हमें अपने पॉजिटिव और नेगेटिव विचारों के बारे में कैसे मालूम करे  कि यह पॉजिटिव विचार है और ये नेगेटिव विचार है?...


user
Play

Likes  77  Dislikes    views  1241
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jyoti saxena

Pharmacist

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आपने पूछा है कि हमें अपनी पॉजिटिव और नेगेटिव विचारों के बारे में कैसे पता चलेगा कि यह पॉजिटिव है या नेगेटिव क्वेश्चन है और वह किसी है इस चीज को समझना कि इसमें आपके अंदर जो भी विचार चल रहा है वह पॉजिटिव या नेगेटिव ही काम करता है मानव मन जो है वह दोनों ही विचारों पर उसमें लगातार और साथ में रहते हैं पहली चीज तो पॉजिटिव विचार अगर आप जानना चाहते हैं कि यह पॉजिटिव है या नहीं तुम्हारे विचार से आपको कुछ करने की प्रेरणा मिलती है जिससे आपको जीवन में आगे जाने की प्रेरणा मिलती है आप खुश होते हैं अगर आप बहुत सुंदर विचार के बारे में सोचने और अगर आपको कहीं सेटिस्फेक्शन चाहिए कल किसी आनंद का आपको अनुभव होता है तो नॉट आउट यह विचार जो है वह पॉजिटिव विचार होता है मुझे विचार हमेशा आपको आगे ही रहेंगे हमेशा आपको आगे बढ़ने की प्रेरणा देंगे कुछ क्रिएटिविटी आपके अंदर लाएंगे जिससे अपना लक्ष्य पा सके वह विचार वह विचार होते हैं जिनको अगर आप आपके दिमाग में करा रहे हैं आप उनसे कंसंट्रेट करें तो आप पाएंगे कि आप सही पीछे की तरफ धकेला जा रहे हैं आप बहुत दुख रहा है कुछ करने से बेचैनी महसूस कर रहे हैं आपके अंदर गुस्सा आया और या क्रोधित आपके अंदर समावेशित हो रही है आपके नेगेटिव की कैटेगरी में आते हैं तो वह कोशिश करिए कि निकट विचार से दूर रहिए और जीवन में अगर आपको कुछ करना है तो पॉजिटिव विचार को लाने की क्षमता अपने मन को दीजिए अपने मन को हमेशा आर्डर करते रहे अपने विचारों को हमेशा देखते रहें दृष्टा बनी रहे कि आपके विचार और निश्चित ही रहे धन्यवाद

namaste aapne poocha hai ki hamein apni positive aur Negative vicharon ke bare me kaise pata chalega ki yah positive hai ya Negative question hai aur vaah kisi hai is cheez ko samajhna ki isme aapke andar jo bhi vichar chal raha hai vaah positive ya Negative hi kaam karta hai manav man jo hai vaah dono hi vicharon par usme lagatar aur saath me rehte hain pehli cheez toh positive vichar agar aap janana chahte hain ki yah positive hai ya nahi tumhare vichar se aapko kuch karne ki prerna milti hai jisse aapko jeevan me aage jaane ki prerna milti hai aap khush hote hain agar aap bahut sundar vichar ke bare me sochne aur agar aapko kahin setisfekshan chahiye kal kisi anand ka aapko anubhav hota hai toh not out yah vichar jo hai vaah positive vichar hota hai mujhe vichar hamesha aapko aage hi rahenge hamesha aapko aage badhne ki prerna denge kuch creativity aapke andar layenge jisse apna lakshya paa sake vaah vichar vaah vichar hote hain jinako agar aap aapke dimag me kara rahe hain aap unse concentrate kare toh aap payenge ki aap sahi peeche ki taraf dhakela ja rahe hain aap bahut dukh raha hai kuch karne se bechaini mehsus kar rahe hain aapke andar gussa aaya aur ya krodhit aapke andar samaveshit ho rahi hai aapke Negative ki category me aate hain toh vaah koshish kariye ki nikat vichar se dur rahiye aur jeevan me agar aapko kuch karna hai toh positive vichar ko lane ki kshamta apne man ko dijiye apne man ko hamesha order karte rahe apne vicharon ko hamesha dekhte rahein drishta bani rahe ki aapke vichar aur nishchit hi rahe dhanyavad

नमस्ते आपने पूछा है कि हमें अपनी पॉजिटिव और नेगेटिव विचारों के बारे में कैसे पता चलेगा कि

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  288
WhatsApp_icon
user

Raman Sharma

Architect

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका एक बहुत ही आसान तरीका है या खुद से ही मालूम कर सकते हैं किसी भी विचार के आने पर अगर आपको लगता है कि यह कार्य करने से आपका सम्मान बढ़ेगा यह कार्य अगर आप करेंगे तो किसी को पता चलता है तो आपकी तारीफ करेगा सब को अच्छा लगेगा तो वह भी चार पॉजिटिव और कोई ऐसा विचार जो आपको लगता है कि यह अगर किसी को पता चले मुझे लज्जित होना पड़ेगा यह आपको लगता है कि यह कार्य मुझे किसी से छुपकर करना चाहिए या वह कार्य करने से आपकी मानहानि होती है तो वह विचार नकारात्मक है नेगेटिव है आपको उससे बचना चाहिए और आपको पॉजिटिव जाने की सकारात्मक विचार या काम ही करनी चाहिए अगर आपको मेरा यह उत्तर अच्छा लगा हो तो प्लीज मुझे फॉलो कीजिए धन्यवाद

iska ek bahut hi aasaan tarika hai ya khud se hi maloom kar sakte hain kisi bhi vichar ke aane par agar aapko lagta hai ki yah karya karne se aapka sammaan badhega yah karya agar aap karenge toh kisi ko pata chalta hai toh aapki tareef karega sab ko accha lagega toh vaah bhi char positive aur koi aisa vichar jo aapko lagta hai ki yah agar kisi ko pata chale mujhe lajjit hona padega yah aapko lagta hai ki yah karya mujhe kisi se chhupakar karna chahiye ya vaah karya karne se aapki manhani hoti hai toh vaah vichar nakaratmak hai Negative hai aapko usse bachna chahiye aur aapko positive jaane ki sakaratmak vichar ya kaam hi karni chahiye agar aapko mera yah uttar accha laga ho toh please mujhe follow kijiye dhanyavad

इसका एक बहुत ही आसान तरीका है या खुद से ही मालूम कर सकते हैं किसी भी विचार के आने पर अगर आ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

Chandresh Mishra

Teacher , Life Trainner & Motivational Speekar

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे दोस्त आपका प्रश्न है कि हमें अपने पॉजिटिव और नेगेटिव विचारों के बारे में कैसे मालूम करें कि यह पोस्ट विचार हो रही है नेगेटिव विचार है सबसे पहले बेसिक जोश का नियम है वजह है कि पहले तो आप यह जाने कि ऐसे विचार तो आपको खुशी सौहार्द प्रसन्नता दे रहे हैं आपके पोस्ट के साथ ऐसे विचार जो आपको निराशा नकारात्मक हीन भावना से भर रहे हो आपके नेगेटिव विचार है किसी का अच्छा सोचना किसी के बारे में अच्छा सोच ना सबको अपना समझना जैसे हमें वैसे सृष्टि है ऐसा समझना फर्स्ट विचार हम दूसरे से अलग हैं मैं यह कैसे कर सकता हूं मेरा तो यह स्टेटस है लोगों की भलाई करना दूसरे लोगों को उसके तकलीफों से निजात दिलाना उसके विचार है दूसरों की खुशी देख कर चलना चलत महसूस करना कि गोरखनाथ के चार इन्हीं सब तरीकों से आप जान सकते हैं कि आपके विचार जहां पोस्टिंग है या नहीं कटेगा पोस्टिव नेगेटिव दोनों हमारे अंदर ही होता है बस हमें देखने का नजरिया होता है कि वह पोस्टिंग है या नहीं कृपया हम उसको किस तरीके से ले रहे हैं और जिस तरीके से हम लेते हैं उसका असर हम पर उसी तरीके से पता है अगर आप कोई खुशी की बात सुनते हैं और सुख खुशी की तरह लेते हैं तो आप में ऊर्जा भर जाता है आप उतर जाते हैं और कोई ऐसी बात है जिसको आप गलत तरीके से लेते हैं तो आप निराश करके आप में इतनी शक्ति नहीं रह जाती आपके हाथ पर हाथ पैर कांपने लगते हैं कि आप खड़े ढंग से नहीं हो पाते दोस्त यही सब तरीके हैं जिससे आप अपने विचारों में फर्क कर सकते हैं कि पोस्टिंग विचार क्या है नेगेटिव विचार क्या है धन्यवाद

dekhe dost aapka prashna hai ki hamein apne positive aur Negative vicharon ke bare me kaise maloom kare ki yah post vichar ho rahi hai Negative vichar hai sabse pehle basic josh ka niyam hai wajah hai ki pehle toh aap yah jaane ki aise vichar toh aapko khushi sauhaard prasannata de rahe hain aapke post ke saath aise vichar jo aapko nirasha nakaratmak heen bhavna se bhar rahe ho aapke Negative vichar hai kisi ka accha sochna kisi ke bare me accha soch na sabko apna samajhna jaise hamein waise shrishti hai aisa samajhna first vichar hum dusre se alag hain main yah kaise kar sakta hoon mera toh yah status hai logo ki bhalai karna dusre logo ko uske takaleephon se nijat dilana uske vichar hai dusro ki khushi dekh kar chalna chalat mehsus karna ki gorakhnath ke char inhin sab trikon se aap jaan sakte hain ki aapke vichar jaha posting hai ya nahi katega Positive Negative dono hamare andar hi hota hai bus hamein dekhne ka najariya hota hai ki vaah posting hai ya nahi kripya hum usko kis tarike se le rahe hain aur jis tarike se hum lete hain uska asar hum par usi tarike se pata hai agar aap koi khushi ki baat sunte hain aur sukh khushi ki tarah lete hain toh aap me urja bhar jata hai aap utar jaate hain aur koi aisi baat hai jisko aap galat tarike se lete hain toh aap nirash karke aap me itni shakti nahi reh jaati aapke hath par hath pair kaapne lagte hain ki aap khade dhang se nahi ho paate dost yahi sab tarike hain jisse aap apne vicharon me fark kar sakte hain ki posting vichar kya hai Negative vichar kya hai dhanyavad

देखे दोस्त आपका प्रश्न है कि हमें अपने पॉजिटिव और नेगेटिव विचारों के बारे में कैसे मालूम क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

Pramod Kumar Singh

Motivator And Business

1:18
Play

Likes  164  Dislikes    views  1822
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!