पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए?...


user

Gautam Sinha

Yoga Trainer And HOLISTIC HEALER

0:23
Play

Likes  17  Dislikes    views  364
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:30
Play

Likes  48  Dislikes    views  1170
WhatsApp_icon
user

Thakur Satish Journalist

Editor-in-chief संघर्ष न्यूज़

0:25
Play

Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार पेमेंट चिड़िया के बारे में कुछ बताइए पेंग्विन चिड़िया जो होती है वह है शायद में भारी चिड़िया होती है उड़ने में थोड़ा असमर्थ होती है यह बिल्कुल 25 से अपनी चलती है और आपने देखा होगा इसके सामने से सोच होती है बिल्कुल एकदम बहुत धीमी धीमी चाल के साथ में चलती है यह अंटार्कटिका बिल्कुल पूरी तरह बर्फीला क्षेत्र में पाई जाती है और बर्फीले क्षेत्र में भी जो सुदूर बर्फीला क्षेत्र है दक्षिणी हमेशा उसके अंदर पाई जाती हैं इसकी जो जो लंबाई होती है वह 3:30 फुट के लागू होती है और जिसका वजन होता है ब्रिज में 35 किलो के लगभग होता है पूरी तरह ठंडा ही नहीं पाई जाती है धन्यवाद

namaskar payment chidiya ke bare me kuch bataiye penguin chidiya jo hoti hai vaah hai shayad me bhari chidiya hoti hai udane me thoda asamarth hoti hai yah bilkul 25 se apni chalti hai aur aapne dekha hoga iske saamne se soch hoti hai bilkul ekdam bahut dheemi dheemi chaal ke saath me chalti hai yah antarctica bilkul puri tarah barfila kshetra me payi jaati hai aur barfile kshetra me bhi jo sudoor barfila kshetra hai dakshini hamesha uske andar payi jaati hain iski jo jo lambai hoti hai vaah 3 30 feet ke laagu hoti hai aur jiska wajan hota hai bridge me 35 kilo ke lagbhag hota hai puri tarah thanda hi nahi payi jaati hai dhanyavad

नमस्कार पेमेंट चिड़िया के बारे में कुछ बताइए पेंग्विन चिड़िया जो होती है वह है शायद में भा

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  2190
WhatsApp_icon
user

Pratibha

Author

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आप ने प्रश्न किया है पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताइए पेंग्विन चिड़िया यह अंटार्कटिका महाद्वीप में पाई जाती है और 18 से 20 तरह की प्रजातियां है इस पर एक भी प्रजाति उड़ नहीं पाती है चिड़िया शुरू से उड़ने में असमर्थ हैं यह इनके पैर होते हैं डक की तरह बदक की तरह एक पैरों में जल्दी पाई जाती है जिससे यह समुद्र को बहुत अच्छी तरह होते हैं और ठंडे प्रदेशों में ही अंटार्कटिका महाद्वीप के आस पास जितने भी जगह है वहां पर ही पाए जाते हैं और अपने जीवन का बहुत बड़ा भाग समुद्र में ही बिताते हैं जो प्रश्न का समय होता है तभी आज तक पर आते हैं इनकी हड्डियां काफी मजबूत होती है जिससे कि यह बहुत अच्छे गोताखोर हैं बहुत गहराई तक समुद्र में गोता लगा सकते हैं इनके शरीर पर पेट की एक मोटी लेयर होती है जो इन्हें सर्दी से बचाए रखती है 100 से नीचे तक का पिता पांचाल चाहते हैं इनका जो बॉडी का टेंपरेचर 38 डिग्री रहता है और जो पेट इनके शरीर से कॉल कर सकती ईशन होता है जो इनके 10 पेज पंख है उस पर फैल जाता है जो इनके शरीर की गर्माहट को बनाए रखता है वाइट और ब्लैक होते हैं ऊपर इंसान का ब्रेक होता है यह पूरी की जितनी भी उठना है उसका उचित कर लेते हैं आज अनेक सामाजिक व्यवहार भी पाया जाता है यह जब भी बहुत ज्यादा बर्फीली हवाएं चलती हैं तब यह पास पास एक दूसरे से सेट कर बैठ जाते हैं इन्हें बात का ज्ञान होता है कि पास-पास बैठे रहने से एक उस्मा का एक पूरा बन जाता है उसकी बॉडी हीट होती है उसे सर्दी कम लगती है इसलिए सामाजिक व्यवहार भी रखते हैं

namaskar aap ne prashna kiya hai penguin chidiya ke bare me bataiye penguin chidiya yah antarctica mahadweep me payi jaati hai aur 18 se 20 tarah ki prajatiya hai is par ek bhi prajati ud nahi pati hai chidiya shuru se udane me asamarth hain yah inke pair hote hain duck ki tarah badak ki tarah ek pairon me jaldi payi jaati hai jisse yah samudra ko bahut achi tarah hote hain aur thande pradeshon me hi antarctica mahadweep ke aas paas jitne bhi jagah hai wahan par hi paye jaate hain aur apne jeevan ka bahut bada bhag samudra me hi Bitate hain jo prashna ka samay hota hai tabhi aaj tak par aate hain inki haddiyan kaafi majboot hoti hai jisse ki yah bahut acche gotakhor hain bahut gehrai tak samudra me gota laga sakte hain inke sharir par pet ki ek moti layer hoti hai jo inhen sardi se bachaye rakhti hai 100 se niche tak ka pita paanchaal chahte hain inka jo body ka temperature 38 degree rehta hai aur jo pet inke sharir se call kar sakti ishan hota hai jo inke 10 page pankh hai us par fail jata hai jo inke sharir ki garmahat ko banaye rakhta hai white aur black hote hain upar insaan ka break hota hai yah puri ki jitni bhi uthna hai uska uchit kar lete hain aaj anek samajik vyavhar bhi paya jata hai yah jab bhi bahut zyada barfili hawaye chalti hain tab yah paas paas ek dusre se set kar baith jaate hain inhen baat ka gyaan hota hai ki paas paas baithe rehne se ek ushma ka ek pura ban jata hai uski body heat hoti hai use sardi kam lagti hai isliye samajik vyavhar bhi rakhte hain

नमस्कार आप ने प्रश्न किया है पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताइए पेंग्विन चिड़िया यह अंटार

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
user

Shambhu Das

Officer In Maharatna Company | Motivational Coach | Solution Provider

3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पेंगुइन जो चिड़िया है या बिना उड़ने वाली एक पक्षी है और यह वह ज्यादातर दक्षिणी गोलार्ध में रहने वाली एक जलीय जंतु है जिसके पंख नहीं होते फिलिप्स के होते हैं जिससे कि अब ठहरने का काम करता है आइए सिर्फ दक्षिणी गोलार्ध में पाया जाता है केवल एक प्रकार का जो पेंगुइन है गलत परफ्यूम यह भूमध्य रेखा के समीप उत्तरी गोलार्ध में पाए जाते हैं तो वरना जो 17 से 20 प्रजातियां जो इसकी है वह बाकी प्रजातियां सब दक्षिणी गोलार्ध में रहती है ठंडे प्रदेशों में जनता कृतिका आस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड साउथ अफ्रीका साउथ अफ्रीका इत्यादि में या प्रजाति पाई जाती है दुनिया में 40 ऐसी पक्षी है जो उड़ नहीं पाती उनमें से पेंगुइन भी एक प्रजाति है अपन जून की प्रजाति में हम पर ना मुकाम पर अपन जो होती है वह 3 फुट 7 इंच तक लंबाई सबसे बड़ी होती है लगभग 35 के जिसका वजन होता है लिटिल ब्लू पेंग्विन सबसे छोटी होती है जो लगभग 13 इंच का होता है और एक केजी वजन होता है एक पेंगुइन 15 से 20 साल तक औसतन जी लेता है या पानी के अंदर 27 मिनट तक रह सकता है उनका शरीर का तापक्रम 38 डिग्री सेंटीग्रेड होता है रंगीन मीठे और सुगंधित चीजों का कोई स्वाद नहीं ले पाता है केवल वह खट्टा और नमकीन शादी समझ पाता है आप जो है खाने में पत्थर और कंकड़ भी खा लेते हैं और भैया को द्वारा बताया गया है कि यह उसके पाचन शक्ति को मजबूत कर देते हैं कहीं उनके दांत नहीं होते यह सोचकर सहारा लेकर सभी काम करते हैं पेंगुइन जो है पानी में 15 माइल प्रति किलो मीटर या 24 किलोमीटर प्रति घंटा की दर से रखते हैं घर पर भी नहीं अंडे को सहता है और उस अंडे के पास हो जब तक जान नहीं हो जाता उसी पर खड़ा रहता है दुनिया की सबसे पुरानी प्रजातियों में है लगभग 40 मिलियन साल पहले से यह है अभी कुछ ऐसे कंकाल मिले जिससे पता चला है कि उस समय पेंग्विन आकार में बहुत बड़े होते थे 5 फुट तक पर बड़े होते थे नॉर्वे में पेंगुइन को इतनी को एकदम उनको नाइट की उपाधि दी गई थी थैंक्यू बहुत सुंदर दिखने में और बहुत प्यारा जानवर है इस पर कई फिल्म भी बन चुके हैं हां बहुत अच्छा देखने में लगता है धन्यवाद जवाब पसंद आया हो तो फॉलो करें लाइक करें

dekhiye Penguin jo chidiya hai ya bina udane wali ek pakshi hai aur yah vaah jyadatar dakshini golardh me rehne wali ek jallian jantu hai jiske pankh nahi hote phillips ke hote hain jisse ki ab thaharane ka kaam karta hai aaiye sirf dakshini golardh me paya jata hai keval ek prakar ka jo Penguin hai galat perfume yah bhumadhya rekha ke sameep uttari golardh me paye jaate hain toh varna jo 17 se 20 prajatiya jo iski hai vaah baki prajatiya sab dakshini golardh me rehti hai thande pradeshon me janta kritika Australia new zealand south africa south africa ityadi me ya prajati payi jaati hai duniya me 40 aisi pakshi hai jo ud nahi pati unmen se Penguin bhi ek prajati hai apan june ki prajati me hum par na mukam par apan jo hoti hai vaah 3 feet 7 inch tak lambai sabse badi hoti hai lagbhag 35 ke jiska wajan hota hai little blue penguin sabse choti hoti hai jo lagbhag 13 inch ka hota hai aur ek KG wajan hota hai ek Penguin 15 se 20 saal tak ausatan ji leta hai ya paani ke andar 27 minute tak reh sakta hai unka sharir ka tapkaram 38 degree centigrade hota hai rangeen meethe aur sugandhit chijon ka koi swaad nahi le pata hai keval vaah khatta aur namkeen shaadi samajh pata hai aap jo hai khane me patthar aur kankad bhi kha lete hain aur bhaiya ko dwara bataya gaya hai ki yah uske pachan shakti ko majboot kar dete hain kahin unke dant nahi hote yah sochkar sahara lekar sabhi kaam karte hain Penguin jo hai paani me 15 mile prati kilo meter ya 24 kilometre prati ghanta ki dar se rakhte hain ghar par bhi nahi ande ko sahata hai aur us ande ke paas ho jab tak jaan nahi ho jata usi par khada rehta hai duniya ki sabse purani prajatiyo me hai lagbhag 40 million saal pehle se yah hai abhi kuch aise kankal mile jisse pata chala hai ki us samay penguin aakaar me bahut bade hote the 5 feet tak par bade hote the norway me Penguin ko itni ko ekdam unko night ki upadhi di gayi thi thainkyu bahut sundar dikhne me aur bahut pyara janwar hai is par kai film bhi ban chuke hain haan bahut accha dekhne me lagta hai dhanyavad jawab pasand aaya ho toh follow kare like kare

देखिए पेंगुइन जो चिड़िया है या बिना उड़ने वाली एक पक्षी है और यह वह ज्यादातर दक्षिणी गोलार

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  1646
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताइए यह चिड़िया जो आमतौर पर बर्फीले दिए में पाई जाती है बिल्कुल बटक के मासिक होती है सफेद होती हैं और यह उड़ने की बजाए रेंगने वाली और चलने वाली रूप में ज्यादा निकाली जाती है बहुत सुंदर होती है शाकाहारी होती हैं और बर्फीले क्षेत्रों के लिए यह दिन का जीवन होता है

penguin chidiya ke bare me bataiye yah chidiya jo aamtaur par barfile diye me payi jaati hai bilkul buttock ke maasik hoti hai safed hoti hain aur yah udane ki bajaye rengane wali aur chalne wali roop me zyada nikali jaati hai bahut sundar hoti hai shakahari hoti hain aur barfile kshetro ke liye yah din ka jeevan hota hai

पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताइए यह चिड़िया जो आमतौर पर बर्फीले दिए में पाई जाती है बिल्

Romanized Version
Likes  389  Dislikes    views  4935
WhatsApp_icon
user

S K Mishra

Career Advisor

0:16
Play

Likes  84  Dislikes    views  1410
WhatsApp_icon
user

professor Govind Tripathi

Professor(P.hd in mathematics)/Social worker

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं प्रवीण त्रिपाठी आपका प्रश्न है पेंडिंग चिड़िया के बारे में बताइए देखिए पेंग्विन एक पक्षी होता है और वह जाकर अपना समय आधा समय पानी में और आधा समय स्थल में बताता है यह इसके हाथ पैर होते हैं इसलिए इसके लोग लोग स्तनधारी मान लेते हैं लेकिन यह अंडे देती है इसलिए इसको पक्षी वर्ग में रखा गया इसके विंग्स नहीं होते ओढ़नी सकती लेकिन पानी में तैर सकती यह जग की चिड़िया जाकर दक्षिण बुलाया अंटार्कटिका में पाया जाता है और बहुत ही उन्नत देखने में थोड़ी भारी भारी चिड़िया होती है धन्यवाद

namaskar main praveen tripathi aapka prashna hai pending chidiya ke bare me bataiye dekhiye penguin ek pakshi hota hai aur vaah jaakar apna samay aadha samay paani me aur aadha samay sthal me batata hai yah iske hath pair hote hain isliye iske log log standhari maan lete hain lekin yah ande deti hai isliye isko pakshi varg me rakha gaya iske wings nahi hote odhani sakti lekin paani me tair sakti yah jag ki chidiya jaakar dakshin bulaya antarctica me paya jata hai aur bahut hi unnat dekhne me thodi bhari bhari chidiya hoti hai dhanyavad

नमस्कार मैं प्रवीण त्रिपाठी आपका प्रश्न है पेंडिंग चिड़िया के बारे में बताइए देखिए पेंग्वि

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1871
WhatsApp_icon
user

Kavish

Civil Engineer , Educator And Banker in SBI

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं आप लोग को पेंग्विन के बारे में बताना चाहता हूं पेंगुइन तरह की चिड़िया होती है जो कि अपने जो धरती है उसके दोनों छोर पर बर्फीले इलाके हैं जिन्हें महाद्वीप कहा जाता है अंटार्कटिका एंड आर्कटिक यह दो एक वह हैं कॉन्टिनेंट्स जहां पर के पेंगुइन चिड़िया पाई जाती है पानी में चूड़ी प्रेग्नेंट चिड़िया जो होती है वह बेसिक लिक कॉलोनी में रहना पसंद करती है मतलब समूह में जून में रहना पसंद करती है और एक दूसरे से काफी ही व्यवहारिक टाइप से रहती है और यह चिड़िया की सबसे खासियत यह है कि यह उड़ नहीं सकती बाकी चिड़ियों की तरह यह चिड़िया उड़ नहीं सकती और इसका रंग काला और सफेद होता है यह केवल चल सकती है और बर्फीले पानी में तैर सकती है जय अपने आम जूस का मौसम में यह सरवाइव नहीं कर सकती यह जीवित नहीं रह सकती आप मौसम है इसीलिए इसको ठंड ही में रखा जा सकता है खाने में यह ज्यादातर समुद्री मछलियां छोटी मछलियां का ही शिकार करके खाती हैं इनकी एक लंबी होती है और दो छोटे छोटे काले हाथ जैसे पर होते हैं क्योंकि मांग की तरह दिखते हैं पर वह उड़ नहीं सकते उससे

hello friends main aap log ko penguin ke bare me batana chahta hoon Penguin tarah ki chidiya hoti hai jo ki apne jo dharti hai uske dono chhor par barfile ilaake hain jinhen mahadweep kaha jata hai antarctica and Arctic yah do ek vaah hain continents jaha par ke Penguin chidiya payi jaati hai paani me chudi pregnant chidiya jo hoti hai vaah basic lick colony me rehna pasand karti hai matlab samuh me june me rehna pasand karti hai aur ek dusre se kaafi hi vyavaharik type se rehti hai aur yah chidiya ki sabse khasiyat yah hai ki yah ud nahi sakti baki chidiyon ki tarah yah chidiya ud nahi sakti aur iska rang kaala aur safed hota hai yah keval chal sakti hai aur barfile paani me tair sakti hai jai apne aam juice ka mausam me yah survive nahi kar sakti yah jeevit nahi reh sakti aap mausam hai isliye isko thand hi me rakha ja sakta hai khane me yah jyadatar samudri machhliyan choti machhliyan ka hi shikaar karke khati hain inki ek lambi hoti hai aur do chote chote kaale hath jaise par hote hain kyonki maang ki tarah dikhte hain par vaah ud nahi sakte usse

हेलो फ्रेंड्स मैं आप लोग को पेंग्विन के बारे में बताना चाहता हूं पेंगुइन तरह की चिड़िया हो

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

Anish Ahmad

Xray technician

0:24
Play

Likes  174  Dislikes    views  1438
WhatsApp_icon
user

Jagdish Saxena

Nagrik Adhikar Chetna Parishad (NGO)

0:25
Play

Likes  117  Dislikes    views  1142
WhatsApp_icon
user
2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सुरता बंधु एक प्रश्न है पेंग्विन चिड़िया पेंग्विन आपका एक ऐसा प्राणी है जो कि जल और थल दोनों में जीवित रह सकता है खासतौर से यह बर्फीले पहाड़ी चट्टानों के आसपास जिसका किनारा समुद्र से सटा हुआ हो या बर्फ की बहुतायत मात्रा पाई जाती है वैसे जगहों पर जैसे कि अंटार्कटिका इंग्लिश इयर्स जहां पर मौजूद उन जगहों पर अक्सर इनको देखा पाया जाता है यह अपना भोजन करने के लिए समुद्र के काफी भीतर गहराई पर 50 से 80 मीटर की गहराई के नीचे जाकर अपना शिकार करते हैं और आराम करने के लिए बस के ऊपर ऊपरी सतह पर आकर आराम करती हूं इनके प्रजनन का रितु शीतकाल है भयंकर से वाले महीनों में ठंडे मौसम में इनका प्रजनन क्रिया होता है इनकी लंबाई तकरीबन 2:00 से 3:30 फीट तक होती है आपको कल्पना कर सकते हैं कि अधिकतम एक मनुष्य के घुटने के रेंज तक और छोटे बच्चे भी होते हैं खुद के रेंज तक भी होते हैं और इनका आकार गोल मटोल बिल्कुल बत्तख के पंजे जैसा इनका पैर होता है छोटे छोटे पंख होते हैं बड़े प्यारे बड़े क्यूट लगते हैं देखने में यूपीटेट का हिस्सा सफेद और पेट का हिस्सा काला होता है सोच बिल्कुल काली एकदम कौवे की तरह और आवाज भी इनकी कौवे से मिलती जुलती आवाज भी निकालते हैं गुजरात में घुसे और मनुष्यों से काफी फ्रेंडली भी है भ्राता इनका बहुत ज्यादा डरते नहीं हैं मनुष्य ऐसा नहीं कि मनुष्य को देखकर भागना चालू कर दे अधूरी कुछ रहती है दूरी कुछ मेंटेन रखते हैं लेकिन इतना भी नहीं कि आप इनको नजदीक से फोटो दोनों चीज बाय 10 फीट की दूरी से आप किन के नजदीक जा सकता है जयसिंहपुर खतरा महसूस होता है कि बर्फ से कूदकर पानी में छलांग लगा दूं कि सामान्य लाइफस्टाइल है सब्जी में क्या क्या है शंभू मित्र आपको पसंद आएगा धन्यवाद नमस्कार

namaskar surta bandhu ek prashna hai penguin chidiya penguin aapka ek aisa prani hai jo ki jal aur thal dono me jeevit reh sakta hai khaasataur se yah barfile pahadi chattanon ke aaspass jiska kinara samudra se sata hua ho ya barf ki bahutayat matra payi jaati hai waise jagaho par jaise ki antarctica english years jaha par maujud un jagaho par aksar inko dekha paya jata hai yah apna bhojan karne ke liye samudra ke kaafi bheetar gehrai par 50 se 80 meter ki gehrai ke niche jaakar apna shikaar karte hain aur aaram karne ke liye bus ke upar upari satah par aakar aaram karti hoon inke prajanan ka ritu sheetkal hai bhayankar se waale mahinon me thande mausam me inka prajanan kriya hota hai inki lambai takareeban 2 00 se 3 30 feet tak hoti hai aapko kalpana kar sakte hain ki adhiktam ek manushya ke ghutne ke range tak aur chote bacche bhi hote hain khud ke range tak bhi hote hain aur inka aakaar gol matol bilkul battakh ke panje jaisa inka pair hota hai chote chote pankh hote hain bade pyare bade cute lagte hain dekhne me UPTET ka hissa safed aur pet ka hissa kaala hota hai soch bilkul kali ekdam kauve ki tarah aur awaaz bhi inki kauve se milti julti awaaz bhi nikalate hain gujarat me ghuse aur manushyo se kaafi friendly bhi hai bharata inka bahut zyada darte nahi hain manushya aisa nahi ki manushya ko dekhkar bhaagna chaalu kar de adhuri kuch rehti hai doori kuch maintain rakhte hain lekin itna bhi nahi ki aap inko nazdeek se photo dono cheez bye 10 feet ki doori se aap kin ke nazdeek ja sakta hai jaisinghpur khatra mehsus hota hai ki barf se kudakar paani me chalang laga doon ki samanya lifestyle hai sabzi me kya kya hai sambhu mitra aapko pasand aayega dhanyavad namaskar

नमस्कार सुरता बंधु एक प्रश्न है पेंग्विन चिड़िया पेंग्विन आपका एक ऐसा प्राणी है जो कि जल

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  241
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar

writer, GK Expert, Career Counselor

1:30
Play

Likes  20  Dislikes    views  233
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब तक प्रश्न है पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए और चिड़ियों की तरह हो नहीं सकती लक्ष्मी गुजरात का एक सीमित में उड़ने वाला पक्षी है इसके एंटार्कटिक में रहती है और इसको यह जल्दी अच्छा मुंह जल समूह में माना जाता जल संकट यह विपरीत रंगो मतलब काले और सफेद रंगों में पाई जाती है और इनका वजन कोई 20 किलो के आसपास 20 से 25 किलो के बीच में इनका वजन होता है और इनकी आयुर्वेद इस वर्ष होती है और ऊंचाई और लंबाई उनकी एक से लेकर सवा मीटर तक हो सकती है तो सबसे बड़ी बात है कि यह पक्षी चिड़िया के नाम से है लेकिन चिड़िया की तरह उड़ नहीं सकता इनकी जो पंख है वह हाथ बन गए तो साइड में जो पंखे इन कि वह उनके हाथ बन गए और यह बच्चे कलाकार अंटार्कटिका में रहती है ज्यादातर इन चिड़ियों के बारे में हम बहुत कम को पता है तो आपने सवाल कुछ अच्छा किया और लोग भी से पड़ेंगे कोई नई जानकारी हमको मिलेगी

ab tak prashna hai Penguin chidiya ke bare me bataiye aur chidiyon ki tarah ho nahi sakti laxmi gujarat ka ek simit me udane vala pakshi hai iske entarkatik me rehti hai aur isko yah jaldi accha mooh jal samuh me mana jata jal sankat yah viprit rango matlab kaale aur safed rangon me payi jaati hai aur inka wajan koi 20 kilo ke aaspass 20 se 25 kilo ke beech me inka wajan hota hai aur inki ayurveda is varsh hoti hai aur unchai aur lambai unki ek se lekar sava meter tak ho sakti hai toh sabse badi baat hai ki yah pakshi chidiya ke naam se hai lekin chidiya ki tarah ud nahi sakta inki jo pankh hai vaah hath ban gaye toh side me jo pankhe in ki vaah unke hath ban gaye aur yah bacche kalakar antarctica me rehti hai jyadatar in chidiyon ke bare me hum bahut kam ko pata hai toh aapne sawaal kuch accha kiya aur log bhi se padenge koi nayi jaankari hamko milegi

अब तक प्रश्न है पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए और चिड़ियों की तरह हो नहीं सकती लक्ष्मी

Romanized Version
Likes  626  Dislikes    views  6144
WhatsApp_icon
user

Vijendra Bhambu

Motivational Speaker

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेंगुइन उड़ने में असमर्थ पक्षी है जो केवल दक्षिणी गोलार्ध में विशेष रूप से अंटार्कटिक में पाए जाते हैं पेंगुइन छोटी मछलियों तथा स्पीड और जलीय जंतु को अपना भोजन बनाते हैं पेंगुइन अपना लगभग आधा जीवन धरती पर तथा आधा जीवन महासागरों में बिताते हैं

Penguin udane me asamarth pakshi hai jo keval dakshini golardh me vishesh roop se antarctica me paye jaate hain Penguin choti machliyo tatha speed aur jallian jantu ko apna bhojan banate hain Penguin apna lagbhag aadha jeevan dharti par tatha aadha jeevan mahasagaron me Bitate hain

पेंगुइन उड़ने में असमर्थ पक्षी है जो केवल दक्षिणी गोलार्ध में विशेष रूप से अंटार्कटिक में

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1321
WhatsApp_icon
user

Nikhil Bose

Career Counsellor/Hindi Expert/Life Advisor

0:46
Play

Likes  184  Dislikes    views  1793
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:28
Play

Likes  358  Dislikes    views  4804
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar

Career counselor

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्यसन सबका स्वागत पेंगुइन किया के बारे में बताइए ट्रेन कोई चिड़िया चलिए हम उनके लिए समय एक पक्षी है जो पुणे में असमर्थ होता है पिन कोड नहीं सकता है जो केवल दक्षिणी गोलार्ध में विशेषकर विशेषकर अंटार्कटिक में पाए जाते हैं पानी में जीवन के लिए अत्यधिक अनुकूलित पेंगुइन विपरीत रंगो काले और सफेद रंगों बालों वाली पक्षी है उनके पंखा हाथ की तरह काम करता है पानी के नीचे तैराकी करते हुए अधिकांश पेंगुइन छोटी मछली गांव स्क्विड और अन्य जलीय जीवों को भोजन के रूप में करते हैं पेंगुइन आधा जीवन धरती पर और आधा जीवन महासागरों में बिताते हैं हालांकि सभी पेंगुइन प्रजातियां दक्षिण भारत के मूल निवासी है ओके थैंक्स

vyasan sabka swaagat Penguin kiya ke bare me bataiye train koi chidiya chaliye hum unke liye samay ek pakshi hai jo pune me asamarth hota hai pin code nahi sakta hai jo keval dakshini golardh me visheshkar visheshkar antarctica me paye jaate hain paani me jeevan ke liye atyadhik anukulit Penguin viprit rango kaale aur safed rangon balon wali pakshi hai unke pankha hath ki tarah kaam karta hai paani ke niche tairaki karte hue adhikaansh Penguin choti machli gaon squid aur anya jallian jivon ko bhojan ke roop me karte hain Penguin aadha jeevan dharti par aur aadha jeevan mahasagaron me Bitate hain halaki sabhi Penguin prajatiya dakshin bharat ke mul niwasi hai ok thanks

व्यसन सबका स्वागत पेंगुइन किया के बारे में बताइए ट्रेन कोई चिड़िया चलिए हम उनके लिए समय एक

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  1937
WhatsApp_icon
user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताएं चिड़िया एक ऐसा पक्षी है जो कि जलीय पक्षी माना जाता है यह दक्षिणी गोलार्ध के अंटार्कटिका वाले हिस्से में पाया जाता है हालांकि यह पक्की होने के बाद ही उड़ नहीं पाता और यह दक्षिणी गोलार्ध के ही अन्य हिस्सों में भी निकलता सबसे ज्यादा अंटार्कटिका वाले हिस्से में पाया जाता है

aapka prashna hai penguin chidiya ke bare me bataye chidiya ek aisa pakshi hai jo ki jallian pakshi mana jata hai yah dakshini golardh ke antarctica waale hisse me paya jata hai halaki yah pakki hone ke baad hi ud nahi pata aur yah dakshini golardh ke hi anya hisson me bhi nikalta sabse zyada antarctica waale hisse me paya jata hai

आपका प्रश्न है पेंग्विन चिड़िया के बारे में बताएं चिड़िया एक ऐसा पक्षी है जो कि जलीय पक्षी

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  2858
WhatsApp_icon
user

RAVI DATTA

Dentist

4:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार दोस्तों आपका किसने पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए देखो दोस्त में पेंगुइन चिड़िया के बारे में आपको विस्तार से बताता हूं देखो पेंगुइन चिड़िया इसका जिसको पीढ़ी स्पेनी को कॉल में प्रजाति स्पेनी इसकी दाई यानी जलीय समूह के उड़ने में असमर्थ पक्षी है जल में तो रहता है बड़ी उड़ने में क्या रेट है समर्थक में रहता है या नहीं पाता है जो कि दक्षिणी गोलार्ध विशेष रूप से अंटार्कटिका में पाए जाते हैं पानी में जीवन के लिए अत्यधिक अनुकूलित पेंगुइन विपरीत रंगो एनी काले और सफेद रंग के बालों वाला पक्षी है उनके पंखे हाथ अर्थ अर्थ थी पर जून के पंख होते हैं उनको हाथ के डिग्री रखा गया है जो बन गए हैं पानी के नीचे तैराकी करते हुए जो पानी के नीचे तैराकी करते हैं यह तो अधिकांश जो पेंगुइन पकड़ी जाती हैं जो बड़ी बड़ी मछली होती है तो उनका यही क्या हो जाती है शिकार हो जाती हैं तू भी अपना लगभग आधा जीवन तो धरती पर और आधा जीवन महासागरों पर बिताती हैं शब्द की उत्पत्ति अत्यधिक विवादित है अर्थात कहने का मतलब यह है कि जो पेंगुइन सफेद है इसकी उत्पत्ति में अलग-अलग राय दी गई हैं जो अंग्रेजी शब्द जाहिर तौर पर फैंस का नहीं है फ्रेंड का नहीं यार भारतीय अंग्रेजी शब्द का ही एक वाक्य है और एक शब्द है और ना ही ब्रिटेन का स्पेनिश मूवी दोनों फ्रेंड शब्द किसके हैं पेंगुइन अर्थ अंग्रेजी का ही शब्द है पेंगुइन एयू के लिए गए हैं उसके बारे में और बता ना चाहूं मैं आपको पेंगुइन कई किताबों तक फिल्मों का विषय रहा है अर्थात जो पेंगुइन पक्षी है इस पर कई किताबें भी लिखी गई है और कई फिल्मों में भी युद्ध किया गया है फिल्मों में इसका एक अहम रोल दिया गया है इसको पेंगुइन जो पक्षी होता है जैसे हैप्पी तरफा जब दोनों सीबीआई की फिल्में है और मार्च ऑफ द पेंगुइन एक व्रत जो एंपरर पेंगुइन के प्रवास पर आधारित है तथा एक पैरोडी जिसका शीर्षक है फेस ऑफ द पेंगुइन पेंगुइन कई कारणों तथा टेलीविजन नाटकों में भी दिखाई दिया गया है टेलीविजन नाटकों में दिखाई देता है तो जिस में से सबसे उल्लेखनीय संभवत है पिंकू है उसका क्या नाम दिया गया जो नाटक है इसी तरह इसमें जो पेंग्विन पक्षी है इसको पिंकू नाम दिया गया है जिससे सिलेरियो मजोला ने 1986 में निर्मित किया और जिसकी सोच से भी अधिक ज्यादा लघु कड़ियां दिखाइए गया अर्थात कहने का मतलब है दोस्तों पेंगुइन एक पक्षी है जो उत्तरी गोलार्ध में दक्षिणी गोलार्ध विशेष रूप से अंटार्टिका के ठंडे प्रदेशों में पाया जाता है और एक ऐसा पक्षी है जो मानव सियानी मनुष्य से नहीं डरता है जी एक अर्थ और कितनी नहीं रह पाता है क्योंकि जो पर्यटक घूमने जाकर समुद्र के किनारे दक्षिणी गोलार्ध में अंटार्टिका के क्षेत्रों में घूमने उड़ने में असमर्थ है यानी समुद्र के पास रहेगा तो समुद्र के पास जब लोगों का आवागमन रहता है तो इसकी दूरी बनाकर रखते हैं अतः कम से कम 3 मीटर की दूरी रहने से क्योंकि यह डरते हैं नहीं तो इनको कोई किसी प्रकार का नुकसान ना हो इसलिए विशेष दूरी बनाकर इंसान को रहना ही अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकें ओके थैंक यू दोस्तों मैं आशा करता हूं आपको समझ में आ गया होगा और गूगल पर भी भेज सकते हैं इसके बारे में यूट्यूब पर भी देख सकते पेंगुइन कैसा पक्षी होता है बहुत बड़े आकार का होता है और सफेद काले वाले वाला होता है ओके थैंक यू समझ दोस्तों

hello namaskar doston aapka kisne Penguin chidiya ke bare me bataiye dekho dost me Penguin chidiya ke bare me aapko vistaar se batata hoon dekho Penguin chidiya iska jisko peedhi speni ko call me prajati speni iski dai yani jallian samuh ke udane me asamarth pakshi hai jal me toh rehta hai badi udane me kya rate hai samarthak me rehta hai ya nahi pata hai jo ki dakshini golardh vishesh roop se antarctica me paye jaate hain paani me jeevan ke liye atyadhik anukulit Penguin viprit rango any kaale aur safed rang ke balon vala pakshi hai unke pankhe hath arth arth thi par june ke pankh hote hain unko hath ke degree rakha gaya hai jo ban gaye hain paani ke niche tairaki karte hue jo paani ke niche tairaki karte hain yah toh adhikaansh jo Penguin pakadi jaati hain jo badi badi machli hoti hai toh unka yahi kya ho jaati hai shikaar ho jaati hain tu bhi apna lagbhag aadha jeevan toh dharti par aur aadha jeevan mahasagaron par bitati hain shabd ki utpatti atyadhik vivaadit hai arthat kehne ka matlab yah hai ki jo Penguin safed hai iski utpatti me alag alag rai di gayi hain jo angrezi shabd jaahir taur par fans ka nahi hai friend ka nahi yaar bharatiya angrezi shabd ka hi ek vakya hai aur ek shabd hai aur na hi britain ka spanish movie dono friend shabd kiske hain Penguin arth angrezi ka hi shabd hai Penguin AU ke liye gaye hain uske bare me aur bata na chahu main aapko Penguin kai kitabon tak filmo ka vishay raha hai arthat jo Penguin pakshi hai is par kai kitaben bhi likhi gayi hai aur kai filmo me bhi yudh kiya gaya hai filmo me iska ek aham roll diya gaya hai isko Penguin jo pakshi hota hai jaise happy tarfa jab dono cbi ki filme hai aur march of the Penguin ek vrat jo emperor Penguin ke pravas par aadharit hai tatha ek pairodi jiska shirshak hai face of the Penguin Penguin kai karanon tatha television natakon me bhi dikhai diya gaya hai television natakon me dikhai deta hai toh jis me se sabse ullekhaniya sambhavat hai pinku hai uska kya naam diya gaya jo natak hai isi tarah isme jo penguin pakshi hai isko pinku naam diya gaya hai jisse sileriyo majola ne 1986 me nirmit kiya aur jiski soch se bhi adhik zyada laghu kadiyan dikhaiye gaya arthat kehne ka matlab hai doston Penguin ek pakshi hai jo uttari golardh me dakshini golardh vishesh roop se antarctica ke thande pradeshon me paya jata hai aur ek aisa pakshi hai jo manav siyani manushya se nahi darta hai ji ek arth aur kitni nahi reh pata hai kyonki jo paryatak ghoomne jaakar samudra ke kinare dakshini golardh me antarctica ke kshetro me ghoomne udane me asamarth hai yani samudra ke paas rahega toh samudra ke paas jab logo ka aavagaman rehta hai toh iski doori banakar rakhte hain atah kam se kam 3 meter ki doori rehne se kyonki yah darte hain nahi toh inko koi kisi prakar ka nuksan na ho isliye vishesh doori banakar insaan ko rehna hi apne aap ko surakshit mehsus kar sake ok thank you doston main asha karta hoon aapko samajh me aa gaya hoga aur google par bhi bhej sakte hain iske bare me youtube par bhi dekh sakte Penguin kaisa pakshi hota hai bahut bade aakaar ka hota hai aur safed kaale waale vala hota hai ok thank you samajh doston

हेलो नमस्कार दोस्तों आपका किसने पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए देखो दोस्त में पेंगुइन च

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  616
WhatsApp_icon
user

DR.JAI KRISHNA PANDEY

Homoeopathic Physician

2:00
Play

Likes  13  Dislikes    views  262
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेंगुइन चिड़िया एक प्राणी है और आप उसके ज्यादा अध्ययन के लिए नेशनल ज्योग्राफिक के चैनल और दूसरी प्राणी शास्त्र की चैनलों के द्वारा उसके प्रोग्राम को ऑनलाइन करके उसका अच्छी तरह से स्वाध्याय कर सकते हैं

Penguin chidiya ek prani hai aur aap uske zyada adhyayan ke liye national jyografik ke channel aur dusri prani shastra ki channelon ke dwara uske program ko online karke uska achi tarah se swaadhyaay kar sakte hain

पेंगुइन चिड़िया एक प्राणी है और आप उसके ज्यादा अध्ययन के लिए नेशनल ज्योग्राफिक के चैनल और

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  1144
WhatsApp_icon
user

Bharat Bhushan Sharma

Doctorate/Traveller

5:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह जो आप एडमिन है पेंगुइन एक कप से पहले यह फ्लाइटलेस बर्ड है फ्लाइटलेस बर्ड का मतलब यह है कि ऐसा पक्षी जो उड़ ना सकता लेकिन उसकी जो वह फिजिकल बॉडी है जो सर्टिफिकेशन है इसका वर्गीकरण है वह पक्षियों में किया जाता है ऐसे और भी फ्लाइटलेस बर्ड्स हैं आपने उनके बारे में सुना होगा जैसे कि ऑस्ट्रिच हो गया या फिर भी हो गया ओके तुझे भी कुछ फ्लाइटलेस बर्ड तें एग्जांपल्स में जहां तक बात है कि पेंग्विन जो है यह कहां पाया जाता है तो यह जो आपको मिलेगा अंटार्कटिका में जो अंटार्कटिका जो है यह आप विश्व के सात महाद्वीपों में से 1 महाद्वीप है और जो हमारा जो दक्षिण ध्रुव है कि हम साउथ पोल बोलते हैं यह अंटार्कटिका में स्थित है तो इस कारण से क्योंकि यह पृथ्वी के जुबां पर स्थित है इस कारण से जो अंटार्कटिका जो है एक ठंडा महाद्वीप है और ठंडा महाद्वीप होने के कारण जो है वहां पर जीवन जो है काफी कम है पर कम होने का मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि जीवन वहां पर बिल्कुल नहीं है आप वहां पर भी आपको के थे लाइव फोन जो है आपको मिल जाएंगे पूरी लाइफ फोन में से एक लाइफ में वह है आज बड़ा पोहा मिल जाएगा और आज उसके ना जो लिंक है जो कि बटने बोलते हैं कि वहां पर जो तब्दील हो गए हैं तो यह अपने फोरलेन का यूज करता है जो पेपर पेपर मदद करने के लिए इसलिए यह अच्छा तैराक है यह समुद्री जो वहां पर जीव जंतु है वहीं से बात करता है आज दिन तक मैं समझता हूं कि शायद यह आप मछली मेरा जो है ईश्वर है जो कि आपको कॉलेज में मिलते हैं 29 को कंज्यूम करता है इसके अलावा एक इंट्रस्टिंग चीज यह है कि ऐसा नहीं है कि आपको नेचुरल प्राकृतिक रूप से पेंग्विन जो है केवल आपको अंटार्कटिका में दिखे इसके अतिरिक्त आपको जो पेंग्विन है आपको अफ्रीका महाद्वीप में भी दिख जाएगा अभी थोड़ी हैरानी की बात है कि अफ्रीका महाद्वीप नॉर्मल अफ्रीका का नाम सुनते ही हमारे मन में ऐसी में जाती है कि बहुत गर्म एरिया बहुत तो उस गरम एरिया में पेंगुइन कैसे रह सकते हैं 10 दिन का जो नेचुरल हैबिटेट है वह कोल्ड क्लाइमेट है वह आर्कटिक सॉरी बॉय का रहने वाला अंटार्कटिका में रहने वाला पक्षी है तो वह अफ़्रीका में कैसे लाया जा सकता है तो इसका इस तरह समझ सकते हैं कि अगर आपने कभी मैप आखिरी गुलाम देखेंगे कभी आप वर्ल्ड मैप देखिए अपने पाएंगे कि जो विषुवत रेखा है जिसका मिक वेटर बोलते हैं जो कि पृथ्वी को उत्तरी गोलार्ध और दक्षिणी गोलार्ध में डिवाइड करते अफ्रीका के बीच से होकर भी निकलती है तो क्योंकि वह अपने बीच से होकर निकलती है तो वह बेसिक लेने कहते हैं कि अफ्रीका का एक पाठ जो है उत्तरी गोलार्ध में आता है और दो पाटों दक्षिणी गोलार्ध आने के साधन है मिस करता है और सदस्य में जो पाठ है उसी में जो कंट्री है वह है आपकी साउथ अफ्रीका वरसाद अधिकारी द कोस्टल एरियाज है वहां पर भी आपको किसी आपका टिकट सीजन में आप मुझे उसी दिन तो याद नहीं किया सीजन कौन सा है लेकिन इसे जनता के प्राकृतिक रूप से देखने को मिल जाते हैं अब तक कारण क्या है उसका कारण यह है कि जो दक्षिणी गोलार्ध का जो अफ्रिका है खासकर 2 साउथ अफ्रीका जो कंट्री है उसकी जो साधन स्टीप है मोस्ट दक्षिणी छोर है वह अंटार्कटिका में काफी पेंगुइन आपको वहां पर भी पहुंच जाते हैं वह आपके अंटार्कटिका से दक्षिणी अफ्रीका के छोड़ तक भी वहां पर वह पहुंच जाते हैं इतना भी उनकी मूवमेंट जो है वह रहती है लेकिन इसमें मैं एक बात और ऐड करना चाहूंगा हर अंक इसका आंसर मेरे पास नहीं है शायद एक अच्छा प्रश्न वही उसका प्रश्न क्या सकते हैं जो आपके मन में कुछ और नए प्रश्न पैदा करें तो मेरे मन नहीं है पैसे नहीं आ रहा है कि क्योंकि यह आपको दक्षिण अफ्रीका मिल रहा है तो फिर यह आपको दक्षिणी अमेरिका के उस छोर में भी शायद ही पाया जा सकता हो जो कि अंटार्कटिका के काफी पास में है जो कि आज इन चिली और अर्जेंटीना का जो दक्षिणी हॉट है तो वहां पर ही लगता हूं पर मैंने अभी आप ऐसा कहीं पढ़ा नहीं है कि दक्षिण अमेरिका में भी 10 दिन पाया जाता है कि नहीं पाया जाता है पर मैं इसके बारे में सर्च जरूर करूंगा और क्योंकि अगर यह दक्षिणी अमिता के क्षेत्र में भी होना चाहिए धन्यवाद

haan yah jo aap admin hai Penguin ek cup se pehle yah flightless bird hai flightless bird ka matlab yah hai ki aisa pakshi jo ud na sakta lekin uski jo vaah physical body hai jo certification hai iska vargikaran hai vaah pakshiyo me kiya jata hai aise aur bhi flightless birds hain aapne unke bare me suna hoga jaise ki ostrich ho gaya ya phir bhi ho gaya ok tujhe bhi kuch flightless bird ten egjampals me jaha tak baat hai ki penguin jo hai yah kaha paya jata hai toh yah jo aapko milega antarctica me jo antarctica jo hai yah aap vishwa ke saat mahadweepo me se 1 mahadweep hai aur jo hamara jo dakshin dhruv hai ki hum south pole bolte hain yah antarctica me sthit hai toh is karan se kyonki yah prithvi ke juban par sthit hai is karan se jo antarctica jo hai ek thanda mahadweep hai aur thanda mahadweep hone ke karan jo hai wahan par jeevan jo hai kaafi kam hai par kam hone ka matlab yah bilkul nahi hai ki jeevan wahan par bilkul nahi hai aap wahan par bhi aapko ke the live phone jo hai aapko mil jaenge puri life phone me se ek life me vaah hai aaj bada poha mil jaega aur aaj uske na jo link hai jo ki batane bolte hain ki wahan par jo tabdil ho gaye hain toh yah apne fourlane ka use karta hai jo paper paper madad karne ke liye isliye yah accha tairak hai yah samudri jo wahan par jeev jantu hai wahi se baat karta hai aaj din tak main samajhata hoon ki shayad yah aap machli mera jo hai ishwar hai jo ki aapko college me milte hain 29 ko consume karta hai iske alava ek interesting cheez yah hai ki aisa nahi hai ki aapko natural prakirtik roop se penguin jo hai keval aapko antarctica me dikhe iske atirikt aapko jo penguin hai aapko africa mahadweep me bhi dikh jaega abhi thodi hairani ki baat hai ki africa mahadweep normal africa ka naam sunte hi hamare man me aisi me jaati hai ki bahut garam area bahut toh us garam area me Penguin kaise reh sakte hain 10 din ka jo natural haibitet hai vaah cold climate hai vaah Arctic sorry boy ka rehne vala antarctica me rehne vala pakshi hai toh vaah Africa me kaise laya ja sakta hai toh iska is tarah samajh sakte hain ki agar aapne kabhi map aakhiri gulam dekhenge kabhi aap world map dekhiye apne payenge ki jo vishuvat rekha hai jiska mik waiter bolte hain jo ki prithvi ko uttari golardh aur dakshini golardh me divide karte africa ke beech se hokar bhi nikalti hai toh kyonki vaah apne beech se hokar nikalti hai toh vaah basic lene kehte hain ki africa ka ek path jo hai uttari golardh me aata hai aur do paton dakshini golardh aane ke sadhan hai miss karta hai aur sadasya me jo path hai usi me jo country hai vaah hai aapki south africa varsad adhikari the kostal areas hai wahan par bhi aapko kisi aapka ticket season me aap mujhe usi din toh yaad nahi kiya season kaun sa hai lekin ise janta ke prakirtik roop se dekhne ko mil jaate hain ab tak karan kya hai uska karan yah hai ki jo dakshini golardh ka jo africa hai khaskar 2 south africa jo country hai uski jo sadhan steep hai most dakshini chhor hai vaah antarctica me kaafi Penguin aapko wahan par bhi pohch jaate hain vaah aapke antarctica se dakshini africa ke chhod tak bhi wahan par vaah pohch jaate hain itna bhi unki movement jo hai vaah rehti hai lekin isme main ek baat aur aid karna chahunga har ank iska answer mere paas nahi hai shayad ek accha prashna wahi uska prashna kya sakte hain jo aapke man me kuch aur naye prashna paida kare toh mere man nahi hai paise nahi aa raha hai ki kyonki yah aapko dakshin africa mil raha hai toh phir yah aapko dakshini america ke us chhor me bhi shayad hi paya ja sakta ho jo ki antarctica ke kaafi paas me hai jo ki aaj in chili aur argentina ka jo dakshini hot hai toh wahan par hi lagta hoon par maine abhi aap aisa kahin padha nahi hai ki dakshin america me bhi 10 din paya jata hai ki nahi paya jata hai par main iske bare me search zaroor karunga aur kyonki agar yah dakshini Amita ke kshetra me bhi hona chahiye dhanyavad

हां यह जो आप एडमिन है पेंगुइन एक कप से पहले यह फ्लाइटलेस बर्ड है फ्लाइटलेस बर्ड का मतलब यह

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user
2:59
Play

Likes  133  Dislikes    views  1936
WhatsApp_icon
user

Shailja Dubey

Yoga Instructor/Teacher

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आप इनके बारे में एक सवाल आया है तो यह बेसिकली एक चिड़िया है जो कि ठंडे प्रदेशों में पाई जाती है इनमें जो मेल और फीमेल होते हैं यह बेसिकली जिंदगी भर के लिए एक बार आ मिलते हैं और उस पर कोई लोग फॉलो करते हैं सबसे बड़ी बात यह है कि इनके जो बच्चे होते हैं उनमें बहुत जबरदस्त लालटेन के अंदर देखने मिलती है और चलने का तरीका इनका बिल्कुल हेमंत की तरह होने की वजह से यह जो है काफी इंसानियत तौर पर काफी अच्छे माने जाते हैं बाकी ठंडे प्रदेशों में होने की वजह से इनके जो मतलब प्रवास हैं वह बेसिकली मछली और यह सब जो खाना पीना है यही करते हैं ठंडे प्रदेशों में पाई जाती आर्कटिक क्षेत्र में औरतों में यह अपने बच्चों को जन्म देते हैं और काफी कम बच्चे उसमें कार्रवाई कर पाते हैं अभी पेमेंट जो मेन तादाद है वह आर्किटेक्ट क्षेत्रों में बर्फीले क्षेत्रों में बची हुई है बाकी तो यह एंड अर्जेंट एंडेंजर्ड स्पीशीज

namaskar doston aap inke bare me ek sawaal aaya hai toh yah basically ek chidiya hai jo ki thande pradeshon me payi jaati hai inmein jo male aur female hote hain yah basically zindagi bhar ke liye ek baar aa milte hain aur us par koi log follow karte hain sabse badi baat yah hai ki inke jo bacche hote hain unmen bahut jabardast lantern ke andar dekhne milti hai aur chalne ka tarika inka bilkul hemant ki tarah hone ki wajah se yah jo hai kaafi insaniyat taur par kaafi acche maane jaate hain baki thande pradeshon me hone ki wajah se inke jo matlab pravas hain vaah basically machli aur yah sab jo khana peena hai yahi karte hain thande pradeshon me payi jaati Arctic kshetra me auraton me yah apne baccho ko janam dete hain aur kaafi kam bacche usme karyawahi kar paate hain abhi payment jo main tadad hai vaah architect kshetro me barfile kshetro me bachi hui hai baki toh yah and urgent endangered species

नमस्कार दोस्तों आप इनके बारे में एक सवाल आया है तो यह बेसिकली एक चिड़िया है जो कि ठंडे प्र

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  291
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए तो मैं आपको बताना चाहता हूं पेंगुइन चिड़िया एक बहुत भारी चिड़िया होती है जो अंटालिया चीज में पाई जाती है जहां बर्फीले प्रदेश होते वहां पाई जाती है आर्किटेक्ट और अंडा किस एरिया में और यह एक फ्लाइटलेस बर्ड की यह जहां बहुत जल्दी पड़ती है वहां यह पहनी जाती है और यह समुद्र के पानी में ठंडी बर्फ में रहना पसंद करते हैं

aapka prashna Penguin chidiya ke bare me bataiye toh main aapko batana chahta hoon Penguin chidiya ek bahut bhari chidiya hoti hai jo antaliya cheez me payi jaati hai jaha barfile pradesh hote wahan payi jaati hai architect aur anda kis area me aur yah ek flightless bird ki yah jaha bahut jaldi padti hai wahan yah pahani jaati hai aur yah samudra ke paani me thandi barf me rehna pasand karte hain

आपका प्रश्न पेंगुइन चिड़िया के बारे में बताइए तो मैं आपको बताना चाहता हूं पेंगुइन चिड़िया

Romanized Version
Likes  505  Dislikes    views  66568
WhatsApp_icon
user

Akash {Chaudhary}

Motivation Speaker

1:17
Play

Likes  101  Dislikes    views  2083
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:18
Play

Likes  491  Dislikes    views  6201
WhatsApp_icon
user

Ujjawal Kumar

MOTIVATOR

1:49
Play

Likes  6  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!