मैं लड़की से प्यार करता हूं उसे प्रपोज कैसे करूं, जवाब दीजिए प्लीज?...


user

Yogi Prashant Nath

Business Consultant / M D

3:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सर प्रथम सराहनीय हैं आपके द्वारा पूछा गया यह प्रश्न जो इजहार से संबंधित है उसके उपरांत में अपना परिचय कराना चाहूंगा आपसे मेरा नाम है योगी प्रशांत ना चलिए बढ़ते आपके प्रश्न की तरफ देखते हैं कि आपने प्रश्न सवाल किया है आपका प्रश्न है आपका सवाल है कि आप किसी लड़की से प्यार करते हैं उसे कैसे प्रपोज करें आपको इसके बारे में जवाब जानना है आप इजहार करना चाहते हैं किसी से आप किसी से प्यार करते हैं बहुत अच्छी बातें जानकर खुशी हुई कि आप किसी से प्यार करते हैं और किसी के प्रभा करते हैं किसी के बारे में किसी की फिक्र करते हैं तो जो भी आपके अंदर की फीलिंग्स है जो आपकी भावनाएं हैं किसी के प्रति उसको इजहार करना उसको कहना है बहुत अच्छी बात है आपकी जो भी भावनाएं वह जरूर आपकी यह कहना चाहिए किसी से छुपाना नहीं चाहिए क्योंकि जब हम अपनी भावनाओं को जब दबाने लगते हैं कहीं ना कहीं बहुत सारी समस्याएं आने लगते कहीं ना कहीं हमारे अंदर वह ना कहीं ना कहीं हमें परेशान करते रहते हैं और इसमें बिल्कुल भी डरने हिचकी हटाने की बात नहीं है कि कैसे करें या कौन सा लहजे में बात करें नॉर्मल तरीके से जैसा आप रोजमर्रा के जीवन में आमतौर पर सभी से अपील करते हैं सभी से बात करते हैं उसी तरह से ही अपनी शुरुआत कर सकते अपनी बात कह सकते हैं बता सकते हैं कि आपके उनके प्रति आपके क्या विचार हैं आपके क्या भावनाएं हैं और आपको उसे अगर उनका जो भी जवाब है उसको स्वीकार करना चाहिए उस से सहमति रखनी चाहिए जिस प्रकार से आपको स्वतंत्रता है अपनी बात को रखने का उस तरह से उन्हीं को हमको भी स्वतंत्रता है अपनी बात को अपने का चुनाव करने का उनको भी अधिकार है कि या उनका चुनाव है यह कि वह आपकी बात को प्रसन्न करते हैं या ना करें को समझना होगा मैं तोता देनी होगी क्योंकि कई बार हम क्या करते हैं हमें अगर जो हमें चीज से जवाब की उम्मीद होती है जिससे जवाब के लिए हम सोचते हैं और वह जवाब दो हमें नहीं मिलता तो हम कहीं ना कहीं सकते हैं गुस्सा आ जाती हमारे अंदर उस व्यक्ति के प्रति जिसे हम प्यार करते हैं तो यह समझना चाहिए कि यह हर एक चीज को हर एक व्यक्ति को स्वतंत्रता है तो भेजी तक आप अपनी बात कह सकते हैं हो सके तो आपको किसी प्रकार का कोई लेटर से शुरुआत कर सकते हैं और स्पष्ट शब्दों में उस पर लिख सकते हैं अपनी बात अपनी बातों को आशा करता हूं यह पोस्ट आपके लिए काफी हेल्प खोलो

namaskar sir pratham sarahniya hain aapke dwara poocha gaya yah prashna jo izhaar se sambandhit hai uske uprant me apna parichay krana chahunga aapse mera naam hai yogi prashant na chaliye badhte aapke prashna ki taraf dekhte hain ki aapne prashna sawaal kiya hai aapka prashna hai aapka sawaal hai ki aap kisi ladki se pyar karte hain use kaise propose kare aapko iske bare me jawab janana hai aap izhaar karna chahte hain kisi se aap kisi se pyar karte hain bahut achi batein jaankar khushi hui ki aap kisi se pyar karte hain aur kisi ke prabha karte hain kisi ke bare me kisi ki fikra karte hain toh jo bhi aapke andar ki feelings hai jo aapki bhaavnaye hain kisi ke prati usko izhaar karna usko kehna hai bahut achi baat hai aapki jo bhi bhaavnaye vaah zaroor aapki yah kehna chahiye kisi se chupana nahi chahiye kyonki jab hum apni bhavnao ko jab dabane lagte hain kahin na kahin bahut saari samasyaen aane lagte kahin na kahin hamare andar vaah na kahin na kahin hamein pareshan karte rehte hain aur isme bilkul bhi darane hichki hatane ki baat nahi hai ki kaise kare ya kaun sa lahaje me baat kare normal tarike se jaisa aap rozmarra ke jeevan me aamtaur par sabhi se appeal karte hain sabhi se baat karte hain usi tarah se hi apni shuruat kar sakte apni baat keh sakte hain bata sakte hain ki aapke unke prati aapke kya vichar hain aapke kya bhaavnaye hain aur aapko use agar unka jo bhi jawab hai usko sweekar karna chahiye us se sahmati rakhni chahiye jis prakar se aapko swatantrata hai apni baat ko rakhne ka us tarah se unhi ko hamko bhi swatantrata hai apni baat ko apne ka chunav karne ka unko bhi adhikaar hai ki ya unka chunav hai yah ki vaah aapki baat ko prasann karte hain ya na kare ko samajhna hoga main tota deni hogi kyonki kai baar hum kya karte hain hamein agar jo hamein cheez se jawab ki ummid hoti hai jisse jawab ke liye hum sochte hain aur vaah jawab do hamein nahi milta toh hum kahin na kahin sakte hain gussa aa jaati hamare andar us vyakti ke prati jise hum pyar karte hain toh yah samajhna chahiye ki yah har ek cheez ko har ek vyakti ko swatantrata hai toh bheji tak aap apni baat keh sakte hain ho sake toh aapko kisi prakar ka koi letter se shuruat kar sakte hain aur spasht shabdon me us par likh sakte hain apni baat apni baaton ko asha karta hoon yah post aapke liye kaafi help kholo

नमस्कार सर प्रथम सराहनीय हैं आपके द्वारा पूछा गया यह प्रश्न जो इजहार से संबंधित है उसके उप

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  1202
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!