सरकारी कर्मचारी काम करने में समय क्यों लगाते हैं इससे आम जनता को दिक्कत होती है?...


user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिव्य बिल्कुल आपने सही बात बोली कि जो सरकारी कर्मचारी होते हैं वह पूरी मेहनत से और पूरा काम सही तरीके से नहीं करते और सही समय पर नहीं करते उसकी वजह क्या हो जाए तो दे उसकी पिक्चर चाहिए कि हमारा पूरा सिस्टम कनेक्टेड है और ऊपर से नीचे तक जो ज्यादातर लोग हैं सरकारी कर्मचारी हैं वह कपड़े किस वजह से पूरे काम पर अच्छे से मॉनिटरिंग नहीं होती और किसी भी सरकारी कर्मचारी को इतना खौफ नहीं होता अपने डिपार्टमेंट के हेड हेड का आप प्राइवेट जॉब्स के बाद कर लीजिए अगर कोई वहां का एंप्लोई है उसको हमेशा डर लगा रहता है अपने डिपार्टमेंट के हेड से कि वह कभी कुछ बोलेगा करना कहीं कोई काम सही से नहीं करूंगा सही समय पर नहीं करूंगा इस वजह से प्राइवेट सेक्टर जो है उसमें उसकी सबसे अच्छी होती है और अगर प्राइवेट बैंक से बात करें या कोई भी प्राइवेट सेक्टर की बात करें अगर आप वहां जाएंगे तो वहां फटाफट होता है क्योंकि एंप्लॉय उसको जल्दी करेगा वहां का कर्मचारी जल्दी काम करता है क्योंकि उसके ऊपर प्रेशर होता है उसके काम की पूरी देरी से मॉनिटरिंग होती है अगर वह सही काम नहीं करेगा तो उसको दिक्कत होगी एवरी टाइम में सरकार में और सरकारी कर्मचारी में ऐसा कुछ नहीं हो पाता सरकारी कर्मचारी आराम से काम करता है उसको डर ही नहीं है ऊपर के डिपार्टमेंट का डिपार्टमेंट करके उससे ज्यादा कोई कुछ बोलने वाला है और अगर कुछ बोलता है तो उसको भी शांत करवा दिया जाता है इतना हम को डर नहीं होता तो प्रॉपर मॉनिटरिंग और इतना करप्शन यह तो रीजन है किसी सरकारी कर्मचारी काम नहीं करते हो काम करते तो बहुत समय लगाते हैं

divya bilkul aapne sahi baat boli ki jo sarkari karmchari hote hain vaah puri mehnat se aur pura kaam sahi tarike se nahi karte aur sahi samay par nahi karte uski wajah kya ho jaaye toh de uski picture chahiye ki hamara pura system connected hai aur upar se niche tak jo jyadatar log hain sarkari karmchari hain vaah kapde kis wajah se poore kaam par acche se monitoring nahi hoti aur kisi bhi sarkari karmchari ko itna khauf nahi hota apne department ke head head ka aap private jobs ke baad kar lijiye agar koi wahan ka employee hai usko hamesha dar laga rehta hai apne department ke head se ki vaah kabhi kuch bolega karna kahin koi kaam sahi se nahi karunga sahi samay par nahi karunga is wajah se private sector jo hai usme uski sabse achi hoti hai aur agar private bank se baat kare ya koi bhi private sector ki baat kare agar aap wahan jaenge toh wahan phataphat hota hai kyonki employee usko jaldi karega wahan ka karmchari jaldi kaam karta hai kyonki uske upar pressure hota hai uske kaam ki puri deri se monitoring hoti hai agar vaah sahi kaam nahi karega toh usko dikkat hogi every time mein sarkar mein aur sarkari karmchari mein aisa kuch nahi ho pata sarkari karmchari aaram se kaam karta hai usko dar hi nahi hai upar ke department ka department karke usse zyada koi kuch bolne vala hai aur agar kuch bolta hai toh usko bhi shaant karva diya jata hai itna hum ko dar nahi hota toh proper monitoring aur itna corruption yah toh reason hai kisi sarkari karmchari kaam nahi karte ho kaam karte toh bahut samay lagate hain

दिव्य बिल्कुल आपने सही बात बोली कि जो सरकारी कर्मचारी होते हैं वह पूरी मेहनत से और पूरा का

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  79
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
फिर से कहो ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!