बिहार में BJP के कारण शासन काल से अब तक की राजनीति में क्या परिवर्तन हुई?...


user

Kumud Ranjan

Motivational speaker And Educator

4:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें जब पहली बार नीतीश कुमार जी बिहार में मुख्यमंत्री बने थे 2005 में बने थे 45 में जब फर्स्ट एनडीए का जो सरकार हुआ था 6 मैसेज बने थे तो उसमें एनडीए के सरकार के बनने के बाद बिहार में प्रोग्रेस का बाढ़ आ गया था अच्छा-अच्छा रोड बन रहा था क्राइम दम जीरो लेवल पर चल गया था अनइंप्लॉयमेंट को जो पहले था वह अभी भी है बिहार में पॉलिसी के कारण से ही पूरे बिहार के लोग पूरे भारत के कोने-कोने में फैले हुए हैं यह एक बहुत बड़ी असफलता है बिहार सरकार के लिए यह बिहार सरकार को मानना चाहिए और जब दूसरी बार जब फिर से नीतीश कुमार जी हमारे यहां आए तो थोड़ा मोड़ा काम थोड़ा मोड़ा यह आप किसी से भी पूछ सकते हैं कोई भी आपको कर सकता सकता है थोड़ा मोड़ा सेकंड पार्ट में बिजली का काम हुआ हां फर्स्ट बाद में जब इंडिया की पहली बार प्रकार बनी वहां पर तो बकायदा काफी अच्छा स्कूल पर भी काम हुआ काफी अच्छा रोड पर भी काम हुआ काफी अच्छा पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन को संभालने का भी काम हुआ क्राइम जो है वह घटकर शून्य पर आ गया पहले किडनैपिंग वगैरह होता था यह सब का बहुत ज्यादा जो आरजेडी की कॉमेंट तो उसमें बहुत ज्यादा यह सब होता था बट यह घाटा रिड्यूस हुआ कहीं ना कहीं अच्छा एक इमेज बना बिहार का 2000 6 7 8 में बिहार का इमेज पूरे भारत के पूरे भारत के नक्शे पर पूरे भारत के अलग राज्य में एक अच्छा इमेज बना लेकिन फिर नीतीश कुमार धीरे-धीरे होते चले गए पता नहीं कहां खो गए तो अब इतनी अच्छी नहीं है जिस तरह से पहले हुआ करते थे पहले नीतीश कुमार टक्कर में थे भारत के प्रधानमंत्री बनने लायक ऐसा एक्सपोर्ट बोलता था कि नीतीश कुमार जो है वह नरेंद्र मोदी के पैनल एक खड़े नेता हैं यानी कंपटीशन में और अभी देखे नरेंद्र मोदी कहां चले गए हैं अभी देखिए नीतीश कुमार कहां चले गए हैं पहले इन दोनों का कंपटीशन हुआ करता था कि भाई यह सुशासन बाबू अब उनका भी ऑडियोलॉजी कांसेप्ट जो है इनके द्वारा लिया गया इनके द्वारा पीएम मोदी के द्वारा लिया गया लेकिन पीएम मोदी काफी आगे चले गए नीतीश कुमार काफी पीछे छूट गई तेज कुमार में एक और बात है यह अपने रहते हुए किसी एक ने किसी को उभरने नहीं देते दिखे लीडर किसको बोलता लीडरशिप क्वालिटी क्या होता है क्वालिटी है क्या आप अपने नेतृत्व में एक नया लीडर जो है पूरे देश को देकर जाएं पूरे राज्य को देखे जाएं यह होता है लीडरशिप क्वालिटी आप खुद का काम मत कीजिए लेकिन आप काम करवाइए अभी ऐसे काम नहीं है डिक्टेटरशिप्स ऐसा नहीं कहा आप ऐसे ही लिख लीजिए ऐसे काम करवाइए जो जिससे कि आपके बैंक में यानी आप अगर फ्रंट में खड़ा है तो आप को समझना चाहिए कि हम चले भी जा तो मेरे पीछे जिसको हम तैयार किए हैं वह है मेरा मानना यही है तो घर में बीजेपी के कारण शासन काल से अब तक की राजनीति में क्या परिवर्तन है तो यही परिवर्तन हुआ ओवरऑल देखा जाए तो मेरे समझ से जितना परिवर्तन होना चाहिए उतना परिवर्तन नहीं हुआ ठीक है मा फर्स्ट में ज्यादा काम हुआ बहुत ज्यादा परिवर्तन हुआ सेकंड में हुआ था मैं आपसे फिर वही चैन सिंह निराला बोल सकते हैं जो चैनिंग हुआ मानव सिंगला जिसको बोलेंगे हेमंत जैन जो वर्ल्ड रिकॉर्ड बना एक चीज वह हुआ कुछ प्लेसिस पर घोषित हुआ वह चीज हुआ और एक शराबबंदी जो कि मेरे समझ से कोई खास बात है नहीं शराबबंदी से बिहार सरकार का ही रे बिना न्यू घटा इससे अच्छा होता कि आप आराम से कैंपेनिंग करते अभी कोरोनावायरस का कैंपेनिंग चल रहा है कि भैया घर में रहिएगा तो आप दूर रहिएगा उसी तरह से खराब को प्रोडक्शन पर का शराब का होता सब काम करते हैं लेकिन सिर्फ यह होता है कि आप कैंपेनिंग करते कि बाय आईआईटी जूलियस टू आवर हेल्प तो एडिट फुल्ली अप टू यू कि आप इट इज योर चॉइस इट शुड बी योरचॉइस ताकि सीवान टू डिंग डांग यू कैन ड्रिंक अदर वाइज इट इज वेरी डेंजरस टू आवर है

dekhen jab pehli baar nitish kumar ji bihar me mukhyamantri bane the 2005 me bane the 45 me jab first nda ka jo sarkar hua tha 6 massage bane the toh usme nda ke sarkar ke banne ke baad bihar me progress ka baadh aa gaya tha accha accha road ban raha tha crime dum zero level par chal gaya tha anaimplayament ko jo pehle tha vaah abhi bhi hai bihar me policy ke karan se hi poore bihar ke log poore bharat ke kone kone me failen hue hain yah ek bahut badi asafaltaa hai bihar sarkar ke liye yah bihar sarkar ko manana chahiye aur jab dusri baar jab phir se nitish kumar ji hamare yahan aaye toh thoda moda kaam thoda moda yah aap kisi se bhi puch sakte hain koi bhi aapko kar sakta sakta hai thoda moda second part me bijli ka kaam hua haan first baad me jab india ki pehli baar prakar bani wahan par toh bakayada kaafi accha school par bhi kaam hua kaafi accha road par bhi kaam hua kaafi accha police administration ko sambhalne ka bhi kaam hua crime jo hai vaah ghatakar shunya par aa gaya pehle kidnaiping vagera hota tha yah sab ka bahut zyada jo rjd ki comment toh usme bahut zyada yah sab hota tha but yah ghata reduce hua kahin na kahin accha ek image bana bihar ka 2000 6 7 8 me bihar ka image poore bharat ke poore bharat ke nakshe par poore bharat ke alag rajya me ek accha image bana lekin phir nitish kumar dhire dhire hote chale gaye pata nahi kaha kho gaye toh ab itni achi nahi hai jis tarah se pehle hua karte the pehle nitish kumar takkar me the bharat ke pradhanmantri banne layak aisa export bolta tha ki nitish kumar jo hai vaah narendra modi ke panel ek khade neta hain yani competition me aur abhi dekhe narendra modi kaha chale gaye hain abhi dekhiye nitish kumar kaha chale gaye hain pehle in dono ka competition hua karta tha ki bhai yah sushashan babu ab unka bhi adiyolaji concept jo hai inke dwara liya gaya inke dwara pm modi ke dwara liya gaya lekin pm modi kaafi aage chale gaye nitish kumar kaafi peeche chhut gayi tez kumar me ek aur baat hai yah apne rehte hue kisi ek ne kisi ko ubharane nahi dete dikhe leader kisko bolta leadership quality kya hota hai quality hai kya aap apne netritva me ek naya leader jo hai poore desh ko dekar jayen poore rajya ko dekhe jayen yah hota hai leadership quality aap khud ka kaam mat kijiye lekin aap kaam karavaiye abhi aise kaam nahi hai dictatorships aisa nahi kaha aap aise hi likh lijiye aise kaam karavaiye jo jisse ki aapke bank me yani aap agar front me khada hai toh aap ko samajhna chahiye ki hum chale bhi ja toh mere peeche jisko hum taiyar kiye hain vaah hai mera manana yahi hai toh ghar me bjp ke karan shasan kaal se ab tak ki raajneeti me kya parivartan hai toh yahi parivartan hua overall dekha jaaye toh mere samajh se jitna parivartan hona chahiye utana parivartan nahi hua theek hai ma first me zyada kaam hua bahut zyada parivartan hua second me hua tha main aapse phir wahi chain Singh niraala bol sakte hain jo chaining hua manav shingala jisko bolenge hemant jain jo world record bana ek cheez vaah hua kuch plesis par ghoshit hua vaah cheez hua aur ek sharabbandi jo ki mere samajh se koi khas baat hai nahi sharabbandi se bihar sarkar ka hi ray bina new ghata isse accha hota ki aap aaram se campaigning karte abhi coronavirus ka campaigning chal raha hai ki bhaiya ghar me rahiega toh aap dur rahiega usi tarah se kharab ko production par ka sharab ka hota sab kaam karte hain lekin sirf yah hota hai ki aap campaigning karte ki bye IIT julius to hour help toh edit fully up to you ki aap it is your choice it should be yorchais taki seewan to ding dang you can drink other wise it is very dangerous to hour hai

देखें जब पहली बार नीतीश कुमार जी बिहार में मुख्यमंत्री बने थे 2005 में बने थे 45 में जब फर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  102
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!