भारत में कोरोना फैलाने के लिए तब्लीगी जमात कितनी जिम्मेदार है?...


user

Sunil Kumar

Online Business ,Newtork Marketing & You Tuber

5:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसा कि आपको सवाल को में सबसे पहली बात करता हूं कि भारत ही नहीं पूरे विश्व में अगर करना फैलने के जिम्मेदार है तो वह सिर्फ और चीन है या फिर चीन की टेस्टिंग है टीनएजीआर जानबूझकर किया अनजाने में किया यह तो जांच का विषय है पता नहीं कभी पता चलेगा या नहीं पता चलेगा वह तो जांच का विषय है लेकिन जैसा कि आप का सवाल है कि क्या भारत में करुणा पब्लिक ही जिम्मेदार जिम्मेदार है तो मैं मानता हूं कि बिल्कुल नहीं जैसा कि आज के टाइम में मीडिया में दिखाया गया है कि तबलिगही जमात के कारण ही यहां पर इंडिया में पूरा तरह से फैला है यह आपको कोरोनावायरस का नाम दे दिया कुछ दंगाई पत्रकारों ने कुछ चाटुकार पत्रकारों या फिर कुछ गोदी मीडिया ने इसको ऐसा बना दिया कि मतलब कि जैसे कि तबलिगही जमात के कारण ही आज पूरा भारत बर्बाद होने की स्थिति में आ गया है लेकिन इसका दूसरा पहलू भी है जो दूसरा पहलू सबसे इंपोर्टेंट है और खाद से मुस्लिम भाइयों जो जो इस्लाम धर्म को है उसके ऊपर सुनना चाहिए उसको भी गौर करने चाहिए कि वह धर्म के प्रति उनकी कट्टरता है वह बार-बार सामने आ जा यही धर्म के प्रति कट्टरता को आज की गोदी मीडिया या फिर इसको कहीं चाटुकार मीडियम यूज करती है और यूज़ करके अपने आकाओं को खुश करती है अब बात करता हूं कटता के कटता में मैंने बहुत सारे वीडियो बहुत सारे ऑडियो चैट टिक टॉक पर हो चाय सोशल मीडिया पर वह कहीं पर भी हो इसमें हर जगह से मुसलमानों को कहते सुना गया कि मुसलमानों तो फिर डरने की जरूरत नहीं है सिर्फ और सिर्फ अल्लाह से डरो करने की कोई जरूरत नहीं है तुम मत जाओ नमाज अदा करो सब कुछ करो अल्लाह तुम्हारे लिए कुछ नहीं करने देगी तरह से वीडियो आपने भी देखा होगा पूरी दुनिया ने देखा इससे एक मैसेज निकल कर सामने आता है कि जब लोग इतने बेखौफ हैं इतने सारे तरीके से कह रहे हैं कर रहे हैं तो जरूर इनका भी हाथ है और बहुत सारे कुछ वीडियो ऐसे हैं जहां पर कुछ लोगों ने धर्म विशेष के लोगों ने नोट को मतलब थूक लगाकर लोगों को फेंका जाता दिया जाए ताकि ताकि उसमें भी करना तो यह सारे तरीके के कारण जो इससे पता चलता है कि उनकी जो धार्मिक कट्टरता है उनके धर्म के प्रति जो सोच है इतने हद तक गिरी हुई और कितना हद तक कट्टर है मैं सिंपल सिर्फ पूछना चाहता हूं हो सकती मेरी बातें किसी को बुरी लगे मैं सिंपल से यह पूछना चाहता हूं कि आप हिंदू हो मुस्लिम हो धर्म ईसाई हो या फिर किसी भी धर्म संप्रदाय के हूं क्या करूं ना जो फैला हुआ आज के टाइम में क्या जिसने भी फैलाया क्या इसका एंटी डोज किसी मंदिर मस्जिद गुरुद्वारा चर्च में या फिर कहीं बनेगा अगर तुम्हें अपनी बात को जोश अपनी गलती का एहसास करता नहीं मैं बिल्कुल गलत बोल रहा हूं अगर यह चटनी बन जाएगा अगर किसी मंदिर में अगर किसी मस्जिद में इसका डोज एंटी डोज आ जाएगा वहां से इसका कोई निराकरण निकल जाए तो फिर तो जितने भी डॉक्टर हैं जितने भी और शहर औषधालय हैं जितने भी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर है कितने मेडिकल कॉलेज तारीख को बंद करना चाहिए और सारा रिचार्ज ऐसे ही धार्मिक संस्थान में करना चाहिए राजस्थान बंद है आज सारे जितने कहे जा तू सारे दुकान बंद है सिर्फ और सिर्फ एक चालू है रिसर्च सेंटर वैज्ञानिक डॉक्टर दिन बात करके मेहनत में काम कर रहे हैं और आए हो पाई उम्मीद उम्मीद करता हूं कि बहुत जल्द दो-तीन महीने के अंदर कैंटिटोस आ जाएगा ताकि लोगों में इतना बेहतर जो है लोग कितने बजे मौत हो रही है इतना जो पॉजिटिव हो रहे हैं थोड़ा बहुत कम हो जाए और लोग जोश आसानी से कैसे पूरा भारत के साथ पूरा विश्व जोसेफ ने स्थिति पर आंखों से क्योंकि यह चीज है इतना बड़ा यह है कि इससे पहले जितने महामारी फैली है आप उसका इतिहास पलट कर देख लीजिए और यही कारण है कि इंडिया में जरूरत से पहले समय से पहले लोग दान कर दिया गया जो मोदी सरकार की भारत की मोदी सरकार की 1 हंड्रेड परसेंट कर सकता हूं कि मोदी सरकार की बेहतरीन जो है कूटनीतिक कदम कहिए जिनमें कदम उठाया जिसके कारण भारत में अभी चंद लोगों की कह सकता हूं बहुत कम मात्रा में है जो इसे अफेक्टेड हुए अब बहुत कम मात्रा में मौत दे दिए लेकिन अगर यह लोग नाम नहीं किया करता तो हम और आप कल्पना भी नहीं कर सकते अभी स्थिति क्या होती तो मानने वाले मानते हैं बाकी क्रिटिसाइज करने वाले किड्स करते रहेंगे लेकिन यह जो मीडिया जो होती है मीडिया टीआरपी इसका सिर्फ और सिर्फ पैसों का खेल किसी कुत्र बदनाम कर दो किसीको इतना नंगा कर दो इतना जाहिल कर दो कि उसके ऊपर क्या प्रभाव पड़ेगा उसके बच्चों के पर क्या प्रभाव पड़ेगा उसके धर्म संप्रदाय के लोगों को जो अच्छा सोचते हैं जो पढ़े लिखे हैं जो समझदार हैं जिनका कोई कसूर नहीं दमाद के पीछे सियासी जमात को मानते भी नहीं है जानते भी नहीं है सिर्फ उस जमात से उस धर्म से आते हैं उसके ऊपर क्या बीतेगी उसका सामाजिक स्थिति क्या होगा उसका ऊपर इससे उसको मीडिया को कोई मतलब नहीं है मीडिया को सिर्फ और सिर्फ मतलब अपना टीआरपी देखना और अपने आका को खुश करना और अपना J2 प्राइम टाइम को खुश करना तो यह सिर्फ उसे मीडिया का फैलाया हुआ है बाकी तबलिगही जमात से गलती हुई है मैं बार-बार कहता हूं इस चीज को जितनी जल्दी हो सके तबलिगही जमात जो मुसलमान को मानना चाहिए और उसको थोड़ा सा धार्मिक कट्टरता को कम करनी चाहिए तो मीडिया कुछ नहीं कर पाएगा आप अगर ठीक है तो चाहे दूसरा कोई भी कितना भी गाली दे आप भी ठीक ही रहेंगे अगर आप खुद में कमजोरी पैदा करें खुद के पैर में कुल्हाड़ी मारेंगे तो तो आपको मीडिया आग लगाने के लिए तैयार रहता है थैंक यू

dekhe jaisa ki aapko sawaal ko me sabse pehli baat karta hoon ki bharat hi nahi poore vishwa me agar karna failane ke zimmedar hai toh vaah sirf aur china hai ya phir china ki testing hai tinaejiaar janbujhkar kiya anjaane me kiya yah toh jaanch ka vishay hai pata nahi kabhi pata chalega ya nahi pata chalega vaah toh jaanch ka vishay hai lekin jaisa ki aap ka sawaal hai ki kya bharat me corona public hi zimmedar zimmedar hai toh main maanta hoon ki bilkul nahi jaisa ki aaj ke time me media me dikhaya gaya hai ki tabalighi jamaat ke karan hi yahan par india me pura tarah se faila hai yah aapko coronavirus ka naam de diya kuch dangaii patrakaron ne kuch chatukar patrakaron ya phir kuch godi media ne isko aisa bana diya ki matlab ki jaise ki tabalighi jamaat ke karan hi aaj pura bharat barbad hone ki sthiti me aa gaya hai lekin iska doosra pahaloo bhi hai jo doosra pahaloo sabse important hai aur khad se muslim bhaiyo jo jo islam dharm ko hai uske upar sunana chahiye usko bhi gaur karne chahiye ki vaah dharm ke prati unki kattartaa hai vaah baar baar saamne aa ja yahi dharm ke prati kattartaa ko aaj ki godi media ya phir isko kahin chatukar medium use karti hai aur use karke apne akaon ko khush karti hai ab baat karta hoon katata ke katata me maine bahut saare video bahut saare audio chat tick talk par ho chai social media par vaah kahin par bhi ho isme har jagah se musalmanon ko kehte suna gaya ki musalmanon toh phir darane ki zarurat nahi hai sirf aur sirf allah se daro karne ki koi zarurat nahi hai tum mat jao namaz ada karo sab kuch karo allah tumhare liye kuch nahi karne degi tarah se video aapne bhi dekha hoga puri duniya ne dekha isse ek massage nikal kar saamne aata hai ki jab log itne bekhauf hain itne saare tarike se keh rahe hain kar rahe hain toh zaroor inka bhi hath hai aur bahut saare kuch video aise hain jaha par kuch logo ne dharm vishesh ke logo ne note ko matlab thuk lagakar logo ko fenkaa jata diya jaaye taki taki usme bhi karna toh yah saare tarike ke karan jo isse pata chalta hai ki unki jo dharmik kattartaa hai unke dharm ke prati jo soch hai itne had tak giri hui aur kitna had tak kattar hai main simple sirf poochna chahta hoon ho sakti meri batein kisi ko buri lage main simple se yah poochna chahta hoon ki aap hindu ho muslim ho dharm isai ho ya phir kisi bhi dharm sampraday ke hoon kya karu na jo faila hua aaj ke time me kya jisne bhi faelaya kya iska anti dose kisi mandir masjid gurudwara church me ya phir kahin banega agar tumhe apni baat ko josh apni galti ka ehsaas karta nahi main bilkul galat bol raha hoon agar yah chatni ban jaega agar kisi mandir me agar kisi masjid me iska dose anti dose aa jaega wahan se iska koi nirakaran nikal jaaye toh phir toh jitne bhi doctor hain jitne bhi aur shehar aushadhalay hain jitne bhi hospital and research center hai kitne medical college tarikh ko band karna chahiye aur saara recharge aise hi dharmik sansthan me karna chahiye rajasthan band hai aaj saare jitne kahe ja tu saare dukaan band hai sirf aur sirf ek chaalu hai research center vaigyanik doctor din baat karke mehnat me kaam kar rahe hain aur aaye ho payi ummid ummid karta hoon ki bahut jald do teen mahine ke andar kaintitos aa jaega taki logo me itna behtar jo hai log kitne baje maut ho rahi hai itna jo positive ho rahe hain thoda bahut kam ho jaaye aur log josh aasani se kaise pura bharat ke saath pura vishwa joseph ne sthiti par aakhon se kyonki yah cheez hai itna bada yah hai ki isse pehle jitne mahamari faili hai aap uska itihas palat kar dekh lijiye aur yahi karan hai ki india me zarurat se pehle samay se pehle log daan kar diya gaya jo modi sarkar ki bharat ki modi sarkar ki 1 hundred percent kar sakta hoon ki modi sarkar ki behtareen jo hai kutanitik kadam kahiye jinmein kadam uthaya jiske karan bharat me abhi chand logo ki keh sakta hoon bahut kam matra me hai jo ise affected hue ab bahut kam matra me maut de diye lekin agar yah log naam nahi kiya karta toh hum aur aap kalpana bhi nahi kar sakte abhi sthiti kya hoti toh manne waale maante hain baki criticize karne waale kids karte rahenge lekin yah jo media jo hoti hai media trp iska sirf aur sirf paison ka khel kisi kutra badnaam kar do kisiko itna nanga kar do itna jaahil kar do ki uske upar kya prabhav padega uske baccho ke par kya prabhav padega uske dharm sampraday ke logo ko jo accha sochte hain jo padhe likhe hain jo samajhdar hain jinka koi kasoor nahi damad ke peeche siyasi jamaat ko maante bhi nahi hai jante bhi nahi hai sirf us jamaat se us dharm se aate hain uske upar kya bitegi uska samajik sthiti kya hoga uska upar isse usko media ko koi matlab nahi hai media ko sirf aur sirf matlab apna trp dekhna aur apne aaka ko khush karna aur apna J2 prime time ko khush karna toh yah sirf use media ka faelaya hua hai baki tabalighi jamaat se galti hui hai main baar baar kahata hoon is cheez ko jitni jaldi ho sake tabalighi jamaat jo musalman ko manana chahiye aur usko thoda sa dharmik kattartaa ko kam karni chahiye toh media kuch nahi kar payega aap agar theek hai toh chahen doosra koi bhi kitna bhi gaali de aap bhi theek hi rahenge agar aap khud me kamzori paida kare khud ke pair me kulhadi marenge toh toh aapko media aag lagane ke liye taiyar rehta hai thank you

देखे जैसा कि आपको सवाल को में सबसे पहली बात करता हूं कि भारत ही नहीं पूरे विश्व में अगर कर

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  3048
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!