महर्षि वाल्मीकि संस्कृत एवं योग शिक्षण संस्थान उत्तर प्रदेश का यह संस्था उत्तर प्रदेश में सक्रिय है क्या?...


play
user

Dr. Kartik Kumar

Yoga Instructor

0:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस संस्थान के बारे में मैं अधिक जानकारी नहीं दे सकता क्योंकि स्तन इस संस्थान के बारे में कुछ मैसेज मेरे पास डाटा संकट नहीं है इसके लिए क्षमा करेंगे नमस्कार

is sansthan ke bare mein main adhik jaankari nahi de sakta kyonki stan is sansthan ke bare mein kuch massage mere paas data sankat nahi hai iske liye kshama karenge namaskar

इस संस्थान के बारे में मैं अधिक जानकारी नहीं दे सकता क्योंकि स्तन इस संस्थान के बारे में क

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  1533
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि महर्षि बाल्मीकि संस्कृत एवं योग शिक्षण संस्थान उत्तर प्रदेश का यह संस्था उत्तर प्रदेश में सक्रिय है क्या महोदय यह प्रश्न आपने मुझसे किया है क्योंकि मैं इस संस्था के बारे में इस प्रश्न के माध्यम से ही पहली बार जानता हूं इससे पहले मैं इस संस्था का कोई नाम मेरे जानकारी तक नहीं आ पाया है हो सकता है यह संस्था जवाब दे रहे हैं तो जरूर होगी लेकिन क्योंकि मेरे अपने पास इसका कोई जानकारी नहीं है इसके लिए इस उत्तर का आपका इस प्रश्न का उत्तर देने में असमर्थ हूं और इसके लिए मैं क्षमा चाहता हूं धन्यवाद

aapka prashna hai ki maharshi balmiki sanskrit evam yog shikshan sansthan uttar pradesh ka yah sanstha uttar pradesh mein sakriy hai kya mahoday yah prashna aapne mujhse kiya hai kyonki main is sanstha ke bare mein is prashna ke madhyam se hi pehli baar jaanta hoon isse pehle main is sanstha ka koi naam mere jaankari tak nahi aa paya hai ho sakta hai yah sanstha jawab de rahe hain toh zaroor hogi lekin kyonki mere apne paas iska koi jaankari nahi hai iske liye is uttar ka aapka is prashna ka uttar dene mein asamarth hoon aur iske liye main kshama chahta hoon dhanyavad

आपका प्रश्न है कि महर्षि बाल्मीकि संस्कृत एवं योग शिक्षण संस्थान उत्तर प्रदेश का यह संस्था

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  1912
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महर्षि बाल्मीकि संस्कृति एवं योग्य शिक्षण संस्थान उत्तर प्रदेश का यह संस्थान में सक्रिय है क्या दिखे के नियम समिति उत्तर प्रदेश की अधीन महर्षि वाल्मीकि संस्कृति एवं योग्य शिक्षा संस्थान सन 1993 से और संचालित है जिसका मुख्य उद्देश्य निराश्रित गरीब मजदूरों एवं ऐसे ग्रामीण दूर-दराज क्षेत्र जहां प्रतिदिन कोई भी सरकारी अधिकारी-कर्मचारी जाने का साहस नहीं जुटा पाता है उनमें विद्यालय में कई कई किलोमीटर दूरी पर है ऐसे क्षेत्रों में एवं ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता मजदूरी करते हैं और वह अपने बहन भाई को देखकर अखिए मे रहते हुए शिक्षा से वंचित रहते हैं ऐसे बच्चों को हां उनके स्थान पर ही देश की प्राचीन संस्कृति भाषा संस्कृति या योग्य को विस्फोट होने से बचाने के लिए सरकार के उद्देश्य प्रत्येक नागरिक को शिक्षित करना संस्कृति भाषा संस्कृत व योग्य पर्यावरण उद्देश्य की पूर्ति के लिए उनके सपने को सपने को साकार करने के लिए हमारी संस्था और दूरस्थ हुआ वह मुक्त शिक्षा के माध्यम से शिक्षा के लिए और समर्पित है हमारे मुख्य लक्ष्य व उद्देश्य है कि खेत खलिहान खेतिहर मजदूर इन भट्टे पर मकान निर्माण आदि में कार्यरत मजदूरों के बच्चों को दुरस्त को मुक्त शिक्षा के माध्यम से शिक्षा उपलब्ध कराने के साथ-साथ योग्य पर्यावरण व स्वच्छता की ओर प्रेरित करने का प्रारंभ उद्देश्य है

maharshi balmiki sanskriti evam yogya shikshan sansthan uttar pradesh ka yah sansthan mein sakriy hai kya dikhe ke niyam samiti uttar pradesh ki adheen maharshi valmiki sanskriti evam yogya shiksha sansthan san 1993 se aur sanchalit hai jiska mukhya uddeshya nirashrit garib majduro evam aise gramin dur daraj kshetra jaha pratidin koi bhi sarkari adhikari karmchari jaane ka saahas nahi jutta pata hai unmen vidyalaya mein kai kai kilometre doori par hai aise kshetro mein evam aise bacche jinke mata pita mazdoori karte hain aur vaah apne behen bhai ko dekhkar akhiye mein rehte hue shiksha se vanchit rehte hain aise baccho ko haan unke sthan par hi desh ki prachin sanskriti bhasha sanskriti ya yogya ko visphot hone se bachane ke liye sarkar ke uddeshya pratyek nagarik ko shikshit karna sanskriti bhasha sanskrit va yogya paryavaran uddeshya ki purti ke liye unke sapne ko sapne ko saakar karne ke liye hamari sanstha aur durasth hua vaah mukt shiksha ke madhyam se shiksha ke liye aur samarpit hai hamare mukhya lakshya va uddeshya hai ki khet khalihan khetihar majdur in bhatte par makan nirmaan aadi mein karyarat majduro ke baccho ko durast ko mukt shiksha ke madhyam se shiksha uplabdh karane ke saath saath yogya paryavaran va swachhta ki aur prerit karne ka prarambh uddeshya hai

महर्षि बाल्मीकि संस्कृति एवं योग्य शिक्षण संस्थान उत्तर प्रदेश का यह संस्थान में सक्रिय है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!