मैं जिस जगह नौकरी करता हूँ , वहाँ सेठ के सिवा और कोई नहीं चाहता है और सभी मेरे से जलते रहते है और किसी का बोलू तो काम होता नहीं है, डि-मोटिवेट् करते रहते तो क्या नौकरी करना छोड़ दू?...


user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा कई बार होता है कि हमें हमें अपने काम की इंपोर्टेंट नहीं मिलती है और जो कुछ भी हम कर रहे होते हैं उसे दूसरे लोगों को तकलीफ हो रही होती है और आपके अनुसार आपका सीट आपको पसंद करता है तो यह एक बहुत बड़ी वजह है बाकी लोगों के आपसे जलने की इसीलिए आप इन सब बातों पर इन सब चीजों पर ध्यान मत दीजिए और अपना कार्य पूरी ईमानदारी से करते रहिए क्योंकि जो आपके कंपनी में या जहां आप काम करते हैं वहां जो हैड है वह आपके काम को पसंद करते हैं इसलिए मुझे लगता है आपको अपना काम पूरी मेहनत और ईमानदारी से करना चाहिए जितना भी आपका वर्क है वह आप अच्छे से करिए और अपना पूरा हंड्रेड परसेंट दीजिए आपके काम में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए कि जो आप लोगों से जो लोग जलते हैं वह आपके काम में कमी निकाल कर आप को नीचा दिखा सके अपने आपको परफेक्ट बनाइए और उन सब चीजों को पॉजिटिव नीचे कि हां आप अच्छे हैं आप अच्छा काम करते हैं इसलिए वह लोग आपसे जलते हैं इसमें आपको परेशान और घबराने वाली कोई बात नहीं है और जो बोलना तो मुझे नहीं लगता है कि इसका कोई फूड कारण हो सकता है क्योंकि आजकल वैसे ही जॉब मिलना मुश्किल है और अच्छी जॉब पसंद की जॉब नहीं मिलती है और आपको अच्छी जॉब मिली हुई है आपका सेठ आपसे प्रसन्न है तो आपको जॉब को कंटिन्यू करना चाहिए और बिल्कुल भी इस बारे में मत सोचो कि आपको जॉब छोड़ देनी चाहिए यह तो मैदान छोड़कर भागने वाली बात हुई जो आपको नहीं करना चाहिए नहीं चाहिए अपना काम पूरी इमानदारी और उन्होंने चिंता से कीजिए कि आप अच्छा काम कर रहे हैं तो कोई आपको निकाल नहीं सकता है और आपके अच्छे काम की वजह से ही आपकी मेहनत की वजह से आपकी परफेक्शन

aisa kai baar hota hai ki hamein hamein apne kaam ki important nahi milti hai aur jo kuch bhi hum kar rahe hote hain use dusre logo ko takleef ho rahi hoti hai aur aapke anusaar aapka seat aapko pasand karta hai toh yah ek bahut badi wajah hai baki logo ke aapse jalne ki isliye aap in sab baaton par in sab chijon par dhyan mat dijiye aur apna karya puri imaandaari se karte rahiye kyonki jo aapke company mein ya jaha aap kaam karte hain wahan jo had hai vaah aapke kaam ko pasand karte hain isliye mujhe lagta hai aapko apna kaam puri mehnat aur imaandaari se karna chahiye jitna bhi aapka work hai vaah aap acche se kariye aur apna pura hundred percent dijiye aapke kaam mein koi kami nahi rehni chahiye ki jo aap logo se jo log jalte hain vaah aapke kaam mein kami nikaal kar aap ko nicha dikha sake apne aapko perfect banaiye aur un sab chijon ko positive niche ki haan aap acche hain aap accha kaam karte hain isliye vaah log aapse jalte hain isme aapko pareshan aur ghabrane wali koi baat nahi hai aur jo bolna toh mujhe nahi lagta hai ki iska koi food karan ho sakta hai kyonki aajkal waise hi job milna mushkil hai aur achi job pasand ki job nahi milti hai aur aapko achi job mili hui hai aapka seth aapse prasann hai toh aapko job ko continue karna chahiye aur bilkul bhi is bare mein mat socho ki aapko job chod deni chahiye yah toh maidan chhodkar bhagne wali baat hui jo aapko nahi karna chahiye nahi chahiye apna kaam puri imaandari aur unhone chinta se kijiye ki aap accha kaam kar rahe hain toh koi aapko nikaal nahi sakta hai aur aapke acche kaam ki wajah se hi aapki mehnat ki wajah se aapki parafekshan

ऐसा कई बार होता है कि हमें हमें अपने काम की इंपोर्टेंट नहीं मिलती है और जो कुछ भी हम कर रह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कंपनी में अब जहां पर काम करते हैं वहां पर सेठ आपको चाहता उसके अलावा और कोई भी आपको नहीं चाहता तू उसकी आप को और क्या चाहिए जब जब सुप्रीम उस कंपनी का मालिक जो है वही आपको पसंद करता है तो आप हो और किसी से कोई मतलब नहीं होना चाहिए अपना काम जो आप को दिया गया है आप इतना काम पूरा करके देख बाकी जिसका जो है वह करेगा किसी से मतलब ऐसे नहीं रखना चाहिए अगर कोई पसंद नहीं कर रहा है ज्यादा पॉलिटिक्स हो रहा है आपके काम पर जगह तू अपना काम जितना भी आपको साइन किया गया वह कंप्लीट करें और आगे बाकी ऊपर छोड़ दो जो भी उनका काम है कि से ज्यादा बातचीत या मिलजुल रखना अगर बात नहीं कर रहे तो ऐसा कुछ जरूरी नहीं है अगर वो आपको नहीं चाहते तो आप भी उसे दूरी बनाए रहे

company mein ab jaha par kaam karte hain wahan par seth aapko chahta uske alava aur koi bhi aapko nahi chahta tu uski aap ko aur kya chahiye jab jab supreme us company ka malik jo hai wahi aapko pasand karta hai toh aap ho aur kisi se koi matlab nahi hona chahiye apna kaam jo aap ko diya gaya hai aap itna kaam pura karke dekh baki jiska jo hai vaah karega kisi se matlab aise nahi rakhna chahiye agar koi pasand nahi kar raha hai zyada politics ho raha hai aapke kaam par jagah tu apna kaam jitna bhi aapko sign kiya gaya vaah complete kare aur aage baki upar chod do jo bhi unka kaam hai ki se zyada batchit ya miljul rakhna agar baat nahi kar rahe toh aisa kuch zaroori nahi hai agar vo aapko nahi chahte toh aap bhi use doori banaye rahe

कंपनी में अब जहां पर काम करते हैं वहां पर सेठ आपको चाहता उसके अलावा और कोई भी आपको नहीं चा

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!