झूठी मीडिया पर लगाम कैसे ला सकता है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाय की सत्य कहते हो यह भारत सरकार की कुछ कमियां हैं क्योंकि भारत सरकार ने संविधान का कुछ पहले सामान्यत कमी चल रही है उसका यह लोग मीडिया वाले लोग फायदा उठाते हैं कि भारत ने आज मीडिया दो प्रकार का होता है जो इंडियन होकर कि सिर्फ भारतीय लोगों के बारे में सोचता है भारतीय लोगों के बारे में घी में हितकारी बातें करते हैं निष्पक्ष पत्रकारिता के पक्ष में रहते हैं क्योंकि मीडिया को आजकल चौथा स्तंभ माना जाता है मीडिया का कर्तव्य बनता है कि एक निष्पक्ष पत्रकार हमेशा हम भारतीय अपने आपको मान करके आम भारतीयों की पत्रकारिता करता है लेकिन कुछ मीडिया के दलाल ऐसे हैं जिनका 24 का नाम तो बहुत ज्यादा फैला हुआ है मैं नहीं कहना चाहूंगा लेकिन आप देखेंगे अभी तो उपचार हैं वे चमचे की चमचागिरी करते हैं किसी पार्टी का एडवोकेट का कार्य करते हैं इसी पार्टी के लिए तरबलम फिगर उसके प्रचार का काम करते हैं उनको मानना चाहिए कि ऐसे गंदे लोगों पर एक पत्रकार का काम कैंसिल कर दिया जाना चाहिए उनका दूसरा उनको सजाएं प्राप्त होनी चाहिए क्योंकि बेस्ट जनता को दिग्भ्रमित करने का कार्य करते हैं जनता को झूठी सच्ची बातें बताते हैं पार्टी पॉलिटिक्स करते हैं यदि उन्हें पार्टी पॉलिटिक्स करनी है तो पत्रकारिता का लाइसेंस भी छीन लिया जाना चाहिए उनकी डिग्री को नहीं करके अपडेट कर दिया जाए उसको समाप्त कर दिया जाए क्योंकि ऐसे गंदे लोगों पर लगाम लगता बहुत अनुभवी हैं वे जनता को दिग्भ्रमित करते हैं और दिल्ली दंगों के अंदर विशेषता दिखाओ कुछ समय जिस समय की दिल्ली दंगों को समाप्त करने का कार्य करना चाहिए सभी मीडिया को बल्कि कुछ मीडिया वाले लोगों ने कुछ समय के लोगों ने कुछ गंदे पत्रकारों ने उसमें भूमिका अदा करते हुए कुछ वर्ग के लोगों को आपस में लड़ाने का प्रयास किया यह सर्वाधिक गणित है और ऐसे लोगों को सजा प्राप्त होनी चाहिए जब ऐसे गंदे पत्रकार जिंदा रहेंगे उनको सजाएं नहीं मिलेंगी समाज में गंदगी फैलाते रहेंगे भ्रमित करते रहे

hi ki satya kehte ho yah bharat sarkar ki kuch kamiyan hain kyonki bharat sarkar ne samvidhan ka kuch pehle samanyat kami chal rahi hai uska yah log media waale log fayda uthate hain ki bharat ne aaj media do prakar ka hota hai jo indian hokar ki sirf bharatiya logo ke bare me sochta hai bharatiya logo ke bare me ghee me hitkari batein karte hain nishpaksh patrakarita ke paksh me rehte hain kyonki media ko aajkal chautha stambh mana jata hai media ka kartavya banta hai ki ek nishpaksh patrakar hamesha hum bharatiya apne aapko maan karke aam bharatiyon ki patrakarita karta hai lekin kuch media ke dalaal aise hain jinka 24 ka naam toh bahut zyada faila hua hai main nahi kehna chahunga lekin aap dekhenge abhi toh upchaar hain ve chamchen ki chamchagiri karte hain kisi party ka advocate ka karya karte hain isi party ke liye tarabalam figure uske prachar ka kaam karte hain unko manana chahiye ki aise gande logo par ek patrakar ka kaam cancel kar diya jana chahiye unka doosra unko sajayen prapt honi chahiye kyonki best janta ko digbhramit karne ka karya karte hain janta ko jhuthi sachi batein batatey hain party politics karte hain yadi unhe party politics karni hai toh patrakarita ka license bhi cheen liya jana chahiye unki degree ko nahi karke update kar diya jaaye usko samapt kar diya jaaye kyonki aise gande logo par lagaam lagta bahut anubhavi hain ve janta ko digbhramit karte hain aur delhi dango ke andar visheshata dikhaao kuch samay jis samay ki delhi dango ko samapt karne ka karya karna chahiye sabhi media ko balki kuch media waale logo ne kuch samay ke logo ne kuch gande patrakaron ne usme bhumika ada karte hue kuch varg ke logo ko aapas me ladane ka prayas kiya yah sarvadhik ganit hai aur aise logo ko saza prapt honi chahiye jab aise gande patrakar zinda rahenge unko sajayen nahi milegi samaj me gandagi failate rahenge bharmit karte rahe

हाय की सत्य कहते हो यह भारत सरकार की कुछ कमियां हैं क्योंकि भारत सरकार ने संविधान का कुछ प

Romanized Version
Likes  432  Dislikes    views  5773
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!