राम नाम सर्वोपरि क्यों है?...


user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम नाम सब ऊपर इसीलिए है कि एक तो राम नाम ईश्वर कहां है और बिना ईश्वर के नहीं यह सारा संसार चलता है नहीं यह प्रकृति जलती है और रही बात अगर दूसरे से देखा जाए तो राम का अगर उल्टा देखें तो उसमें आता है मां और मनुष्य के जीवन का जो अंतिम सत्य है वह यही है मानाराम तो इसीलिए नाम हमेशा सर्वोपरि रहता है

ram naam sab upar isliye hai ki ek toh ram naam ishwar kaha hai aur bina ishwar ke nahi yah saara sansar chalta hai nahi yah prakriti jalti hai aur rahi baat agar dusre se dekha jaaye toh ram ka agar ulta dekhen toh usme aata hai maa aur manushya ke jeevan ka jo antim satya hai vaah yahi hai manaram toh isliye naam hamesha sarvopari rehta hai

राम नाम सब ऊपर इसीलिए है कि एक तो राम नाम ईश्वर कहां है और बिना ईश्वर के नहीं यह सारा संसा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:18
Play

Likes  394  Dislikes    views  4736
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:58
Play

Likes  395  Dislikes    views  2922
WhatsApp_icon
user

Manoj Kumar

Spiritual Knowdge / working as a Social Worker

4:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि राम का नाम सर्वोपरि है लेकिन मुझे बहुत ही बुद्धिजीवी आत्माओं की जो जवाब है राम नाम सर्वोपरि क्यों है इस पर जो मैंने जवाब सुने उनके तुम मुझे हैरानी होती है मैं आपसे निवेदन करना चाहता हूं कि इसमें फिर कहना चाहूंगा कि कोई दो राय नहीं कि राम का नाम सर्वोपरि है लेकिन आपको यह सोचना होगा कि क्या आपको राम की पहचान है अगर काम एक ही होते तो फिर कबीर जी को यह कहने की कोई जरूरत नहीं थी कि राम राम सब जगत मखाने आदि राम कोई बिरला जाने परमात्मा कहते हैं कि राम राम तो सभी बोलते हैं लेकिन उस आधी राम को जो जगत पालनहार राम है उसको कोई नहीं जानता परमात्मा कहते हैं एक राम दशरथ का बेटा एक राम घट घट में बैठा एक राम का सकल पसारा एक राम इस जग से हारा अब आप बताइए कि आप किस राम को सर्वोपरि कह रहे हैं क्या उसी राम को जो पहली स्टेज पर ही जिसका नाम आया एक राम दशरथ का बेटा एक राम घट घट में बैठा एक राम का सकल पसारा एक राम इस जग से हारा परमात्मा ने विस्तार से इसके बारे में बताया है परमात्मा कहते हैं कि जैसे 1st है शहर का एसपी है हम उसको 20 साहब कहते हैं एसपी साहब एक मंत्री है एमएलए लगाओ आप कोई एमएलए है उसको भी हम साहब कहते हैं उसके बाद मंत्री है कोई केंद्रीय मंत्री है उसको बिग साहब कहते हैं मंत्री साहब एक प्रधानमंत्री है प्रधानमंत्री को भी साहब कहते हैं प्रधानमंत्री साहब राष्ट्रपति है राष्ट्रपति को भी साहब कहते हैं राष्ट्रपति साहब लेकिन इन सभी की पावर में फर्क है एमएलए वह काम नहीं कर सकता जो मंत्री करेगा मंत्री वह काम नहीं कर सकता जो प्रधानमंत्री करेगा और प्रधानमंत्री को काम नहीं कर सकता जो राष्ट्रपति करें तो यही फर्क है इन सभी राम की पावर में राम का अर्थ आपने सिर्फ दशरथ पुत्र राम से लगा लिया है यह राम वह साहब है आप किस साहब की बात कर रहे हो यह आपको देखना अगर आप मोक्ष गायकर राम की भक्ति करना चाहते हैं तो आपको साधना टीवी देखना पड़ेगा ताकि आपको इस बारे में पूर्ण जानकारी हो सके आपसे अनुरोध है अपने इस मानव जीवन को व्यर्थ ना गवाएं यह बड़ी मुश्किल से मिलता है इसलिए प्रतिदिन अवश्य देखें 7:30 से 8:30 तक साधना टीवी तब आपको असली राम की पहचान होगी कि कौन है वह असली राम जिससे हमारा जिस की भक्ति करने से यह है हमारा अनमोल मनुष्य जीवन सफल होगा आपको एक और जानकारी देना चाहूंगा जिससे शायद आपको भी विश्वास हो कि हां कोई राम है दशरथ पुत्र राम श्री रामचंद्र जी त्रेता युग में हुए क्या उससे पहले राम की भक्ति नहीं होती थी क्या उससे पहले संत महात्मा राम का जाप नहीं करते थे राम नाम की भक्ति नहीं करते थे आप ठीक वही काम कर रहे हो जैसे कोई डॉक्टर साहब कह दे भाई आपको सर दर्द है भाई दवाई ले ली है दवाई ले लेना केमिस्ट से और वह जाकर केमिस्ट की दुकान पर कहे के दवाई दे दे और यह ना बताएं कि किस चीज की दवाई चाहिए तो आपको मोक्ष दायक अगर भक्ति चाहिए तो पूर्ण राम की भक्ति करनी पड़ेगी पूर्ण परमात्मा की भक्ति करने पड़ेगी उस असली साहब की भक्ति करनी पड़ेगी वह साहब कौन है तो आपको संत रामपाल जी महाराज की पोस्ट के ज्ञानगंगा जीने की राह पढ़नी होगी या 7:30 से 8:30 साधना टीवी 8:30 से 9:30 तक ईश्वर टीवी देखना होगा अगर आप इस जीवन को सफल करना चाहते हैं धन्यवाद

isme koi do rai nahi hai ki ram ka naam sarvopari hai lekin mujhe bahut hi buddhijeevi atmaon ki jo jawab hai ram naam sarvopari kyon hai is par jo maine jawab sune unke tum mujhe hairani hoti hai main aapse nivedan karna chahta hoon ki isme phir kehna chahunga ki koi do rai nahi ki ram ka naam sarvopari hai lekin aapko yah sochna hoga ki kya aapko ram ki pehchaan hai agar kaam ek hi hote toh phir kabir ji ko yah kehne ki koi zarurat nahi thi ki ram ram sab jagat makhane aadi ram koi birala jaane paramatma kehte hain ki ram ram toh sabhi bolte hain lekin us aadhi ram ko jo jagat palanahar ram hai usko koi nahi jaanta paramatma kehte hain ek ram dashrath ka beta ek ram ghat ghat me baitha ek ram ka sakal pasaaraa ek ram is jag se hara ab aap bataiye ki aap kis ram ko sarvopari keh rahe hain kya usi ram ko jo pehli stage par hi jiska naam aaya ek ram dashrath ka beta ek ram ghat ghat me baitha ek ram ka sakal pasaaraa ek ram is jag se hara paramatma ne vistaar se iske bare me bataya hai paramatma kehte hain ki jaise 1st hai shehar ka SP hai hum usko 20 saheb kehte hain SP saheb ek mantri hai mla lagao aap koi mla hai usko bhi hum saheb kehte hain uske baad mantri hai koi kendriya mantri hai usko big saheb kehte hain mantri saheb ek pradhanmantri hai pradhanmantri ko bhi saheb kehte hain pradhanmantri saheb rashtrapati hai rashtrapati ko bhi saheb kehte hain rashtrapati saheb lekin in sabhi ki power me fark hai mla vaah kaam nahi kar sakta jo mantri karega mantri vaah kaam nahi kar sakta jo pradhanmantri karega aur pradhanmantri ko kaam nahi kar sakta jo rashtrapati kare toh yahi fark hai in sabhi ram ki power me ram ka arth aapne sirf dashrath putra ram se laga liya hai yah ram vaah saheb hai aap kis saheb ki baat kar rahe ho yah aapko dekhna agar aap moksha gayakar ram ki bhakti karna chahte hain toh aapko sadhna TV dekhna padega taki aapko is bare me purn jaankari ho sake aapse anurodh hai apne is manav jeevan ko vyarth na gavaen yah badi mushkil se milta hai isliye pratidin avashya dekhen 7 30 se 8 30 tak sadhna TV tab aapko asli ram ki pehchaan hogi ki kaun hai vaah asli ram jisse hamara jis ki bhakti karne se yah hai hamara anmol manushya jeevan safal hoga aapko ek aur jaankari dena chahunga jisse shayad aapko bhi vishwas ho ki haan koi ram hai dashrath putra ram shri ramachandra ji treta yug me hue kya usse pehle ram ki bhakti nahi hoti thi kya usse pehle sant mahatma ram ka jaap nahi karte the ram naam ki bhakti nahi karte the aap theek wahi kaam kar rahe ho jaise koi doctor saheb keh de bhai aapko sir dard hai bhai dawai le li hai dawai le lena chemist se aur vaah jaakar chemist ki dukaan par kahe ke dawai de de aur yah na bataye ki kis cheez ki dawai chahiye toh aapko moksha dayak agar bhakti chahiye toh purn ram ki bhakti karni padegi purn paramatma ki bhakti karne padegi us asli saheb ki bhakti karni padegi vaah saheb kaun hai toh aapko sant rampal ji maharaj ki post ke gyanaganga jeene ki raah padhani hogi ya 7 30 se 8 30 sadhna TV 8 30 se 9 30 tak ishwar TV dekhna hoga agar aap is jeevan ko safal karna chahte hain dhanyavad

इसमें कोई दो राय नहीं है कि राम का नाम सर्वोपरि है लेकिन मुझे बहुत ही बुद्धिजीवी आत्माओं क

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

0:30
Play

Likes  159  Dislikes    views  1570
WhatsApp_icon
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:30
Play

Likes  149  Dislikes    views  2982
WhatsApp_icon
user

Saurabh Bhardwaj

Writer & Film Director

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम नाम सर्वोपरि क्यों है यह सवाल के संदर्भ में मैं यह बताना चाहूंगा कि तुलसीदास ने कहा कि जिसकी रही भावना जैसी प्रभु मूरत प्रभु मूरत मिलाई तो अवश्य ऐसा कुछ सुने चोपाई लिखी थी जिसकी जैसी भावना रहती है उसे अपना सब कुछ मानता है और जिसको जो मैंने उसको बहुत ऊपर माने उसको सर्वश्रेष्ठ माने आधार पर देखा जाए तो दोनों ही राम के भक्त से आराम करने ब्रहम हमारा काम करने ब्रह्मा ना शुभम को छोरो परी कहना उचित है ब्रह्म ईश्वर ऊपर ही है वाकई में ब्रह्म स्वरूप दी है तो इस संदर्भ में राम को सर्वोपरि कहा जाता है

ram naam sarvopari kyon hai yah sawaal ke sandarbh me main yah batana chahunga ki tulsidas ne kaha ki jiski rahi bhavna jaisi prabhu murat prabhu murat milai toh avashya aisa kuch sune chopai likhi thi jiski jaisi bhavna rehti hai use apna sab kuch maanta hai aur jisko jo maine usko bahut upar maane usko sarvashreshtha maane aadhar par dekha jaaye toh dono hi ram ke bhakt se aaram karne braham hamara kaam karne brahma na subham ko choro pari kehna uchit hai Brahma ishwar upar hi hai vaakai me Brahma swaroop di hai toh is sandarbh me ram ko sarvopari kaha jata hai

राम नाम सर्वोपरि क्यों है यह सवाल के संदर्भ में मैं यह बताना चाहूंगा कि तुलसीदास ने कहा कि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Jitessh Pruthi

Interior Designer &Vastu,Pyramid Vastu, Feng Shui And Numerology Consultant

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कि राम नाम सर्वोपरि क्यों है भगवान श्री राम का नाम सर्वोपरि इसलिए है क्योंकि भगवान राम का नाम युगो युगो से चलता रहा है भगवान राम का नाम भगवान राम के जन्म से पहले ही चलता रहा है आपको और बताऊं जहां तक मैंने पढ़ा है और जहां तक मैंने जाना है तो भगवान राम का नाम युग युगांतर से चलता रहा है राम से बड़ा राम का नाम इसलिए ही कहा जाता क्योंकि भगवान राम होने से पहले से ही भगवान राम का नाम है यह तो भगवान ने श्री दशरथ जी के घर जब जन्म लिया तो भगवान को एक शुरू पर मिला उससे पहले से नाम इनाम था भगवान का जब भगवान ने जन्म लिया उससे पहले भी आज भी और जब भगवान थे तब भी किसी की मृत होती थी तब भी सबके साथ एक ही वचन बोला जाता था कि राम नाम सत्य है सत्य बोलो गत्य है इसका उत्तर यही था कि भगवान राम का नाम अनादिकाल से चल रहा है भगवान राम का नाम सर्वोपरि है सभी दुखों का नाश करने वाला है सभी सुखों को देने वाला नाम है राम मरा मरा मरा बोलो उस समय तक तुम मुंह से राम राम राम सुनाई में लगेगा और जब भी आप राम राम राम बोलोगे तो कभी आपको मरा मरा मरा सुनाई नहीं देगा इस बात को ध्यान रखिएगा भगवान राम का नाम सर्वोपरि था सर्वोपरि है और सर्वोपरि रहेगा युगो युगो तक उनका नाम चलेगा वह भारत देश की भारतवंशियों की कुल मनीषियों की हिंदुस्तान की बहुत बड़ी सम्मान की बात है भगवान राम बहुत बड़े सम्मान है हमारे भगवान राम का नाम सर्वोपरि था सर्वोपरि है और सर्वोपरि रहेगा जय श्री राम

namaskar aapka prashna hai ki ram naam sarvopari kyon hai bhagwan shri ram ka naam sarvopari isliye hai kyonki bhagwan ram ka naam yugo yugo se chalta raha hai bhagwan ram ka naam bhagwan ram ke janam se pehle hi chalta raha hai aapko aur bataun jaha tak maine padha hai aur jaha tak maine jana hai toh bhagwan ram ka naam yug yugantar se chalta raha hai ram se bada ram ka naam isliye hi kaha jata kyonki bhagwan ram hone se pehle se hi bhagwan ram ka naam hai yah toh bhagwan ne shri dashrath ji ke ghar jab janam liya toh bhagwan ko ek shuru par mila usse pehle se naam inam tha bhagwan ka jab bhagwan ne janam liya usse pehle bhi aaj bhi aur jab bhagwan the tab bhi kisi ki mrit hoti thi tab bhi sabke saath ek hi vachan bola jata tha ki ram naam satya hai satya bolo gatya hai iska uttar yahi tha ki bhagwan ram ka naam anadikal se chal raha hai bhagwan ram ka naam sarvopari hai sabhi dukhon ka naash karne vala hai sabhi sukho ko dene vala naam hai ram mara mara mara bolo us samay tak tum mooh se ram ram ram sunayi me lagega aur jab bhi aap ram ram ram bologe toh kabhi aapko mara mara mara sunayi nahi dega is baat ko dhyan rakhiega bhagwan ram ka naam sarvopari tha sarvopari hai aur sarvopari rahega yugo yugo tak unka naam chalega vaah bharat desh ki bharatavanshiyon ki kul manishiyon ki Hindustan ki bahut badi sammaan ki baat hai bhagwan ram bahut bade sammaan hai hamare bhagwan ram ka naam sarvopari tha sarvopari hai aur sarvopari rahega jai shri ram

नमस्कार आपका प्रश्न है कि राम नाम सर्वोपरि क्यों है भगवान श्री राम का नाम सर्वोपरि इसलिए ह

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user

Ujjawal Kumar

MOTIVATOR

2:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों प्रश्न है राम नाम सर्वोपरि क्यों है राम नाम सर्वोपरि के हर कवि ने अपने अपने मतानुसार महत्त्व दिया है मैं अपने अनुसार आपको बताने की कोशिश कर रहा हूं श्रीराम विष्णु के अवतार हैं वह आदि पुरुष है जो मानव मात्र की भलाई के लिए मानवीय रूप में इस धरा पर अवतरित हुए मानव अस्तित्व की कठिनाइयों तथा कष्टों का स्वयंवर किया ताकि सामाजिक और नैतिक मूल्यों का संरक्षण किया जा सके तथा दुष्टों को दंड दिया जा सके राम अवतार भगवान विष्णु के सर्वाधिक महत्वपूर्ण अवतारों में से सर्वोपरि है गोस्वामी तुलसीदास के अनुसार श्री राम के दो अक्षरों में रा तथा मो ताली की आवाज की तरह है जो संदेह के पक्षियों को हम से दूर ले जाती है यह हमें देवक तो शक्ति के प्रति विश्वास से ओतप्रोत करती है इस कारण से भी राम नाम सर्वोपरि है यह किसी भी प्रकार के मानव के लिए बोलने में सहज और सरल भी है इस प्रकार वेदांत वैध जी अनंत सच्चिदानंद तत्व के योगी वृंद भ्रमण करते हैं उसी को परम ब्रम्ह श्री राम कहते हैं जैसा कि राम उड़ता पनियों पानी शोध में कहा गया है संपूर्ण भारतीय समाज के लिए समान आदर्श के रूप में भगवान रामचंद्र को उत्तर से लेकर दक्षिण तक लोगों ने स्वीकार किया है हिंदी में तुलसीदास जी की रामायण सर्वत्र प्रसिद्ध है हिंदी में तुलसीदास जी की रामायण सर्वत्र प्रसिद्ध है ही सुदूर दक्षिण में महा कवि कंबन द्वारा लिखित कंब रामायण अत्यंत भक्ति पूर्ण ग्रंथ सोंग गोस्वामी जी ने राम चरित्र मानस के राम ग्रंथों को विस्तार का वर्णन किया है और उन्होंने कहा है नाना भांति राम अवतारा रामायण सत कोटि अपारा

doston prashna hai ram naam sarvopari kyon hai ram naam sarvopari ke har kavi ne apne apne matanusar mahatva diya hai main apne anusaar aapko batane ki koshish kar raha hoon shriram vishnu ke avatar hain vaah aadi purush hai jo manav matra ki bhalai ke liye manviya roop me is dhara par avtarit hue manav astitva ki kathinaiyon tatha kaston ka sawamber kiya taki samajik aur naitik mulyon ka sanrakshan kiya ja sake tatha dushton ko dand diya ja sake ram avatar bhagwan vishnu ke sarvadhik mahatvapurna avataron me se sarvopari hai goswami tulsidas ke anusaar shri ram ke do aksharon me ra tatha mo tali ki awaaz ki tarah hai jo sandeh ke pakshiyo ko hum se dur le jaati hai yah hamein devak toh shakti ke prati vishwas se otaprot karti hai is karan se bhi ram naam sarvopari hai yah kisi bhi prakar ke manav ke liye bolne me sehaz aur saral bhi hai is prakar vedant vaidh ji anant sacchidanand tatva ke yogi vrind bhraman karte hain usi ko param bramh shri ram kehte hain jaisa ki ram udta paniyon paani shodh me kaha gaya hai sampurna bharatiya samaj ke liye saman adarsh ke roop me bhagwan ramachandra ko uttar se lekar dakshin tak logo ne sweekar kiya hai hindi me tulsidas ji ki ramayana sarvatra prasiddh hai hindi me tulsidas ji ki ramayana sarvatra prasiddh hai hi sudoor dakshin me maha kavi kamban dwara likhit kamb ramayana atyant bhakti purn granth song goswami ji ne ram charitra manas ke ram granthon ko vistaar ka varnan kiya hai aur unhone kaha hai nana bhanti ram avtara ramayana sat koti apara

दोस्तों प्रश्न है राम नाम सर्वोपरि क्यों है राम नाम सर्वोपरि के हर कवि ने अपने अपने मतानुस

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

Girdhari Lal Mishra

Accountant(M.com,LLB)

3:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम नाम सर्वोपरि क्यों है इस पर मैं यह कहना चाहूंगा गोस्वामी तुलसीदास जी ने अपने रामचरितमानस में लिखा है कि सहस्रनाम समसोनी शिवानी जतीजीपी असंग भवानी विष्णु सहस्रनाम का पाठ करके भक्ति की भोजन करती थी एक बार शंकर जी ने कहा कि यह भोजन कर लीजिए अभी मैंने विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ नहीं किया तो उन्होंने कहा कि एक राम नाम जो है वह भगवान के हजार नाम के बराबर है एक श्लोक आता है राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे सहस्त्रनाम का तुल्य राम नाम व राणा ने तो शंकर जी का योगदान करके राम नाम लेकर के भोजन कर लिया तो नाम का महत्व बताया है और एक जगह नारद जी ने पूछा भगवान श्रीराम से सत्यापित प्रभु के नाम आने का श्रुतिका अधिक एक ठेका प्रभु आपके बहुत नाम है और वेदों में एक से एक नाम का बहुत महत्व बताया गया है कि मैं चाहता हूं कि राम सकल ना मानते अधिकार होना लक्खा का गाना पति का मैं चाहता हूं कि राम नाम दो अक्षर का प्यारा नाम राम बहुत आसानी से और सुगमता से उच्चारण करने वाला राम और एक जगह कहते हैं कि रमंते योगी नो यस मिनी योगी का भ्रमण करते हैं वह है राम इसलिए और सुमिरि पवनसुत पावन नाम अपने बस करि राखे राम राम नाम का इतना पावन नाम है इसी को स्मरण करके हनुमान जी ने श्री राम जी को अपने बस में कर लिया है दुआ गलाने जब हरिनाम पायो अचल अनुपम 581 लाल प्रोग्राम नाम का जप किया तो उसको अच्छा लगता ऐसे ही बहुत विशेषता है कि राम नाम की और राम नाम सर्वोपरि है प्ले शंकर जी भी राम नाम इस मन करता है ऊंचा करने वाले मृतक व्यक्ति को मुक्ति प्रदान करते हैं काशी मदन जी वालों की राशि में जिसकी मृत्यु होती है वह मुक्त इसलिए हो जाता है राम-राम करके शंकर जी उसको राम नाम से जाते हैं वह श्री राम जय हो

ram naam sarvopari kyon hai is par main yah kehna chahunga goswami tulsidas ji ne apne ramcharitmanas me likha hai ki sahasranam samsoni shivani jatijipi asang bhawani vishnu sahasranam ka path karke bhakti ki bhojan karti thi ek baar shankar ji ne kaha ki yah bhojan kar lijiye abhi maine vishnu sahastranam ka path nahi kiya toh unhone kaha ki ek ram naam jo hai vaah bhagwan ke hazaar naam ke barabar hai ek shlok aata hai ram rameti rameti rame rame manorame sahastranam ka tulya ram naam va rana ne toh shankar ji ka yogdan karke ram naam lekar ke bhojan kar liya toh naam ka mahatva bataya hai aur ek jagah narad ji ne poocha bhagwan shriram se satyapit prabhu ke naam aane ka shrutika adhik ek theka prabhu aapke bahut naam hai aur vedo me ek se ek naam ka bahut mahatva bataya gaya hai ki main chahta hoon ki ram sakal na maante adhikaar hona lakkha ka gaana pati ka main chahta hoon ki ram naam do akshar ka pyara naam ram bahut aasani se aur sugamata se ucharan karne vala ram aur ek jagah kehte hain ki ramante yogi no Yes mini yogi ka bhraman karte hain vaah hai ram isliye aur sumiri pavanasut paavan naam apne bus kari rakhe ram ram naam ka itna paavan naam hai isi ko smaran karke hanuman ji ne shri ram ji ko apne bus me kar liya hai dua galane jab harinam payo achal anupam 581 laal program naam ka jap kiya toh usko accha lagta aise hi bahut visheshata hai ki ram naam ki aur ram naam sarvopari hai play shankar ji bhi ram naam is man karta hai uncha karne waale mritak vyakti ko mukti pradan karte hain kashi madan ji walon ki rashi me jiski mrityu hoti hai vaah mukt isliye ho jata hai ram ram karke shankar ji usko ram naam se jaate hain vaah shri ram jai ho

राम नाम सर्वोपरि क्यों है इस पर मैं यह कहना चाहूंगा गोस्वामी तुलसीदास जी ने अपने रामचरितम

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:31
Play

Likes  208  Dislikes    views  2840
WhatsApp_icon
user

Ramandeep Singh

Waheguru industry

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम नाम सर्वोपरि है इसे कहना गलत होगा क्योंकि प्रभु का कोई सा भी नाम वह सर्वोपरि है चाहे वह राम हो या कृष्ण हो या अल्लाह हो वाहेगुरु हो कोई सा भी नाम जो है वह प्रभु के लिए है अकेला राम नाम कहना कि अकेला राम नाम ही सर्वोपरि है तो वह गलत है क्योंकि जो आज तक संत पीर जो भी साधु सन्यासी हुए हैं उनसे ना तो आप जबरदस्ती राम का हलवा सकते हैं ना ही जबरदस्ती अल्लाह कह लगा सकते हैं भक्त नामदेव की वाणी में कहते हैं कि जब उनको दिल्ली में बंद कर दिया गया था जेल में डाल दिया गया था तो उनसे बोला गया था कि अल्लाह बोल तो उन्होंने अल्लाह बोलने से इनकार कर दिया था तो उस टाइम पर जब उन्होंने अल्लाह बोलने से मना कर दिया उनकी मां ने पूछा कि वैसे तो दुनिया में हर जगह पर खड़ा होकर राम और अल्लाह एक ही बोलता है आज अल्लाह क्यों नहीं बोल रहा उनका कोई जबरदस्ती अगर मेरे को राम बोलने से को भी मजबूर करेगा तो मैं फिर आम भी नहीं बोलूंगा आराम और अल्लाह एक ही है लेकिन अगर कोई जबरदस्ती करता है तो फिर वह गलत है इसलिए राम वाहेगुरु या कोई सा भी ईश्वर का नाम सर्वोपरि ही है

ram naam sarvopari hai ise kehna galat hoga kyonki prabhu ka koi sa bhi naam vaah sarvopari hai chahen vaah ram ho ya krishna ho ya allah ho vaheguru ho koi sa bhi naam jo hai vaah prabhu ke liye hai akela ram naam kehna ki akela ram naam hi sarvopari hai toh vaah galat hai kyonki jo aaj tak sant pir jo bhi sadhu sanyaasi hue hain unse na toh aap jabardasti ram ka halwa sakte hain na hi jabardasti allah keh laga sakte hain bhakt namdev ki vani me kehte hain ki jab unko delhi me band kar diya gaya tha jail me daal diya gaya tha toh unse bola gaya tha ki allah bol toh unhone allah bolne se inkar kar diya tha toh us time par jab unhone allah bolne se mana kar diya unki maa ne poocha ki waise toh duniya me har jagah par khada hokar ram aur allah ek hi bolta hai aaj allah kyon nahi bol raha unka koi jabardasti agar mere ko ram bolne se ko bhi majboor karega toh main phir aam bhi nahi boloonga aaram aur allah ek hi hai lekin agar koi jabardasti karta hai toh phir vaah galat hai isliye ram vaheguru ya koi sa bhi ishwar ka naam sarvopari hi hai

राम नाम सर्वोपरि है इसे कहना गलत होगा क्योंकि प्रभु का कोई सा भी नाम वह सर्वोपरि है चाहे व

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राम राम नाम सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि राम राम का अर्थ होता है परमात्मा परमात्मा शिव पुराण कहते हैं और आत्मा है वह सीता है जब अवगुणों विकारों रूपी रावण इस आत्मा सीता को जब परेशान करता है तब आत्माएं सब ठीक है परमात्मा शिव राम को याद करती है तो आत्मा है वह भी राम है लकी और सीता और परमात्मा है वह राम है राम का पता है कल्याणकारी दुखहर्ता सुखकर्ता ट्रेन का सागर ज्ञान का सागर आनंद का सागर उसे राम कहते हैं

jai shri ram ram naam sarvashreshtha hai kyonki ram ram ka arth hota hai paramatma paramatma shiv puran kehte hain aur aatma hai vaah sita hai jab avagunon vikaron rupee ravan is aatma sita ko jab pareshan karta hai tab aatmaen sab theek hai paramatma shiv ram ko yaad karti hai toh aatma hai vaah bhi ram hai lucky aur sita aur paramatma hai vaah ram hai ram ka pata hai kalyaankari dukhharta sukhakarta train ka sagar gyaan ka sagar anand ka sagar use ram kehte hain

जय श्री राम राम नाम सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि राम राम का अर्थ होता है परमात्मा परमात्मा शिव प

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
play
user

Manish🙂

Love To Help🤗

1:33

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

असली नाम श्री राम नाम स्वरूप विश्वास रखता हूं किसी भी ईश्वर पर मैं अगर यह कहूं कि ईश्वर परमात्मा या अल्लाह सब मेरे नजर में एक समान है मतलब हर धर्म में जो यह होते हैं भगवान होते हैं जिनके अपने अपने तो वह सर्वश्रेष्ठ हैं क्योंकि चलो सिंपल सी बात है कि समझने वाली जो हम चाह कर भी नहीं समझते हैं कि जब इस दुनिया का निर्माण हुआ था तो क्या कोई जात बना था कोई धर्म बना था एक सर्वशक्तिमान कुछ था जो इस पूरे ब्रह्मांड को हम मनुष्य को इस धरती को संवारा और वही है इस पर वही हमारे भगवान हैं वही हमारे खुदा तो सही है अगर ईश्वर का नाम है तो सर्वोपरि है

asli naam shri ram naam swaroop vishwas rakhta hoon kisi bhi ishwar par main agar yah kahun ki ishwar paramatma ya allah sab mere nazar me ek saman hai matlab har dharm me jo yah hote hain bhagwan hote hain jinke apne apne toh vaah sarvashreshtha hain kyonki chalo simple si baat hai ki samjhne wali jo hum chah kar bhi nahi samajhte hain ki jab is duniya ka nirmaan hua tha toh kya koi jaat bana tha koi dharm bana tha ek sarvshaktimaan kuch tha jo is poore brahmaand ko hum manushya ko is dharti ko sanvara aur wahi hai is par wahi hamare bhagwan hain wahi hamare khuda toh sahi hai agar ishwar ka naam hai toh sarvopari hai

असली नाम श्री राम नाम स्वरूप विश्वास रखता हूं किसी भी ईश्वर पर मैं अगर यह कहूं कि ईश्वर पर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!