एक कविता सुनाइए?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स गुड मॉर्निंग कैसे हो आप सब अच्छे होंगे लौंडा उनका फॉलो कीजिए घर पर ही स्वस्थ रहिए और ईश्वर से कामना कीजिए कि हम सब जल्दी से अपनी अपनी जिंदगी में वापस जाना स्वस्थ रहें और जल्दी सारी चीजें खत्म हो जाएगा अनुरोध है एक कविता सुनाने का तो वैसे तो मैं थोड़ा बहुत लिख लेती हूं मैं ज्यादा नहीं लिखने की कोशिश करता अपने मन के अनुसार जैसा मेरा मन करता का समय कभी-कभी लिख लेती और और चाहती कि आप मेरा हौसला बढ़ाएं धन्यवाद आकाश आकाश आकाश आकाश मेरा चली तो मैं आपको सुनाती हूं मेरी छोटी सी कविता आकाश मेरा है धनी मेरी है आकाश मेरा है धरने में है दिशाएं पर्वत जग जन जीवन का कण-कण मेरा है दिशाएं पर्वत जग जन जीवन का कण-कण मेरा है विस्तृत में फैला हर कण विश्वास मेरा है विस्तृत में फैला हर कण में सांस मिला है श्वास मेरा हेलेंगेली है श्वास मेरा ले मेरी है सर मेरा है मैं भी मेरी है सुख-दुख कर्म विजय पर आजा मेरी है सुख-दुख कर्म विजय पराजय मिली है चित्र परिचित जीवन भी मेरा है चित परिचित परिचित जीवन मेरा में अलौकिक गंदा बेबी मेरा है अतुलित अगर में आंखों अलौकिक गंतव्य मेरा है इस रिश्ते के सर्व आधार हर प्राण पर अधिकार तेरा है अतुलिता में अलौकिक गंतव्य भी मेरा है इस रिश्ते के समाधान हर प्राण पर अधिकार तेरा है तेरे प्रेम पर अधिकार मेरा है तेरे प्रेम का अधिकार मेरा है पहला अनंत ब्रह्मांड में वह प्रकाश भी तेरा है तेरे प्रेम पर अधिकार मेरा है पहला अनंत ब्रह्मांड में वह प्रकाश भी देना है ब्रह्मांड ब्रह्मांड में तेरा है वह आनंद यात्रा पथ प्रकाश में आया है यह अनंत यात्रा पर आकाश मेरा है यह अनंत यात्रा पर आकाश में है धन्यवाद आशा करती हूं कि आपको मेरी कविता अच्छी लगेगी ठीक है और धन्यवाद

hello friends good morning kaise ho aap sab acche honge launda unka follow kijiye ghar par hi swasth rahiye aur ishwar se kamna kijiye ki hum sab jaldi se apni apni zindagi me wapas jana swasth rahein aur jaldi saari cheezen khatam ho jaega anurodh hai ek kavita sunaane ka toh waise toh main thoda bahut likh leti hoon main zyada nahi likhne ki koshish karta apne man ke anusaar jaisa mera man karta ka samay kabhi kabhi likh leti aur aur chahti ki aap mera hausla badhaye dhanyavad akash akash akash akash mera chali toh main aapko sunati hoon meri choti si kavita akash mera hai dhani meri hai akash mera hai dharne me hai dishaen parvat jag jan jeevan ka kan kan mera hai dishaen parvat jag jan jeevan ka kan kan mera hai vistrit me faila har kan vishwas mera hai vistrit me faila har kan me saans mila hai swas mera helengeli hai swas mera le meri hai sir mera hai main bhi meri hai sukh dukh karm vijay par aajad meri hai sukh dukh karm vijay parajay mili hai chitra parichit jeevan bhi mera hai chit parichit parichit jeevan mera me alaukik ganda baby mera hai atulit agar me aakhon alaukik gantavya mera hai is rishte ke surv aadhar har praan par adhikaar tera hai atulita me alaukik gantavya bhi mera hai is rishte ke samadhan har praan par adhikaar tera hai tere prem par adhikaar mera hai tere prem ka adhikaar mera hai pehla anant brahmaand me vaah prakash bhi tera hai tere prem par adhikaar mera hai pehla anant brahmaand me vaah prakash bhi dena hai brahmaand brahmaand me tera hai vaah anand yatra path prakash me aaya hai yah anant yatra par akash mera hai yah anant yatra par akash me hai dhanyavad asha karti hoon ki aapko meri kavita achi lagegi theek hai aur dhanyavad

हेलो फ्रेंड्स गुड मॉर्निंग कैसे हो आप सब अच्छे होंगे लौंडा उनका फॉलो कीजिए घर पर ही स्वस्थ

Romanized Version
Likes  136  Dislikes    views  1375
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:20
Play

Likes  60  Dislikes    views  1593
WhatsApp_icon
play
user
0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको क्वेश्चन है एक कविता सुनाइए आप जो है हमारे कार्यालय में आए और हम आपको क्योंकि अगर हम स्मार्टफोन पर आपको कब तक सुनाएंगे तो इस पर जो है और लोगों की हम मदद नहीं कर पाएंगे उनकी क्वेश्चन के आंसर नहीं दे पाएंगे इतिहास से आप जो है हमारे कार्यालय में आए तो हम अच्छी तरह से आपको जो है इंग्लिश की पोयम सुनाते हैं

aapko question hai ek kavita sunaiye aap jo hai hamare karyalay me aaye aur hum aapko kyonki agar hum smartphone par aapko kab tak sunaenge toh is par jo hai aur logo ki hum madad nahi kar payenge unki question ke answer nahi de payenge itihas se aap jo hai hamare karyalay me aaye toh hum achi tarah se aapko jo hai english ki poem sunaate hain

आपको क्वेश्चन है एक कविता सुनाइए आप जो है हमारे कार्यालय में आए और हम आपको क्योंकि अगर हम

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  814
WhatsApp_icon
user
10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बानो भाइयों नमस्कार आप ने प्रश्न किया है कि एक कविता सुनाइए तो जहां तक मैं समझ रहा हूं कि आपने मुझे कहा है तो मैं अपना स्वरचित कविता सुनाता हूं तो जो मैंने लिखा है कविता वह गांव मजदूर और पलायन इस पर मैं आपको अपनी लिखी हुई कविता सुनाता खेतों की हरियाली और बकरियों का चरणा खेतों की हरियाली और बकरियों का चरणा मन को लुभा गया गांव में रहना खेतों की हरियाली और बकरियों का चरणा मन को लुभा गया गांव में रहना मिलती है स्वच्छ हवा और मीठा पानी मिलती है स्वक्ष हवा और मीठा पानी पर ग्रामीणों के पलायन से होती है रानी पर ग्रामीणों के पलायन से होती है रानी भारत की आत्मा बसती है गांव में भारत की आत्मा बसती है गांव में फिर भी है गांव विकास की अधूरी कहानी फिर भी है गांव विकास की अधूरी कहानी पगडंडियों पर चलने का अपना ही मजा है पगडंडी समझते होंगे पगडंडियों पर चल चलने का अपना ही मजा है शहर की तेज जिंदगी एक बड़ी सजा है शहर की तेज जिंदगी एक बड़ी सजा है अब भी वक्त है लौट चलो गांव को अब वक्त है लौट चलो गांव को वह कुएं का पानी पीपल की छांव को वह कुएं का पानी वह पीपल की छांव को शहर की तुम्हारी जरूरत नहीं है लेकिन है गांव को शहर की तुम्हारी जरूरत नहीं है लेकिन है गांव को शहर की जीवन में बनावट बहुत है शहर की जीवन में बनावट बहुत है शराब और शबाब की लिखावट बहुत है शराब और शबाब की लिखावट बहुत है जहां संस्कृति लेती है आखरी सांस जहां संस्कृति लेती है आखिरी सांस मानवता इंसानियत जहां होती बकवास मानवता इंसानियत झा होती बकवास क्यों जाते हो तुम शहर को क्यों जाते हो तुम शहर याद करो अपने बच्चे के मुंह को क्यों जाते हो तुम शहर को याद करो अपने बच्चों के मुख्य को वह निर्मल प्यार वह मासूम आंखें निर्मल प्यार वह मासूम आंखें यह नहीं चाहते खिलौने नहीं चाहते फ्रॉक हैं यह नहीं चाहते खिलौने नहीं चाहते प्रा के गांव लौट चलो हम लोग ऐसे ही जी लेंगे डाउनलोड चलो हम लोग ऐसे ही जी लेंगे जहर ईले जीवन को अमृत समझ कर ही लेंगे जहरीले जीवन को अमृत समझ कर ही लेंगे तो आपको यह मेरी कविता कैसी लगी बताइएगा और एक और कविता है मैं आपको सुना रहा हूं बहनों भाइयों चाटते चाटते मुझे एक मिला है पकड़वा विवाह पर में लिखा हुआ बिहार से बाहर के होंगे तो बिहार झारखंड यूपी के बाहर के होंगे तो आप लोग नहीं समझ पाएंगे इसमें जो है लड़के को जबरन पकड़कर के शादी करा दी जाती है तो मैं जब मैं कॉलेज के जमाने में था तो इस पर मैंने लिखा था यह थोड़ा मजा ही आ टाइप का है मुझे आया मतलब हाथ के ऊपर है तो प्रस्तुत है मेरा यह कविता पकड़वा विवाह बिहार में पकड़वा विवाह की धूम मचा है बिहार में पकड़वा विवाह की धूम मचा है बेटी वाले हो चले हैं निडर बेटी वाले हो चले हैं नहीं डर लड़के के बाप पर आइए कैसी बला है सोचे थे सोचे थे पहिया कर नोट लेंगे दहेज का सोचे थे पहिया कर लूट लेंगे दहेज का अब खर्चा निकालना हो गया मुहाल शादी का अब खर्चा निकालना हो गया मुहाल शादी का ओरिजिनल ससुराल जाने का रास्ता खुल चुका है ओरिजिनल ससुराल जाने का रास्ता खुल चुका है ओरिजिनल ससुराल मतलब होता है जेलखाना ओरिजिनल ससुराल जाने का रास्ता खुल चुका है बिहार में पकड़वा विवाह की धूम मचा है जो गए थे बराती में पुलाव खाने होता क्या था कि यह सब जो है ना किसी दूसरे के बारात में जो लोग जाते हैं ना उन पर जो है वह ऐसा हो जाता था तो जो मैंने अनुभव से लिखा है जो गए थे बरात में पुलाव खाने के लिए गए हुए जो आए थे कमर हिलाने आप जानते हैं बरात में कितने लड़के लोग डांस करते हैं तो वहीं से उनको जो है निगरानी दे दी जाती थी अब लिए गए वह जो आए थे कमर हिलाने जैसे ही आंख लगी पहुंचा दिए गए जैसे ही आंख लगी पहुंचा दिए गए जहां थे उनको पहुंचाने मुर्गा फंस चुका है मुर्गा फंस चुका है दुल्हन सजाने की पंडित बुलाने की होड़ मचा है मुर्गा फंस चुका है दुल्हन सजाने की पंडित बुलाने की होड़ मचा है बिहार में पकड़वा विवाह की धूम मचा है तो यह मैंने लिखा था अब एक और कविता पता नहीं आप आपको क्या सुनाऊं इसमें बहुत सारी कविता है मैं तो छत छत पर स्क्रीनिंग कर रहा हूं कि आपको क्या दूं तो मैं जानता भी नहीं आपका उम्र क्या है नहीं है बहुत सारी कविताएं हैं जो मैंने रखी है लिखी है मुझे कविता सुना ने अपनी शर्म भी बहुत आती है मेरी जीवन किस चीज पर यह तो काले है तो मैं इस पर शेयर कर रहा हूं तो आप जो है ऐसा कीजिए आपको दो कविताएं मैंने सुनाई है बहुत ही अच्छी कविता है और एक तो बहुत ही संग था और एक अत्यधिक जोलो मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं तो उस उस पर भी कविता लिखा था कि अत्यधिक मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए हानिकारक प्रभाव पड़ता है तो वह कविता तो किधर रखा गया मिल नहीं रहा है किधर गया नहीं हां मिल गया इस प्रकार है मोबाइल के पहले के समय का में वर्णन कर रहा हूं काश अगर मोबाइल न होते तो दुनिया कितना अच्छा होता लोग अपनों से मिलते बिछड़ते सामाजिक जीवन को सजाते बनाते बिछड़कर मिलना कितना अच्छा होता अगर जीवन का अगर मोबाइल न होता बिरहन कि अपने स्वामी से मिलने का आनंद मोबाइल में थी ना फिर हमको अपने अमित से मिलने का आनंद मोबाइल में छीना बच्चों की उसकी मासूमियत छात्रों से उनका किताब मोबाइल में थी ना बच्चों की उनकी मासूमियत छात्रों से उनकी मोबाइल उनकी किताब मोबाइल में आंख की रोशनी सोचने की शक्ति मोबाइल ने छीना बन गए हैं सभी जांबी यू किधर जा रहा है किसी को फिक्र कहां झूठी मस्ती में जिए जा रहे हैं जीवन के जहरीले खून किए जा रहे हैं नदी पहाड़ और यह पगडंडी या हरियाली से भरे खेत फलों से लदे बेगम जीवन देने वाले धरा के प्राकृतिक नजारे यह सब समझती है तो दुनिया कितना अच्छा होता काश अगर मोबाइल ना होते तो यह दुनिया कितना अच्छा होता है प्रकार मैंने झट से आपको कर दिया आता है मेरे कविता को पसंद आई होगी धन्यवाद

bano bhaiyo namaskar aap ne prashna kiya hai ki ek kavita sunaiye toh jaha tak main samajh raha hoon ki aapne mujhe kaha hai toh main apna svarachit kavita sunata hoon toh jo maine likha hai kavita vaah gaon majdur aur palayan is par main aapko apni likhi hui kavita sunata kheton ki hariyali aur bakariyon ka charana kheton ki hariyali aur bakariyon ka charana man ko lubha gaya gaon me rehna kheton ki hariyali aur bakariyon ka charana man ko lubha gaya gaon me rehna milti hai swachh hawa aur meetha paani milti hai swaksh hawa aur meetha paani par grameeno ke palayan se hoti hai rani par grameeno ke palayan se hoti hai rani bharat ki aatma basti hai gaon me bharat ki aatma basti hai gaon me phir bhi hai gaon vikas ki adhuri kahani phir bhi hai gaon vikas ki adhuri kahani pagadandiyon par chalne ka apna hi maza hai pagdandi samajhte honge pagadandiyon par chal chalne ka apna hi maza hai shehar ki tez zindagi ek badi saza hai shehar ki tez zindagi ek badi saza hai ab bhi waqt hai lot chalo gaon ko ab waqt hai lot chalo gaon ko vaah kuen ka paani pipal ki chanv ko vaah kuen ka paani vaah pipal ki chanv ko shehar ki tumhari zarurat nahi hai lekin hai gaon ko shehar ki tumhari zarurat nahi hai lekin hai gaon ko shehar ki jeevan me banawat bahut hai shehar ki jeevan me banawat bahut hai sharab aur shabab ki likhavat bahut hai sharab aur shabab ki likhavat bahut hai jaha sanskriti leti hai aakhri saans jaha sanskriti leti hai aakhiri saans manavta insaniyat jaha hoti bakwas manavta insaniyat jha hoti bakwas kyon jaate ho tum shehar ko kyon jaate ho tum shehar yaad karo apne bacche ke mooh ko kyon jaate ho tum shehar ko yaad karo apne baccho ke mukhya ko vaah nirmal pyar vaah masoom aankhen nirmal pyar vaah masoom aankhen yah nahi chahte khilone nahi chahte frock hain yah nahi chahte khilone nahi chahte pra ke gaon lot chalo hum log aise hi ji lenge download chalo hum log aise hi ji lenge zehar ile jeevan ko amrit samajh kar hi lenge zahreele jeevan ko amrit samajh kar hi lenge toh aapko yah meri kavita kaisi lagi bataiega aur ek aur kavita hai main aapko suna raha hoon bahnon bhaiyo chatte chatte mujhe ek mila hai pakdava vivah par me likha hua bihar se bahar ke honge toh bihar jharkhand up ke bahar ke honge toh aap log nahi samajh payenge isme jo hai ladke ko jabran pakadakar ke shaadi kara di jaati hai toh main jab main college ke jamane me tha toh is par maine likha tha yah thoda maza hi aa type ka hai mujhe aaya matlab hath ke upar hai toh prastut hai mera yah kavita pakdava vivah bihar me pakdava vivah ki dhoom macha hai bihar me pakdava vivah ki dhoom macha hai beti waale ho chale hain nidar beti waale ho chale hain nahi dar ladke ke baap par aaiye kaisi bala hai soche the soche the pahiya kar note lenge dahej ka soche the pahiya kar loot lenge dahej ka ab kharcha nikalna ho gaya muhal shaadi ka ab kharcha nikalna ho gaya muhal shaadi ka original sasural jaane ka rasta khul chuka hai original sasural jaane ka rasta khul chuka hai original sasural matlab hota hai jelkhana original sasural jaane ka rasta khul chuka hai bihar me pakdava vivah ki dhoom macha hai jo gaye the baraati me pulav khane hota kya tha ki yah sab jo hai na kisi dusre ke baraat me jo log jaate hain na un par jo hai vaah aisa ho jata tha toh jo maine anubhav se likha hai jo gaye the baraat me pulav khane ke liye gaye hue jo aaye the kamar hulana aap jante hain baraat me kitne ladke log dance karte hain toh wahi se unko jo hai nigrani de di jaati thi ab liye gaye vaah jo aaye the kamar hulana jaise hi aankh lagi pohcha diye gaye jaise hi aankh lagi pohcha diye gaye jaha the unko pahunchane murga fans chuka hai murga fans chuka hai dulhan sajane ki pandit bulane ki hod macha hai murga fans chuka hai dulhan sajane ki pandit bulane ki hod macha hai bihar me pakdava vivah ki dhoom macha hai toh yah maine likha tha ab ek aur kavita pata nahi aap aapko kya sunaun isme bahut saari kavita hai main toh chhat chhat par screening kar raha hoon ki aapko kya doon toh main jaanta bhi nahi aapka umar kya hai nahi hai bahut saari kavitayen hain jo maine rakhi hai likhi hai mujhe kavita suna ne apni sharm bhi bahut aati hai meri jeevan kis cheez par yah toh kaale hai toh main is par share kar raha hoon toh aap jo hai aisa kijiye aapko do kavitayen maine sunayi hai bahut hi achi kavita hai aur ek toh bahut hi sang tha aur ek atyadhik jolo mobile ka istemal karte hain toh us us par bhi kavita likha tha ki atyadhik mobile ka istemal nahi karna chahiye haanikarak prabhav padta hai toh vaah kavita toh kidhar rakha gaya mil nahi raha hai kidhar gaya nahi haan mil gaya is prakar hai mobile ke pehle ke samay ka me varnan kar raha hoon kash agar mobile na hote toh duniya kitna accha hota log apnon se milte bichadte samajik jeevan ko sajate banate bichadakar milna kitna accha hota agar jeevan ka agar mobile na hota birahan ki apne swami se milne ka anand mobile me thi na phir hamko apne amit se milne ka anand mobile me chinaa baccho ki uski masumiyat chhatro se unka kitab mobile me thi na baccho ki unki masumiyat chhatro se unki mobile unki kitab mobile me aankh ki roshni sochne ki shakti mobile ne chinaa ban gaye hain sabhi jambi you kidhar ja raha hai kisi ko fikra kaha jhuthi masti me jiye ja rahe hain jeevan ke zahreele khoon kiye ja rahe hain nadi pahad aur yah pagdandi ya hariyali se bhare khet falon se lade begum jeevan dene waale dhara ke prakirtik najare yah sab samajhti hai toh duniya kitna accha hota kash agar mobile na hote toh yah duniya kitna accha hota hai prakar maine jhat se aapko kar diya aata hai mere kavita ko pasand I hogi dhanyavad

बानो भाइयों नमस्कार आप ने प्रश्न किया है कि एक कविता सुनाइए तो जहां तक मैं समझ रहा हूं कि

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
user

sunny_0

Student

0:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मछली जल की रानी है जीवन उसका पानी है हाथ लगाओ तो डर जाएगी बाहर निकालो तो मर जाएगी

machli jal ki rani hai jeevan uska paani hai hath lagao toh dar jayegi bahar nikalo toh mar jayegi

मछली जल की रानी है जीवन उसका पानी है हाथ लगाओ तो डर जाएगी बाहर निकालो तो मर जाएगी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने बोला चश्मा में उड़ती चिरैया जमीन पर रहते पशु आसमान में उड़ती चिरैया जमीन पर रहते पशुओं में होता जीवन इसकी खोज की थी जगदीश चंद्र बसु ने थैंक यू

aapne bola chashma me udati chiraiya jameen par rehte pashu aasman me udati chiraiya jameen par rehte pashuo me hota jeevan iski khoj ki thi jagdish chandra basu ne thank you

आपने बोला चश्मा में उड़ती चिरैया जमीन पर रहते पशु आसमान में उड़ती चिरैया जमीन पर रहते पशुओ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!