play
user
3:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीएम मतलब डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट इसको आम बोलचाल की भाषा में डिप्टी कलेक्टर भी कहा जाता है डिप्टी कलेक्टर इसलिए कहा जाता है क्योंकि वह जब पुराने समय में मालगुजारी जमीन का कर वसूल करता था कलेक्ट करता था इसलिए इसको डिप्टी कलेक्टर के नाम से भी जाना जाता है जो सिविल सर्विसेज की शुरुआती दौर में पोस्टिंग का नाम हुआ करता था उसको कहते थे आईपीएस अधिकारी मतलब इंडियन सिविल सर्विसेज 1923 ईस्वी में ली आयोग के रिकमेंडेशन पर इसका गठन होता है बाद में परिवर्तित होकर इसको आईएएस इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के नाम से जाना जाता है जिसकी परीक्षा यूपीएससी हनी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन कराता है और नियुक्ति का अधिकार सरकार यानी केंद्र सरकार के हाथों में होता है यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन का सिर्फ इतना काम होता है कि वह भर्ती एजेंसी के रूप में ऑफिसर लाइक क्वालिटी ऑफिसर स्कोर एजेंसी के माध्यम से सिलेक्ट कर ले हर जिले में एक डिस्टिक मजिस्ट्रेट होता है और जितने भी जिले होते हैं उनके ला एंड आर्डर को मेंटेन करने का काम रेवेन्यू कलेक्शन का काम उनके बेलमेंट का काम उनके अन्य रिकार्डों को मेंटेन करने का काम के डिस्टिक मजिस्ट्रेट का होता है मजिस्ट्रेट मजिस्ट्रेट का मतलब होता है हिंदी में कहते हैं शासनादेश जारी करने वाला प्राधिकारी डिस्ट्रिक्ट में जिले में जिस भी अधिकारी को यह शासनादेश जारी करने का अधिकार है वह डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को ही मिला है जैसे कहीं पर अगर दंगा भड़कता है तो प्ले में आई डी एम के रिकमेंडेशन पर आईपीएस वहां पर उस को नियंत्रित करता है तो उसको कह देते हैं मजिस्ट्रेट इन ऑर्डर का मिलना यह पद्धति लागू है सवाल यह उठता है कि डीएम और एसपी में कौन बड़ा है कौन छोटा है तो यह इसमें कोई भी बड़ा या कोई भी छोटा हम नहीं कह सकते क्योंकि यूपीएससी के तुल्य रेगुलेट होते हैं दोनों लोग भर्ती होकर आते हैं आम तौर पर देखा जाए तो रैंकिंग के हिसाब से अगर बात करें यूपीएससी के तो आईएएस अर्थात डीएम बड़ा होता है लेकिन एसपी सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस भी उसी रैंक का अधिकारी होता है तो यह एक पुलिस विभाग का हेड होता है इसे कहते हैं पुलिस कैपिटल और यह प्रशासन को सामान यज्ञ रेगुलेट करता है डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को आम बोलचाल की भाषा में सामान्य की भी कहा जाता है और यह पुलिस विभाग का विशेषज्ञ होता है एसपी जिसको सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस कहते हैं कल दूसरा उठता है कि क्या कभी कभी पूछा जाता है कि क्या डीएम एसपी को सस्पेंड कर सकता है तो बिल्कुल नहीं सस्पेंड कर सकता है क्योंकि यह नियम है कि डीएम एसपी को ट्रांसफर कराने के लिए यह रिकमेंडेशन निदेशालय को लिख सकता है डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को लिख सकता है लेकिन यह उसके अधिकार क्षेत्र में जूरिडिक्शन में नहीं आता कि उस को सस्पेंड करें उस को बर्खास्त करें या उसको ट्रांसफर करें वह उसको रिकमेंडेशन है कि तालमेल हमारे बैठ नहीं रहे हैं हम किसी दूसरे कानून व्यवस्था के हेड एसपी के मदद से संचालित करना चाह रहे तो उस निदेशालय को लेटर लिख कर उनको ट्रांसफर करा सकता है सस्पेंड बिल्कुल नहीं कर सकता है तो सबके अपने-अपने जूरिडिक्शन होते हैं

dm matlab district magistrate isko aam bolchal ki bhasha me deputy collector bhi kaha jata hai deputy collector isliye kaha jata hai kyonki vaah jab purane samay me malgujari jameen ka kar vasool karta tha collect karta tha isliye isko deputy collector ke naam se bhi jana jata hai jo civil services ki shuruati daur me posting ka naam hua karta tha usko kehte the ips adhikari matlab indian civil services 1923 isvi me li aayog ke rikmendeshan par iska gathan hota hai baad me parivartit hokar isko IAS indian administrative service ke naam se jana jata hai jiski pariksha upsc honey union public service commision karata hai aur niyukti ka adhikaar sarkar yani kendra sarkar ke hathon me hota hai union public service commision ka sirf itna kaam hota hai ki vaah bharti agency ke roop me officer like quality officer score agency ke madhyam se select kar le har jile me ek district magistrate hota hai aur jitne bhi jile hote hain unke la and order ko maintain karne ka kaam revenue collection ka kaam unke belment ka kaam unke anya rikardon ko maintain karne ka kaam ke district magistrate ka hota hai magistrate magistrate ka matlab hota hai hindi me kehte hain shasnadesh jaari karne vala pradhikari district me jile me jis bhi adhikari ko yah shasnadesh jaari karne ka adhikaar hai vaah district magistrate ko hi mila hai jaise kahin par agar danga bhadkata hai toh play me I d M ke rikmendeshan par ips wahan par us ko niyantrit karta hai toh usko keh dete hain magistrate in order ka milna yah paddhatee laagu hai sawaal yah uthata hai ki dm aur SP me kaun bada hai kaun chota hai toh yah isme koi bhi bada ya koi bhi chota hum nahi keh sakte kyonki upsc ke tulya regulate hote hain dono log bharti hokar aate hain aam taur par dekha jaaye toh ranking ke hisab se agar baat kare upsc ke toh IAS arthat dm bada hota hai lekin SP suprintendent of police bhi usi rank ka adhikari hota hai toh yah ek police vibhag ka head hota hai ise kehte hain police capital aur yah prashasan ko saamaan yagya regulate karta hai district magistrate ko aam bolchal ki bhasha me samanya ki bhi kaha jata hai aur yah police vibhag ka visheshagya hota hai SP jisko suprintendent of police kehte hain kal doosra uthata hai ki kya kabhi kabhi poocha jata hai ki kya dm SP ko Suspend kar sakta hai toh bilkul nahi Suspend kar sakta hai kyonki yah niyam hai ki dm SP ko transfer karane ke liye yah rikmendeshan nideshalay ko likh sakta hai director general of police ko likh sakta hai lekin yah uske adhikaar kshetra me juridikshan me nahi aata ki us ko Suspend kare us ko barkhast kare ya usko transfer kare vaah usko rikmendeshan hai ki talmel hamare baith nahi rahe hain hum kisi dusre kanoon vyavastha ke head SP ke madad se sanchalit karna chah rahe toh us nideshalay ko letter likh kar unko transfer kara sakta hai Suspend bilkul nahi kar sakta hai toh sabke apne apne juridikshan hote hain

डीएम मतलब डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट इसको आम बोलचाल की भाषा में डिप्टी कलेक्टर भी कहा जाता है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  72
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!