सुख और दुख क्या है?...


play
user

Bk soni

Rajyoga Teacher

1:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुख और दुख क्या है दुख हमें परमात्मा के नजदीक ले जाता है और तुम कल परमात्मा के नजदीक रहकर अनुभव करने का एकमात्र अनुभव है जब तक हमें दुख नहीं आएगी तब तक हम परमात्मा को याद नहीं करेंगे जब हम परमात्मा को याद करते हैं उसमें ही सच्चा सुख और सच्चा शांति अतींद्रिय सुख का अनुभव होता है और सत्य परमात्मा को याद करने का तरीका ही है अपने को आत्मा समझकर परमात्मा को याद करते हुए उनसे सकती अपने आत्मा के ऊपर लेना इसको ही राज योगा मेडिटेशन करते हैं इसको ही आत्मानुभूति और परमात्मा अनुभूती से ही राजयोग मेडिटेशन होता है ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में ईश्वरीय विश्वविद्यालय में पूरे विश्व में सेवा केंद्र पर सिखाया जाता है और हमारा व्यक्ति brahmakumaris.com आप चाहिए तो नजदीकी सेवा केंद्र पर इस अनुभव को आप भी सीख सकते हैं कर सकते हैं

sukh aur dukh kya hai dukh hamein paramatma ke nazdeek le jata hai aur tum kal paramatma ke nazdeek rahkar anubhav karne ka ekmatra anubhav hai jab tak hamein dukh nahi aayegi tab tak hum paramatma ko yaad nahi karenge jab hum paramatma ko yaad karte hain usme hi saccha sukh aur saccha shanti atindriya sukh ka anubhav hota hai aur satya paramatma ko yaad karne ka tarika hi hai apne ko aatma samajhkar paramatma ko yaad karte hue unse sakti apne aatma ke upar lena isko hi raj yoga meditation karte hain isko hi atmanubhuti aur paramatma anubhuti se hi rajyog meditation hota hai brahmakumari ishwariya vishwavidyalaya mein ishwariya vishwavidyalaya mein poore vishwa mein seva kendra par sikhaya jata hai aur hamara vyakti brahmakumaris com aap chahiye toh najdiki seva kendra par is anubhav ko aap bhi seekh sakte hain kar sakte hain

सुख और दुख क्या है दुख हमें परमात्मा के नजदीक ले जाता है और तुम कल परमात्मा के नजदीक रहकर

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  814
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
सुख और दुख में क्या अंतर है ; सुख और दुख को किस प्रकार ग्रहण करना चाहिए ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!