user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप क्यों होता है तो देखी सबसे पहले मैं क्लियर कर लेता हूं कि आपकी यह कभी मत बोल देना कि छोटे कपड़ों की वजह से रेप होते हैं अनपढ़ता क्यों जैसी रिपोर्ट मतलब लड़कियां खुद जिम्मेदार है इसकी नहीं बिल्कुल नहीं क्योंकि 1 दिन साल की बच्ची है उसकी छोटी कपड़े नहीं होती बेचारी के एक कोने कि मैं अपने फोन ओपन अपने आप इंजन बनाने की सबसे पहला कांड मुझे लगता है कि जो रोजगार की कमी है लोगों में है * नहीं आई थी कि शिक्षा के लोग बस यह लोगों को कि अपने विरोधी कानून के प्रति डर नहीं है नंबर दूसरा कहा कि कानून की प्रोसेस हजारों लाखों केस पड़े रहते हैं उसके जैसे प्रोसेस धीमी रहती है तो काम बहुत है और करने वाली कम है मेरा यह खुद का मानना है जो एडवोकेट किड्सफेस्ट को चुके सनम को सबसे पहले हैंडल करो रेपिस्ट दोषी साबित हुआ होती गोली मार दो उसको उसको फांसी लटका दो इन टू हैंड उसमें कोई क्षमा याचिका नहीं चलेगा उस में ऐड कर देते हैं तुझे एक दुख लटका कैसे देखेंगे धड़ाधड़ तेरे बंद नहीं होगा जरूर होगा कमी जरूर आएगी

rape kyon hota hai toh dekhi sabse pehle main clear kar leta hoon ki aapki yah kabhi mat bol dena ki chote kapdo ki wajah se rape hote hain anapdhata kyon jaisi report matlab ladkiya khud zimmedar hai iski nahi bilkul nahi kyonki 1 din saal ki bachi hai uski choti kapde nahi hoti bechari ke ek kone ki main apne phone open apne aap engine banane ki sabse pehla kaand mujhe lagta hai ki jo rojgar ki kami hai logo me hai nahi I thi ki shiksha ke log bus yah logo ko ki apne virodhi kanoon ke prati dar nahi hai number doosra kaha ki kanoon ki process hazaro laakhon case pade rehte hain uske jaise process dheemi rehti hai toh kaam bahut hai aur karne wali kam hai mera yah khud ka manana hai jo advocate kidsafest ko chuke sanam ko sabse pehle handle karo rapist doshi saabit hua hoti goli maar do usko usko fansi Latka do in to hand usme koi kshama yachika nahi chalega us me aid kar dete hain tujhe ek dukh Latka kaise dekhenge dhadadhad tere band nahi hoga zaroor hoga kami zaroor aayegi

रेप क्यों होता है तो देखी सबसे पहले मैं क्लियर कर लेता हूं कि आपकी यह कभी मत बोल देना कि छ

Romanized Version
Likes  114  Dislikes    views  1367
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोगों की गंदी मानसिकता के वजह से रेप के एसएस पढ़ रहे हैं और रेप होता है जिसकी मानसिकता गंदी होती है वही रेप करता है अन्यथा कोई ऐसी स्वस्थ मस्तिष्क वाला कोई नहीं कर सकता

logo ki gandi mansikta ke wajah se rape ke SS padh rahe hain aur rape hota hai jiski mansikta gandi hoti hai wahi rape karta hai anyatha koi aisi swasth mastishk vala koi nahi kar sakta

लोगों की गंदी मानसिकता के वजह से रेप के एसएस पढ़ रहे हैं और रेप होता है जिसकी मानसिकता गंद

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  54  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप मनुष्य के गलत विचार पुरुष के गलत सोच ऊंची मानसिकता की वजह से होता है जब पुलिस जब मनुष्य पुरुष किसी महिला के प्रति सम्मान का भाव और उनके प्रति अच्छा विचार हर महिलाओं को अपनी मां और बहन समझने लगेगा उस दिन इस देश का मकसद भी खत्म हो जाएगा

rape manushya ke galat vichar purush ke galat soch unchi mansikta ki wajah se hota hai jab police jab manushya purush kisi mahila ke prati sammaan ka bhav aur unke prati accha vichar har mahilaon ko apni maa aur behen samjhne lagega us din is desh ka maksad bhi khatam ho jaega

रेप मनुष्य के गलत विचार पुरुष के गलत सोच ऊंची मानसिकता की वजह से होता है जब पुलिस जब मनुष्

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user
1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप जैसी जूही आज के टाइम में क्राइम हो रहे हैं यह हर किसी को पता है कि यह किस वजह से हो रहे एक सोच है सोच अगर हमारी बेकार है घटिया सोच है ठीक है तू ही सोच रखते हैं रखने वाला इंसान ही इस टाइप की हरकत कर सकता है अदर वाइज नॉरमल पर्सन है वह कभी भी करने की जो इंसान सोशल है तो एक नॉर्मल तौर पर देखा जाए उसको यह चीज पता है कि आप इस सोसाइटी में मुझे रहना है तो सोसाइटी में रहने के लिए मेरे लिए यह चीज सही होगी मुझे ऐसे रहना चाहिए मुझे यह चीज यूज करनी चाहिए इस टाइप से मुझे नियमों से रहना चाहिए क्योंकि हर चीज के लिए कुछ नियम बने हुए हैं हर दायरे में मतलब हमें रहना पड़ता है अगर हम कहीं पर भी जाते हैं मान लीजिए हम स्कूल में जाते हैं तो स्कूल के नियम हर जगह बने हुए अगर हम किसी भी तरह की कोई भी रूल्स फॉलो ना करें तो क्या होगा हमारी सोशल जो इक्नॉमी है और सोशल जोश में जो सोसाइटी है वह क्या होगी खराब हो जाएगी नहीं रहेगी तो हमें उस चीज को खराब नहीं करना है तो अगर हमें बताइए जिससे कि हम भी सब कुछ मेंटेन रहे अच्छी तरह से मेंटेनेंस सबसे पहले हमें खुद को सुधारना है ठीक है कोई भी इंसान को कोई दूसरा नहीं सुधार सकता हूं उसे खुद से ही इंस्पायरोन होता है इंस्पायरर हो गया चलो थोड़ी देर के लिए किसी से हो गया अभी वह बंदा इस टाइप का है अच्छा है ठीक है उसे खुद को इस बार करना पड़ेगा उसके लिए यहां मुझे चीज करनी है मुझे यह अपनी लाइफ में जो है यह रूल फॉलो करने हैं तब जाकर के मैं इससे बेहतर बन पाऊंगा एक कंपटीशन लेवल को लेकर के कि मुझे दूसरे से बचाव

rape jaisi juhi aaj ke time me crime ho rahe hain yah har kisi ko pata hai ki yah kis wajah se ho rahe ek soch hai soch agar hamari bekar hai ghatiya soch hai theek hai tu hi soch rakhte hain rakhne vala insaan hi is type ki harkat kar sakta hai other wise normal person hai vaah kabhi bhi karne ki jo insaan social hai toh ek normal taur par dekha jaaye usko yah cheez pata hai ki aap is society me mujhe rehna hai toh society me rehne ke liye mere liye yah cheez sahi hogi mujhe aise rehna chahiye mujhe yah cheez use karni chahiye is type se mujhe niyamon se rehna chahiye kyonki har cheez ke liye kuch niyam bane hue hain har daayre me matlab hamein rehna padta hai agar hum kahin par bhi jaate hain maan lijiye hum school me jaate hain toh school ke niyam har jagah bane hue agar hum kisi bhi tarah ki koi bhi rules follow na kare toh kya hoga hamari social jo iknami hai aur social josh me jo society hai vaah kya hogi kharab ho jayegi nahi rahegi toh hamein us cheez ko kharab nahi karna hai toh agar hamein bataiye jisse ki hum bhi sab kuch maintain rahe achi tarah se Maintenance sabse pehle hamein khud ko sudharna hai theek hai koi bhi insaan ko koi doosra nahi sudhaar sakta hoon use khud se hi inspayaron hota hai inspayarar ho gaya chalo thodi der ke liye kisi se ho gaya abhi vaah banda is type ka hai accha hai theek hai use khud ko is baar karna padega uske liye yahan mujhe cheez karni hai mujhe yah apni life me jo hai yah rule follow karne hain tab jaakar ke main isse behtar ban paunga ek competition level ko lekar ke ki mujhe dusre se bachav

रेप जैसी जूही आज के टाइम में क्राइम हो रहे हैं यह हर किसी को पता है कि यह किस वजह से हो रह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Ram kumar

Advocate High Court Allahabad

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप की वजह कोई भी हो सकती है अगर किसी लड़की के साथ रेप होता है तो उसकी वजह एक तो उससे बड़ी वजह यह हो सकती है कि मानसिक विकृति के कारण हो एक यह कि चलो एंजॉय लिया जाए तो उस इंजॉय के चक्कर में रेड हो जाते हैं एक यह जबरदस्ती लोग प्रेम करते हैं तो 1 दिन कैटिगरी हैं जिसकी वजह से रेप होता है

rape ki wajah koi bhi ho sakti hai agar kisi ladki ke saath rape hota hai toh uski wajah ek toh usse badi wajah yah ho sakti hai ki mansik vikriti ke karan ho ek yah ki chalo enjoy liya jaaye toh us enjoy ke chakkar me red ho jaate hain ek yah jabardasti log prem karte hain toh 1 din category hain jiski wajah se rape hota hai

रेप की वजह कोई भी हो सकती है अगर किसी लड़की के साथ रेप होता है तो उसकी वजह एक तो उससे बड़ी

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  711
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने पूछा क्यों होता है तो इस जघन्य अपराध के होने के पीछे कई कारण होते हैं जिसमें रेपिस्ट की मानसिक विकृति उसका चरित्र उसकी परिवार की स्थिति उसकी कुसंगति उसके संस्कार में सबका उसको गहरा प्रभाव पड़ता है ऐसा कुकृत्य करते समय व्यक्ति अपनी विकृत मानसिकता की चरम सीमा पर पहुंच जाता है और यह जघन्य अपराध कर बैठता है

namaskar aapne poocha kyon hota hai toh is jaghanya apradh ke hone ke peeche kai karan hote hain jisme rapist ki mansik vikriti uska charitra uski parivar ki sthiti uski kusangati uske sanskar me sabka usko gehra prabhav padta hai aisa kukritya karte samay vyakti apni vikrit mansikta ki charam seema par pohch jata hai aur yah jaghanya apradh kar baithta hai

नमस्कार आपने पूछा क्यों होता है तो इस जघन्य अपराध के होने के पीछे कई कारण होते हैं जिसमें

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  56
WhatsApp_icon
user

lalit

Lawyer

0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब व्यक्ति मानसिक मित्र खो जाता है तो वह ऐसी घिनौनी हरकत सकता है

jab vyakti mansik mitra kho jata hai toh vaah aisi ghinauni harkat sakta hai

जब व्यक्ति मानसिक मित्र खो जाता है तो वह ऐसी घिनौनी हरकत सकता है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक मेरा मानना है इस प्रकार के अपराध के पीछे एक मनोवृति होती है मानसिक विकृति होती है वही लोग इस तरीके का अपराध है वह कार्य करता है इसका आज मुख्य आधार है वह है परवरिश शुरू के अंदर हर परिवार के अंदर महिला और पुरुष एनी लड़का या लड़की उसके साथ समान व्यवहार किया जाए और लिंग भेद नहीं किया जाए तो इस तरीके की मानसिकता नहीं पनप पाएगी शुरू में घरों के अंदर भेदभाव किया जाता है लड़का और लड़की में भेदभाव आकर के पुरुष को 2 मिनट करने की भावना उसके अंदर पैदा हो जाती है और वह किसी भी स्त्री का चैलेंज उसको बर्दाश्त नहीं होता है और इस तरह की उसकी विकृत मानसिकता का इंसान आगे जाकर के इस तरीके का क्राइम या फिर घरेलू हिंसा जैसे क्राइम है करते हैं यह मेरे अपने विचार है

jaha tak mera manana hai is prakar ke apradh ke peeche ek manovriti hoti hai mansik vikriti hoti hai wahi log is tarike ka apradh hai vaah karya karta hai iska aaj mukhya aadhar hai vaah hai parvarish shuru ke andar har parivar ke andar mahila aur purush any ladka ya ladki uske saath saman vyavhar kiya jaaye aur ling bhed nahi kiya jaaye toh is tarike ki mansikta nahi panap payegi shuru me gharon ke andar bhedbhav kiya jata hai ladka aur ladki me bhedbhav aakar ke purush ko 2 minute karne ki bhavna uske andar paida ho jaati hai aur vaah kisi bhi stree ka challenge usko bardaasht nahi hota hai aur is tarah ki uski vikrit mansikta ka insaan aage jaakar ke is tarike ka crime ya phir gharelu hinsa jaise crime hai karte hain yah mere apne vichar hai

जहां तक मेरा मानना है इस प्रकार के अपराध के पीछे एक मनोवृति होती है मानसिक विकृति होती है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
play
user
0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धीरे क्यों तेज कर दो से 90% लोग इसको शराब पीकर मानते जो बंदा शराब पीकर बाहर निकलता है उसका जो मानसिक संतुलन बिगड़ जाता है वह कुछ सोच समझ नहीं सकते उसे खत्म हो जाती है दूसरी बात से 30% लोगों की राय धोली धोती है उसका फोन आ गया होता है तू रिंगटोन एका मोस्टली कारण मैं यह मानता हूं ब्रेक वाइब्रेट जो भी है

dhire kyon tez kar do se 90 log isko sharab peekar maante jo banda sharab peekar bahar nikalta hai uska jo mansik santulan bigad jata hai vaah kuch soch samajh nahi sakte use khatam ho jaati hai dusri baat se 30 logo ki rai dholi dhoti hai uska phone aa gaya hota hai tu ringtone eka Mostly karan main yah maanta hoon break vibrate jo bhi hai

धीरे क्यों तेज कर दो से 90% लोग इसको शराब पीकर मानते जो बंदा शराब पीकर बाहर निकलता है उसका

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  51
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!