क्या कोरोनावायरस जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है?...


user

Dr. Arvind Maurya

Yoga Instructor

0:47
Play

Likes  173  Dislikes    views  2476
WhatsApp_icon
25 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Amit Agrahari

Alopathic Ayurvedic Unani Doctor

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सही है कि कॉलोनाइजर से भयंकर घातक बीमारी को फाइनल में चाइना का ही हफ्ते इससे पहले यार साथ जो बीमारी थी वह भी करूंगा जैसे ही थी यह भी साफ टू है तो यह भी उससे मिली और चाइना में ही पाया गया था और यह भी इसमें चैन आप आ गया है जो चाइना में जोशी फुल मार्केट है अब एक मार्केट में गीला होता है उसी को देखते हुए गीवेट मार्केट बनाया गया है तो यह जो सुपरमार्केट है कुरवाई में अमेरिका से चाइना के हर शहर में है जहां बड़े पैमाने पर काला वह बड़ी का बच्चा और चमगादड़ सांप कुत्ता बिल्ली चूहा घड़ियाल मगरमच्छ कछुआ थ्रेसर की जानकारी हम भेजते हैं और लोग बड़े चाव से खाते हैं कहते हैं आप शेर का भी मांस मिलता है तो सच बात है कि आप तो बीच में अभी यह सबसे फोन मार्केट बंद कर दिया गया था इधर फिर से खोल दिया गया फिर चलो खरीद रहे खा रहे हैं अभी साथ फिर अभी या चाइना ने कहा कि हमारा कोई नया मरीज नहीं आ रहे हैं फिर पैसा सफर की संख्या में नए मरीज मिलने शुरू हो गए तो मिलाकर देखा जाए तो आई है इस महामारी का सबसे बड़ा मां मारियो का दोस्त चाइना ही बनकर निकला हुआ है

yah sahi hai ki kalonaijar se bhayankar ghatak bimari ko final me china ka hi hafte isse pehle yaar saath jo bimari thi vaah bhi karunga jaise hi thi yah bhi saaf to hai toh yah bhi usse mili aur china me hi paya gaya tha aur yah bhi isme chain aap aa gaya hai jo china me joshi full market hai ab ek market me geela hota hai usi ko dekhte hue givet market banaya gaya hai toh yah jo supermarket hai kurvai me america se china ke har shehar me hai jaha bade paimane par kaala vaah badi ka baccha aur chamgadar saap kutta billi chuha ghadiyal magarmach kachua thresar ki jaankari hum bhejate hain aur log bade chav se khate hain kehte hain aap sher ka bhi maas milta hai toh sach baat hai ki aap toh beech me abhi yah sabse phone market band kar diya gaya tha idhar phir se khol diya gaya phir chalo kharid rahe kha rahe hain abhi saath phir abhi ya china ne kaha ki hamara koi naya marij nahi aa rahe hain phir paisa safar ki sankhya me naye marij milne shuru ho gaye toh milakar dekha jaaye toh I hai is mahamari ka sabse bada maa mario ka dost china hi bankar nikala hua hai

यह सही है कि कॉलोनाइजर से भयंकर घातक बीमारी को फाइनल में चाइना का ही हफ्ते इससे पहले यार स

Romanized Version
Likes  423  Dislikes    views  4545
WhatsApp_icon
user

Ganesh Ojha

स्पोकन इंग्लिश ट्रेनर (Spoken English trainer )

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो इतना क्यूट से चाइना की वाले response.end नॉट आस्क एनी वन टू कैरी देश से वायरस टू देयर कंट्रीज एंड ठेर कंट्रीज एंड देयर एनी थिंग व्हिच वी कैन अलसो बिकॉज मेनी पीपल गो टू चाइना फॉर जून वापस भेज दो शब्द l&n वेलकम बैक नेचुरल दे में है वर्दी में नॉट हैव एनीथिंग सुगंधी कम बैक बैक अप विद मीनिंग्स

hello itna cute se china ki waale response end not ask any van to carry desh se virus to there countries and ther countries and there any thing which v can alaso because many pipal go to china for june wapas bhej do shabd l n welcome back natural de me hai wardi me not have anything sugandhi kam back back up with meanings

हेलो इतना क्यूट से चाइना की वाले response.end नॉट आस्क एनी वन टू कैरी देश से वायरस टू देयर

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  324
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोरोना वायरस संक्रमण बीमारी को फैलाने के पीछे चाइना का ही हाथ हो सकता है और इसकी जांच अभी पूरी तरह से हमारे डब्ल्यूएचओ प्रमाणित एलुगा कर रहे हैं और सब देश के नजर में आज चाइना एक उस कंडीशन में आया वाला देश है इसीलिए यह पुराना वायरस संक्रमण के पीछे चाइना का ही हाथ हो सकता है

corona virus sankraman bimari ko felane ke peeche china ka hi hath ho sakta hai aur iski jaanch abhi puri tarah se hamare WHO pramanit eluga kar rahe hain aur sab desh ke nazar me aaj china ek us condition me aaya vala desh hai isliye yah purana virus sankraman ke peeche china ka hi hath ho sakta hai

कोरोना वायरस संक्रमण बीमारी को फैलाने के पीछे चाइना का ही हाथ हो सकता है और इसकी जांच अभी

Romanized Version
Likes  409  Dislikes    views  4428
WhatsApp_icon
user
5:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो देखी चाइना जिम्मेदार तो है जिस तरह से शुरुआती आंकड़े आए और चाइना ने जितनी जो है गैर जिम्मेदारी रवैया दिखाया इसी वजह से ही यह जो है वायरस का स्पीड इतनी तेजी से और पूरे वर्ल्ड में हो गया और चाइना जो है आप बहुत ही सीमित आंकड़ों के साथ बच निकला तो चाइना ने जिस तरह की लापरवाही और इरिस्पांसिबिलिटी दिखाई है उसकी वजह से सभी देश परेशान है यूरोप और अमेरिका परेशानी जहां लाखों में मौत हो चुकी है और अब चाइना ना चाइना एपिसोड करना हो कर अब यूरोप और अमेरिका दुनिया के अंदर हो गए हैं और जहां से वायरस बहुत बुरी तरह फैल रहा है तो चाइना ने शुरुआती जो आंकड़े छुपाए और शुरुआती जो लाइट कर दिया सीरियस मैस नहीं दिखाई और सही जानकारी दुनिया को नहीं दी और जो ग्लोबल एजेंसी हैं उनको नहीं दी इसकी वजह से हम लोग शुरुआत से चैट नहीं पाए अलार्म अलार्म सिचुएशन नहीं हो पाई और लोगों को यह पता ही नहीं चल पाया कि इतने ज्यादा किए जा चुके हैं चाइना में क्योंकि चाइना नहीं बात छुपाई और इसकी वजह से जो है सब ज्यादातर देश प्रतिबंध नहीं लगा पाए और वह इंतजाम नहीं कर पाए वह फैसिलिटी अपनी हार नहीं प्रोवाइड करा पाए जिससे कि हम पहले से वह कदम उठा सके अगर चाइना यह बात पहले बता देता तो हम हम लोग आयात निर्यात बंद कर देते जो देश हैं वह अपनी बाउंड्री बंद कर देते लॉकडाउन पहले से लगा दिया जाता और जूजू ट्रैवल हो रहा था ट्रैवलिंग बंद कर दी जाती इंटरनेशनल एयरलाइंस फोन को बंद कर दिया था आयात निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया ते व्यापार रूप दिया जाता तो यह ऐसे उपाय कर कर लिया तो यह वायरस एक ही जगह सीमित हो जाता है लेकिन चाइना ने नहीं बताया स्टार्टिंग में और तब बताया जब तक उसके जो है डेढ़ महीना बीत चुका था आया तब सीरियस हो पाया जब एक महीना भी चुका था और तब तक उसके चाइना में नहीं हुआ था तो वहां की तमाम नागरिक यूरोप और अमेरिका जा चुके थे और इस तरह अलग-अलग हिस्सों में जा चुके थे और और और कई लोग चाइना जा चुके थे कि नहीं यार वहां पर होता है तो लोग घूमने जाते हैं और फिर इसी तरह इंडिया में भी बहुत लोग आ चुके थे यूरोप से भी इटली अमेरिका से इंडिया में तमाम लोग आए घूमने तो क्या है कि वह आपस में चाइना से वायरस सभी जगह फैला जिम्मेदार तो चाइना ही है एक तरह से अब जो चोरी चल रही है कि चाइना ने अपने आप बनाया वायरस लैब में उसका कुछ कोई एविडेंस अभी तक नहीं है कि चाइना नहीं बनाया वायरस अपनी लाइफ में यह सब विवाद चल रहा है लकी ट्रंप ने अभी बयान दिया है इस तरह का चाइना की लाइफ में यह उनकी लापरवाही की वजह कैसा हो गया वहां पर वायरस जो वहां पर जो ट्रेंड कर्मचारी नहीं थे जिसकी वजह से लेकिन अभी उस पर कोई हिसाब नहीं लेकिन इतना तो कहा जा सकता है कि चाइना ने कितनी गैर जिम्मेदार अपन दिखाया उनकी उनकी वजह से पूरा विश्व आज इस वायरस को खेल रहा है और पूरे विश्व में आर्थिक मंदी बहुत बड़ी आर्थिक मंदी हम लोग देखने वाले हैं और इसका जो है कल प्रीत चाइना को तो खैर आना चाहिए और इसमें कुछ वैश्विक एजेंसियों का भी रोल का है जैसे कि डब्ल्यूएचओ का जिसने भी पार्शियल्टी दिखाई पक्षपात किया उसका भी रोल है तो यहां पर चाइना और जो है और जो वैश्विक एजेंसियों ने भी यह चेक पानी में देरी करें क्योंकि चाइना की गलती की वजह से इन सब चीजों को ध्यान में रखेंगे तो पाएंगे कि कौन तो लेकिन अभी यह समय हमें इससे इसके लिए जरूरी कदम उठाने का है जो भी देश में जितना ज्यादा हो सके जरूरी कदम उठाए जो व्यक्ति ग्लोबल एजेंसी हैं वह इसमें लड़ने के लिए आगे आए और जो विकासशील देश हैं उनको जो जरूरी फोन रखो प्रोवाइड कराया जाए जिससे कि सभी देश अपने अपने यहां पर इस बार इसको कंटेन कर सके कंट्रोल कर सके तो इस समय यह भी करना या फिर उसके बाद चाइना की जवाबदेही बाद में जवाबदेही तय की जाएगी चाइना ने ऐसा क्यों किया और चाइना से जो हो सके तो सभी देश अपने अपने हिसाब से रिश्ते उस तरह के और हमें हिस्ट्री में हो जाना चाहिए कि चाइना से हमेशा सतर्क रहें और चाइना जिस तरह से विस्तार वादी रवैया अपनाता है और इस समय उसने वायरस के प्रति इतना गैर जिम्मेदाराना दिखाया जैसा की अभी अमेरिका की जिस तरह के बयान आए हैं रंग के आए हैं जैसे वहां की तमाम कंपनियों ने जापान के यहां पर भी तमाम कंपनियों ने बोला है कि कि चाइना से वहां पे सारी कंपनियां हटाकर अलग-अलग देशों में ले जाना चाहते हैं जापान की सरकार ने $100 देने का उनको व्यापारियों को देने का वादा किया है अमेरिका में भी कंपनी और उनके सरकार ने कहा है कि वहां पर जो फार्मा कंपनियां है अमेरिका की वह स्विफ्ट करें अमेरिका में कंपनी है या कहीं और शिफ्ट करें इसीलिए इंडिया को चाहिए इस कम इन कंपनियों को अपने यहां सिर्फ करने के प्रयास तेज किए जाएं

hello dekhi china zimmedar toh hai jis tarah se shuruati aankade aaye aur china ne jitni jo hai gair jimmedari ravaiya dikhaya isi wajah se hi yah jo hai virus ka speed itni teji se aur poore world me ho gaya aur china jo hai aap bahut hi simit aankado ke saath bach nikala toh china ne jis tarah ki laparwahi aur irispansibiliti dikhai hai uski wajah se sabhi desh pareshan hai europe aur america pareshani jaha laakhon me maut ho chuki hai aur ab china na china episode karna ho kar ab europe aur america duniya ke andar ho gaye hain aur jaha se virus bahut buri tarah fail raha hai toh china ne shuruati jo aankade chupaye aur shuruati jo light kar diya serious mais nahi dikhai aur sahi jaankari duniya ko nahi di aur jo global agency hain unko nahi di iski wajah se hum log shuruat se chat nahi paye alarm alarm situation nahi ho payi aur logo ko yah pata hi nahi chal paya ki itne zyada kiye ja chuke hain china me kyonki china nahi baat chupai aur iski wajah se jo hai sab jyadatar desh pratibandh nahi laga paye aur vaah intajam nahi kar paye vaah facility apni haar nahi provide kara paye jisse ki hum pehle se vaah kadam utha sake agar china yah baat pehle bata deta toh hum hum log ayat niryat band kar dete jo desh hain vaah apni boundary band kar dete lockdown pehle se laga diya jata aur juju travel ho raha tha travelling band kar di jaati international airlines phone ko band kar diya tha ayat niryat par pratibandh laga diya te vyapar roop diya jata toh yah aise upay kar kar liya toh yah virus ek hi jagah simit ho jata hai lekin china ne nahi bataya starting me aur tab bataya jab tak uske jo hai dedh mahina beet chuka tha aaya tab serious ho paya jab ek mahina bhi chuka tha aur tab tak uske china me nahi hua tha toh wahan ki tamaam nagarik europe aur america ja chuke the aur is tarah alag alag hisson me ja chuke the aur aur aur kai log china ja chuke the ki nahi yaar wahan par hota hai toh log ghoomne jaate hain aur phir isi tarah india me bhi bahut log aa chuke the europe se bhi italy america se india me tamaam log aaye ghoomne toh kya hai ki vaah aapas me china se virus sabhi jagah faila zimmedar toh china hi hai ek tarah se ab jo chori chal rahi hai ki china ne apne aap banaya virus lab me uska kuch koi evidence abhi tak nahi hai ki china nahi banaya virus apni life me yah sab vivaad chal raha hai lucky trump ne abhi bayan diya hai is tarah ka china ki life me yah unki laparwahi ki wajah kaisa ho gaya wahan par virus jo wahan par jo trend karmchari nahi the jiski wajah se lekin abhi us par koi hisab nahi lekin itna toh kaha ja sakta hai ki china ne kitni gair zimmedar apan dikhaya unki unki wajah se pura vishwa aaj is virus ko khel raha hai aur poore vishwa me aarthik mandi bahut badi aarthik mandi hum log dekhne waale hain aur iska jo hai kal prateet china ko toh khair aana chahiye aur isme kuch vaishvik Agencyon ka bhi roll ka hai jaise ki WHO ka jisne bhi parshiyalti dikhai pakshapat kiya uska bhi roll hai toh yahan par china aur jo hai aur jo vaishvik Agencyon ne bhi yah check paani me deri kare kyonki china ki galti ki wajah se in sab chijon ko dhyan me rakhenge toh payenge ki kaun toh lekin abhi yah samay hamein isse iske liye zaroori kadam uthane ka hai jo bhi desh me jitna zyada ho sake zaroori kadam uthye jo vyakti global agency hain vaah isme ladane ke liye aage aaye aur jo vikasshil desh hain unko jo zaroori phone rakho provide karaya jaaye jisse ki sabhi desh apne apne yahan par is baar isko contain kar sake control kar sake toh is samay yah bhi karna ya phir uske baad china ki javabdehi baad me javabdehi tay ki jayegi china ne aisa kyon kiya aur china se jo ho sake toh sabhi desh apne apne hisab se rishte us tarah ke aur hamein history me ho jana chahiye ki china se hamesha satark rahein aur china jis tarah se vistaar wadi ravaiya apnaata hai aur is samay usne virus ke prati itna gair jimmedarana dikhaya jaisa ki abhi america ki jis tarah ke bayan aaye hain rang ke aaye hain jaise wahan ki tamaam companion ne japan ke yahan par bhi tamaam companion ne bola hai ki ki china se wahan pe saari companiya hatakar alag alag deshon me le jana chahte hain japan ki sarkar ne 100 dene ka unko vyapariyon ko dene ka vada kiya hai america me bhi company aur unke sarkar ne kaha hai ki wahan par jo pharma companiya hai america ki vaah swift kare america me company hai ya kahin aur shift kare isliye india ko chahiye is kam in companion ko apne yahan sirf karne ke prayas tez kiye jayen

हेलो देखी चाइना जिम्मेदार तो है जिस तरह से शुरुआती आंकड़े आए और चाइना ने जितनी जो है गैर ज

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1082
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कुरान वायरस जैसी घातक बीमारी को फैलाने से चाइना कहां से यह तो विश्व के सभी देश शिकार करते हैं कि मोहन प्रांत के से शुरू हुआ और चमगादड़ वहां के लोग खाते हैं और उसमें से यह संक्रमण इंसानों में आया और उसमें से संक्रमित होते के लोग को रोना शेर और वह इन फ्लाइंग जट्ट नू जस्सी सर्दी कफ खांसी लेकिन वह ठीक नहीं हो रहा था इसे छुपाया गया और यह फतवा इंसानों से इंसान में होता है क्या वहां पर काफी संक्रमित रोग चीनी हो गए थे वहां से 700 किलोमीटर दूर दीदी है कहां पर यह संक्रमण फैला लेकिन 15000 किलोमीटर दूर इटली और अमेरिका में फैला जब उसे मालूम था कि यह संक्रमण इंसानों से इंसान में खेल रहा है तो उसे तुरंत इंटरनेशनल फ्लाइट तुरंत उसे रोक देनी चाहिए थी तो यह चाइना के बाहर यह लोग नहीं करता लेकिन मैं ऐसा नहीं किया और यह इंटरनेशनल फ्लाइट है विदेशों को फ्लाइट जाती है वह उसके द्वारा यह शर्मा इटली अमेरिका ब्रिटेन फ्रांस सब दिखाइए चलता गया इसलिए इसका फैलाने में जिम्मेदार सिर्फ यह साबित हो चुका है

kya quraan virus jaisi ghatak bimari ko felane se china kaha se yah toh vishwa ke sabhi desh shikaar karte hain ki mohan prant ke se shuru hua aur chamgadar wahan ke log khate hain aur usme se yah sankraman insano me aaya aur usme se sankrameet hote ke log ko rona sher aur vaah in flying jatt nu jassi sardi cough khansi lekin vaah theek nahi ho raha tha ise chupaya gaya aur yah fatwa insano se insaan me hota hai kya wahan par kaafi sankrameet rog chini ho gaye the wahan se 700 kilometre dur didi hai kaha par yah sankraman faila lekin 15000 kilometre dur italy aur america me faila jab use maloom tha ki yah sankraman insano se insaan me khel raha hai toh use turant international flight turant use rok deni chahiye thi toh yah china ke bahar yah log nahi karta lekin main aisa nahi kiya aur yah international flight hai videshon ko flight jaati hai vaah uske dwara yah sharma italy america britain france sab dikhaiye chalta gaya isliye iska felane me zimmedar sirf yah saabit ho chuka hai

क्या कुरान वायरस जैसी घातक बीमारी को फैलाने से चाइना कहां से यह तो विश्व के सभी देश शिकार

Romanized Version
Likes  326  Dislikes    views  4003
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या कोरोनावायरस जैसी घातक बीमारी फैलाने चाइना का वैसे पूरे विश्व में जो कोरोनावायरस इसको अगर हम एक जो पूरे विश्व पर एक शक्ति महाशक्ति के लिए जो लड़ाई होती है अगर उस नजरिए से देखें तो चाइना जो है यह अमेरिका से सीधे-सीधे सैन्य शक्ति से लड़ नहीं सकता तो पूरे विश्व में अब देखें कि उन्होंने देशों में जिससे चीन को खतरा है या चीन जिसमें बढ़त बनाना चाहता है उन देशों में कोरोनावायरस देखने को मिला और जैसे अमेरिका अमेरिका में लाखों की संख्या में लोग चोर हजारों की संख्या में मौतें हुई भारत विश्व से अछूता नहीं है अब एक देखने वाली बात यह है कि जो चाइना के मित्र देश है और जो ऐसे छोटे देश जो जहां के राष्ट्रपति सरफिरे हैं उन देशों में को रोना का एक भी संक्रमित व्यक्ति नहीं पाया कहीं न कहीं जो को रोना जो है यह एक मायने में हम कहें तो यह जे विकी युद्ध चाइना की ओर से अघोषित जिससे विश्व की आर्थिक स्थिति खराब हुई वहीं अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश जो को रोना से बचाव में सिमट गया वही उसके हजारों सैनिक भी इससे संक्रमित हुए कहीं न कहीं यह पूरे विश्व की जो अर्थव्यवस्था थी उसको रोकने गायक चाइना का प्रयास गुरु ना वायरस के रूप में हमके और इसमें कोई दो राय नहीं है आप अगर देखें तो चाइना के अंदर वहां पर आप गूगल ले ले फेसबुक ले ले आप यूट्यूब ले लेना सोशल प्लेटफॉर्म बोलेलु पूरे विश्व में चलता है लेकिन चाइना में नहीं चलता चाइना में केवल चाइनीस अखबार बिकते हैं चाइनीग अखबार छपते हैं चाइनीस न्यूज़ चैनल होती है कहने का तात्पर्य है कि चाइना के अंदर की जो बातें होती है वह बाहर नहीं आ पाती जबकि पूरे विश्व में हर भाषा में न्यूज़पेपर दूसरे देशों में जाते हैं और गूगल है व्हाट्सएप पर यूट्यूब भेजिए प्लेटफार्म हर जगह चल रहे हैं कहीं ना कहीं जो एक चाइना की कुर्सी प्रयास से आप इससे भी समझ सकते हैं और यह जो कोरोनावायरस है इसको इस घातक बीमारी को फैलाने में पूर्ण पूरी तरह चाइना का हाथ है और इसके लिए चाइना ही जिम्मेदार है

aapka prashna hai kya coronavirus jaisi ghatak bimari felane china ka waise poore vishwa me jo coronavirus isko agar hum ek jo poore vishwa par ek shakti mahashakti ke liye jo ladai hoti hai agar us nazariye se dekhen toh china jo hai yah america se sidhe sidhe sainya shakti se lad nahi sakta toh poore vishwa me ab dekhen ki unhone deshon me jisse china ko khatra hai ya china jisme badhat banana chahta hai un deshon me coronavirus dekhne ko mila aur jaise america america me laakhon ki sankhya me log chor hazaro ki sankhya me mautain hui bharat vishwa se achuta nahi hai ab ek dekhne wali baat yah hai ki jo china ke mitra desh hai aur jo aise chote desh jo jaha ke rashtrapati sarfire hain un deshon me ko rona ka ek bhi sankrameet vyakti nahi paya kahin na kahin jo ko rona jo hai yah ek maayne me hum kahein toh yah je vicky yudh china ki aur se aghoshit jisse vishwa ki aarthik sthiti kharab hui wahi america jaise shaktishali desh jo ko rona se bachav me simat gaya wahi uske hazaro sainik bhi isse sankrameet hue kahin na kahin yah poore vishwa ki jo arthavyavastha thi usko rokne gayak china ka prayas guru na virus ke roop me hamake aur isme koi do rai nahi hai aap agar dekhen toh china ke andar wahan par aap google le le facebook le le aap youtube le lena social platform bolelu poore vishwa me chalta hai lekin china me nahi chalta china me keval Chinese akhbaar bikate hain chainig akhbaar chupte hain Chinese news channel hoti hai kehne ka tatparya hai ki china ke andar ki jo batein hoti hai vaah bahar nahi aa pati jabki poore vishwa me har bhasha me Newspaper dusre deshon me jaate hain aur google hai whatsapp par youtube bhejiye platform har jagah chal rahe hain kahin na kahin jo ek china ki kursi prayas se aap isse bhi samajh sakte hain aur yah jo coronavirus hai isko is ghatak bimari ko felane me purn puri tarah china ka hath hai aur iske liye china hi zimmedar hai

आपका प्रश्न है क्या कोरोनावायरस जैसी घातक बीमारी फैलाने चाइना का वैसे पूरे विश्व में जो को

Romanized Version
Likes  194  Dislikes    views  3818
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां चाइना से ही करो ना वायरस बीमारी फैली है जो बुहान शहर है वहां चमगादड़ ओसिया बीमारी फैली है क्योंकि चमगादड़ के 14 से बढ़ जाती है चाइना में ही पाई जाती है और बुखार में सबसे ज्यादा चमगादड़ पाया जाता है जो वहां पर्वतीय गुफाओं में रहता है जिसे वहां के लोग उसका सूप बनाकर पीते हैं और इस पर कई तरह के रिसर्च बुहान शहर में होगी रहा था जिसे अभी मारी जानवरों में और जानवरों से इंसानों में फैली और चाइना से बाहर बाकी लोगों के मदद से पहले

ji haan china se hi karo na virus bimari faili hai jo buhan shehar hai wahan chamgadar osia bimari faili hai kyonki chamgadar ke 14 se badh jaati hai china me hi payi jaati hai aur bukhar me sabse zyada chamgadar paya jata hai jo wahan parvatiya gufaon me rehta hai jise wahan ke log uska soup banakar peete hain aur is par kai tarah ke research buhan shehar me hogi raha tha jise abhi mari jaanvaro me aur jaanvaro se insano me faili aur china se bahar baki logo ke madad se pehle

जी हां चाइना से ही करो ना वायरस बीमारी फैली है जो बुहान शहर है वहां चमगादड़ ओसिया बीमारी फ

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  917
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या करो ना बारिश जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है यह भी प्रश्न पूछने का है चाइना ने इंसान को इंसान से दूर कर दिया और एक हेमंत पैदा कर दिया राजी हालात है कि अपने अपनों से दूर रहने के लिए मजबूर है कभी समय ऐसा होता था लोग कहते थे अरे घर से बाहर जाओ तभी कुछ करोगे तभी कुछ बनोगे तभी जिंदगी में जी पाओगे और आज लोग क्या करें घर में रहो तो बच पाओगे कुछ कर पाओगे क्या दबाना हो गया उन्होंने केवल कोरोनावायरस चाची वायरस को नहीं पैदा किया बल्कि एक भयानक वायरस के भी पैदा कर दिया और जिसका नाम है एक नाम इक्वायरस यानी आर्थिक विषमता का वायरस ने पूरे विश्व की आर्थिक अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया इन दोनों ही बारिश के पीछे चाइना का जो सोच है वह विनाशकारी है अब चाइना बिजनेस को और अपनी आधार को बढ़ाएगा बाकी दुनिया उसके पीछे हाथ जोड़कर खड़ी रहेगी

kya karo na barish jaisi ghatak bimari ko felane me china ka hath hai yah bhi prashna poochne ka hai china ne insaan ko insaan se dur kar diya aur ek hemant paida kar diya raji haalaat hai ki apne apnon se dur rehne ke liye majboor hai kabhi samay aisa hota tha log kehte the are ghar se bahar jao tabhi kuch karoge tabhi kuch banogey tabhi zindagi me ji paoge aur aaj log kya kare ghar me raho toh bach paoge kuch kar paoge kya dabana ho gaya unhone keval coronavirus chachi virus ko nahi paida kiya balki ek bhayanak virus ke bhi paida kar diya aur jiska naam hai ek naam ikwayaras yani aarthik vishamata ka virus ne poore vishwa ki aarthik arthavyavastha ko chowpat kar diya in dono hi barish ke peeche china ka jo soch hai vaah vinashkari hai ab china business ko aur apni aadhar ko badhayega baki duniya uske peeche hath jodkar khadi rahegi

क्या करो ना बारिश जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है यह भी प्रश्न पूछने का है

Romanized Version
Likes  351  Dislikes    views  4253
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या पूर्ण हमारे जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है इसके आधिकारिक रूप से पोस्ट प्रमाण नहीं है लेकिन चाइना की उपनिवेश स्वाभिमान सकता है साम्राज्यवादी मानसिकता है रगोली साम्राज्यवाद एवं आर्थिक साम्राज्यवाद इन दोनों ही यह मानता है दर्शन के कारण इस विचारधारा के कारण वह हमेशा आर्थिक दृष्टिकोण से और भौगोलिक विस्तार के दृष्टिकोण से वह हमेशा आक्रामक है अपने किसी मित्र देश की अर्थव्यवस्था में अपना ओल्ड करना उस अर्थव्यवस्था को चौपट करना और अपनी सीमा का विस्तार करना विज्ञान का एक हिस्सा लोग किसी महामारी का शिकार बन जाए क्योंकि वह अपने हाथ केमिकल बायोलॉजिकल जय मतिया रसायनिक हथियारों को भी एकता और जिस तरह से उस में तथ्यों को छिपाया बहुत लेट जानकारी दी वर्ल्ड है जिसको उसने कुछ मैंने सेट किया इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता यह अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के माध्यम से एक जांच का विषय है इसकी रणनीति उसके बारे में दुनिया की अर्थव्यवस्था और सुरक्षा व्यवस्था को सपोर्ट करना था ऐसे देश के लोगों को ग्रुप में रहने का कोई अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चाइना को सबक सिखाना चाहिए और हमारे लिए संदेश इतनी भी कितने भी सस्ते मूल्य पर चीजें उपलब्ध कराएं हमें चाइना के सामान में जीवन की भूखी चीजों से लेकर तकनीकी रूप से बड़ी से बड़ी विकसित देशों के बीच समान का प्रयोग नहीं करना चाहिए यह में रखना चाहिए या भारत को टेस्टिंग किट की आवश्यकता है रैपिड टेस्ट विकेट और उस सारी की सारी रहते हैं चाइना उपलब्ध कराई है एक मजबूरी है इस विषय पर चाइनीस चाइनीस यह हमारा सिद्धांत

aapka prashna hai kya purn hamare jaisi ghatak bimari ko felane me china ka hath hai iske adhikarik roop se post pramaan nahi hai lekin china ki upnivesh swabhiman sakta hai samrajyavadi mansikta hai ragoli samarajyawad evam aarthik samarajyawad in dono hi yah maanta hai darshan ke karan is vichardhara ke karan vaah hamesha aarthik drishtikon se aur bhaugolik vistaar ke drishtikon se vaah hamesha aakraman hai apne kisi mitra desh ki arthavyavastha me apna old karna us arthavyavastha ko chowpat karna aur apni seema ka vistaar karna vigyan ka ek hissa log kisi mahamari ka shikaar ban jaaye kyonki vaah apne hath chemical biological jai matiya rasayanik hathiyaron ko bhi ekta aur jis tarah se us me tathyon ko chipaya bahut late jaankari di world hai jisko usne kuch maine set kiya is sambhavna se inkar nahi kiya ja sakta yah antararashtriya Agencyon ke madhyam se ek jaanch ka vishay hai iski rananiti uske bare me duniya ki arthavyavastha aur suraksha vyavastha ko support karna tha aise desh ke logo ko group me rehne ka koi antararashtriya sthar par china ko sabak sikhaana chahiye aur hamare liye sandesh itni bhi kitne bhi saste mulya par cheezen uplabdh karaye hamein china ke saamaan me jeevan ki bhukhi chijon se lekar takniki roop se badi se badi viksit deshon ke beech saman ka prayog nahi karna chahiye yah me rakhna chahiye ya bharat ko testing kit ki avashyakta hai Rapid test wicket aur us saari ki saari rehte hain china uplabdh karai hai ek majburi hai is vishay par Chinese Chinese yah hamara siddhant

आपका प्रश्न है क्या पूर्ण हमारे जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है इसके आधिकार

Romanized Version
Likes  316  Dislikes    views  1867
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

घातक महामारी कोरोनावायरस जो है उदय क्योंकि वहां चमगादड़ और पेंग्विन आदमी ऐसे बहुत से बताओ वहां लोग जानवर आम दिनों में खाते रहते हैं और यह कोरोनावायरस जो है यह दोनों सही पाया जाता है कि हमारे भारत में दिखाया जाता है वैसे भी दूषित जियो है कुछ तो यह भी कहा जाता है कि कोरोनावायरस चमगादड़ के वायरस से लेकर 30 को एक परमाणु की तय किया गया है जो यह चाइना के लाइन में बनाया गया है इसका उदय चाइना से ही हुआ है और चाइना में इसका की घोषणा होने के पहले काफी लोग मर चुके थे लेकिन चाइना इस बात को छुपाता रहा आजकल आईडी दोस्त पेपरों में और टीवी में बात प्रचारित की जा रही है तो इसका पूर्ण दायित्व चाइना के ऊपर ही है और चाइना ने इस बात को छिपाया और वहां से विदेशों से लोग आते जाते रहे और उसके फैलाने में इसका पूरा हाथ दे रहा है जिसकी जो नियत है वह भारत की अर्थव्यवस्था के पूरे देश की अर्थव्यवस्था को कमजोर करके बिल्कुल एकदम स्वतंत्र अर्थव्यवस्था में सब को अपना गुलाम बनाने की इसका मकसद था तो फेल हो गया

ghatak mahamari coronavirus jo hai uday kyonki wahan chamgadar aur penguin aadmi aise bahut se batao wahan log janwar aam dino me khate rehte hain aur yah coronavirus jo hai yah dono sahi paya jata hai ki hamare bharat me dikhaya jata hai waise bhi dushit jio hai kuch toh yah bhi kaha jata hai ki coronavirus chamgadar ke virus se lekar 30 ko ek parmanu ki tay kiya gaya hai jo yah china ke line me banaya gaya hai iska uday china se hi hua hai aur china me iska ki ghoshana hone ke pehle kaafi log mar chuke the lekin china is baat ko chhupata raha aajkal id dost peparon me aur TV me baat pracharit ki ja rahi hai toh iska purn dayitva china ke upar hi hai aur china ne is baat ko chipaya aur wahan se videshon se log aate jaate rahe aur uske felane me iska pura hath de raha hai jiski jo niyat hai vaah bharat ki arthavyavastha ke poore desh ki arthavyavastha ko kamjor karke bilkul ekdam swatantra arthavyavastha me sab ko apna gulam banane ki iska maksad tha toh fail ho gaya

घातक महामारी कोरोनावायरस जो है उदय क्योंकि वहां चमगादड़ और पेंग्विन आदमी ऐसे बहुत से बताओ

Romanized Version
Likes  173  Dislikes    views  2257
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चकोर होना वायरस महामारी को फैलाना हर देश में क्या चाइना का हाथ है ऐसा कुछ नहीं है किसी भी देश का हाथ नहीं है या तो इस तंत्र में करोगे जो लोगों में आसानी से एक दूसरे के संपर्क में आने से पहले हम किसी भी देश को ब्लेम नहीं कर सकते हैं बस हम उससे बात में उस मुद्दे पर बात करेंगे कि कैसे लड़कियों ने लापरवाही से पहले लोगों में जरूरत है अभी खुद की हिफाजत करने की

chakor hona virus mahamari ko faillana har desh me kya china ka hath hai aisa kuch nahi hai kisi bhi desh ka hath nahi hai ya toh is tantra me karoge jo logo me aasani se ek dusre ke sampark me aane se pehle hum kisi bhi desh ko blame nahi kar sakte hain bus hum usse baat me us mudde par baat karenge ki kaise ladkiyon ne laparwahi se pehle logo me zarurat hai abhi khud ki hifajat karne ki

चकोर होना वायरस महामारी को फैलाना हर देश में क्या चाइना का हाथ है ऐसा कुछ नहीं है किसी भी

Romanized Version
Likes  330  Dislikes    views  3225
WhatsApp_icon
user

Luckypandey

Yoga Trainer

1:44
Play

Likes  474  Dislikes    views  7318
WhatsApp_icon
user

ShAshWaT SRiVaStAvA

CaReer AnD EdUcaTiOnaL GuIde

6:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इसमें तो कोई दो राय नहीं कि जो वायरस है कोरोनावायरस कोविड-19 चाइना से ही शुरू हुआ है ऐसा भी माना जाता है कि पिछले 20 सालों में मार्च से वीआरएस स्वाइन फ्लू और यह कोविड-19 की सब जो वायरस आ सकता है सूर से अभी चैनल जानवर के कर रहा है कि चाइना के लोगों का जो खानपान का तरीका है उसकी वजह से है यही चाइना का कोई एक्सपेरिमेंट है जो कि चाइना एक्सपेरिमेंट बहुत करता है क्योंकि करीना खान मार्केट को कैप्चर करना चाहता है तो वह सोचता है हर चीज का उसके पास क्या हुआ उसके पास हर चीज का सलूशन हो तो हो सकता है वह अपनी मार्केट को बनाने के लिए ऐसा कर रहा हूं कुछ फेल हो गया हो और है अभी पिछले 3 या 4 साल पहले एक पिक्चर आई थी बॉलीवुड में रितिक रोशन की कृष 3 की एक कंपनी पहले वायरस पूरी दुनिया में फैल आती है फिर उसका एंटी डॉट निकालती है तो उस टेंटेड भी वही कंपनी निकालती है फिर दवाई कंपनी बनाती है उससे वह कमी बहुत ज्यादा ग्रुप करती है यह अनैतिक है इन्हीं सीकर है तो इसका क्या इंपैक्ट पड़ेगा इसका सोसायटी बहुत नेगेटिव इंपैक्ट पड़ेगा तो इससे लोगों में गुस्सा की भावना पैदा होगी हिंसा की भावना पैदा होगी और युद्ध की स्थितियां पैदा होंगी इसलिए अभी कह देना कोई चीज की यही चीज है अभी सही नहीं होगी अभी किसी चीज का पुरुष नहीं है कि चाइना से वायरस आया कि कोई लैब से वायरस आया क्योंकि यह भी माना जाता है जिस लैब के लोग बात करते हैं उसकी फंडिंग अमेरिका करता है अमेरिका में 2020 के लास्ट में 2021 में आने वाले प्रेसिडेंट इलेक्शन तो जिस देश में इलेक्शन होना होता है वहां का माहौल ऑलरेडी उड़ा ऑप्शन डाउन इस समय अमेरिका में एक लाख से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं 100000 मौत किसी युद्ध में हुआ करती थी पहले के जमाने में बैटल फील्ड में लोग मर जा रहे हैं तलवार से गोली से मार उसे तो आज की जवानी में एक वायरस ने एक लाख लोगों को अमेरिका भी मार दिया पूरी दुनिया में करीब पचास लाख के आसपास लोग इससे इनफेक्टेड हुए हैं काफी इसमें करीब तीन से चार या पांच लाख मोती हेतु एक तरीके से डाटा जो है आ रहा है क्या पूरा डाटा कोई इज्जत नहीं मान सकते डाटा पूरा हंड्रेड परसेंट नहीं होता है इसलिए यह वायरस अभी एक डाउट है क्वेश्चन मार्क है कि वायरस आखिरकार क्यों किसी की पॉलिसी थी कि यह वायरस बना बनाया था पहले से वेल मेंटेंड इसको प्री प्लांट किया गया यह कोई सैंडल एक्सीडेंट है यही पिछले करीब 5 साल 2 साल या 1 साल की कोई साजिश है किसी की तो जिस तरफ देखते हैं कंप्यूटर है को जाता है पूरी दुनिया में कोई कभी पिछले एक डेढ़ साल में पूरी तरह से है कल को कंप्यूटर हैकर ले रहे थे तो ऑनलाइन फ्रॉड होते हैं तो इस तरह इस तरह की दुनिया में जहां पर अनैतिक लोग हैं मानवीय काम होते हैं हम कैसे मान सकते हैं कि यह कोई ऐसी नेचुरल है हमें एक बार अभी कई दो ढाई साल पहले केमिकल वेपन फेंका गया था वहां की नाक वहीं पर जो युद्ध चल रहा था मिसाइल अटैक कोरेची किसके नाम पर आईएसआईएस के खिलाफ तो वही कि सेना ने एक केमिकल वेपंस के नाम पर कुछ करीब कोई केमिकल नहीं छोड़ा था इसमें क्लोरीन क्लोरीन से क्या हुआ जिसके ऊपर होगी गैस के रूप में पाउडर के रूप में या कोई भी कुछ करो उसका शरीर झुलसा दिया उसके डीएनए में डिसऑर्डर आने लगा उसका वातावरण पूरा खराब कर दिया तो इस तरह घटना है तो पहले हुई है बीटी किसी पर कोई ध्यान नहीं देता था ना कोई कोई डिस्कशन करता था अब तो पूरी दुनिया गुजर रही है इस समय यह है कि दुनिया अध्यात्म के बजाय दुनिया फोकस्ड हो गई ऐसी दवा दवा दवा की दुनिया को बहुत कुछ करना है हमेशा सीखा है और इंसानों की प्रवृत्ति का इंसान जो है सुपर इंटेलिजेंट है और पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा इंटेलिजेंट हो वो काम तो करना ही डिफिकल्टी को क्योंकि है जो कठिनाई का वक्त है यह मानवता क्विज क्वेश्चन मार्क है सबको वायरस हो जाएगा बोलोगे तो फिर जिंदा रहना कोई एक्शन ले या ना ले क्योंकि अभी आप चाइना को डायरेक्टली ब्लेम कर देंगे तो वर्ल्ड वॉर वन में क्या हुआ था जर्मनी को सबने ब्लेम किया है कि जर्मनी हरियाणा भरे इसका कौनसे-कौनसे क्या हुआ 20 साल बाद वर्ल्ड वॉर टू हो गया हमको वैसे बोल डोडर में में नहीं जानना है कि युद्ध की स्थिति को की चाइना कोई सब बलम करे हो कोई और उससे क्या होगा इस चाइना पूरी दुनिया को कोई और होगा अगर ट्रेन वाली बकरा बन जाएगा तो जब तक हमारे पास कोई नहीं होगा चाहे डायरेक्टिव नहीं कर सकते हैं और कैसे गलत है चाइना का हाथ हो सकता है और बहुत चांस है विरोधी कम्युनिस्ट डेमोक्रेटिक गवर्नमेंट नीति कोई डिसीजन लेना होगा युद्ध से कुछ नहीं होगा जवाब अच्छा लगा हो तो लाइक करें

dekhiye isme toh koi do rai nahi ki jo virus hai coronavirus kovid 19 china se hi shuru hua hai aisa bhi mana jata hai ki pichle 20 salon me march se VRS swine flu aur yah kovid 19 ki sab jo virus aa sakta hai sur se abhi channel janwar ke kar raha hai ki china ke logo ka jo khanpan ka tarika hai uski wajah se hai yahi china ka koi experiment hai jo ki china experiment bahut karta hai kyonki kareena khan market ko capture karna chahta hai toh vaah sochta hai har cheez ka uske paas kya hua uske paas har cheez ka salution ho toh ho sakta hai vaah apni market ko banane ke liye aisa kar raha hoon kuch fail ho gaya ho aur hai abhi pichle 3 ya 4 saal pehle ek picture I thi bollywood me hrithik roshan ki krish 3 ki ek company pehle virus puri duniya me fail aati hai phir uska anti dot nikalati hai toh us tainted bhi wahi company nikalati hai phir dawai company banati hai usse vaah kami bahut zyada group karti hai yah anaitik hai inhin sikar hai toh iska kya impact padega iska sociaty bahut Negative impact padega toh isse logo me gussa ki bhavna paida hogi hinsa ki bhavna paida hogi aur yudh ki sthitiyan paida hongi isliye abhi keh dena koi cheez ki yahi cheez hai abhi sahi nahi hogi abhi kisi cheez ka purush nahi hai ki china se virus aaya ki koi lab se virus aaya kyonki yah bhi mana jata hai jis lab ke log baat karte hain uski funding america karta hai america me 2020 ke last me 2021 me aane waale president election toh jis desh me election hona hota hai wahan ka maahaul already uda option down is samay america me ek lakh se zyada mautain ho chuki hain 100000 maut kisi yudh me hua karti thi pehle ke jamane me battle field me log mar ja rahe hain talwar se goli se maar use toh aaj ki jawaani me ek virus ne ek lakh logo ko america bhi maar diya puri duniya me kareeb pachaas lakh ke aaspass log isse inafekted hue hain kaafi isme kareeb teen se char ya paanch lakh moti hetu ek tarike se data jo hai aa raha hai kya pura data koi izzat nahi maan sakte data pura hundred percent nahi hota hai isliye yah virus abhi ek doubt hai question mark hai ki virus aakhirkaar kyon kisi ki policy thi ki yah virus bana banaya tha pehle se well mentend isko pri plant kiya gaya yah koi sandal accident hai yahi pichle kareeb 5 saal 2 saal ya 1 saal ki koi saajish hai kisi ki toh jis taraf dekhte hain computer hai ko jata hai puri duniya me koi kabhi pichle ek dedh saal me puri tarah se hai kal ko computer hacker le rahe the toh online fraud hote hain toh is tarah is tarah ki duniya me jaha par anaitik log hain manviya kaam hote hain hum kaise maan sakte hain ki yah koi aisi natural hai hamein ek baar abhi kai do dhai saal pehle chemical weapon fenkaa gaya tha wahan ki nak wahi par jo yudh chal raha tha missile attack korechi kiske naam par ISIS ke khilaf toh wahi ki sena ne ek chemical weapons ke naam par kuch kareeb koi chemical nahi choda tha isme chlorine chlorine se kya hua jiske upar hogi gas ke roop me powder ke roop me ya koi bhi kuch karo uska sharir jhulsa diya uske DNA me disorder aane laga uska vatavaran pura kharab kar diya toh is tarah ghatna hai toh pehle hui hai BT kisi par koi dhyan nahi deta tha na koi koi discussion karta tha ab toh puri duniya gujar rahi hai is samay yah hai ki duniya adhyaatm ke bajay duniya focused ho gayi aisi dawa dawa dawa ki duniya ko bahut kuch karna hai hamesha seekha hai aur insano ki pravritti ka insaan jo hai super Intelligent hai aur puri duniya me sabse zyada Intelligent ho vo kaam toh karna hi difficulty ko kyonki hai jo kathinai ka waqt hai yah manavta Quiz question mark hai sabko virus ho jaega bologe toh phir zinda rehna koi action le ya na le kyonki abhi aap china ko directly blame kar denge toh world war van me kya hua tha germany ko sabane blame kiya hai ki germany haryana bhare iska kaun se kaun se kya hua 20 saal baad world war to ho gaya hamko waise bol dodar me me nahi janana hai ki yudh ki sthiti ko ki china koi sab balam kare ho koi aur usse kya hoga is china puri duniya ko koi aur hoga agar train wali bakara ban jaega toh jab tak hamare paas koi nahi hoga chahen dayrektiv nahi kar sakte hain aur kaise galat hai china ka hath ho sakta hai aur bahut chance hai virodhi communist democratic government niti koi decision lena hoga yudh se kuch nahi hoga jawab accha laga ho toh like kare

देखिए इसमें तो कोई दो राय नहीं कि जो वायरस है कोरोनावायरस कोविड-19 चाइना से ही शुरू हुआ है

Romanized Version
Likes  134  Dislikes    views  995
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि क्या करो ना बरस जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है तो देखो तो पूरा यकीन है कि जानबूझकर चलाया है जिस अरे कैसे समझे क्या घोषित वर्ल्ड वॉर 3 चल रहा है और चाइना ने सारे देशों को इस समय घुटनों पर ला दिया है सारे देशों में संबंधित सेवाएं चाइना के क्योंकि चाइनीस कंपनी अच्छा कारोबार कर रही है पूरे दुनिया में वह अपने मांसपेशियां सेंड आई लव एचडी हैप्पी किड्स भेजनी है तो लाखों करोड़ों डॉलर का व्यापार समय चाइनीस कंपनी कर रहे हैं और अच्छा खासा मुनाफा भी कमा रही हैं और ऐसा प्रतीत होता है कि जानबूझकर इस वायरस को चाइना ने फैलाया और उसके बाद पूरी दुनिया में फिर उसने कमाई करने का जरिया बना लिया आपने क्या सोचा इस बारे में करें

aapka prashna hai ki kya karo na baras jaisi ghatak bimari ko felane me china ka hath hai toh dekho toh pura yakin hai ki janbujhkar chalaya hai jis are kaise samjhe kya ghoshit world war 3 chal raha hai aur china ne saare deshon ko is samay ghutno par la diya hai saare deshon me sambandhit sevayen china ke kyonki Chinese company accha karobaar kar rahi hai poore duniya me vaah apne manspeshiya send I love hd happy kids bhejni hai toh laakhon karodo dollar ka vyapar samay Chinese company kar rahe hain aur accha khasa munafa bhi kama rahi hain aur aisa pratit hota hai ki janbujhkar is virus ko china ne faelaya aur uske baad puri duniya me phir usne kamai karne ka zariya bana liya aapne kya socha is bare me kare

आपका प्रश्न है कि क्या करो ना बरस जैसी घातक बीमारी को फैलाने में चाइना का हाथ है तो देखो त

Romanized Version
Likes  839  Dislikes    views  6004
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यश निसंकोच गेम आनी है इस कारण जैसी घातक बीमारी को पढ़ाने में चाइना का स्वाद लालच और कब जाती है क्योंकि चाइना एक दावा स्वास्थ्य खुद कर दो कंपनियां यह विश्व में समस्त मानवता का दुश्मन कहना चाहिए क्योंकि इसके पीछे मंशा यह थी जब विश्व के समस्त मानवता चाइना के इस कोरोना वायरस से पीड़ित हो जाएगी तो यह अपने माल की सप्लाई करेगा और उसकी मनमानी कीमत वसूल करेगा और अपनी टैक्सी सप्लाई करेगा तो उसकी मनमानी कीमत वसूल करेगा यह लालच था जो अब जा रहे हैं इस बात को यह चीन का वहां से निकला है और आप देख रहे हो इसमें स्पेन और इटली जैसे देश चाइना से सामान मंगाने के लिए मजबूर हैं और उनकी चाइना मनमानी कीमत वसूल कर रहा है उसका प्रमाण देख लीजिए अगले साल के चीनी अरबपति दे नहीं थे अब पांच टावर अरबपतियों की लिस्ट जो आई है उसमें 56 चाइना के अरबपति को वर्कर के आए हैं उस बात के चाहे रहे हैं क्योंकि प्रमाण है कुछ बातें के चाइना ने लालच के कारण से इस वायरस को चलाया है

yash nisankoch game aani hai is karan jaisi ghatak bimari ko padhane me china ka swaad lalach aur kab jaati hai kyonki china ek daawa swasthya khud kar do companiya yah vishwa me samast manavta ka dushman kehna chahiye kyonki iske peeche mansha yah thi jab vishwa ke samast manavta china ke is corona virus se peedit ho jayegi toh yah apne maal ki supply karega aur uski manmani kimat vasool karega aur apni taxi supply karega toh uski manmani kimat vasool karega yah lalach tha jo ab ja rahe hain is baat ko yah china ka wahan se nikala hai aur aap dekh rahe ho isme Spain aur italy jaise desh china se saamaan maangne ke liye majboor hain aur unki china manmani kimat vasool kar raha hai uska pramaan dekh lijiye agle saal ke chini arabpati de nahi the ab paanch tower arabpatiyo ki list jo I hai usme 56 china ke arabpati ko worker ke aaye hain us baat ke chahen rahe hain kyonki pramaan hai kuch batein ke china ne lalach ke karan se is virus ko chalaya hai

यश निसंकोच गेम आनी है इस कारण जैसी घातक बीमारी को पढ़ाने में चाइना का स्वाद लालच और कब जात

Romanized Version
Likes  413  Dislikes    views  16363
WhatsApp_icon
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका यह सवाल बिल्कुल सही है इतने चाइना का आते क्या मैं तो कहता हूं चाइना पूरा ही है खाली हाथ पैर सब है उसके खाली हाथ नहीं है उसका यह वही से पनपा है चमगादड़ का तू कोई लोग पीते हैं और वहीं से यह फैला है

aapka yah sawaal bilkul sahi hai itne china ka aate kya main toh kahata hoon china pura hi hai khaali hath pair sab hai uske khaali hath nahi hai uska yah wahi se panpa hai chamgadar ka tu koi log peete hain aur wahi se yah faila hai

आपका यह सवाल बिल्कुल सही है इतने चाइना का आते क्या मैं तो कहता हूं चाइना पूरा ही है खाली ह

Romanized Version
Likes  298  Dislikes    views  5205
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मैं आपका दोस्त आपके योगा फ्रेंड विषय बोल रहा हूं और दोस्त आपका प्रश्न है कि चाइना जैसे वायरस फैलाने में चाइना का हाथ है दोस्त हाथ किसी का भी हो लेकिन फिलहाल तो हमारे सामने मुसीबत है फिलहाल तो में सोचना यह चाहिए कि हमको राजेश खतरनाक वायरस से कैसे बचें जी आपने आपको सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखें अपने हाथ में समय पद होते रहें और मुंह पर मास्क आंखें यह काम है इंटरनेशनल संस्था का डब्ल्यूएचओ डब्ल्यूएचओ जिसमें आज हमारा लक्ष्य हो चुका है तो उसको अपना काम करने दे और आप अपने बचाव के तरीके ढूंढने और अपने आप को सुरक्षित रखें ठीक है

namaskar doston main aapka dost aapke yoga friend vishay bol raha hoon aur dost aapka prashna hai ki china jaise virus felane me china ka hath hai dost hath kisi ka bhi ho lekin filhal toh hamare saamne musibat hai filhal toh me sochna yah chahiye ki hamko rajesh khataranaak virus se kaise bache ji aapne aapko social distance maintain rakhen apne hath me samay pad hote rahein aur mooh par mask aankhen yah kaam hai international sanstha ka WHO WHO jisme aaj hamara lakshya ho chuka hai toh usko apna kaam karne de aur aap apne bachav ke tarike dhundhne aur apne aap ko surakshit rakhen theek hai

नमस्कार दोस्तों मैं आपका दोस्त आपके योगा फ्रेंड विषय बोल रहा हूं और दोस्त आपका प्रश्न है क

Romanized Version
Likes  472  Dislikes    views  4373
WhatsApp_icon
user

Dr Vikas Khanna

Founder, Orange Pines

4:02
Play

Likes  487  Dislikes    views  4047
WhatsApp_icon
user

S K Mishra

Career Advisor

0:22
Play

Likes  68  Dislikes    views  1183
WhatsApp_icon
user

Milindra Tripathi Yog

Yoga Instructor

2:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कोरोनावायरस के जो बीमारी है उसको फैलाने में चीन का ही योगदान है इसके पीछे का जो सबसे बड़ा कारण है कि इस पर जनक जो देश है वह चीन है जब चीन में यह वायरस जन्म हुआ दिसंबर में तो उसके बाद क्या करा इन लोगों ने कि उसको जो से संक्रमित लोग थे उनको पूरे विश्व में भेजा एक तरह से क्योंकि न रोक नहीं लगाई संक्रमित रोग को रोकने के लिए उनकी जांच करने के लिए बाद में उनके कदम उठाएं दूसरा 9 मौत के आंकड़े छुपा है उसकी बहुत सारी जानकारियां जो शुरुआती लक्षण थे जो सारी जानकारियां थी उसको छुपाया जब बहुत ज्यादा हो गया जनवरी-फरवरी में तब इन्होंने उसको जब बाहर आया निकलकर कि यह कोरोनावायरस बनता है जो पूरी दुनिया में फैल रहा है अब चाइना में मान लीजिए कि यह शुरुआत में कितने लोगों को हुआ उन लोगों पर पाबंदी विदेशों में जाने में लगा दी होती तो वायरल अन्य देशों में लेकिन विदेशों में जो लोग इनके चाइना के गए उनमें से कई लोगों को यह वायरस फैला उनके द्वारा किनके इसे चाइना से कोई बंदा गया एक एक वीडियो आया है उस वीडियो में बताएं कि सिंगापुर में जो लोग आए चाइना से उनसे उन बहुत ज्यादा वायरस होश में फैला एकता एक देश में बताया कि मां का एक तेजो मेयर था उसमें हरने का करा किए चाइना के लोग आ रहे हैं इनका दूसरी दुनिया के लोग भाई काट कर रहे हैं अपना मोबाइल काट नहीं करना है को गले लगाना अब उन लोगों से वायरस बहुत ज्यादा फैला तो ऐसे बहुत सारे इनकी लैब से वायरस फैलने की सूचना है लगातार आ रही है यह लगातार इस तरह से इनका पूरा जो मकसद था अब जैसे चाइना ने मैं इसे न जाने कितने लोग मरे पराकड़ावू छुपा रहे हैं क्योंकि वहां की जो मोबाइल कंपनियां हैं उनके यूजर काम होगा एक करोड़ लोग अंतर कम हो गए वहां की बुहान शहर में अभी भी कई घरों में लाइट बंद है तो पूरे के पूरे घर के लोग मर गए वह बहुत सारे संख्या है लेकिन उन्होंने इस आंकड़े को छुपाए बहुत दबाव बनाया 21 चलो घूमने बढ़ा दी है कि हां भैया है वह हमसे गलती हो गए थोड़ा आंकड़ा हमने कर दिया लेकिन आंकड़ों बहुत ज्यादा है क्योंकि जब दूसरे देशों में फैला है तो उसका बहुत बड़ा कारण अगर आज शक्ति से जमीन के देश में शुरुआत हुआ था और शक्ति से जब रोक देगा कि हमारे देश में ना तो कोई बाहर का व्यक्ति आएगा ना हमारे देश से कोई व्यक्ति बाहर जाएगा तो वहीं की वहीं चीन में ही रहता लेकिन चीन ने जानबूझकर सोचा कि बुरा - पूरी दुनिया में फैले इसके लिए ने काम किया इसके लिए एक तरह से एक जानबूझकर मानव समाज को संकट में डालने का काम किया

dekhiye coronavirus ke jo bimari hai usko felane me china ka hi yogdan hai iske peeche ka jo sabse bada karan hai ki is par janak jo desh hai vaah china hai jab china me yah virus janam hua december me toh uske baad kya kara in logo ne ki usko jo se sankrameet log the unko poore vishwa me bheja ek tarah se kyonki na rok nahi lagayi sankrameet rog ko rokne ke liye unki jaanch karne ke liye baad me unke kadam uthaye doosra 9 maut ke aankade chupa hai uski bahut saari jankariyan jo shuruati lakshan the jo saari jankariyan thi usko chupaya jab bahut zyada ho gaya january february me tab inhone usko jab bahar aaya nikalkar ki yah coronavirus banta hai jo puri duniya me fail raha hai ab china me maan lijiye ki yah shuruat me kitne logo ko hua un logo par pabandi videshon me jaane me laga di hoti toh viral anya deshon me lekin videshon me jo log inke china ke gaye unmen se kai logo ko yah virus faila unke dwara kinke ise china se koi banda gaya ek ek video aaya hai us video me bataye ki singapore me jo log aaye china se unse un bahut zyada virus hosh me faila ekta ek desh me bataya ki maa ka ek tejo meyer tha usme harane ka kara kiye china ke log aa rahe hain inka dusri duniya ke log bhai kaat kar rahe hain apna mobile kaat nahi karna hai ko gale lagana ab un logo se virus bahut zyada faila toh aise bahut saare inki lab se virus failane ki soochna hai lagatar aa rahi hai yah lagatar is tarah se inka pura jo maksad tha ab jaise china ne main ise na jaane kitne log mare parakdavu chupa rahe hain kyonki wahan ki jo mobile companiya hain unke user kaam hoga ek crore log antar kam ho gaye wahan ki buhan shehar me abhi bhi kai gharon me light band hai toh poore ke poore ghar ke log mar gaye vaah bahut saare sankhya hai lekin unhone is aankade ko chupaye bahut dabaav banaya 21 chalo ghoomne badha di hai ki haan bhaiya hai vaah humse galti ho gaye thoda akanda humne kar diya lekin aankado bahut zyada hai kyonki jab dusre deshon me faila hai toh uska bahut bada karan agar aaj shakti se jameen ke desh me shuruat hua tha aur shakti se jab rok dega ki hamare desh me na toh koi bahar ka vyakti aayega na hamare desh se koi vyakti bahar jaega toh wahi ki wahi china me hi rehta lekin china ne janbujhkar socha ki bura puri duniya me failen iske liye ne kaam kiya iske liye ek tarah se ek janbujhkar manav samaj ko sankat me dalne ka kaam kiya

देखिए कोरोनावायरस के जो बीमारी है उसको फैलाने में चीन का ही योगदान है इसके पीछे का जो सबसे

Romanized Version
Likes  311  Dislikes    views  2051
WhatsApp_icon
user

Prabhakar puri

Ayurvedic Doctor

1:26
Play

Likes  3  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
play
user

Likes  104  Dislikes    views  1043
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया मालूम है कि कोरोनावायरस पिलाने में चाहे इसमें कोई पूछने वाली बात ही नहीं है पूरा विश्व इस बात को जान रहा है कोरोनावायरस चाइना ने चलाया है

duniya maloom hai ki coronavirus pilane me chahen isme koi poochne wali baat hi nahi hai pura vishwa is baat ko jaan raha hai coronavirus china ne chalaya hai

दुनिया मालूम है कि कोरोनावायरस पिलाने में चाहे इसमें कोई पूछने वाली बात ही नहीं है पूरा वि

Romanized Version
Likes  350  Dislikes    views  4862
WhatsApp_icon
user

Shyam Vispute

Yoga Instructor

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय गुरुदेव जी आपका प्रश्न कि क्या करवाना वेदर जैसी घातक बीमारी को फैलाने में जाना चाहते तो यह बिल्कुल भी गलत बात है ऐसा किसी का भी कोई वारिस पिलाने में हाथ नहीं होता है तो इसमें अगर किसी का हाथ है तो वह नॉनवेज नॉनवेज खाने वाले को हाथ है क्योंकि वह सारी पुरानी हम लोग खाते हैं तो उसके जरिए वह सारे जो उच्च आर्म्स कीटाणु जो है वह सारे इंसान के अंदर आ जाते तो जो भी नॉनवेज इतने लोग हैं वह इसके लिए इसके लिए कहानी बूते इन सब चीजों के लिए ना कि कोई कंट्री कहानी भूत ना ही कोई कोई इंसान का अद्भुत इन सब चीजों के लिए तो सबसे पहले हमें देखना होगा कि हम भी नॉनवेज खाना छोड़ना पड़ेगा सारे लोगों को ताकि जो एनिमल्स वायरस से जो हमारी ह्यूमन बॉडी बना सके क्योंकि एनिमल उस से लड़ सकते हो ना ऐसे इंसान बॉडी इंसानियत नहीं लड़ सकता है तो तो आप हमेशा याद रखिए कि सब कुछ आ खाली होना चाहिए और शाकाहारी लोगों को अच्छा कार्य कर रहते हैं तबीयत अभी अच्छा है और शाकाहारी लोगों को वायरस कमा सकता है सारी चीजों में तो इसमें किसी का हाथ नहीं है यह होना चाहिए हो गया क्योंकि नॉनवेज जोक जो लोग खाते हैं उनके जरिए यू बॉडी मेंटर किया सबके और उसे बढ़ता गया है नमो नारायण

jai gurudev ji aapka prashna ki kya karwana Weather jaisi ghatak bimari ko felane me jana chahte toh yah bilkul bhi galat baat hai aisa kisi ka bhi koi vaaris pilane me hath nahi hota hai toh isme agar kisi ka hath hai toh vaah nonveg nonveg khane waale ko hath hai kyonki vaah saari purani hum log khate hain toh uske jariye vaah saare jo ucch arms kitanu jo hai vaah saare insaan ke andar aa jaate toh jo bhi nonveg itne log hain vaah iske liye iske liye kahani bute in sab chijon ke liye na ki koi country kahani bhoot na hi koi koi insaan ka adbhut in sab chijon ke liye toh sabse pehle hamein dekhna hoga ki hum bhi nonveg khana chhodna padega saare logo ko taki jo animals virus se jo hamari human body bana sake kyonki animal us se lad sakte ho na aise insaan body insaniyat nahi lad sakta hai toh toh aap hamesha yaad rakhiye ki sab kuch aa khaali hona chahiye aur shakahari logo ko accha karya kar rehte hain tabiyat abhi accha hai aur shakahari logo ko virus kama sakta hai saari chijon me toh isme kisi ka hath nahi hai yah hona chahiye ho gaya kyonki nonveg joke jo log khate hain unke jariye you body mentor kiya sabke aur use badhta gaya hai namo narayan

जय गुरुदेव जी आपका प्रश्न कि क्या करवाना वेदर जैसी घातक बीमारी को फैलाने में जाना चाहते तो

Romanized Version
Likes  407  Dislikes    views  2753
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!