मैं गुजरात में रहता हूँ मुझे घर पर इमरजेंसी है जाने के लिए तो उसके लिए क्या करें?...


play
user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

1:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपडेशन मैं गुजरात में रहता हूं मुझे घर पर है मेरे सेंसी है जाने के लिए तो उसके लिए क्या करें इसका बिल्कुल सीधा सीधा जवाब मेरे हिसाब से यह है कि आज के समय में अभी के समय में जो स्थिति चल रही है कितनी भी इमरजेंसी हो आप कृपया अपने घर जाने का जो विचार है उसको प्यार में कारण यह है कि यदि आप गुजरात से जहां पर भी आपका घर होगा वहां से वहां तक जाएंगे रास्ते में आपको पहली बात तो कई समस्याएं आएंगी हर जगह पुलिस है और बाहर निकलने वालों को दंड दिया जा रहा है उनको जेल में भी भेजा जा रहा है दूसरी कि यदि यह है कि आप मान लीजिए यहां से गए और रास्ते में किसी भी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आ गए जो पूछना है तो आप को समझते हो सकती है कि आप अपने गांव में जाकर के भी उस समस्या को फैला देंगे और गांव में या छोटे शहरों में इतनी अच्छी सुविधाएं नहीं है इतनी जागरूकता नहीं है तो वह समस्या पहन सकते तो आप घर पर ही रहे गुजरात में जहां कल है वही रहे धन्यवाद

updation main gujarat me rehta hoon mujhe ghar par hai mere sensi hai jaane ke liye toh uske liye kya kare iska bilkul seedha seedha jawab mere hisab se yah hai ki aaj ke samay me abhi ke samay me jo sthiti chal rahi hai kitni bhi emergency ho aap kripya apne ghar jaane ka jo vichar hai usko pyar me karan yah hai ki yadi aap gujarat se jaha par bhi aapka ghar hoga wahan se wahan tak jaenge raste me aapko pehli baat toh kai samasyaen aayengi har jagah police hai aur bahar nikalne walon ko dand diya ja raha hai unko jail me bhi bheja ja raha hai dusri ki yadi yah hai ki aap maan lijiye yahan se gaye aur raste me kisi bhi aise vyakti ke sampark me aa gaye jo poochna hai toh aap ko samajhte ho sakti hai ki aap apne gaon me jaakar ke bhi us samasya ko faila denge aur gaon me ya chote shaharon me itni achi suvidhaen nahi hai itni jagrukta nahi hai toh vaah samasya pahan sakte toh aap ghar par hi rahe gujarat me jaha kal hai wahi rahe dhanyavad

अपडेशन मैं गुजरात में रहता हूं मुझे घर पर है मेरे सेंसी है जाने के लिए तो उसके लिए क्या कर

Romanized Version
Likes  265  Dislikes    views  2874
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!