किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट क्या सजा देती है?...


user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा कहा गया है मर्डर करने पर व्यक्ति को आजीवन कारावास फांसी से कम की सजा ना दें इसमें ज्यूडिशरी को इससे कम सजा देने का विवेक एकाधिकार भी नहीं है

supreme court dwara kaha gaya hai murder karne par vyakti ko aajivan karavas fansi se kam ki saza na de isme jyudishari ko isse kam saza dene ka vivek ekadhikar bhi nahi hai

सुप्रीम कोर्ट द्वारा कहा गया है मर्डर करने पर व्यक्ति को आजीवन कारावास फांसी से कम की सजा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोर्ट मामले की पूरी सुनवाई करेगी उससे जुड़ी हुई गवा एविडेंस पशु कृष्ण के युवाओं को सुनेगी उसके बाद अगर मामला मृत्युदंड से संबंध सिमरन देगी आजीवन कारावास भी दे सकती है मर्डर के संबंध में मर्डर कैसे किया गया किन परिस्थिति में क्या-क्या किस कारण से किया गया किसने किया क्यों किया इन सभी को इन सभी का रिकॉर्ड साक्ष्य लेने पर मामले का ऊंचा ओम रविशंकर न्यायालय अपराधी को दंडित करती है

court mamle ki puri sunvai karegi usse judi hui gawa evidence pashu krishna ke yuvaon ko sunegi uske baad agar maamla mrityudand se sambandh simran degi aajivan karavas bhi de sakti hai murder ke sambandh me murder kaise kiya gaya kin paristhiti me kya kya kis karan se kiya gaya kisne kiya kyon kiya in sabhi ko in sabhi ka record sakshya lene par mamle ka uncha om ravishankar nyayalaya apradhi ko dandit karti hai

कोर्ट मामले की पूरी सुनवाई करेगी उससे जुड़ी हुई गवा एविडेंस पशु कृष्ण के युवाओं को सुनेगी

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट आपको जीवन काल सदा जो कि आपकी नेचुरल लाइफ है जब तक आप जिंदा रहें या आपको मृत्युदंड दोनों में से कुछ भी दे सकती है साथ में पानी लगा सकती है या बिना साइन के भी आप को दंड दे सकती है या दोनों दे सकती है

kisi vyakti ko murder karne par court aapko jeevan kaal sada jo ki aapki natural life hai jab tak aap zinda rahein ya aapko mrityudand dono me se kuch bhi de sakti hai saath me paani laga sakti hai ya bina sign ke bhi aap ko dand de sakti hai ya dono de sakti hai

किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट आपको जीवन काल सदा जो कि आपकी नेचुरल लाइफ है जब तक आप ज

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईपीसी की धारा 302 के अंतर्गत मर्डर सिद्ध हो जाने पर कमेंट किया फिर लाइफटाइम इंटरव्यू और साइन भी दिया जाता है

ipc ki dhara 302 ke antargat murder siddh ho jaane par comment kiya phir lifetime interview aur sign bhi diya jata hai

आईपीसी की धारा 302 के अंतर्गत मर्डर सिद्ध हो जाने पर कमेंट किया फिर लाइफटाइम इंटरव्यू और स

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी को मदद करने पर आजीवन कारावास 20 साल की सजा

kisi ko madad karne par aajivan karavas 20 saal ki saza

किसी को मदद करने पर आजीवन कारावास 20 साल की सजा

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1503
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्डर की केस में डांस करने पर सजा का प्रावधान है जिसमें आजीवन कारावास तत्काल आदेश पारित किया जा सकता है

murder ki case me dance karne par saza ka pravadhan hai jisme aajivan karavas tatkal aadesh paarit kiya ja sakta hai

मर्डर की केस में डांस करने पर सजा का प्रावधान है जिसमें आजीवन कारावास तत्काल आदेश पारित क

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रिय मित्र किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट आजीवन कारावास अथवा फांसी की सजा दे सकती है परंतु सजा हमेशा मामले और उसकी परिस्थितियों पर निर्भर करती है धन्यवाद

priya mitra kisi vyakti ko murder karne par court aajivan karavas athva fansi ki saza de sakti hai parantu saza hamesha mamle aur uski paristhitiyon par nirbhar karti hai dhanyavad

प्रिय मित्र किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट आजीवन कारावास अथवा फांसी की सजा दे सकती है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user
0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्डर करने में मदद में आजीवन कारावास या फांसी तक हो सकती है और इस पर डिपेंड करता है कि मर्डर कहां हुआ किस जगह हुआ किस समय हुआ किस हथियार से हुआ किस तरह से किया मर्डर करने का तरीका क्या था अमरीका में मर्डर केस धारण किया क्या वजह थी क्या है यह सब हालात देखकर कितनी बर्बरता से किया है इतनी निर्दयता से किया है क्या किया है ससुरा ने किया है हालात देखकर जो है उसकी सजा या यह मनुष्य हांसी लायक

murder karne me madad me aajivan karavas ya fansi tak ho sakti hai aur is par depend karta hai ki murder kaha hua kis jagah hua kis samay hua kis hathiyar se hua kis tarah se kiya murder karne ka tarika kya tha america me murder case dharan kiya kya wajah thi kya hai yah sab haalaat dekhkar kitni barbarta se kiya hai itni nirdayata se kiya hai kya kiya hai sasura ne kiya hai haalaat dekhkar jo hai uski saza ya yah manushya hansi layak

मर्डर करने में मदद में आजीवन कारावास या फांसी तक हो सकती है और इस पर डिपेंड करता है कि मर्

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  328
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हत्या के मामले में अभियुक्त पर न्यायालय द्वारा दोष सिद्ध हो जाने पर यानी कनविक्ट हो जाने पर व्यक्ति को दो तरह की सजा का प्रावधान है जैसा की धारा 302 भारतीय दंड विधान आईपीसी में वर्णित है एक तो आजीवन कारावास जो सामान्यतः हत्या साबित होने पर अभियुक्त को प्रत्येक केस में निश्चित है दिया जाता है माननीय सर्वोच्च न्यायालय की व्यवस्था के अनुसार यदि कि यदि वह मामला जिसमें हत्या हुई है वह रेयरेस्ट आफ रेयर केस में आता है या नहीं विरल सेवरल तम श्रेणी में आता है जघन्य है और वरिष्ठ ऑफ रेयर केस की को डिफाइन किया गया है और यह न्यायालय पर भी छोड़ा गया है क्यों निश्चित कर कि उसका मामला जिसमें उसे कन्वर्ट किया है वह विलन से विरल तने श्रेणी में आता है नहीं तो अगर वह केस लिस्ट ऑफ रेयर केस किस श्रेणी में आता है तो वहां पर अभी उसको मृत्युदंड की सजा दी जाएगी और यह है कि वह मृत्युदंड माननीय उच्च न्यायालय से उसकी पुष्टि होनी चाहिए उसके बाद ही उसका एक क्वेश्चन है निष्पादन होगा

hatya ke mamle me abhiyukt par nyayalaya dwara dosh siddh ho jaane par yani kanvikt ho jaane par vyakti ko do tarah ki saza ka pravadhan hai jaisa ki dhara 302 bharatiya dand vidhan ipc me varnit hai ek toh aajivan karavas jo samanyatah hatya saabit hone par abhiyukt ko pratyek case me nishchit hai diya jata hai mananiya sarvoch nyayalaya ki vyavastha ke anusaar yadi ki yadi vaah maamla jisme hatya hui hai vaah rarest of reyar case me aata hai ya nahi viral several tum shreni me aata hai jaghanya hai aur varishtha of reyar case ki ko define kiya gaya hai aur yah nyayalaya par bhi choda gaya hai kyon nishchit kar ki uska maamla jisme use convert kiya hai vaah vilen se viral tane shreni me aata hai nahi toh agar vaah case list of reyar case kis shreni me aata hai toh wahan par abhi usko mrityudand ki saza di jayegi aur yah hai ki vaah mrityudand mananiya ucch nyayalaya se uski pushti honi chahiye uske baad hi uska ek question hai nishpadan hoga

हत्या के मामले में अभियुक्त पर न्यायालय द्वारा दोष सिद्ध हो जाने पर यानी कनविक्ट हो जाने प

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  473
WhatsApp_icon
user

Sapna

Social Worker

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है किसी व्यक्ति को मदद करने पर क्या सजा देती है तो यदि कोई व्यक्ति किसी को जान से मार देता है तो उसको को या तो फांसी देती है या फिर आजीवन कारावास सपना शर्मा जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ हो

aapka prashna hai kisi vyakti ko madad karne par kya saza deti hai toh yadi koi vyakti kisi ko jaan se maar deta hai toh usko ko ya toh fansi deti hai ya phir aajivan karavas sapna sharma jai hind jai bharat aapka din shubha ho

आपका प्रश्न है किसी व्यक्ति को मदद करने पर क्या सजा देती है तो यदि कोई व्यक्ति किसी को जान

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1572
WhatsApp_icon
user

Rohit Jha

Advocate

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्डर के बाद आपको अजीवन करावास हो सकता है और कुछ दंड का भी प्रावधान किया गया है लेकिन आप जो मर्डर करते हैं मर्डर कई तरीके का होता है किस तरीके का मर्डर कर रहे हैं इस बात पर भी को ध्यान देती है और उसके हिसाब से आप को सजा सुनाई जाएगी इसलिए कहा भी नहीं जा सकता हो सकता है 7 साल की भी सजा हो जाए 6 साल की भी हो जाए या फिर 10 साल की भी हो जाए और कुछ आपके ऊपर जो डिक्शन लगा दिया जाए तो किस तरीके का मर्डर आप कर रहे हैं या मायने रखता है जैसे माली जी की कोई ट्रक का ड्राइवर है उससे किसी को ठोकर लग गया और उसकी मृत्यु हो गई वह भी एक मर्डर ही है कोई छत पर टहल रहा है आप अचानक वहां पर गए जोर से चिल्ला है और वह भागने का कोशिश किया छत से नीचे गिर के मर गया हो गई मर्डर का है या तो ऐसे अब आप घर में खाना बना रहे हैं गैस से आग लग गया उसमें कुछ लोग मर गए उसने आपके ऊपर कंप्लेन कर दिया उसमें भी मॉडल किससे लगता है तो बहुत सारा मर्डर का प्रावधान बनाया गया है उसमें देखा जाता है कि आप किस तरीके का मॉडल करते हैं आप किसी को डायरेक्ट गोली मार देते हो मर जाता है और किसी को कहने मात्र से मर जाता है इस सब का अलग अलग प्रावधान बनाया गया इसलिए ऐसा बिल्कुल नहीं कहा जा सकता है कि करेक्ट सजा आपको क्या हो सकती है लेकिन सजा बढ़िया होगा इस बात से आप अस्वस्थ हो लीजिए

murder ke baad aapko ajivan karawas ho sakta hai aur kuch dand ka bhi pravadhan kiya gaya hai lekin aap jo murder karte hain murder kai tarike ka hota hai kis tarike ka murder kar rahe hain is baat par bhi ko dhyan deti hai aur uske hisab se aap ko saza sunayi jayegi isliye kaha bhi nahi ja sakta ho sakta hai 7 saal ki bhi saza ho jaaye 6 saal ki bhi ho jaaye ya phir 10 saal ki bhi ho jaaye aur kuch aapke upar jo dikshan laga diya jaaye toh kis tarike ka murder aap kar rahe hain ya maayne rakhta hai jaise maali ji ki koi truck ka driver hai usse kisi ko thokar lag gaya aur uski mrityu ho gayi vaah bhi ek murder hi hai koi chhat par tahal raha hai aap achanak wahan par gaye jor se chilla hai aur vaah bhagne ka koshish kiya chhat se niche gir ke mar gaya ho gayi murder ka hai ya toh aise ab aap ghar me khana bana rahe hain gas se aag lag gaya usme kuch log mar gaye usne aapke upar complain kar diya usme bhi model kisse lagta hai toh bahut saara murder ka pravadhan banaya gaya hai usme dekha jata hai ki aap kis tarike ka model karte hain aap kisi ko direct goli maar dete ho mar jata hai aur kisi ko kehne matra se mar jata hai is sab ka alag alag pravadhan banaya gaya isliye aisa bilkul nahi kaha ja sakta hai ki correct saza aapko kya ho sakti hai lekin saza badhiya hoga is baat se aap aswasth ho lijiye

मर्डर के बाद आपको अजीवन करावास हो सकता है और कुछ दंड का भी प्रावधान किया गया है लेकिन आप ज

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  464
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किस व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट क्या सजा देती है देखिए अगर किसी ने इस तरह का अपराध किया है तो कोर्ट मुकदमा चलता है ट्रायल होता है ट्रेन में अगर वह अपराधी घोषित हो जाता है और अगर हिमेश क्राइम उसने बड़ी ही मृत नरसंहार करके वह काम किया है तो कोर्ट इसको सजा-ए-मौत तक जंगली जो है आजीवन कारावास का प्रावधान है उस को आजीवन कारावास मिलेगा बहुत ही रेयर मामले ऐसे होते हैं जिसमें आप सजा-ए-मौत का प्रावधान है तो जो भी इस तरह का कोई विचार अगर आपके मन में है तो बिल्कुल ना करें एक अपराध है और अपराध करना बहुत बड़ी बात है इससे आपके परिवार भी बहुत आपके पीछे कोई परिवार होगा उसका भी नुकसान है और आपका तो खैर हो गई इसका आपके साथ आप एक रत करें उनका नुकसान हो चुके जो विचार है छोड़ दीजिए यह गलत काम है अपराध है और अपराध नहीं करना चाहिए

kis vyakti ko murder karne par court kya saza deti hai dekhiye agar kisi ne is tarah ka apradh kiya hai toh court mukadma chalta hai trial hota hai train me agar vaah apradhi ghoshit ho jata hai aur agar himesh crime usne badi hi mrit narasanhar karke vaah kaam kiya hai toh court isko saza a maut tak jungli jo hai aajivan karavas ka pravadhan hai us ko aajivan karavas milega bahut hi reyar mamle aise hote hain jisme aap saza a maut ka pravadhan hai toh jo bhi is tarah ka koi vichar agar aapke man me hai toh bilkul na kare ek apradh hai aur apradh karna bahut badi baat hai isse aapke parivar bhi bahut aapke peeche koi parivar hoga uska bhi nuksan hai aur aapka toh khair ho gayi iska aapke saath aap ek rat kare unka nuksan ho chuke jo vichar hai chhod dijiye yah galat kaam hai apradh hai aur apradh nahi karna chahiye

किस व्यक्ति को मर्डर करने पर कोर्ट क्या सजा देती है देखिए अगर किसी ने इस तरह का अपराध किया

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति को मदद करने पर क्या सजा देती है या तो सजा-ए-मौत देती है या जीवन कारावास चुप चुप चुप साबित ना हो तब तक जेल में धारा 307 के अंतर्गत सेक्टर 94 और जब तक के साबित नहीं होता तब तक उठाना ही एप्लीकेबल नहीं होते हम धाराओं के अंतर्गत केस चलता है चाबी तो नहीं तुम्हारा 19 घरों के आधार पर दिया तो

kisi vyakti ko madad karne par kya saza deti hai ya toh saza a maut deti hai ya jeevan karavas chup chup chup saabit na ho tab tak jail me dhara 307 ke antargat sector 94 aur jab tak ke saabit nahi hota tab tak uthana hi applicable nahi hote hum dharaon ke antargat case chalta hai chabi toh nahi tumhara 19 gharon ke aadhar par diya toh

किसी व्यक्ति को मदद करने पर क्या सजा देती है या तो सजा-ए-मौत देती है या जीवन कारावास चुप च

Romanized Version
Likes  371  Dislikes    views  3978
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर क्या सजा देती है यह प्रश्न आपने किया है भाई यह तो खुद के ऊपर निर्भर करता है कोर्ट आपको किस दिया क्या इसलिए मानती हो सकता आप को आजीवन कारावास हो सकता आपको आपके द्वारा के कदमों को रिवर्स ऑफ डेहरी अरमान क्या फांसी पर चढ़ा है आपको 10 साल की शादी तू बोल क्यों पर निर्भर करता है पूरा आपका हो सकता है कि आपका वकील हूं और आप सुनाओ

ram ram ji ki kisi vyakti ko murder karne par kya saza deti hai yah prashna aapne kiya hai bhai yah toh khud ke upar nirbhar karta hai court aapko kis diya kya isliye maanati ho sakta aap ko aajivan karavas ho sakta aapko aapke dwara ke kadmon ko reverse of dehri armaan kya fansi par chadha hai aapko 10 saal ki shaadi tu bol kyon par nirbhar karta hai pura aapka ho sakta hai ki aapka vakil hoon aur aap sunao

राम राम जी की किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर क्या सजा देती है यह प्रश्न आपने किया है भाई य

Romanized Version
Likes  447  Dislikes    views  3798
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे किसी व्यक्ति का आदर मर्डर होता है तो उस में आजीवन कारावास से लेकर फांसी तक की सजा होती है ईद बंद करता है कि किस किस तरह का है अगर मर्डर जो है अरे रेस्ट ऑफ द अरे रेस्ट रेस्ट ऑफ द रेयर की श्रेणी में आता है तो फांसी भी होगी जैसा कि निर्भया कांड में भी हुआ अभी तो बदल में आजीवन कारावास से लेकर के फांसी तक का मतलब कैपिटल पनिशमेंट तक का प्रावधान है धन्यवाद

dekhe kisi vyakti ka aadar murder hota hai toh us me aajivan karavas se lekar fansi tak ki saza hoti hai eid band karta hai ki kis kis tarah ka hai agar murder jo hai are rest of the are rest rest of the reyar ki shreni me aata hai toh fansi bhi hogi jaisa ki Nirbhaya kaand me bhi hua abhi toh badal me aajivan karavas se lekar ke fansi tak ka matlab capital punishment tak ka pravadhan hai dhanyavad

देखे किसी व्यक्ति का आदर मर्डर होता है तो उस में आजीवन कारावास से लेकर फांसी तक की सजा होत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संभल सामान्य तौर पर देखा जाए तो मर्डर का जो सजापुर देती है वह सबसे ज्यादा है साक्षी और भारत में जो समानता दीदी जाती है वह है आपका उम्र कैद की सजा और यह देखेंगे इंडियन पेनल कोड इंडियन पेनल कोड भैया डिफाइन है सेक्शन 302 के शब्दों में जाग जाएंगे 302 के अंतर्गत मर्डर के सजा का प्रावधान दिया गया हमारे भारतीय कानून में

sambhal samanya taur par dekha jaaye toh murder ka jo sajapur deti hai vaah sabse zyada hai sakshi aur bharat me jo samanata didi jaati hai vaah hai aapka umar kaid ki saza aur yah dekhenge indian panel code indian panel code bhaiya define hai section 302 ke shabdon me jag jaenge 302 ke antargat murder ke saza ka pravadhan diya gaya hamare bharatiya kanoon me

संभल सामान्य तौर पर देखा जाए तो मर्डर का जो सजापुर देती है वह सबसे ज्यादा है साक्षी और भा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Arun Vaidwan

Advocate

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईपीसी की सेक्शन 302 के तहत मर्डर की सजा उम्र कैद होती है लेकिन ज्यादातर मर्डर की मदद करने वाले का मोटी और उसके तरीके पर भी निर्भर करता है अगर तरीका भी बचा है तो सजा मृत्युदंड की भी की जा सकती है

ipc ki section 302 ke tahat murder ki saza umar kaid hoti hai lekin jyadatar murder ki madad karne waale ka moti aur uske tarike par bhi nirbhar karta hai agar tarika bhi bacha hai toh saza mrityudand ki bhi ki ja sakti hai

आईपीसी की सेक्शन 302 के तहत मर्डर की सजा उम्र कैद होती है लेकिन ज्यादातर मर्डर की मदद करने

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  231
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजीवन कारावास का मतलब जब तक उसका जीवन रहेगा तब तक वह न्यायिक अभिरक्षा में ही रहेगा फांसी बिराजता मामले में होती है

aajivan karavas ka matlab jab tak uska jeevan rahega tab tak vaah nyayik abhiraksha me hi rahega fansi birajata mamle me hoti hai

आजीवन कारावास का मतलब जब तक उसका जीवन रहेगा तब तक वह न्यायिक अभिरक्षा में ही रहेगा फांसी ब

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user
1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए किसी भी व्यक्ति को मर्डर कल्पेबल होमीसाइड और मर्डर ही हमारी भारतीय दंड संहिता अधिनियम संख्या 2 सन 1807 में परिभाषित है इसमें धारा 294 धारा 300 कल्पेबल होमीसाइड का मतलब यह है कि गैर इरादतन हत्या और मर्डर जो है वह 300 में डिफाइन है परिभाषित तो मर्डर के लिए अधिकतम सजा जो है 20 वर्ष है या मर्डर के कई मेहनत होते हैं तरीके होते हैं या गिरी व्यस्त है या ऑनली इंटेंशनली है तुम मर्डर के जुड़े साक्ष्य के आधार पर भी सजा दी जा सकती है कई बार ऐसा होता है कि मर्डर किया है लेकिन मेरे गेस्ट जो कोई एविडेंस नहीं है सभी एविडेंस मेरी फेवर में आ रही है मेरा बचाव कर रही है तू भले ही मर्डर किया है लेकिन एक जुआ है उसे न्यूनतम सजा के आधार पर मामले का निस्तारण किया जा सकता है धन्यवाद

dekhiye kisi bhi vyakti ko murder culpable homicide aur murder hi hamari bharatiya dand sanhita adhiniyam sankhya 2 san 1807 me paribhashit hai isme dhara 294 dhara 300 culpable homicide ka matlab yah hai ki gair iradatan hatya aur murder jo hai vaah 300 me define hai paribhashit toh murder ke liye adhiktam saza jo hai 20 varsh hai ya murder ke kai mehnat hote hain tarike hote hain ya giri vyast hai ya anali intentionally hai tum murder ke jude sakshya ke aadhar par bhi saza di ja sakti hai kai baar aisa hota hai ki murder kiya hai lekin mere guest jo koi evidence nahi hai sabhi evidence meri favour me aa rahi hai mera bachav kar rahi hai tu bhale hi murder kiya hai lekin ek jua hai use nyuntam saza ke aadhar par mamle ka nistaaran kiya ja sakta hai dhanyavad

देखिए किसी भी व्यक्ति को मर्डर कल्पेबल होमीसाइड और मर्डर ही हमारी भारतीय दंड संहिता अधिनिय

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में यदि कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति का मर्डर कर देता है तो कोर्ट में उसको धारा 302 भारतीय दंड संहिता की धारा के अंतर्गत लाइफ इंप्रिजनमेंट आजीवन कारावास या मृत्युदंड की सजा सुनाई जाती है

bharat me yadi koi vyakti kisi vyakti ka murder kar deta hai toh court me usko dhara 302 bharatiya dand sanhita ki dhara ke antargat life imprijanament aajivan karavas ya mrityudand ki saza sunayi jaati hai

भारत में यदि कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति का मर्डर कर देता है तो कोर्ट में उसको धारा 302 भारत

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Jagdish Saxena

Nagrik Adhikar Chetna Parishad (NGO)

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्डर केस हालत में किया गया है किस स्थिति में किया गया है उसमें आपको 10 साल भी हो सकती है 14 साल की हो सकती है वह कुकुर के ऊपर निर्भर है

murder case halat me kiya gaya hai kis sthiti me kiya gaya hai usme aapko 10 saal bhi ho sakti hai 14 saal ki ho sakti hai vaah kukur ke upar nirbhar hai

मर्डर केस हालत में किया गया है किस स्थिति में किया गया है उसमें आपको 10 साल भी हो सकती है

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  465
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन जैसा मैंने पहले भी बता चुका हूं कि मर्डर की जो धारा 302 होती है उसके तहत 10 साल की सजा होती है और यह उम्र कैद में भी तब्दील की जा सकती है फिलहाल जुर्माना भी देना होता है

lekin jaisa maine pehle bhi bata chuka hoon ki murder ki jo dhara 302 hoti hai uske tahat 10 saal ki saza hoti hai aur yah umar kaid me bhi tabdil ki ja sakti hai filhal jurmana bhi dena hota hai

लेकिन जैसा मैंने पहले भी बता चुका हूं कि मर्डर की जो धारा 302 होती है उसके तहत 10 साल की स

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  822
WhatsApp_icon
user

Balkar Singh

Advocate

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति को मर्डर यानी कत्ल करने पर दफा 302 इंडियन पेनल कोड के तहत उम्रकैद की सजा या जिसको कहते हैं कि फांसी की सजा रे रख दी रे रेस्ट के बिल्कुल ही कोई अलग देश इस तरह का होगी जिसमें क्रूर तरीके से हत्या इरादतन की गई इरादतन हत्या 302 की धारा लगती है गैर इरादतन में 302 धारा या जिसका कत्ल कहीं नहीं होता तो इस कॉल्ड कल्पेबल होमीसाइड नॉट अमाउंटिंग टो मडर सिंह राशि किसी और से किसी की लड़ाई थी ऐसे लड़ाई की भी की और लेकिन उसके पास में ही खड़ा था उसी को गोली लग जाती है लेकिन अदर वाइज जिसके ऊपर 302 की धारा साबित हो जाती है तो कानूनन उसको उसकी सजा कम से कम लाइफ इंप्रिजनमेंट उम्रकैद या फांसी की सजा का प्रावधान भारतीय कानून में दिया गया है

kisi vyakti ko murder yani katl karne par dafa 302 indian panel code ke tahat umrakaid ki saza ya jisko kehte hain ki fansi ki saza ray rakh di ray rest ke bilkul hi koi alag desh is tarah ka hogi jisme krur tarike se hatya iradatan ki gayi iradatan hatya 302 ki dhara lagti hai gair iradatan me 302 dhara ya jiska katl kahin nahi hota toh is called culpable homicide not amounting toe madar Singh rashi kisi aur se kisi ki ladai thi aise ladai ki bhi ki aur lekin uske paas me hi khada tha usi ko goli lag jaati hai lekin other wise jiske upar 302 ki dhara saabit ho jaati hai toh kanunan usko uski saza kam se kam life imprijanament umrakaid ya fansi ki saza ka pravadhan bharatiya kanoon me diya gaya hai

किसी व्यक्ति को मर्डर यानी कत्ल करने पर दफा 302 इंडियन पेनल कोड के तहत उम्रकैद की सजा या ज

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Yogender Dhillon

Law Educator , Advocate,RTI Activist , Motivational Coach

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो यह तो किस पे डिपेंड करता है कि मर्डर किया है तो वह पहले तो यह देखना पड़ेगा कि वह मर्डर थी अंडर सेक्शन में आता है या टूटना लाइन में आता है ठीक है फिर यदि होती अंडर में आता है तो देखो उसमें सजा मौत की सजा भी हो सकती है लाइफ इंप्रिजनमेंट भी हो सकता है और उससे कम सजा भी दी जा सकती है और यदि वह 299 मर्डर होता है लेकिन उसमें कुछ चीज होती है जो आदमी इंटेंशनली नहीं उससे हो जाता है गलती से हो जाता है करना नहीं चाहता था उसे नॉलेज तो चाहिए काम करेगा तो मर्डर हो जाए तो डिपेंड करता है तो उसमें 7 साल तक की होती है उसमें 10 साल तक की होती है वह किस पे डिपेंड करता है कि मर्डर ने कितनी सजा होती है

dekho yah toh kis pe depend karta hai ki murder kiya hai toh vaah pehle toh yah dekhna padega ki vaah murder thi under section me aata hai ya tutana line me aata hai theek hai phir yadi hoti under me aata hai toh dekho usme saza maut ki saza bhi ho sakti hai life imprijanament bhi ho sakta hai aur usse kam saza bhi di ja sakti hai aur yadi vaah 299 murder hota hai lekin usme kuch cheez hoti hai jo aadmi intentionally nahi usse ho jata hai galti se ho jata hai karna nahi chahta tha use knowledge toh chahiye kaam karega toh murder ho jaaye toh depend karta hai toh usme 7 saal tak ki hoti hai usme 10 saal tak ki hoti hai vaah kis pe depend karta hai ki murder ne kitni saza hoti hai

देखो यह तो किस पे डिपेंड करता है कि मर्डर किया है तो वह पहले तो यह देखना पड़ेगा कि वह मर्ड

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जो आप किसी व्यक्ति का मर्डर करते हैं तो उसमें आपका इंटरनेट इंटेंशन देख कर के आया क्या था इस परिणाम निकालना अपने मर्डर किया है लेकिन बॉर्डर में जो छाया होती है वह 302 के तहत आप को आजीवन कारावास लेकर के मृतक की सायं तक की सजा हो सकती है लेकिन मैं तुरंत आपको बदल से बदलता मामले में दिया जाएगा इस पर कैसा बच्चा सिंह बनाम पंजाब राज्य इसी प्रकार से आप पहना देखेंगे 303 के तहत धारा इसे समझाने दोस्ती कर देगी वहीं पंजाब का यह टेस्ट था इसी प्रकार से आज दिल दा मामला है जो शरीर में आपको 10 घंटा की हो सकता है

dekhiye jo aap kisi vyakti ka murder karte hain toh usme aapka internet intention dekh kar ke aaya kya tha is parinam nikalna apne murder kiya hai lekin border me jo chhaya hoti hai vaah 302 ke tahat aap ko aajivan karavas lekar ke mritak ki sayan tak ki saza ho sakti hai lekin main turant aapko badal se badalta mamle me diya jaega is par kaisa baccha Singh banam punjab rajya isi prakar se aap pehna dekhenge 303 ke tahat dhara ise samjhane dosti kar degi wahi punjab ka yah test tha isi prakar se aaj dil the maamla hai jo sharir me aapko 10 ghanta ki ho sakta hai

देखिए जो आप किसी व्यक्ति का मर्डर करते हैं तो उसमें आपका इंटरनेट इंटेंशन देख कर के आया क्य

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  290
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझसे सवाल पूछा गया किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर क्या सजा मिलती है सजा तो ही मिलेगा या तो आप को फांसी हो जाएगा और यह आप आजीवन कारावास में जेल काटी जब तक आप की डेड बॉडी बाहर नहीं आएगी तब तक आप जेल के अंदर ही रहेंगे थैंक यू

mujhse sawaal poocha gaya kisi vyakti ko murder karne par kya saza milti hai saza toh hi milega ya toh aap ko fansi ho jaega aur yah aap aajivan karavas me jail kaati jab tak aap ki dead body bahar nahi aayegi tab tak aap jail ke andar hi rahenge thank you

मुझसे सवाल पूछा गया किसी व्यक्ति को मर्डर करने पर क्या सजा मिलती है सजा तो ही मिलेगा या तो

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  370
WhatsApp_icon
user

Ram kumar

Advocate High Court Allahabad

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह मर्डर केस में अमूमन यह लाइफ कनेक्शन और और नतरंग का प्रावधान रहता है

yah murder case me amuman yah life connection aur aur natrang ka pravadhan rehta hai

यह मर्डर केस में अमूमन यह लाइफ कनेक्शन और और नतरंग का प्रावधान रहता है

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  33  Dislikes    views  394
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कानून में मर्डर के लिए धारा 302 बनाई गई है जिसमें फांसी तक की सजा का प्रावधान है किंतु अधिकतर ऐसे मामलों में यह देखने में आया है कि अदालतें हैं अधिकतर आजीवन कारावास की भी सजा करते हैं और यदा-कदा कभी कोई मामला यदि हाईलाइट है या कोई अन्य वजह है जिसकी वजह से केस और अधिक गंभीर हो जाता है तो ऐसी दशा में ही कोर्ट फांसी की सजा देती है अदर वाइज मोस्टली के सर में आजीवन कारावास तक की ही सजा हत्या के मामलों में अदालतों द्वारा दी जाती

kanoon me murder ke liye dhara 302 banai gayi hai jisme fansi tak ki saza ka pravadhan hai kintu adhiktar aise mamlon me yah dekhne me aaya hai ki adalaten hain adhiktar aajivan karavas ki bhi saza karte hain aur yada kada kabhi koi maamla yadi highlight hai ya koi anya wajah hai jiski wajah se case aur adhik gambhir ho jata hai toh aisi dasha me hi court fansi ki saza deti hai other wise Mostly ke sir me aajivan karavas tak ki hi saza hatya ke mamlon me adalaton dwara di jaati

कानून में मर्डर के लिए धारा 302 बनाई गई है जिसमें फांसी तक की सजा का प्रावधान है किंतु अधि

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

hjkj

Legal

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे भारतीय दंड संहिता में जो मर्डर करने पर जो सजा है उसमें सजा का प्रावधान है फांसी आजीवन कारावास में कानून की बात कर रहा हूं दुकान में जो प्रावधान दिए गए उसकी हत्या में दो ही तरह की सजा है आजीवन कारावास या फांसी गिरल तमसे निरंतर मामले रेयरेस्ट ऑफ द रेयर केस में ही दिया जाता है अगर भाई जिसको नहीं आजीवन कारावास में कन्वर्ट कर दिया जाता है आजीवन कारावास में कमेंट कर दिया जाता है और इसमें कई सिचुएशन देखा जाता है कि क्या उस पर हत्या के जो ग्राउंड है या जो एलिमेंट एलिमेंट को क्या हुआ फूल खिल कर रहा है मर्डर को मर्डर के जो क्या है प्रोवोकेशन कूपन में आकर उसने हत्या किया तुम हो पनिशमेंट का रेट को कम करेगा पनिशमेंट जो मिलना चाहिए था जितने आदि वर्कर आवाज को बंद कुछ और कम हो सकता है क्या इसलिए इनका फर्स्ट ऑफेंस है प्रथम बार इन्होंने अपराधी अपराधी अपराधी अगर इस तरह का जमाना था बहुत ज्यादा रिलीफ आप को हाईकोर्ट से योगासन से बहुत कम ही मिलता है इससे आपको मिल भी सकता है और नहीं भी दोनों चीजें हैं सबसे पहले आप सितंबर ट्राई करिए फिर से ट्राई करके चाहे वह पहला हूं या तो बहुत अच्छी बात है दिया जाएगा

hamare bharatiya dand sanhita me jo murder karne par jo saza hai usme saza ka pravadhan hai fansi aajivan karavas me kanoon ki baat kar raha hoon dukaan me jo pravadhan diye gaye uski hatya me do hi tarah ki saza hai aajivan karavas ya fansi giral tamase nirantar mamle rarest of the reyar case me hi diya jata hai agar bhai jisko nahi aajivan karavas me convert kar diya jata hai aajivan karavas me comment kar diya jata hai aur isme kai situation dekha jata hai ki kya us par hatya ke jo ground hai ya jo element element ko kya hua fool khil kar raha hai murder ko murder ke jo kya hai provocation coupon me aakar usne hatya kiya tum ho punishment ka rate ko kam karega punishment jo milna chahiye tha jitne aadi worker awaaz ko band kuch aur kam ho sakta hai kya isliye inka first offense hai pratham baar inhone apradhi apradhi apradhi agar is tarah ka jamana tha bahut zyada relief aap ko highcourt se yogasan se bahut kam hi milta hai isse aapko mil bhi sakta hai aur nahi bhi dono cheezen hain sabse pehle aap september try kariye phir se try karke chahen vaah pehla hoon ya toh bahut achi baat hai diya jaega

हमारे भारतीय दंड संहिता में जो मर्डर करने पर जो सजा है उसमें सजा का प्रावधान है फांसी आजीव

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!