लोग भगवान को क्यों पूछते हैं?...


user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आपको कुछ नहीं लोग भगवान को क्यों करते हैं दोस्तों भगवान को इसलिए पूछते हैं क्योंकि उनका एक आस्था होता है उनका मनोकामना होता है कि भगवान के चरणों में अगर हम जाएंगे पूजा-पाठ करेंगे तो जरूर मेरी मनोकामना पूरा होगा क्योंकि दूसरों का हेल्प करना ओ भगवान की गिनती करना सॉन्ग पूजा पाठ करना अच्छा होता है इसी लोग पूछते हैं कि सारे मनोकामना पूरा हो जाता है

hello friend aapko kuch nahi log bhagwan ko kyon karte hain doston bhagwan ko isliye poochhte hain kyonki unka ek astha hota hai unka manokamana hota hai ki bhagwan ke charno me agar hum jaenge puja path karenge toh zaroor meri manokamana pura hoga kyonki dusro ka help karna O bhagwan ki ginti karna song puja path karna accha hota hai isi log poochhte hain ki saare manokamana pura ho jata hai

हेलो फ्रेंड आपको कुछ नहीं लोग भगवान को क्यों करते हैं दोस्तों भगवान को इसलिए पूछते हैं क्य

Romanized Version
Likes  198  Dislikes    views  1712
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोगों में ऊपर वाले ने मोह माया का लालच बनाकर भेजा है इसीलिए वे अपनी इच्छा पूर्ति के 1 को पूछते हैं नहीं तो वह संतोष को पूछते हैं लेकिन नियति को पूछते हैं तो निश्चित रूप से उन्हें यह प्रश्न पूछने की आवश्यकता नहीं तो लोगों की इच्छाओं पर नियंत्रण भगवान को पूजा भगवान की भक्ति करें निस्वार्थ भाव से प्रकृति के ब्रह्मांड के कण-कण में विद्यमान है

logo me upar waale ne moh maya ka lalach banakar bheja hai isliye ve apni iccha purti ke 1 ko poochhte hain nahi toh vaah santosh ko poochhte hain lekin niyati ko poochhte hain toh nishchit roop se unhe yah prashna poochne ki avashyakta nahi toh logo ki ikchao par niyantran bhagwan ko puja bhagwan ki bhakti kare niswarth bhav se prakriti ke brahmaand ke kan kan me vidyaman hai

लोगों में ऊपर वाले ने मोह माया का लालच बनाकर भेजा है इसीलिए वे अपनी इच्छा पूर्ति के 1 को प

Romanized Version
Likes  205  Dislikes    views  1730
WhatsApp_icon
play
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन लोग भगवान को उसने कोई चाहेंगे उनके मन में शांति बनी रहे उनके पदुमपुर दुख चुप चुप रह रहे ले किसी आपदा का सामना ना करना पड़े हो ना हो सबसे प्रेम से मिलते हैं और अंत में मोक्ष प्राप्त हो जाए ताकि हम को भगवान को ही प्राप्त हो जाए

lekin log bhagwan ko usne koi chahenge unke man me shanti bani rahe unke padumpur dukh chup chup reh rahe le kisi aapda ka samana na karna pade ho na ho sabse prem se milte hain aur ant me moksha prapt ho jaaye taki hum ko bhagwan ko hi prapt ho jaaye

लेकिन लोग भगवान को उसने कोई चाहेंगे उनके मन में शांति बनी रहे उनके पदुमपुर दुख चुप चुप

Romanized Version
Likes  175  Dislikes    views  2489
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

0:42
Play

Likes  608  Dislikes    views  12289
WhatsApp_icon
user

baleshwar damor

Staff Nurse

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान करते हैं लोग भगवान को क्यों पीते हैं लोग भगवान को उच्चतम पर विश्वास करता हूं भगवान को पूछता है

bhagwan karte hain log bhagwan ko kyon peete hain log bhagwan ko ucchatam par vishwas karta hoon bhagwan ko poochta hai

भगवान करते हैं लोग भगवान को क्यों पीते हैं लोग भगवान को उच्चतम पर विश्वास करता हूं भगवान क

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग भगवान को इसलिए पूछते हैं क्योंकि इंसान को पता है कि मैं हर समय हर समय में गलती पर गलती करता हूं तो इसलिए लोग भगवान को पूछते हैं क्योंकि वह अपनी गलतियों को सुधार सके अपनी गलतियों के ऊपर माफी मांग सकते

log bhagwan ko isliye poochhte hain kyonki insaan ko pata hai ki main har samay har samay me galti par galti karta hoon toh isliye log bhagwan ko poochhte hain kyonki vaah apni galatiyon ko sudhaar sake apni galatiyon ke upar maafi maang sakte

लोग भगवान को इसलिए पूछते हैं क्योंकि इंसान को पता है कि मैं हर समय हर समय में गलती पर गलती

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मनुष्य किस बात का आभास होता है कि उसको बड़ी भूल सकती है और जिसके माध्यम से सरकार इस दृष्टि आईएएस तू रे चंदा रे चला माने तो मनुष्य जो है अपनी उपासना आराधना और चिंतन मान के माध्यम से ईश्वर की भक्ति का आनंद प्राप्त करता है सरकार भक्ति रस और रावण की प्राप्त करने के कारण ही मैं भक्ति की ओर और ईश्वर की भक्ति भावना के साथ पूजन अर्चन उपासना राजस्थान आदि प्रमुख होता है

jab manushya kis baat ka aabhas hota hai ki usko badi bhool sakti hai aur jiske madhyam se sarkar is drishti IAS tu ray chanda ray chala maane toh manushya jo hai apni upasana aradhana aur chintan maan ke madhyam se ishwar ki bhakti ka anand prapt karta hai sarkar bhakti ras aur ravan ki prapt karne ke karan hi main bhakti ki aur aur ishwar ki bhakti bhavna ke saath pujan archan upasana rajasthan aadi pramukh hota hai

जब मनुष्य किस बात का आभास होता है कि उसको बड़ी भूल सकती है और जिसके माध्यम से सरकार इस दृष

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  778
WhatsApp_icon
user

Rehan khan

Business Owner

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है लोग भगवान को क्यों पूछते हैं देखिए यह कैसी चीज है कि यह मानने के ऊपर है मानने पर तो हर जगह भगवान है मान्यवर तो सब कुछ इशारा मानने और ना मानने का खेल है मानने पर तो आप किसी को भी भगवान मान सकते नहीं मारने में सब कुछ भी नहीं मान सकते किसी को और उनको पूछते इसलिए हैं कि हम अगर उनको खुश रखेंगे तो वह हमें खुश रखेंगे अगर उनके हम दिवा कदमों कदमों पर नक्शे कदम पर चलेंगे तो सबसे अच्छा होगा भगवान ने किया जो हमारे धर्म के गुरु हैं यह है वह कभी भी गलत शिक्षा नहीं देते जैसे हम सबके में है गीता कुरान और बाइबल या घर तीन किताबों काम पड़े तो हमारे धर्म के ज्ञान के गुरुओं के बारे में पता चलता है जो हमें सही राह पर सही दिशा में चलना सिखाते हैं और हम पकाने भरोसा करना विश्वास है कि यह सब मानने वाली चीज है लेकिन ऐसी एक चीज है जरूर शुभ भरोसा रखिए वह जरूर कुछ ना कुछ करता है और आपकी बातें भी देखता है आपके दिन को भी देखता तो इन सब कहां से हो पूजना चाहिए उनको हमारी वह सुनता भी है लेकिन हम जब गलती करते हैं उसकी सजा में तुरंत नहीं देता यह भगवान की खासियत है लेकिन हमारे विश पूरी करता है धन्यवाद मैं कहना चाहूंगा

aapka prashna hai log bhagwan ko kyon poochhte hain dekhiye yah kaisi cheez hai ki yah manne ke upar hai manne par toh har jagah bhagwan hai manyavar toh sab kuch ishara manne aur na manne ka khel hai manne par toh aap kisi ko bhi bhagwan maan sakte nahi maarne me sab kuch bhi nahi maan sakte kisi ko aur unko poochhte isliye hain ki hum agar unko khush rakhenge toh vaah hamein khush rakhenge agar unke hum diwa kadmon kadmon par nakshe kadam par chalenge toh sabse accha hoga bhagwan ne kiya jo hamare dharm ke guru hain yah hai vaah kabhi bhi galat shiksha nahi dete jaise hum sabke me hai geeta quraan aur bible ya ghar teen kitabon kaam pade toh hamare dharm ke gyaan ke guruon ke bare me pata chalta hai jo hamein sahi raah par sahi disha me chalna sikhaate hain aur hum pakane bharosa karna vishwas hai ki yah sab manne wali cheez hai lekin aisi ek cheez hai zaroor shubha bharosa rakhiye vaah zaroor kuch na kuch karta hai aur aapki batein bhi dekhta hai aapke din ko bhi dekhta toh in sab kaha se ho pujna chahiye unko hamari vaah sunta bhi hai lekin hum jab galti karte hain uski saza me turant nahi deta yah bhagwan ki khasiyat hai lekin hamare wish puri karta hai dhanyavad main kehna chahunga

आपका प्रश्न है लोग भगवान को क्यों पूछते हैं देखिए यह कैसी चीज है कि यह मानने के ऊपर है मान

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग भगवान कितने सैनिक विहार अपने भगवान से ना मानते हैं और वह कुछ कहते हैं भगवान नहीं करता दर्शन कर पाए इसलिए और जो पत्थर को भगवान मानने लगते हैं यह सिर्फ भारत में संभव है

log bhagwan kitne sainik vihar apne bhagwan se na maante hain aur vaah kuch kehte hain bhagwan nahi karta darshan kar paye isliye aur jo patthar ko bhagwan manne lagte hain yah sirf bharat me sambhav hai

लोग भगवान कितने सैनिक विहार अपने भगवान से ना मानते हैं और वह कुछ कहते हैं भगवान नहीं करता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user

Naeem Sayyed

टाईल्स कॉन्ट्रैक्टर

0:15
Play

Likes  2  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!