लड़की क्यों सुंदर होती है?...


user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

3:17
Play

Likes  57  Dislikes    views  1907
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

pervs

Tutor

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी गलती है और और यह बना है क्योंकि वह

meri galti hai aur aur yah bana hai kyonki vaah

मेरी गलती है और और यह बना है क्योंकि वह

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
user

Deep Chugh

Writer & Relation Consultant

0:24
Play

Likes  59  Dislikes    views  751
WhatsApp_icon
user

loveena bhatt

Yoga Trainer,fashion Designer & social Worker

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है कि लड़कियां जो सुंदर होती है तो लड़कियों की सुंदरता भगवान का दिया हुआ तोहफा है उनके लिए तो इसलिए लड़कियां सुंदर होती है और आजकल कुछ ब्यूटी टिप्स है इस वजह से भी लड़कियां थोड़ी ज्यादा स्मार्ट हो गई है यह सुंदरता का रीजन है और थोड़ा एक्सरसाइज हो गया है और थोड़ा वकआउट करती है जिससे लड़कियां आजकल स्मार्ट और सुंदर दोनों है थैंक यू

namaskar aapka sawaal hai ki ladkiya jo sundar hoti hai toh ladkiyon ki sundarta bhagwan ka diya hua tohfa hai unke liye toh isliye ladkiya sundar hoti hai aur aajkal kuch beauty tips hai is wajah se bhi ladkiya thodi zyada smart ho gayi hai yah sundarta ka reason hai aur thoda exercise ho gaya hai aur thoda vakaaut karti hai jisse ladkiya aajkal smart aur sundar dono hai thank you

नमस्कार आपका सवाल है कि लड़कियां जो सुंदर होती है तो लड़कियों की सुंदरता भगवान का दिया हुआ

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  579
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल लड़की के सुंदर होती है देखे दोस्त यह तो डिपेंड करता है देखने वाले पर लड़की भी सुंदर होती है वह लड़का भी सुंदर होता है और एक कश्ती अट्रैक्शन होता है जो हमारे एंटी जेंडर में रहता है तो जहां लड़कों को लड़कियां सुंदर नजर आती हैं वहीं लड़कियों लड़कियों को लड़के भी सुंदर नजर आते हैं जरूरी नहीं लड़कियां ही सुंदर हो सुंदर हो सुंदर लड़कियों को सुंदरता के रूप में देखा गया है और जेंट्स को स्ट्रांग में के रूप में देखा गया है उनको जितना बोर्ड जितना सुडोल जितना शरीर होता है उतने ही अच्छे लगते हैं तो इसलिए प्रवर्ती उसी तरह की रहती है और रही अपने-अपने पॉइंट ऑफ यू पर डिपेंड करता है कि आप उस वक्त इस पॉइंट ऑफिस उसको देख रहे हैं जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ रहे

namaskar aapka sawaal ladki ke sundar hoti hai dekhe dost yah toh depend karta hai dekhne waale par ladki bhi sundar hoti hai vaah ladka bhi sundar hota hai aur ek kashti attraction hota hai jo hamare anti gender me rehta hai toh jaha ladko ko ladkiya sundar nazar aati hain wahi ladkiyon ladkiyon ko ladke bhi sundar nazar aate hain zaroori nahi ladkiya hi sundar ho sundar ho sundar ladkiyon ko sundarta ke roop me dekha gaya hai aur gents ko strong me ke roop me dekha gaya hai unko jitna board jitna sudol jitna sharir hota hai utne hi acche lagte hain toh isliye pravarti usi tarah ki rehti hai aur rahi apne apne point of you par depend karta hai ki aap us waqt is point office usko dekh rahe hain jai hind jai bharat aapka din shubha rahe

नमस्कार आपका सवाल लड़की के सुंदर होती है देखे दोस्त यह तो डिपेंड करता है देखने वाले पर लड़

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1746
WhatsApp_icon
user

Anand

Soft Skill Trainer & Life Coach

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़की क्यों सुंदर होती है तो मुझे लग रहा है क्या पक्का लड़के हो क्योंकि लड़के लोग को लड़की सुंदर लड़की और लड़कियों को लड़के सुंदर लगते हैं अभी उसमें कैटेगरी समझ में आ रहा है अमिताभ बच्चन जया भादुरी के साथ शादी की उसकी अच्छी हीरोइन के साथ काम किया लेकिन उसको मन से सुंदर लड़की चाहिए तो एक बाहरी सुंदरता और एक अंदर की सुंदरता बाहरी सुंदरता कम दिनों के लिए चलती है फिर शादी होने के बाद उनका डिस हो जाता है तो वह सुंदर का समझ में आ रहा है जैसे अमृता सिंह और सैफ अली खान का हुआ था तो यह सब ठीक है चलता है सुंदर लड़की को लगता है कि लड़के सुंदर और लड़कों को लगता है कि लड़की सुंदर है तो उनको भी सेम भाव होते जो लड़के को होता है वही सिंभव लड़की को होता है जितना लड़कों को सेक्स के बारे में विचार आता है उसमें लड़कियों को भी सेक्स के बारे में बता रहा था प्यार के बारे में विचार आता है तो कुदरत ने कोई पार्सल कि नहीं की है सबको एक जैसे ही सोच विचार दी है लेकिन व्यवहार में हैं संस्कार होते हैं उस हिसाब से चलते हैं बाकी उनको खुला छोड़ दे दो बहुत अच्छा ठीक है

ladki kyon sundar hoti hai toh mujhe lag raha hai kya pakka ladke ho kyonki ladke log ko ladki sundar ladki aur ladkiyon ko ladke sundar lagte hain abhi usme category samajh me aa raha hai amitabh bachchan jaya bhaduri ke saath shaadi ki uski achi heroine ke saath kaam kiya lekin usko man se sundar ladki chahiye toh ek bahri sundarta aur ek andar ki sundarta bahri sundarta kam dino ke liye chalti hai phir shaadi hone ke baad unka dis ho jata hai toh vaah sundar ka samajh me aa raha hai jaise amrita Singh aur saif ali khan ka hua tha toh yah sab theek hai chalta hai sundar ladki ko lagta hai ki ladke sundar aur ladko ko lagta hai ki ladki sundar hai toh unko bhi same bhav hote jo ladke ko hota hai wahi simbhav ladki ko hota hai jitna ladko ko sex ke bare me vichar aata hai usme ladkiyon ko bhi sex ke bare me bata raha tha pyar ke bare me vichar aata hai toh kudrat ne koi parcel ki nahi ki hai sabko ek jaise hi soch vichar di hai lekin vyavhar me hain sanskar hote hain us hisab se chalte hain baki unko khula chhod de do bahut accha theek hai

लड़की क्यों सुंदर होती है तो मुझे लग रहा है क्या पक्का लड़के हो क्योंकि लड़के लोग को लड़की

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Deepak Tiwari

Freelance Writer And Poet, Working As Journalist

3:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो यह तय करने की सुंदरता का पैमाना क्या है सौंदर्य देखने वाले की आंखों में भी होता है दिखने वाली वस्तुएं भी होता है तेरी आंखों में सौंदर्य है तो घृणित से घृणित वस्तुएं भी सौंदर्य खोज लिया जा सकता है और यदि आंखों में दोष है तो सुंदर से सुंदर वस्तुएं भी दोष से निकाला जाता है हमें तो यह तय करना है कि हम 96c बनते हैं अथवा सौंदर्य को खोज लेते हैं जिसमें आपने प्रश्न पूछा है उस संदर्भ में मैं यह कहना चाहता हूं एक शारीरिक सौंदर्य उन्हें प्रकृति प्रदत्त है ऐसा इसलिए ताकि उनमें एक आकर्षण बना रहे इसके साथ ही उनकी जीवन शैली और हमारी जीवन शैली में एक अंतर है जब हम पैदा होते हैं तब हमें यह नहीं मालूम होता है कि हम पुरुष हैं अथवा से स्त्री मेरे कहने का आशय यह है कि एक बच्चा जब पैदा होता है तब उसे स्वयं इस बात का पता नहीं होता कि वह लड़का है या लड़की हालांकि उसके जन्म के पूर्व ही लोग पता लगा लेते हैं कि वह लड़का है या लड़की लेकिन बचपन से उसे इस बात का ज्ञान होने में एक वक्त लगता है जब उसे यह पता चलता है कि वह लड़का है लड़की हालांकि माता-पिता उसे लड़का या लड़की के अनुरूप ही पालते बसते हैं बड़ा करते हैं लेकिन हर व्यक्ति के जीवन में एक क्षण ऐसा अवश्य आता है जब उसे इस बात का एहसास होता है कि हां सच में हुए एक लड़का है यह वह एक लड़की है हमारे समाज में लड़का और लड़की दोनों के लिए अलग-अलग जीवन शैली आधारित है अलग-अलग विचार निर्धारित है एक लड़का अपने इस एहसास के बाद जब बड़ा होता है तो वह अपने मन में संस्कारों में प्रायः कठोरता कठिनाइयों को अंगीकृत करता है चुनौतियां को शिकार करता है चुनौतियां से लाने का सामना करता है दूसरी तरफ स्त्री का जीवन शैली स्त्री की जीवन शैली कुछ इस प्रकार होती है कि उन्हें प्राया सुरक्षा और संरक्षण में रखा जाता है आज के दौर में यह बात मायने नहीं रखती इसलिए को भी पर्याप्त मौका मिलता है आगे बढ़ने का उन्हें भी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है परंतु फिर भी जो भेज समाज में है वह अब तक बना हुआ है आगे भी बना रहेगा इसका बना रहना भी मनुष्य के लिए बहुत जरूरी है ताकि एक आकर्षण बना रहे क्योंकि निवेदिता मैं एकता होना जरूरी है यही प्रकृति का तालमेल है यही सब एक से हो जाएंगे तो प्रकृति का कर्म ही बंद हो जाएगा और विविधता के अनुरूप प्रत्येक व्यक्ति वस्तु में अपना एक अलग सौंदर्य होता है एक आकर्षण होता है जो उसे सुंदर बनाता है

pehle toh yah tay karne ki sundarta ka paimaana kya hai saundarya dekhne waale ki aakhon me bhi hota hai dikhne wali vastuyen bhi hota hai teri aakhon me saundarya hai toh ghrinit se ghrinit vastuyen bhi saundarya khoj liya ja sakta hai aur yadi aakhon me dosh hai toh sundar se sundar vastuyen bhi dosh se nikaala jata hai hamein toh yah tay karna hai ki hum 96c bante hain athva saundarya ko khoj lete hain jisme aapne prashna poocha hai us sandarbh me main yah kehna chahta hoon ek sharirik saundarya unhe prakriti pradatt hai aisa isliye taki unmen ek aakarshan bana rahe iske saath hi unki jeevan shaili aur hamari jeevan shaili me ek antar hai jab hum paida hote hain tab hamein yah nahi maloom hota hai ki hum purush hain athva se stree mere kehne ka aashay yah hai ki ek baccha jab paida hota hai tab use swayam is baat ka pata nahi hota ki vaah ladka hai ya ladki halaki uske janam ke purv hi log pata laga lete hain ki vaah ladka hai ya ladki lekin bachpan se use is baat ka gyaan hone me ek waqt lagta hai jab use yah pata chalta hai ki vaah ladka hai ladki halaki mata pita use ladka ya ladki ke anurup hi palate baste hain bada karte hain lekin har vyakti ke jeevan me ek kshan aisa avashya aata hai jab use is baat ka ehsaas hota hai ki haan sach me hue ek ladka hai yah vaah ek ladki hai hamare samaj me ladka aur ladki dono ke liye alag alag jeevan shaili aadharit hai alag alag vichar nirdharit hai ek ladka apne is ehsaas ke baad jab bada hota hai toh vaah apne man me sanskaron me prayah kathorata kathinaiyon ko angikrit karta hai chunautiyaan ko shikaar karta hai chunautiyaan se lane ka samana karta hai dusri taraf stree ka jeevan shaili stree ki jeevan shaili kuch is prakar hoti hai ki unhe praya suraksha aur sanrakshan me rakha jata hai aaj ke daur me yah baat maayne nahi rakhti isliye ko bhi paryapt mauka milta hai aage badhne ka unhe bhi chunautiyon ka samana karna padta hai parantu phir bhi jo bhej samaj me hai vaah ab tak bana hua hai aage bhi bana rahega iska bana rehna bhi manushya ke liye bahut zaroori hai taki ek aakarshan bana rahe kyonki nivedita main ekta hona zaroori hai yahi prakriti ka talmel hai yahi sab ek se ho jaenge toh prakriti ka karm hi band ho jaega aur vividhata ke anurup pratyek vyakti vastu me apna ek alag saundarya hota hai ek aakarshan hota hai jo use sundar banata hai

पहले तो यह तय करने की सुंदरता का पैमाना क्या है सौंदर्य देखने वाले की आंखों में भी होता ह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar

Sports Coach and Ayurveda Treatment

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण की लड़की सुंदर क्यों होती है तो बता देता हूं यह तो कुदरत की देन है भगवान जैसा सोचता है वैसा ही होता है जरूरी नहीं कि लड़की सुंदर और लड़का भी सुंदर हो सकता है और वैसे बता देता हूं सुंदरता मन से होनी चाहिए बाहर से नहीं थैंक यू

krishna ki ladki sundar kyon hoti hai toh bata deta hoon yah toh kudrat ki then hai bhagwan jaisa sochta hai waisa hi hota hai zaroori nahi ki ladki sundar aur ladka bhi sundar ho sakta hai aur waise bata deta hoon sundarta man se honi chahiye bahar se nahi thank you

कृष्ण की लड़की सुंदर क्यों होती है तो बता देता हूं यह तो कुदरत की देन है भगवान जैसा सोचता

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1149
WhatsApp_icon
user

Vedpal

Social Worker

2:50
Play

Likes  73  Dislikes    views  1312
WhatsApp_icon
play
user

Likes  9  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत इंटरेस्टिंग कृष्णा की लड़कियां सुंदर क्यों होती है यह जो चीज है इसका जो उत्तर है और यह जो सवाल है इसकी समझ पर्सन 2% पर करते और जो इसका उत्तर है वह हर आदमी के हिसाब से अलग है क्योंकि हर व्यक्ति के जो सुंदरता के दो मायने हैं जो खूबसूरती के दो मायने हैं वह अलग अलग है इसी को आंतरिक सुंदरता पसंद आती है किसी को बाहरी सुंदरता पर आपने यह जो सवाल पूछा है तो अभी असली के जो एक बारी आकर्षण है जो एक बाहरी सुंदरता है उसी के संदर्भ में आपने पूछा है सो मैं छोटी सी बात बोलना चाहूंगा कि जो सुंदरता होती है वह चेहरे पर नहीं होती हो देखने वाली की आंखों में होती है और फॉर एग्जांपल आप कितनी भी जितनी एड्रेस है अब देखिए किसी की कोई फेवरेट होती किसी की कोई फेवरेट होती है सभी सुंदर है सभी के कोई ना कोई तो चेहरे के उनके जो फीचर्स हैं उनकी जो बॉडी है उनका जो बात करने का तरीका है सभी का कहीं ना कहीं अलग है और कहीं ना कहीं भी का बहुत बेहतरीन है लेकिन किसी को कोई एक्ट्रेस पसंद आती है किसी को कोई एक्ट्रेस पसंद आती है किसी की कोई फेवरेट होती किसी की कोई और फेवरेट होती है वहीं पर आप हमारी माओं को देखिए चाहे किसी का बेटा और रितिक रोशन हो उसकी मां के लिए सबसे सुंदर दुनिया का सबसे स्मार्ट सबसे हैंडसम सबसे प्यारा बच्चा उसका बेटा है दूसरी तरफ कोई गरीब मजदूर मां का बेटा बिटिया उसके लिए दुनिया की सबसे सुंदर सबसे प्यारी वही हैं जो हमें जो सुंदर लगते हैं लोग वह एक जो आकर्षण होता है वह एक अलग चीज होती है जो एक सुंदरता होती वह अलग चीज होती है किसी से आप आकर्षित सिर्फ कुछ मिनटों के लिए कुछ घंटों के लिए ऑफिसर को सब कुछ दिनों के लिए हो सकते हो लेकिन जो सुंदरता है जो उस अंदर अगर जो प्रभाव है जो आपके ऊपर पड़ता है वह काफी लंबे समय के लिए पड़ता है कि आप किसी व्यक्ति से इतने ज्यादा अटैच हो जाते हो इतना ज्यादा उसके बारे में सोचते हो तुम वह जो उनका बाहरी और आंतरिक सुंदरता है उन दोनों का मिश्रण होता है जो आपको पसंद आता है आपकी सोच मिलती है या आप जो सोचते हो उनका वही तो रो तरीका होता है रहन-सहन का उनकी सोच वैसी होती है उनके विचार वैसे होते हैं तो आपको उल्लू और उनके मुकाबले ज्यादा सुंदर लगने लगते हैं अब कोई एवरेज लुकिंग लड़की है और कोई बहुत सुंदर लड़की है फिर बता रहा हूं सुंदरता के मायने पहले दिन अलग-अलग होंगे लेकिन जो एवरेज बुकिंग लड़की है उससे आपकी जो बातचीत अच्छी होती है आपको जो संबंध होते हैं वह अच्छे होते हैं तो आपको कुछ समय के बाद में वह जो इंसान हैं बहुत अधिक सुंदर सबसे अच्छा बहुत अलग आपको हरदम आकर्षित करेगा शो टाइम टाइम पर चीजें पर भर्तियां तो सुंदरता की सभी कि अपने माइंड होते हैं और सुंदरता चेहरे पर नहीं होती देखने वाली की आंखों में होती है क्योंकि इस नजरिए से देखता है

bahut interesting krishna ki ladkiya sundar kyon hoti hai yah jo cheez hai iska jo uttar hai aur yah jo sawaal hai iski samajh person 2 par karte aur jo iska uttar hai vaah har aadmi ke hisab se alag hai kyonki har vyakti ke jo sundarta ke do maayne hain jo khoobsoorti ke do maayne hain vaah alag alag hai isi ko aantarik sundarta pasand aati hai kisi ko bahri sundarta par aapne yah jo sawaal poocha hai toh abhi asli ke jo ek baari aakarshan hai jo ek bahri sundarta hai usi ke sandarbh me aapne poocha hai so main choti si baat bolna chahunga ki jo sundarta hoti hai vaah chehre par nahi hoti ho dekhne wali ki aakhon me hoti hai aur for example aap kitni bhi jitni address hai ab dekhiye kisi ki koi favourite hoti kisi ki koi favourite hoti hai sabhi sundar hai sabhi ke koi na koi toh chehre ke unke jo features hain unki jo body hai unka jo baat karne ka tarika hai sabhi ka kahin na kahin alag hai aur kahin na kahin bhi ka bahut behtareen hai lekin kisi ko koi actress pasand aati hai kisi ko koi actress pasand aati hai kisi ki koi favourite hoti kisi ki koi aur favourite hoti hai wahi par aap hamari maon ko dekhiye chahen kisi ka beta aur hrithik roshan ho uski maa ke liye sabse sundar duniya ka sabse smart sabse handsome sabse pyara baccha uska beta hai dusri taraf koi garib majdur maa ka beta bitiya uske liye duniya ki sabse sundar sabse pyaari wahi hain jo hamein jo sundar lagte hain log vaah ek jo aakarshan hota hai vaah ek alag cheez hoti hai jo ek sundarta hoti vaah alag cheez hoti hai kisi se aap aakarshit sirf kuch minaton ke liye kuch ghanto ke liye officer ko sab kuch dino ke liye ho sakte ho lekin jo sundarta hai jo us andar agar jo prabhav hai jo aapke upar padta hai vaah kaafi lambe samay ke liye padta hai ki aap kisi vyakti se itne zyada attach ho jaate ho itna zyada uske bare me sochte ho tum vaah jo unka bahri aur aantarik sundarta hai un dono ka mishran hota hai jo aapko pasand aata hai aapki soch milti hai ya aap jo sochte ho unka wahi toh ro tarika hota hai rahan sahan ka unki soch vaisi hoti hai unke vichar waise hote hain toh aapko ullu aur unke muqable zyada sundar lagne lagte hain ab koi average looking ladki hai aur koi bahut sundar ladki hai phir bata raha hoon sundarta ke maayne pehle din alag alag honge lekin jo average booking ladki hai usse aapki jo batchit achi hoti hai aapko jo sambandh hote hain vaah acche hote hain toh aapko kuch samay ke baad me vaah jo insaan hain bahut adhik sundar sabse accha bahut alag aapko hardum aakarshit karega show time time par cheezen par bhartiyan toh sundarta ki sabhi ki apne mind hote hain aur sundarta chehre par nahi hoti dekhne wali ki aakhon me hoti hai kyonki is nazariye se dekhta hai

बहुत इंटरेस्टिंग कृष्णा की लड़कियां सुंदर क्यों होती है यह जो चीज है इसका जो उत्तर है और य

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!