गांव में आकर मकान बनवाना और उसमें रहना, इसका मुझे बहुत पछतावा हो रहा है. आपके क्या विचार हैं?...


play
user

Shreekant

Startups

1:02

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं समझ सकता हूं क्या आपको अगर पछतावा हो रहा है पहले अगर आप ऐसे सिटी में रहते हो और आज आप गांव में रह रहे हैं तो आपको ठीक है कुछ कुछ सूख सकता है जो आपको नहीं मिलेगी और मेरे हिसाब से गांव की जिंदगी आज के टाइम में शायरी जिंदगी से ज्यादा अच्छे ठीक है ऑफ यूनिटी ज्यादा है पैसे कमाने की उपस्थिति और 1 तरीके से कैसे की अच्छी जिंदगी जीने के ऑफिस एंट्री ज्यादा अच्छी जिंदगी क्या है यह व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकता है अब मैं अपने पसंद की नहीं बताऊं तो मैं तो चाहूंगा कि मैं कोई जाकर गांव में ही रहूं पहलवानों के पास क्योंकि आज के टाइम में कितना पोलूशन ज्यादा है लोग इतने ज्यादा पानी की दिक्कत होती है बिजली की दिक्कत होती है हाईटेक के दिक्कतें होती है और अपनी लाइफ स्टाइल है मेंटेन करने के लिए जो आपको और काम करना पड़ता है कि क्या पर पैसा चाहिए तो उसी के लिए आप अपनी लाइफ मेंटेन करने के लिए और काम करना तो आप किस चीज के लिए कर रहे हैं काम तो उस समय लगता है गांव की जिंदगी ज्यादा अच्छी है आपको अगर वापस हराना है तो बिल्कुल आप कोई बिजनेस करने की सोच जाकर वापस शहर में जाकर सेट

ji haan main samajh sakta hoon kya aapko agar pachtava ho raha hai pehle agar aap aise city mein rehte ho aur aaj aap gaon mein reh rahe hain toh aapko theek hai kuch kuch sukh sakta hai jo aapko nahi milegi aur mere hisab se gaon ki zindagi aaj ke time mein shaayari zindagi se zyada acche theek hai of unity zyada hai paise kamane ki upasthitee aur 1 tarike se kaise ki achi zindagi jeene ke office entry zyada achi zindagi kya hai yah vyakti ke liye alag alag ho sakta hai ab main apne pasand ki nahi bataun toh main toh chahunga ki main koi jaakar gaon mein hi rahun pahalvanon ke paas kyonki aaj ke time mein kitna pollution zyada hai log itne zyada paani ki dikkat hoti hai bijli ki dikkat hoti hai hitech ke dikkaten hoti hai aur apni life style hai maintain karne ke liye jo aapko aur kaam karna padta hai ki kya par paisa chahiye toh usi ke liye aap apni life maintain karne ke liye aur kaam karna toh aap kis cheez ke liye kar rahe hain kaam toh us samay lagta hai gaon ki zindagi zyada achi hai aapko agar wapas harana hai toh bilkul aap koi business karne ki soch jaakar wapas shehar mein jaakar set

जी हां मैं समझ सकता हूं क्या आपको अगर पछतावा हो रहा है पहले अगर आप ऐसे सिटी में रहते हो और

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  66
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
aapke gaon mein ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!