नेता बनने के लिए लोग मंदिर मस्जिद का सहारा क्यों लेते हैं?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेता बनने के लिए लोग मंदिर मस्जिद का सहारा क्यों देते हैं लेकिन सीधी सी बात है नेता लोग भी होते हैं उन्हें वोट लेने रहते हैं वह मंदिर की मुलाकात लेते हैं जनेऊ धारी बन जाते हैं टीका लगा लेते हैं रामनामी दुपट्टा ओढ़े देते हैं और मंदिरों के फेरे लगाते हैं पुजारियों से आशीर्वाद लेते हैं ताकि मीडिया में उनको माइलेज मिले उन्हें जगह मिले और उनका यह रूप दिखाया जाए ताकि हिंदू लोग उनको वोट दें और वह अपनी कुर्सी सलामत रखें अलग-अलग मस्जिदों में जाकर वह लोग माथा टेक से नेता लोग और मौलवियों से को फातिमा पढ़ाते हैं और अलग-अलग तरह की वह वेश बनाते हैं इस तरह से वह सोचते हैं हमें मस्जिद के मौलवी और मौलाना वह जरूर आशीर्वाद देंगे और मुस्लिम संप्रदाय हमें वोट दे इन सबका हेतु एक ही रहता है वोट कलेक्ट करना वोट इकट्ठा करना और मीडिया में आना इस तरह से नेता बनने के लिए लोग मंदिर और मस्जिद का सहारा लेते धन्यवाद

neta banne ke liye log mandir masjid ka sahara kyon dete hain lekin seedhi si baat hai neta log bhi hote hain unhe vote lene rehte hain vaah mandir ki mulakat lete hain janeu dhari ban jaate hain tika laga lete hain ramnami dupatta odhe dete hain aur mandiro ke fere lagate hain pujariyon se ashirvaad lete hain taki media me unko mileage mile unhe jagah mile aur unka yah roop dikhaya jaaye taki hindu log unko vote de aur vaah apni kursi salamat rakhen alag alag masjidon me jaakar vaah log matha take se neta log aur maulviyon se ko fatima padhate hain aur alag alag tarah ki vaah vesh banate hain is tarah se vaah sochte hain hamein masjid ke maulavi aur maulana vaah zaroor ashirvaad denge aur muslim sampraday hamein vote de in sabka hetu ek hi rehta hai vote collect karna vote ikattha karna aur media me aana is tarah se neta banne ke liye log mandir aur masjid ka sahara lete dhanyavad

नेता बनने के लिए लोग मंदिर मस्जिद का सहारा क्यों देते हैं लेकिन सीधी सी बात है नेता लोग भी

Romanized Version
Likes  373  Dislikes    views  5294
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!