SC / ST ACT के सम्बंध में सरकार जो कानून बनाने जा रही है क्या यह सही है?...


play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एससी एसटी एक्ट में जुड़े हमारे भारत सरकार जो है बिल्कुल आप बोल सकते हैं कि बहुत ही बड़ी समस्या बनी हुई है इसके तहत जो पहले ही मालूम था कि आपको बिना नोटिस का गिरफ्तार किया सट्टा का मतलब बिना गिरफ्तारी या बिना नोटिस 21 तारीख हो सकती है इंसान जो है ऐसी एसटी एक्ट के तहत किसी भी कंप्लेन करता है वह कंप्लीट होता है तो सामने वाले को सजा मिल जाएगी उनकी जीवन बर्बाद हो जाएगी क्या बिक वाजिदपुर में चली जाती तो नहीं खराब हो जाता है बैठक इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 1st एक्ट के तहत मामला दर्ज की गई थी अजय लांबा का कहना है कि अगर मान लीजिए कि जिन मामलों में अपराध बहुत वर्षों से कम है यह 7 वर्षों से कम सजा योग्य है उनको जो है बिना नोटिस के गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है उनको पहले नोटिस दिया जाता है वीर की कानूनी जिनको अभ्यास ताल करने जा रहे पहले आप उनको नोटिस दिया पहले उसकी जांच करें बिना नोटिस बिना जांच को गिरफ्तार करके भी गलत है यह देश के खिलाफ यह देश के लोगों के खिलाफ देश के लोगों के खिलाफ दो समुदाय में जो है आपको दिक्कत पैदा होगी हमारे देश का विकास नहीं हो पाएगा हमारे देश का विकास तब होगा जब लोग एक साथ चलेंगे दूसरी बार अजमल कसाब जितने भी जो है मौका दिया गया कि नहीं हुआ तुम को सजा मिला आपको हक है जांच करवाने की तो हमारे देश की जनता को क्यों नहीं आती है

SC ST act mein jude hamare bharat sarkar jo hai bilkul aap bol sakte hain ki bahut hi badi samasya bani hui hai iske tahat jo pehle hi maloom tha ki aapko bina notice ka giraftar kiya satta ka matlab bina giraftari ya bina notice 21 tarikh ho sakti hai insaan jo hai aisi ST act ke tahat kisi bhi complain karta hai vaah complete hota hai toh saamne waale ko saza mil jayegi unki jeevan barbad ho jayegi kya bik vajidpur mein chali jaati toh nahi kharab ho jata hai baithak allahabad highcourt ne 1st act ke tahat maamla darj ki gayi thi ajay laamba ka kehna hai ki agar maan lijiye ki jin mamlon mein apradh bahut varshon se kam hai yah 7 varshon se kam saza yogya hai unko jo hai bina notice ke giraftar nahi kiya ja sakta hai unko pehle notice diya jata hai veer ki kanooni jinako abhyas taal karne ja rahe pehle aap unko notice diya pehle uski jaanch kare bina notice bina jaanch ko giraftar karke bhi galat hai yah desh ke khilaf yah desh ke logo ke khilaf desh ke logo ke khilaf do samuday mein jo hai aapko dikkat paida hogi hamare desh ka vikas nahi ho payega hamare desh ka vikas tab hoga jab log ek saath chalenge dusri baar ajamal kasaab jitne bhi jo hai mauka diya gaya ki nahi hua tum ko saza mila aapko haq hai jaanch karwane ki toh hamare desh ki janta ko kyon nahi aati hai

एससी एसटी एक्ट में जुड़े हमारे भारत सरकार जो है बिल्कुल आप बोल सकते हैं कि बहुत ही बड़ी सम

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!