मुस्लिम लोगों को हिंदू लोगों से कैसे मिला सकते हैं?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुस्लिम लोगों को हिंदू लोगों से मिलाने के लिए सबसे पहले की धार्मिक भावनाओं को आहत मत कीजिए अगर आप हिंदू है तो मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं को हाथ मत कीजिए और अगर आप मुसलमान है तो हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत मत कीजिए किसी भी धर्म पर कीचड़ नहीं उठाना चाहिए सब धर्मों का जो मालिक है वह एक ही है हमको यह राजनीतिक दल वाले हमको हमारी भावनाओं को उछाल कर के पक्ष और विपक्ष में बोल कर के हम लोगों को लड़ाते हैं और अपना उल्लू सीधा करते हैं अगर यह वोटों की राजनीति ना होती तो आज भारत में इतना देश नहीं होता अगर बीजेपी केवल अगर धर्म गिरी राजनीति ना करती तो हिंदू और मुसलमान भारत में हमेशा मिलकर के रहते हैं संविधान सबका है सबको संवैधानिक अधिकार हैं संवैधानिक अधिकारों के कारण हमारा भारत के लोकतंत्र इतना महान जितना श्रेष्ठ जितना कर्तव्य शील जितना लोग उनकी भावना को समाहित करने वाला है उतना देश के और किसी देश का लोकतंत्र नहीं हमारे यहां सब धर्मों को मानने के स्वतंत्रता है सबको समान अधिकार हैं उसके बाद भी अगर हिंदू मुस्लिम की बात होती है तो हमारे लिए एक बहुत ही कष्ट साध्य और दुर्भाग्य है इस देश का इसलिए राजनीति थोड़ा ऊपर उठकर के मानवता की श्रेणी में आइए और हिंदू मुस्लिम आपस में गले मिली सब के धर्मों का आदर को प्यार कीजिए सानिया सबने सबने सबने भावना

dekhiye muslim logo ko hindu logo se milaane ke liye sabse pehle ki dharmik bhavnao ko aahat mat kijiye agar aap hindu hai toh musalmanon ki dharmik bhavnao ko hath mat kijiye aur agar aap musalman hai toh hinduon ki dharmik bhavnao ko aahat mat kijiye kisi bhi dharm par kichad nahi uthana chahiye sab dharmon ka jo malik hai vaah ek hi hai hamko yah raajnitik dal waale hamko hamari bhavnao ko uchal kar ke paksh aur vipaksh me bol kar ke hum logo ko ladaate hain aur apna ullu seedha karte hain agar yah voton ki raajneeti na hoti toh aaj bharat me itna desh nahi hota agar bjp keval agar dharm giri raajneeti na karti toh hindu aur musalman bharat me hamesha milkar ke rehte hain samvidhan sabka hai sabko samvaidhanik adhikaar hain samvaidhanik adhikaaro ke karan hamara bharat ke loktantra itna mahaan jitna shreshtha jitna kartavya sheela jitna log unki bhavna ko samahit karne vala hai utana desh ke aur kisi desh ka loktantra nahi hamare yahan sab dharmon ko manne ke swatantrata hai sabko saman adhikaar hain uske baad bhi agar hindu muslim ki baat hoti hai toh hamare liye ek bahut hi kasht saadhy aur durbhagya hai is desh ka isliye raajneeti thoda upar uthakar ke manavta ki shreni me aaiye aur hindu muslim aapas me gale mili sab ke dharmon ka aadar ko pyar kijiye saniya sabane sabane sabane bhavna

देखिए मुस्लिम लोगों को हिंदू लोगों से मिलाने के लिए सबसे पहले की धार्मिक भावनाओं को आहत मत

Romanized Version
Likes  210  Dislikes    views  1814
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!