviewers hai kuch na kuch dikhane ki koshish karti hai aap kai director restoreshan me chalte hue massage par film bana dete hain kuch unki koi kahani bahut jabardast hai koi teen bahut accha hota hai kaiyon ke me ashlilata aur nangapan nahi hota aur kahin director ajay maan maryada me rakhakar kuch dikhate bhi hain kuch nayi bhi dikhati hai kuch hamari kuch heroine sa post aap hi bol dete ki main aise kapde nahi pahan lunga aise kuch since nahi karungi kai jo hai kai directors ke saath se mirch masala hai industries very big market agar chalna hai toh aapko apne aapko change change karna padega keh de market hai toh market me har cheez hoti hai har cheez chalti hai pehle time ko chodta hai toh ab logo ke soch aur nazariye badal badal chuke hain toh Yes trust vaah cheez dekhna pasand karte hain toh jo budhe dur hai jo us sochkar hai us type ke aadmi hai unhe yah ashlilata lagte hain par youngsters ke sabse accha director produecer ke additional SP kaun se sorry my mistake director pradushan ke drishtikon se yah ek ke mirch masala filmo ko acche tarike se market me bechne ki kala hai ek friend hai baki insaan ki apni bhi socha hai ki vaakai accha bhi dikha rahe hain kai bura bhi dikha rahe hain ab yah toh khud par hi depend ke insaan kya sochta hai kya matlab nikalta hai nikaala hai apni cheez ko publicity karke acche tarike se apni cheez ko bechne ka unki jagah shayad hum bhi hota hai shayad hum bhi aisa hi karte hain toh har cheez par change hoti ja rahi hai agar aap change nahi ho gaye toh system nirmaan change kya hota hai prakriti ka niyam hai aap pehle loge simple dete the aajkal pizza khate burger jaate hain matlab ki beer baar me rehte hain party vagera me jaate hain toh kya haal hai jo duniya hai yah system hai aur aap change nahi hogi toh system aap ko badal dega toh change nirmaan prakriti ka niyam hai aapko ek udaharan dekar hum smajhate hain india ke andar bank bank me computer sahayak computer ka kai logo ne kiya tha virodh aur kai prasanshak unhe kiya tha unhone Negative points nahi liye unhone nakaratmak soch ke liye sakaratmak soch li use baat ko samjha aur except kiya aur computer ke base par kyon nahi matlab ki hai tarakki bhi ki hai toh yah sab insaan ke upar depend kaise kab change hona hai aur kis cheez me change hai baki baki nahi in sab chijon ki baat ho baki toh mere bahut acche sanskar ki jo paidaaish hai vaah in chijon ko pasand nahi karta aur dekhega bhi toh apne dimag me nahi rahega toh kabhi kuch ek paksh ka vaah nirdosh sanskaron ki bhi kuch hai vaah jaati hai sanskaron ki bhi hoti hai baat kai acche sanskar me aaj bhi apne bade hain toh kahin matlab ki nahi hai koi nasha karte hain koi nahi karte yah sanskar aur iske batein baki insaan ke apne bhi so ja ok ji thank you

यह सवाल तो आपका बहुत है इंटरेस्टिंग है कम कपड़े पहनकर जा नंगा और दर्शन करके ही फिल्म को ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म फिल्म हिट होने का हम कपड़े पहनने से कोई संबंध नहीं होगी नहीं तो चाय बना लो धन्यवाद जय बजरंगबली

film film hit hone ka hum kapde pahanne se koi sambandh nahi hogi nahi toh chai bana lo dhanyavad jai bajrangbali

फिल्म फिल्म हिट होने का हम कपड़े पहनने से कोई संबंध नहीं होगी नहीं तो चाय बना लो धन्यवाद ज

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं कम नहीं कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन कर कर आप फिल्मों में हिट नहीं हो सकते क्योंकि पुराने जमाने की फिल्में तो नंगी नहीं हुआ करती थी फिर भी हिट जाया करते थे जो बहुत ज्यादा हीट गई है उन फिल्मों को आप देखिए क्या उसमें नंगे कपड़े पहने हुए हैं तबीयत हुई है ऐसी कोई बात नहीं है

nahi kam nahi kam kapde pehankar ya nanga pradarshan kar kar aap filmo me hit nahi ho sakte kyonki purane jamane ki filme toh nangi nahi hua karti thi phir bhi hit jaya karte the jo bahut zyada heat gayi hai un filmo ko aap dekhiye kya usme nange kapde pehne hue hain tabiyat hui hai aisi koi baat nahi hai

नहीं कम नहीं कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन कर कर आप फिल्मों में हिट नहीं हो सकते क्योंकि

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Rajendra Kumar Jain

Retared servant

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बड़ा दुख के साथ कहना सच कहता है कि आज के समय में जो फिल्में बनती हैं उसमें बढ़ता हुआ नंगापन इतना अधिक हो गया है कि देखते हुए शर्म लगती है क्या इसके पिछले दशक में फिल्म नहीं आती थी यहां वहीदा रहमान मीना कुमारी निम्मी ऐसी ऐसी अभिनेत्रियां हैं जिन्होंने अपने ब्लाउज को कभी बाय-बाय काट के नहीं आता पूरी बाहों का ब्लाउज पहना फिर भी उनकी सारी फिल्में आज भी बहुत पसंद की जाती है चलती है और आज भी लोग उन्हें याद करते हैं

bada dukh ke saath kehna sach kahata hai ki aaj ke samay me jo filme banti hain usme badhta hua nangapan itna adhik ho gaya hai ki dekhte hue sharm lagti hai kya iske pichle dashak me film nahi aati thi yahan vahida rahman meena kumari nimmi aisi aisi abhinetriyan hain jinhone apne blouse ko kabhi bye bye kaat ke nahi aata puri baahon ka blouse pehna phir bhi unki saari filme aaj bhi bahut pasand ki jaati hai chalti hai aur aaj bhi log unhe yaad karte hain

बड़ा दुख के साथ कहना सच कहता है कि आज के समय में जो फिल्में बनती हैं उसमें बढ़ता हुआ नंगाप

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user

Shashi Godwal

Social worker

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भाई किया जा सकता है क्योंकि अभी जो इंडिया की सोच है ना इसी पर अटकी हुई है और जो चीज रखी हुई होती है उसको देखने में ज्यादा ही इंटरेस्ट है इंडिया के लोगों को तो अगर कोई फिल्म प्रोड्यूसर डायरेक्टर वह दिखाता है जिसकी देखने की इच्छा होती है तो जरूर दे दोगी और सब कोई देखना चाहेगा यह सब का ही ऐसे ही विचार है मेरे पर्सनल नहीं है और किस समय पर ऐसा ही है जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए

haan bhai kiya ja sakta hai kyonki abhi jo india ki soch hai na isi par ataki hui hai aur jo cheez rakhi hui hoti hai usko dekhne me zyada hi interest hai india ke logo ko toh agar koi film produecer director vaah dikhaata hai jiski dekhne ki iccha hoti hai toh zaroor de dogi aur sab koi dekhna chahega yah sab ka hi aise hi vichar hai mere personal nahi hai aur kis samay par aisa hi hai jabki aisa nahi hona chahiye

हां भाई किया जा सकता है क्योंकि अभी जो इंडिया की सोच है ना इसी पर अटकी हुई है और जो चीज रख

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट नहीं बल्कि अश्लील किया जा सकता है और समाज में अश्लीलता ही आजकल व्याप्त है वैसे कहा जाए तो फिल्मों के बदौलत ही ऐसा हुआ है आजकल की हर एक वेशभूषा फिल्मों पर ही केंद्रित

kam kapde pehankar ya nanga pradarshan karke filmo ko hit nahi balki ashleel kiya ja sakta hai aur samaj me ashlilata hi aajkal vyapt hai waise kaha jaaye toh filmo ke badaulat hi aisa hua hai aajkal ki har ek veshbhusha filmo par hi kendrit

कम कपड़े पहनकर या नंगा प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट नहीं बल्कि अश्लील किया जा सकता है और स

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  9  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं कम कपड़े पहनकर या नग्न प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट नहीं किया जा सकता है चैट करने के बहुत सारे तरीके स्टोरी अच्छी होनी चाहिए और छोटे कपड़े का प्रयोग करना कोई जरूरी नहीं है आप पहले की फिल्मों को देखेंगे तो कुछ ऐसी फिल्में हैं जिससे आपको सबक मिलती है और कुछ ऐसी फिल्में हैं जिन्हें देखकर आप रो देंगे तो पहले के जमाने में यानी कि पहले के समय की फिल्म नवरात्रि के फिल्मों में आसमान जमीन पर आ चुका है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप छोटे फिल्म में एक अच्छी कहानी होनी चाहिए रोल अच्छा होना चाहिए और सबसे बड़ी बात कि उस फिल्म में गालियां दी क्या अगर प्रयोग न किया जाए तो भी एक बेटा अभी तो होगा और दूसरी बात कुछ फिल्म मैसेज बने हैं कि बाप बेटा एक साथ बैठकर देख नहीं सकता या नहीं पूरा परिवार एक साथ नहीं दे सकते हैं पोस्ट लिए छोटे कपड़े पहनने के लिए फिल्म इतनी अच्छी कहानी होनी चाहिए जो लोगों को पसंद आए इस गाने इस तरह की होनी चाहिए कि लोगों को उसके कुछ सबक मिले कुछ सीखने को मिले और उसने जैसी फिल्मों में दिखाया जाता है कि बैठकर शराब पी रहे हैं या सिगरेट पी रहे हैं उसका खा रहे हैं अभी चलने की होगी सुपर हिट होगी लेकिन कहानी अच्छी होनी चाहिए और एक्टर दमदार होना चाहिए धन्यवाद

ji nahi kam kapde pehankar ya nagna pradarshan karke filmo ko hit nahi kiya ja sakta hai chat karne ke bahut saare tarike story achi honi chahiye aur chote kapde ka prayog karna koi zaroori nahi hai aap pehle ki filmo ko dekhenge toh kuch aisi filme hain jisse aapko sabak milti hai aur kuch aisi filme hain jinhen dekhkar aap ro denge toh pehle ke jamane me yani ki pehle ke samay ki film navratri ke filmo me aasman jameen par aa chuka hai lekin iska matlab yah nahi hai ki aap chote film me ek achi kahani honi chahiye roll accha hona chahiye aur sabse badi baat ki us film me galiya di kya agar prayog na kiya jaaye toh bhi ek beta abhi toh hoga aur dusri baat kuch film massage bane hain ki baap beta ek saath baithkar dekh nahi sakta ya nahi pura parivar ek saath nahi de sakte hain post liye chote kapde pahanne ke liye film itni achi kahani honi chahiye jo logo ko pasand aaye is gaane is tarah ki honi chahiye ki logo ko uske kuch sabak mile kuch sikhne ko mile aur usne jaisi filmo me dikhaya jata hai ki baithkar sharab p rahe hain ya cigarette p rahe hain uska kha rahe hain abhi chalne ki hogi super hit hogi lekin kahani achi honi chahiye aur actor dumdaar hona chahiye dhanyavad

जी नहीं कम कपड़े पहनकर या नग्न प्रदर्शन करके फिल्मों को हिट नहीं किया जा सकता है चैट करने

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Sagar सागर

Engineer ,Singer,Director

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं ऐसा नहीं है कि कम कपड़े पहनकर या अंग प्रदर्शन करके ही फिल्म को सुपरहिट किया जा सकता है यह सिर्फ एक मानसिक बीमारी है लोगों की जैसा सोचते हैं कुछ ऐसे डायरेक्टर पर डिस्टेंस हैं जिनको लगता है कि केवल अश्लीलता से ही फिल्म को सुपरहिट किया जा सकता है अगर ऐसा होता तो आज पूरे विश्व में ब्लू फिल्मों का बाजार सबसे ज्यादा होता है जबकि ऐसा नहीं है अच्छी फिल्में अच्छी कहानियों पर चलती हैं अच्छी कहानियां अच्छे किरदारों पर चलती और अच्छे किरदार अच्छे अभिनय से निभाए जाते हैं यह केवल एक मिथक है कि एडल्ट फिल्मों का बाजार ज्यादा है ऐसा नहीं धन्यवाद

ji nahi aisa nahi hai ki kam kapde pehankar ya ang pradarshan karke hi film ko superhit kiya ja sakta hai yah sirf ek mansik bimari hai logo ki jaisa sochte hain kuch aise director par distance hain jinako lagta hai ki keval ashlilata se hi film ko superhit kiya ja sakta hai agar aisa hota toh aaj poore vishwa me blue filmo ka bazaar sabse zyada hota hai jabki aisa nahi hai achi filme achi kahaniyan par chalti hain achi kahaniya acche kirdaron par chalti aur acche kirdaar acche abhinay se nibhaye jaate hain yah keval ek mithak hai ki adult filmo ka bazaar zyada hai aisa nahi dhanyavad

जी नहीं ऐसा नहीं है कि कम कपड़े पहनकर या अंग प्रदर्शन करके ही फिल्म को सुपरहिट किया जा सकत

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  235
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!