कानून क्यों बनाया गया?...


user

Deepu kushwaha

Police Officer

0:31
Play

Likes  5  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
25 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कल क्यों बनाया गया उचित समय के अनुसार और अनुशासन के लिए नियम से आखिर तक काम समय पर संपन्न हो जाएंगे सरकार को सुविधाएं सरकार जनता को दे सकें इसके लिए सरकार का चुनाव की जनता की संरक्षक सरकार होती है पत्रकार कानूनों के माध्यम से ही जनता की देखभाल कर सकती है जनता कुछ विधायकों का तक की जनता को शाम को सोते व्हाट्सएप कि अगर सरकार के पास ऐसा कोई कानून नहीं है तो फिर सरकार कोई मदद नहीं कर सकती किसी भी व्यक्ति का किसी भी तरीके से सरकार ने बनाया

kal kyon banaya gaya uchit samay ke anusaar aur anushasan ke liye niyam se aakhir tak kaam samay par sampann ho jaenge sarkar ko suvidhaen sarkar janta ko de sake iske liye sarkar ka chunav ki janta ki sanrakshak sarkar hoti hai patrakar kanuno ke madhyam se hi janta ki dekhbhal kar sakti hai janta kuch vidhayakon ka tak ki janta ko shaam ko sote whatsapp ki agar sarkar ke paas aisa koi kanoon nahi hai toh phir sarkar koi madad nahi kar sakti kisi bhi vyakti ka kisi bhi tarike se sarkar ne banaya

कल क्यों बनाया गया उचित समय के अनुसार और अनुशासन के लिए नियम से आखिर तक काम समय पर संपन्

Romanized Version
Likes  498  Dislikes    views  4283
WhatsApp_icon
user

Swami Umesh Yogi

Peace-Guru (Global Peace Education)

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून क्यों बनाया गया कानून बनाने का जो संविधान बनाने का जो आवश्यकता इस थी पड़ी कि लोग एक व्यवस्थित जीवन जी सकें और एक दूसरे के लिए वह दुखदाई ना हो एक दूसरे के लिए कष्टकारी और जो है और अधिक न हो बल्कि एक दूसरे के लिए सहयोगी हो और व्यवस्था का निर्माण हो सके ऐसे कि जिस व्यवस्था किसके कारण सभी लोग उसको स्वीकार करें और वह व्यवस्था एक लिखित रूप से एक ऐसा हो जिसको सब लोग यह नहीं कि भाई यह मेरा कानून है उसका कानून कानून बनाने की व्यवस्था के नियम हो तो इससे इसलिए कानून की आवश्यकता पड़ी

kanoon kyon banaya gaya kanoon banane ka jo samvidhan banane ka jo avashyakta is thi padi ki log ek vyavasthit jeevan ji sake aur ek dusre ke liye vaah dukhdai na ho ek dusre ke liye kashtakari aur jo hai aur adhik na ho balki ek dusre ke liye sahyogi ho aur vyavastha ka nirmaan ho sake aise ki jis vyavastha kiske karan sabhi log usko sweekar kare aur vaah vyavastha ek likhit roop se ek aisa ho jisko sab log yah nahi ki bhai yah mera kanoon hai uska kanoon kanoon banane ki vyavastha ke niyam ho toh isse isliye kanoon ki avashyakta padi

कानून क्यों बनाया गया कानून बनाने का जो संविधान बनाने का जो आवश्यकता इस थी पड़ी कि लोग एक

Romanized Version
Likes  396  Dislikes    views  2828
WhatsApp_icon
user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून देश के लोगों की सुरक्षा के लिए किसी के साथ में कोई भी दुर्गा नहीं करें उठता पूर्व अपने बल का प्रयोग नहीं करें या कोई नहीं करें कोई अपराध की गतिविधियों को रोकने के लिए भी कमी को बनाएंगे या जनता उस काम को करवाने के लिए कानून को बनाया क्या

kanoon desh ke logo ki suraksha ke liye kisi ke saath me koi bhi durga nahi kare uthata purv apne bal ka prayog nahi kare ya koi nahi kare koi apradh ki gatividhiyon ko rokne ke liye bhi kami ko banayenge ya janta us kaam ko karwane ke liye kanoon ko banaya kya

कानून देश के लोगों की सुरक्षा के लिए किसी के साथ में कोई भी दुर्गा नहीं करें उठता पूर्व अप

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कानून क्यों बनाया गया श्रीमान जी किसी भी देश में अपने आपको समाज को व्यवस्थित करने के लिए कोई कानून बनाए आवश्यक सूचना कानून के कोई भी सभ्य समाज संगठित नहीं हो सकता अगर समाज में एक नियम कानून नहीं बनेंगे तो लोग जो है वह स्थित नहीं रह पाएंगे कोई किसी का भला नहीं चाहता अंत सिस्टम आज हो जाएगा सारा काम है जो सिस्टम से होते हैं वह सब सिस्टमाइज हो जाएगा देश की जो हमने व्यवस्था बना रखी है कानून से जिस कानून का जो पालन नहीं करता उसको दंडित किया जाता है दंत कथाओं खत्म हो जाए इसलिए भारत के संविधान भारत का संविधान बनाया गया है भारत के संविधान के तहत कानून बनाया गया है उस कानून का संपादन करते हैं जो पालन नहीं करता उसके लिए दंडित किया गया है और उस दंड के भय ठंड के पैसे वह कानून का अनुपालन करने लगता है डरता है इसलिए भारत में क्या कहीं भी कानून बनाया जाता है

namaskar aapka prashna hai kanoon kyon banaya gaya shriman ji kisi bhi desh me apne aapko samaj ko vyavasthit karne ke liye koi kanoon banaye aavashyak soochna kanoon ke koi bhi sabhya samaj sangathit nahi ho sakta agar samaj me ek niyam kanoon nahi banenge toh log jo hai vaah sthit nahi reh payenge koi kisi ka bhala nahi chahta ant system aaj ho jaega saara kaam hai jo system se hote hain vaah sab sistamaij ho jaega desh ki jo humne vyavastha bana rakhi hai kanoon se jis kanoon ka jo palan nahi karta usko dandit kiya jata hai dant kathao khatam ho jaaye isliye bharat ke samvidhan bharat ka samvidhan banaya gaya hai bharat ke samvidhan ke tahat kanoon banaya gaya hai us kanoon ka sampadan karte hain jo palan nahi karta uske liye dandit kiya gaya hai aur us dand ke bhay thand ke paise vaah kanoon ka anupaalan karne lagta hai darta hai isliye bharat me kya kahin bhi kanoon banaya jata hai

नमस्कार आपका प्रश्न है कानून क्यों बनाया गया श्रीमान जी किसी भी देश में अपने आपको समाज क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  52
WhatsApp_icon
user
1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समाज में देखिए सभी प्रकार के व्यक्ति है गरीब मध्यम और उच्च वर्ग और यह माना जाता है कि लेकिन समाज में जो पूजा उड़नदस्ता करता है यह किसी व्यक्ति को मानव को पशु को किसी जीवन को क्षति पहुंचाता है तो वह व्यक्ति दोषी होता है और उस दोषी को सजा देने के लिए ही देश में कानून की आवश्यकता पड़ी और एक सशक्त कानून बनाया गया इसीलिए समाज में कानून का भय व्याप्त रहे इसकी कानून की कड़ी से कड़ाई से पालना कराई जाती इसके लिए सरकार ने अपने अधिकारी बना रखे हर अधिकारी के अलग-अलग क्षेत्राधिकार है क्षेत्राधिकारी पुलिस अपराध को अपराध को रोकने के लिए उस अपराधी को पकड़ती और उसके अपराध की प्रकृति के अनुसार उसको सजा दी जाए समाज में किसी का भी व्यक्त ना हो अपराधियों में डर हो और आमजन में विश्वास हो ऐसा कानून हमारे देश में बनाया गया है जिसकी कड़ाई से पालना हमारी पुलिस करवाती है इसलिए कानून की आवश्यकता है

samaj me dekhiye sabhi prakar ke vyakti hai garib madhyam aur ucch varg aur yah mana jata hai ki lekin samaj me jo puja udandasta karta hai yah kisi vyakti ko manav ko pashu ko kisi jeevan ko kshati pohchta hai toh vaah vyakti doshi hota hai aur us doshi ko saza dene ke liye hi desh me kanoon ki avashyakta padi aur ek sashakt kanoon banaya gaya isliye samaj me kanoon ka bhay vyapt rahe iski kanoon ki kadi se kadai se paalna karai jaati iske liye sarkar ne apne adhikari bana rakhe har adhikari ke alag alag kshetradhikar hai kshetradhikari police apradh ko apradh ko rokne ke liye us apradhi ko pakadti aur uske apradh ki prakriti ke anusaar usko saza di jaaye samaj me kisi ka bhi vyakt na ho apradhiyon me dar ho aur aamjan me vishwas ho aisa kanoon hamare desh me banaya gaya hai jiski kadai se paalna hamari police karwati hai isliye kanoon ki avashyakta hai

समाज में देखिए सभी प्रकार के व्यक्ति है गरीब मध्यम और उच्च वर्ग और यह माना जाता है कि लेकि

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
user

Ranpal Awana Advocate Noida

Advocacy, Supreme Court Of India, Ex Treasurer District Court Noida, Gautam Budh Nagar

3:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू शक है कि कानून क्यों बनाया गया गंभीर मुद्दा है आखिर कानून क्यों बनाया सरकारों के द्वारा इसलिए बनाया गया है कि देश है यदि आपके साथ कोई किसी प्रकार का अत्याचार या जाति करता है या किसी प्रकार का अतिक्रमण करता है या आपके किसी प्रकार के अधिकारों का उल्लंघन करता है या आपको लगता है कि किसी व्यक्ति ने आपके साथ कोई दुर्व्यवहार की है आपको लगता है कि किसी व्यक्ति ने आपको कोई वस्तु आपके दिए हम उनसे कम दी है यदि आपको लगता है कि आपकी किसी व्यक्ति ने किसी प्रकार से सामान की चोरी या कॉपी की है तो उस व्यक्ति के खिलाफ आप संबंधित किसी भी न्यायालय में जाकर जो कि सक्सेना ले है या किसी भी न्यायिक अधिकारी के पास जाकर के उसकी शिकायत मौखिक या लिखित में दर्ज करा सकते हैं जिससे कि उस व्यक्ति के खिलाफ न्यायिक अधिकारी या प्रशासनिक अधिकारी सख्त से सख्त कार्रवाई कर सके और उस व्यक्ति या संस्था के खिलाफ कोई जुर्माना या सजा या को भी निर्धारित कर सके जिसकी वह व्यक्ति किसी अन्य प्रकार का इस प्रकार का प्रकार ना करें तथा समाज में अन्य किसी व्यक्ति को भी इस प्रकार का कण-कण करने से रोक सकें जब समाज में एक मैसेज आएगा कि किसी व्यक्ति के खिलाफ या उस व्यक्ति के खिलाफ इस प्रकार की गंभीर धाराओं में उस व्यक्ति को सजा या जुर्माने से बांदा गया है तो अन्य व्यक्ति भी इस प्रकार की घटनाएं करने से पहले कम से कम 10 बार सोचेगा और कोई भी इस प्रकार की घटनाएं भविष्य में नहीं करेगा जिससे कि उसको सजा या जुर्माना देने के लिए प्रशासन या न्यायिक अधिकारी के द्वारा वादी किया जा सके धन्यवाद

tu shak hai ki kanoon kyon banaya gaya gambhir mudda hai aakhir kanoon kyon banaya sarkaro ke dwara isliye banaya gaya hai ki desh hai yadi aapke saath koi kisi prakar ka atyachar ya jati karta hai ya kisi prakar ka atikraman karta hai ya aapke kisi prakar ke adhikaaro ka ullanghan karta hai ya aapko lagta hai ki kisi vyakti ne aapke saath koi durvyavahar ki hai aapko lagta hai ki kisi vyakti ne aapko koi vastu aapke diye hum unse kam di hai yadi aapko lagta hai ki aapki kisi vyakti ne kisi prakar se saamaan ki chori ya copy ki hai toh us vyakti ke khilaf aap sambandhit kisi bhi nyayalaya me jaakar jo ki saxena le hai ya kisi bhi nyayik adhikari ke paas jaakar ke uski shikayat maukhik ya likhit me darj kara sakte hain jisse ki us vyakti ke khilaf nyayik adhikari ya prashaasnik adhikari sakht se sakht karyawahi kar sake aur us vyakti ya sanstha ke khilaf koi jurmana ya saza ya ko bhi nirdharit kar sake jiski vaah vyakti kisi anya prakar ka is prakar ka prakar na kare tatha samaj me anya kisi vyakti ko bhi is prakar ka kan kan karne se rok sake jab samaj me ek massage aayega ki kisi vyakti ke khilaf ya us vyakti ke khilaf is prakar ki gambhir dharaon me us vyakti ko saza ya jurmane se banda gaya hai toh anya vyakti bhi is prakar ki ghatnaye karne se pehle kam se kam 10 baar sochega aur koi bhi is prakar ki ghatnaye bhavishya me nahi karega jisse ki usko saza ya jurmana dene ke liye prashasan ya nyayik adhikari ke dwara wadi kiya ja sake dhanyavad

तू शक है कि कानून क्यों बनाया गया गंभीर मुद्दा है आखिर कानून क्यों बनाया सरकारों के द्वारा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user
0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून एक वह प्रक्रिया है जो समाज को एक सही और सही दिशा में ले जाने के लिए समान रूप से अधिकार दिलाने के लिए सभी का को की जरूरतों को पूरा करने के लिए व्हाट्सएप पर जो है अपनी मौलिक अधिकारों के हिसाब का वहन करने के लिए उनको भली प्रकार का जीवन दिलाने के लिए उनके अधिकारों की रक्षा करने के लिए इसलिए कानून बनाया गया है तब कोई प्राणी है कारण किसी के साथ किसी प्रकार गलत काम करे न कर सके तो अपना पैसा एसकेएक्ससी में पहुंचा सके या अपने मन में बसा के सविधान की नजर में भारत के सर्वोच्च न्यायालय के अधीन सभी एक हैं भारतीय मूल में रहने वाले लोग

kanoon ek vaah prakriya hai jo samaj ko ek sahi aur sahi disha me le jaane ke liye saman roop se adhikaar dilaane ke liye sabhi ka ko ki jaruraton ko pura karne ke liye whatsapp par jo hai apni maulik adhikaaro ke hisab ka wahan karne ke liye unko bhali prakar ka jeevan dilaane ke liye unke adhikaaro ki raksha karne ke liye isliye kanoon banaya gaya hai tab koi prani hai karan kisi ke saath kisi prakar galat kaam kare na kar sake toh apna paisa SKXC me pohcha sake ya apne man me basa ke samvidhan ki nazar me bharat ke sarvoch nyayalaya ke adheen sabhi ek hain bharatiya mul me rehne waale log

कानून एक वह प्रक्रिया है जो समाज को एक सही और सही दिशा में ले जाने के लिए समान रूप से अधिक

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  543
WhatsApp_icon
user

Rajiv Chaturvedi

Lawyer | Business Man

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून लोगों के अधिकार के शहर के जवानों को कम करने के लिए

kanoon logo ke adhikaar ke shehar ke jawano ko kam karne ke liye

कानून लोगों के अधिकार के शहर के जवानों को कम करने के लिए

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
user
1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून क्यों बनाया गया है कानून 11 प्रशासनिक प्रक्रिया है जिस तरीके से पहले राजा महाराजा हुआ करते थे कि ऐतिहासिक या जो रहता था उसके नियम कानून हुआ करते थे जो राजा द्वारा बनाए गए कानून ग्रह बहुत पहले से मनाया गया है और शासन करने की एक विधि नियम है जिससे सभी को अनुशासन में बनाए रखने के लिए कानून का पालन करना होता है रिश्ते बैलेंस नहीं होता है और आज के समय में भी जो हमारा कानून है वो डॉक्टर बी आर अंबेडकर द्वारा बनाया गया है संविधान जिसमें सभी कानून का पालन करना चाहिए

kanoon kyon banaya gaya hai kanoon 11 prashaasnik prakriya hai jis tarike se pehle raja maharaja hua karte the ki etihasik ya jo rehta tha uske niyam kanoon hua karte the jo raja dwara banaye gaye kanoon grah bahut pehle se manaya gaya hai aur shasan karne ki ek vidhi niyam hai jisse sabhi ko anushasan me banaye rakhne ke liye kanoon ka palan karna hota hai rishte balance nahi hota hai aur aaj ke samay me bhi jo hamara kanoon hai vo doctor be R ambedkar dwara banaya gaya hai samvidhan jisme sabhi kanoon ka palan karna chahiye

कानून क्यों बनाया गया है कानून 11 प्रशासनिक प्रक्रिया है जिस तरीके से पहले राजा महाराजा हु

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

0:39
Play

Likes  252  Dislikes    views  3441
WhatsApp_icon
user

Harish Chand

Social Worker

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्रों आपका सवाल है कि कानून क्यों बनाया जाता है तब मित्रों कानून इसलिए बनाया जाता है कि किसी भी देश के लोग जो एक अनुशासन है उसको एक कानून के रूप में फॉलो कर सकें और देश को मजबूती प्रदान कर सकें अगर किसी देश में से कानून को हटा लिया जाता है और अराजकता फैल जाती है और वहां का सिस्टम खराब हो करके सत्ता गलत लोगों का तो पहुंच जाती है और लोग बाग मनमाने तरीके से अपना सिस्टम चलाने लग जाते हैं इसलिए हर देश के लिए कानून अति आवश्यक है और कानून रीड की हड्डी होती जैसे बगैर रीड की हड्डी के इंसान सीधा नहीं चल सकता वैसी बगैर कानून की कोई भी तरक्की नहीं कर सकता विकास नहीं कानून अति आवश्यक है और लोगों की सहायता के लिए प्रदेश को स्ट्रांग करने के लिए यह बनाया जाता है मेरे मित्र बोलो जय सिया राम

namaskar mitron aapka sawaal hai ki kanoon kyon banaya jata hai tab mitron kanoon isliye banaya jata hai ki kisi bhi desh ke log jo ek anushasan hai usko ek kanoon ke roop me follow kar sake aur desh ko majbuti pradan kar sake agar kisi desh me se kanoon ko hata liya jata hai aur arajkata fail jaati hai aur wahan ka system kharab ho karke satta galat logo ka toh pohch jaati hai aur log bagh manmane tarike se apna system chalane lag jaate hain isliye har desh ke liye kanoon ati aavashyak hai aur kanoon read ki haddi hoti jaise bagair read ki haddi ke insaan seedha nahi chal sakta vaisi bagair kanoon ki koi bhi tarakki nahi kar sakta vikas nahi kanoon ati aavashyak hai aur logo ki sahayta ke liye pradesh ko strong karne ke liye yah banaya jata hai mere mitra bolo jai sia ram

नमस्कार मित्रों आपका सवाल है कि कानून क्यों बनाया जाता है तब मित्रों कानून इसलिए बनाया जात

Romanized Version
Likes  180  Dislikes    views  1776
WhatsApp_icon
user

Jagdish Saxena

Nagrik Adhikar Chetna Parishad (NGO)

0:19
Play

Likes  64  Dislikes    views  383
WhatsApp_icon
user

Dr.Manoj kumar Pandey

M.D (A.M) ,Astrologer ,9044642070

1:38
Play

Likes  55  Dislikes    views  1549
WhatsApp_icon
user

Umesh kumar

Lecturer & Brain Guru ,Finger Prints Consultant

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका कृष्ण कानून क्यों बनाएगा एक कानून किसी भी चीज को व्यवस्थित चलाने के लिए उसके लिए डर जरूरी है जैसे-जैसे जनसंख्या बढ़ी तो आपस में डार्विन में का है भोजन स्थान और जन्म के लिए संघर्ष जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है जमीन में संघर्ष होता है तो यह आपस में क्या है अपराध करेंगे इसलिए उनको व्यवस्थित करने के लिए विभिन्न प्रकार के सिस्टम को चलाने के लिए एक प्रकार की संहिता बनाई जाती है और उसका उल्लंघन करने पर दंड का प्रावधान रखा जाता है ताकि वह व्यवस्थित रूप से चले इसलिए कानून बनाने की आवश्यकता पड़ती है कानून बनाए जाते हैं ऐसा हमारा

namaskar aapka krishna kanoon kyon banayega ek kanoon kisi bhi cheez ko vyavasthit chalane ke liye uske liye dar zaroori hai jaise jaise jansankhya badhi toh aapas me darwin me ka hai bhojan sthan aur janam ke liye sangharsh jaisi sthiti utpann ho jaati hai jameen me sangharsh hota hai toh yah aapas me kya hai apradh karenge isliye unko vyavasthit karne ke liye vibhinn prakar ke system ko chalane ke liye ek prakar ki sanhita banai jaati hai aur uska ullanghan karne par dand ka pravadhan rakha jata hai taki vaah vyavasthit roop se chale isliye kanoon banane ki avashyakta padti hai kanoon banaye jaate hain aisa hamara

नमस्कार आपका कृष्ण कानून क्यों बनाएगा एक कानून किसी भी चीज को व्यवस्थित चलाने के लिए उसके

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1023
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  24  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भरण पोषण देने का कानून सही बनाया गया है और मैंने अपने जीवन के अनुभव में देखा है कि अपनी बहू को भरण पोषण देने के लिए बड़ी तकलीफ होती है और जब आप की लड़की अपने ससुराल से आती है घर में इसी तरह प्रताड़ित होकर तब आपको लगता है कि उसको भरण-पोषण मिलना चाहिए तो आपका यह जो व्यक्ति वादी दृष्टिकोण है केवल अपने स्वार्थ के नाते आपने सोचा कि भरण पोषण का कानून गलत है यह गलत है आप हर आदमी की स्थिति यह है कि वह अपने हिसाब से कानून का विश्लेषण व्याख्या करता है प्रदूषण कानून एकदम सही बनाया गया

bharan poshan dene ka kanoon sahi banaya gaya hai aur maine apne jeevan ke anubhav me dekha hai ki apni bahu ko bharan poshan dene ke liye badi takleef hoti hai aur jab aap ki ladki apne sasural se aati hai ghar me isi tarah pratarit hokar tab aapko lagta hai ki usko bharan poshan milna chahiye toh aapka yah jo vyakti wadi drishtikon hai keval apne swarth ke naate aapne socha ki bharan poshan ka kanoon galat hai yah galat hai aap har aadmi ki sthiti yah hai ki vaah apne hisab se kanoon ka vishleshan vyakhya karta hai pradushan kanoon ekdam sahi banaya gaya

भरण पोषण देने का कानून सही बनाया गया है और मैंने अपने जीवन के अनुभव में देखा है कि अपनी बह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  297
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे कानून क्यों बनाया गया कानून आपकी भलाई के लिए बनाया गया कानून आप के संरक्षक है संविधान का संरक्षक है कानून इसलिए बनाया गया है कि ताकि आप कोई गलत व्यक्ति कानून के दायरे होना चाहिए ऐसा नहीं रहेगा तो हर एक व्यक्ति को हर एक सिटीजनशिप को एक दायरे में रहना जरूरी है एक सामाजिक दायरे में रहना जरूरी है कानून इसी लिए बनाया गया है कि हर व्यक्ति दायरे पर रहे कानून का उल्लंघन ना करें क्योंकि व्यक्ति के अंदर रहेगा तभी अपना कार्य सुचारु रुप से मार देगा कानून हमारे लिए बनाया गया है कानून शाम को बताओ भी है अगर कोई मालू कोई हमें कुछ बोल देता है गाली देता है कोर्ट के छोड़ा जाता तो शाम को न्याय मिलेगा

dekhe kanoon kyon banaya gaya kanoon aapki bhalai ke liye banaya gaya kanoon aap ke sanrakshak hai samvidhan ka sanrakshak hai kanoon isliye banaya gaya hai ki taki aap koi galat vyakti kanoon ke daayre hona chahiye aisa nahi rahega toh har ek vyakti ko har ek Citizenship ko ek daayre me rehna zaroori hai ek samajik daayre me rehna zaroori hai kanoon isi liye banaya gaya hai ki har vyakti daayre par rahe kanoon ka ullanghan na kare kyonki vyakti ke andar rahega tabhi apna karya suruchi roop se maar dega kanoon hamare liye banaya gaya hai kanoon shaam ko batao bhi hai agar koi maloom koi hamein kuch bol deta hai gaali deta hai court ke choda jata toh shaam ko nyay milega

देखे कानून क्यों बनाया गया कानून आपकी भलाई के लिए बनाया गया कानून आप के संरक्षक है संविधान

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  409
WhatsApp_icon
user

Brijpal Singh Chouhan

Social Worker, journalist

0:45
Play

Likes  17  Dislikes    views  389
WhatsApp_icon
user

Yogender Dhillon

Law Educator , Advocate,RTI Activist , Motivational Coach

0:39
Play

Likes  17  Dislikes    views  373
WhatsApp_icon
user

Dileep Mawai

Advocate

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नया कानून इसलिए बनाया गया है जिससे एक उच्च पद पर बैठा हुआ आदमी और एक मजदूर आदमी को सामान्य याद दिलाएगा सके सामान्य जीवन जी सके नहीं तो पुराने समय में राजा महाराजाओं द्वारा या अन्य द्वारा जो किसी निस्वार्थ खाने कर

naya kanoon isliye banaya gaya hai jisse ek ucch pad par baitha hua aadmi aur ek majdur aadmi ko samanya yaad dilaega sake samanya jeevan ji sake nahi toh purane samay me raja maharajaon dwara ya anya dwara jo kisi niswarth khane kar

नया कानून इसलिए बनाया गया है जिससे एक उच्च पद पर बैठा हुआ आदमी और एक मजदूर आदमी को सामान्य

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  63
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून बनते इसलिए उनका पालन हो नियम धारण किए जाते नियमों को बनाया जाता है संविधान से पारित किए दोनों सदनों से पारित कराया जाता है संविधान में जोड़ा जाता है ठीक है ना और जरूरी कानून पढ़ते हैं संसद नहीं चल रही होती है तो राष्ट्रपति अध्यादेश के द्वारा कानूनों को का निर्माण करते थे कि मेले के अंदर उन्हें संसद से पास कराना पड़ता है इसके लिए नए नियमों का पालन करते रहना चाहिए उनको समझना चाहिए और टेन समझनी चाहिए

kanoon bante isliye unka palan ho niyam dharan kiye jaate niyamon ko banaya jata hai samvidhan se paarit kiye dono sadano se paarit karaya jata hai samvidhan me joda jata hai theek hai na aur zaroori kanoon padhte hain sansad nahi chal rahi hoti hai toh rashtrapati adhyadesh ke dwara kanuno ko ka nirmaan karte the ki mele ke andar unhe sansad se paas krana padta hai iske liye naye niyamon ka palan karte rehna chahiye unko samajhna chahiye aur ten samajhni chahiye

कानून बनते इसलिए उनका पालन हो नियम धारण किए जाते नियमों को बनाया जाता है संविधान से पारित

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  724
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Seth

Advocate, Hon'ble High Court, Lucknow

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो टेस्टिंग है कि कानून क्यों बनाया गया कानून इसलिए बनाया गया मित्र कि देश राज्य और समाज में समाज की रक्षा हो सके और जितने भी मनुष्य मानव मात्र इस धरती पर इस समाज में इस किसी राष्ट्र में रह रहे हैं उनको उनके अधिकारों से वंचित न किया जाए यह कानून का निर्माण हुआ है और हमारे यह जो कानून का निर्माण हुआ है यह हमारे ही कस्टम से हमारी सभ्यता से लिया गया है जैसे मुस्लिम लॉ मुस्लिम कार्लो कस्टम से लिया गया है हिंदू हिंदू कस्टम से लिए गए हैं क्योंकि उन्हीं के साथ में क्योंकि उन्हीं का जो जो जिस समुदाय का होता है उसी समुदाय के फीचर्स को फॉलो करता है इस वजह से कारों का निर्माण किया जाए कि कोई व्यक्ति किसी तरह से कुछ गलत ना कर सके किसी को किसी की आजादी में जबरदस्ती दखल अंदाजी ना कर सके और राष्ट्र के प्रति अपने प्रति अपने परिवार के प्रति देश के प्रति अन्य व्यक्तियों के प्रति समाज के प्रति अच्छा व्यवहार करें गलत व्यवहार ना करें धन्यवाद

hello testing hai ki kanoon kyon banaya gaya kanoon isliye banaya gaya mitra ki desh rajya aur samaj me samaj ki raksha ho sake aur jitne bhi manushya manav matra is dharti par is samaj me is kisi rashtra me reh rahe hain unko unke adhikaaro se vanchit na kiya jaaye yah kanoon ka nirmaan hua hai aur hamare yah jo kanoon ka nirmaan hua hai yah hamare hi custom se hamari sabhyata se liya gaya hai jaise muslim law muslim carlo custom se liya gaya hai hindu hindu custom se liye gaye hain kyonki unhi ke saath me kyonki unhi ka jo jo jis samuday ka hota hai usi samuday ke features ko follow karta hai is wajah se kaaron ka nirmaan kiya jaaye ki koi vyakti kisi tarah se kuch galat na kar sake kisi ko kisi ki azadi me jabardasti dakhal andaji na kar sake aur rashtra ke prati apne prati apne parivar ke prati desh ke prati anya vyaktiyon ke prati samaj ke prati accha vyavhar kare galat vyavhar na kare dhanyavad

हेलो टेस्टिंग है कि कानून क्यों बनाया गया कानून इसलिए बनाया गया मित्र कि देश राज्य और समाज

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user

RAJNISH KUMAR YADAV

Advocate (Delhi High Court)

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित किसी भी व्यवस्था को चलाने के लिए एक कानून की आवश्यकता होती है जिसमें दंड का प्रावधान होता है किस तरीके से वह कानून कार्य करेगा सब कुछ लिखित रूप से होता है जिसमें सारी प्रक्रिया समझाई जाती है कि कौन क्या कार्य करेगा तथा कैसे करेगा यदि कानून ना बनाया गया होता तो कोई भी अपनी मनमर्जी से कुछ भी करता यानी कि आप किसी का मर्डर कर देते हैं तो भी आपको कोई केस नहीं बनता क्योंकि इस प्रकार का कोई कानून ही नहीं बना इसलिए कानून बनाना आवश्यक था इसलिए कानून बनाया गया कि सभी व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जाए तथा किसी भी आम नागरिक को यह किसी भी नागरिक को किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े

likhit kisi bhi vyavastha ko chalane ke liye ek kanoon ki avashyakta hoti hai jisme dand ka pravadhan hota hai kis tarike se vaah kanoon karya karega sab kuch likhit roop se hota hai jisme saari prakriya samjhai jaati hai ki kaun kya karya karega tatha kaise karega yadi kanoon na banaya gaya hota toh koi bhi apni manmarzi se kuch bhi karta yani ki aap kisi ka murder kar dete hain toh bhi aapko koi case nahi banta kyonki is prakar ka koi kanoon hi nahi bana isliye kanoon banana aavashyak tha isliye kanoon banaya gaya ki sabhi vyavastha ko sucharu roop se chalaya jaaye tatha kisi bhi aam nagarik ko yah kisi bhi nagarik ko kisi bhi pareshani ka samana na karna pade

लिखित किसी भी व्यवस्था को चलाने के लिए एक कानून की आवश्यकता होती है जिसमें दंड का प्रावधान

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!