दल बदल में क्या रोक लगनी चाहिए ?...


user

Pradeep Sehgal

Sports Anchor & Journalist

2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रदीप सेहगल है और मैं एग्जाम लिस्ट हूं हमारे मित्र ने पूछा है कि क्या दलबदल पर रोक लगनी चाहिए वैसे तो मैं खेल पत्रकार हूं लेकिन आप ने सवाल पूछा है मुझे आपका सवाल बड़ा अच्छा लगा और मेरी भी अपनी निजी राय हो सकती है तुम्हें अपनी निजी निजी राय जो है वह आप लोगों से शेयर करना चाहता हूं अगर आपको अच्छा लगे तो मेरा एक फेसबुक पर पेज है तो दीप सहगल के नाम से आप उस लाइक कर सकते हैं क्योंकि वहां पर भी मैं अपनी बातें बोलता रहता हूं और हां तो हमारे एक मित्र ने पूछा था कि क्या दलबदल पर रोक लगनी चाहिए दलबदल से मतलब है कि कुछ नेता ऐसे होते हैं जो पहले एक पार्टी में होते हैं फिर वह पार्टी को छोड़कर दूसरी पार्टी में चले जाते हैं फिर जब मुश्किल समय आता है उस पार्टी के लिए तो उसको छोड़ कर फिर पहले वाली पार्टी में चले जाते हैं किसी और पार्टी में चले जाते हैं तो उसे दलबदल कहते हैं मेरा पर्सनल यह मानना है बिल्कुल दलबदल पर रोक लगनी चाहिए क्योंकि आप ही कह सकते हैं कि नेताओं के पास एक मौका होता है यह ऑपरट्युनिटी होती है मौका परस्ती होती है ऐसे क्या सकते हैं आप आप मालू जी इसको इस तरह से देखते हैं आपके घर में रहते हैं पहले उस घर में बहुत पैसा होता है धीरे-धीरे उसका पैसा खत्म हो जाता है और वह घर जो है गरीबी में आ जाता है जब तक उस घर में पैसा था तब तक आप रहे लेकिन जब वह घर मुसीबत में आया आया उसके पैसे खत्म हो गए तो आपने उस घर को छोड़ दिया आप किसी और घर में चले तो यह मौका परस्ती है अगर हम इस तरह के नेताओं को जो नेता इस तरह का मौकापरस्त है उस तरह के नेताओं के हाथ में अपना देश दे देंगे तो क्या गारंटी है कि वहां पर भी मौका परस्ती नहीं करेंगे वक्त आने पर वह उस चीज की जॉब यूनिटी है या उस चीज का जो फायदा है वह नहीं उठाएंगे मेरा ही लॉजिक है आपको अच्छा लगता है तो प्लीज मेरे फेसबुक पेज पर जाकर उसे लाइक कीजिए और यह मेरे पास में भी उसने आपको पसंद आएंगे तो आप मेरे पेज को जाइए लाइक कीजिए प्रदीप चैनल के नाम से वह प्लीज है फेसबुक पर धन्यवाद दोस्त

namaskar doston mera naam pradeep sehagal hai aur main exam list hoon hamare mitra ne poocha hai ki kya dalabadal par rok lagani chahiye waise toh main khel patrakar hoon lekin aap ne sawaal poocha hai mujhe aapka sawaal bada accha laga aur meri bhi apni niji rai ho sakti hai tumhe apni niji niji rai jo hai vaah aap logo se share karna chahta hoon agar aapko accha lage toh mera ek facebook par page hai toh deep sehgal ke naam se aap us like kar sakte hain kyonki wahan par bhi main apni batein bolta rehta hoon aur haan toh hamare ek mitra ne poocha tha ki kya dalabadal par rok lagani chahiye dalabadal se matlab hai ki kuch neta aise hote hain jo pehle ek party me hote hain phir vaah party ko chhodkar dusri party me chale jaate hain phir jab mushkil samay aata hai us party ke liye toh usko chhod kar phir pehle wali party me chale jaate hain kisi aur party me chale jaate hain toh use dalabadal kehte hain mera personal yah manana hai bilkul dalabadal par rok lagani chahiye kyonki aap hi keh sakte hain ki netaon ke paas ek mauka hota hai yah aparatyuniti hoti hai mauka parasti hoti hai aise kya sakte hain aap aap maloom ji isko is tarah se dekhte hain aapke ghar me rehte hain pehle us ghar me bahut paisa hota hai dhire dhire uska paisa khatam ho jata hai aur vaah ghar jo hai garibi me aa jata hai jab tak us ghar me paisa tha tab tak aap rahe lekin jab vaah ghar musibat me aaya aaya uske paise khatam ho gaye toh aapne us ghar ko chhod diya aap kisi aur ghar me chale toh yah mauka parasti hai agar hum is tarah ke netaon ko jo neta is tarah ka maukaparast hai us tarah ke netaon ke hath me apna desh de denge toh kya guarantee hai ki wahan par bhi mauka parasti nahi karenge waqt aane par vaah us cheez ki job unity hai ya us cheez ka jo fayda hai vaah nahi uthayenge mera hi logic hai aapko accha lagta hai toh please mere facebook page par jaakar use like kijiye aur yah mere paas me bhi usne aapko pasand aayenge toh aap mere page ko jaiye like kijiye pradeep channel ke naam se vaah please hai facebook par dhanyavad dost

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रदीप सेहगल है और मैं एग्जाम लिस्ट हूं हमारे मित्र ने पूछा है कि

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  817
KooApp_icon
WhatsApp_icon
19 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!