अगर 21 दिन के लॉकडाउन ने हम गरीब लोगों की हालात ख़राब कर रखी है तो लॉक डाउन बढ़नेपर हम लोगो का क्या होगा हम लोगो के पास तो खाने के लिए राशन ही नहीं है हम और हमारे बच्चे क्या करेंगे, कोरोना से पहले तो हम भूख से ही मर जाएंगे, क्या करें?...


user

Rashmin Trivedi

Motivational Speaker | Writer | Life Coach

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

21 दिन का लॉक क्या है गरीब लोगों को बहुत परेशानी है बात सही है मगर यहां सब को परेशानी है यह बात पहले समझ लेने भी कैसी है दूसरी बात आप कहां से हैं वह पता नहीं मुझे मगर मैंने गुजरात में देखा है कि बहुत गरीब लोगों को बहुत तरह से हेल्पलाइन वाले होते हैं सोशल सामाजिक संस्थाएं होती है उनके घर राशन देती है या खाना देती है और उसके लिए कांटेक्ट करना होता है कि जलगांव का जो जाऊं या जो सीरिया में है उसका कॉरपोरेटर या सरपंच जो भी हो या तो वहां के कलेक्टर एसपी को इससे कोई भी हो उसको आप फोन करके या किसी तरह से कांटेक्ट करके बता सकते हैं कि हमारी गरीबी में हमारी करो परिस्थिति में आंखों में मदद कीजिए तो आपको किसी ने किसी तरफ से खाना या राशन पहुंचाएगा यहां बोर्ड लोगों को मैंने देखा है पुलिस वाले घर आकर खाना दे जाते हैं बहुत धार्मिक संस्थाएं है वह घर आकर टिफिन देती है या राशन देती है तो इस तरह से जिनके पास खाना नहीं उनके लिए बहुत ना बहुत किसी न किसी तरह के संस्थाओं ने मदद की है फिर भी आपको ऐसा लगे तो आपको नजदीक के जो हंसता है आपकी गवर्मेंट की कोई भी संस्था है वहां जाकर मामलतदार कचेरी में मामलतदार ऑफिस होती है या तो तलाठी कि ऑफिस होती है तो वहां जाकर आप संपर्क कर सकते हैं गांव में हो तो सरपंच और सीजी में हो तो कॉरपोरेट को बात कर सकते हैं और बहुत सारे गीत धार्मिक समाजसेवी संस्थाओं ने रिजवाना शुरू किया है हालांकि कुछ लोग ऐसा कहते हैं कि गवर्मेंट भी भेजती है तो वहां भी आप संपर्क कर सकते हैं जिला कलेक्टर से याद दिला मार्ग के जो तालुका मामलतदार होते हैं उनसे संपर्क करके अब बात कर सकते हैं और धार्मिक संस्थाएं से मदद कर

21 din ka lock kya hai garib logo ko bahut pareshani hai baat sahi hai magar yahan sab ko pareshani hai yah baat pehle samajh lene bhi kaisi hai dusri baat aap kaha se hain vaah pata nahi mujhe magar maine gujarat me dekha hai ki bahut garib logo ko bahut tarah se helpline waale hote hain social samajik sansthayen hoti hai unke ghar raashan deti hai ya khana deti hai aur uske liye Contact karna hota hai ki jalgaon ka jo jaaun ya jo syria me hai uska karporetar ya sarpanch jo bhi ho ya toh wahan ke collector SP ko isse koi bhi ho usko aap phone karke ya kisi tarah se Contact karke bata sakte hain ki hamari garibi me hamari karo paristhiti me aakhon me madad kijiye toh aapko kisi ne kisi taraf se khana ya raashan pahuchaayega yahan board logo ko maine dekha hai police waale ghar aakar khana de jaate hain bahut dharmik sansthayen hai vaah ghar aakar tiffin deti hai ya raashan deti hai toh is tarah se jinke paas khana nahi unke liye bahut na bahut kisi na kisi tarah ke sasthaon ne madad ki hai phir bhi aapko aisa lage toh aapko nazdeek ke jo hansata hai aapki government ki koi bhi sanstha hai wahan jaakar mamalatadar kacheri me mamalatadar office hoti hai ya toh talathi ki office hoti hai toh wahan jaakar aap sampark kar sakte hain gaon me ho toh sarpanch aur CG me ho toh corporate ko baat kar sakte hain aur bahut saare geet dharmik samajsevi sasthaon ne rijwana shuru kiya hai halaki kuch log aisa kehte hain ki government bhi bhejti hai toh wahan bhi aap sampark kar sakte hain jila collector se yaad dila marg ke jo Taluka mamalatadar hote hain unse sampark karke ab baat kar sakte hain aur dharmik sansthayen se madad kar

21 दिन का लॉक क्या है गरीब लोगों को बहुत परेशानी है बात सही है मगर यहां सब को परेशानी है य

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  934
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!