भारत में कोई भी टीवी एंकर गलत वीडियो पेश करता है, तो उस पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं होती?...


user

Shri Kumar

Family Counslor, Sex Expert And Yog Teacher

5:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि भारत में कोई टीवी एंकर गलत वीडियो पेश करता है तो उस पर कार्यवाही क्यों नहीं होती क्योंकि भारत में मीडिया के लिए कोई सेंसरशिप का प्रावधान है ही नहीं अभी तक भारत के कानून में मीडिया के लिए पर्टिकुलर कोई ऐसा प्रावधान नहीं है लेकिन सरकार ने कुछ एजेंशिया बनाई है जो इंडिपेंडेंस काम से एमबीए किया है कुछ लेकिन वह जेल में है वह उसमें मीडिया के लोग बैठे हुए होते हैं जैसे दत्त शर्मा इंडिया टीवी के वी वी एडिटर है और उनके हुए चलाते हैं तो भी किसने कंप्लेंट की समझ लो किसी ने गलत न्यूज़ दिखाइए तो रिपोर्ट क्या करेंगे वोट करेंगे यह समाचार सही है जो इस कलर के लिए आप पलानी पलानी एजेंसी के पास जाइए वहां कंप्लेंट कीजिए तो फिर वहां के नाम पर वहां पर ना करता है और कभी कबार बिल्कुल गलत नहीं होती है तो भी वह सब मिले हुए होते हैं इसलिए भारत में ऐसा कुछ होता नहीं है उसमें किसी व्यक्ति की मानहानि हुई होती है तो आप कोर्ट में डिफॉर्मेशन का केस कर सकते हैं सिविल सूट करके उन पर आप भी परमिशन का केस कर सकते हैं और यह एक मीडिया के लिए यही सबसे बड़ा हथियार है मीडिया को सबक सिखाने का अलिफ एक निर्जीव में चला लो कुछ कोई पूछता नहीं है और कोर्ट में भी यदि आपकी आप पहुंचे हुए हैं आपकी योगी आपकी जो कोई ताकत है मैं आपको एक उदाहरण देता हूं कि संत आसाराम बापू बहुत जाना मना प्रकरण उनके ऊपर तो उनकी संस्था ने कई मीडिया चैनल पर गलत खबर चलाने के लिए बहुत सारे केस किए लेकिन सिंगल एसपी कहीं चला नहीं तो पेट कम फिल्में गए इंडिया में कंप्लेन किया लेकिन मीडिया की गलत न्यूज़ को मीडिया वाले को कोई फर्क नहीं पड़ा कुछ नहीं हुआ सिर्फ 1 मिनट चला जाए लेकिन इसका कुछ मकसद कुछ नहीं हुआ इसका अब दूसरी एक बात है मीडिया रिपोर्ट में कोई शक क्रिमिनल यदि कोई न्यूज़ के द्वारा न्यूज़ चैनल ने कोई क्रिमिनल कोई क्राइम किया है अजय सिंह एनडीटीवी ने 26 तारीख को जो हमला हुआ का रिपोर्टिंग ऐसे ऐसे ढंग से रिपोर्टिंग किया तो उसका फायदा बेनिफिट पाकिस्तानी आतंकवादियों को आतंकवादी टीवी देख कर एक बार की परिस्थितियों का पता कर रहे थे अभी बाहर कैसा माल लेकर आया कमांडो किधर से आ रहे हैं उनको बताता है यह कोर्ट में केस चलाइए पूरा और कोर्ट ने निर्भीक और 2 दिन के लिए बंद करने का आदेश दिया लेकिन इस देश के नेताओं ने कैंडिडेट दिन भी बिल पर नहीं है वह कुछ ऊपर गए हैं अप्रैल में हो सकता है तुम मीडिया हमारे देश में इतना पावरफुल है उनके जो है उनकी लो भी बहुत पावर कार पर भी अपना कंट्रोल रख सकती है इसलिए पावरफुल है क्योंकि जो मीडिया के जो मालिक है वह भारत में जो दिखते हैं वह असली मालिक नहीं है कुछ अरब में है यूरोप में है कि मीडिया को अरबी फंडेड है और यूरोपियन इसलिए भारत सरकार भी दबी रहती है इस पर कुछ करें कार्यवाही नहीं होती पूरे भारत का दुर्भाग्य है क्योंकि मीडिया के द्वारा यहां पर कई अच्छे अच्छे लोगों को बदनाम किया जाता है हमारे संतो को बदनाम किया जाए उसी को बदनाम किया जाता है तो खबर दिखाइए राष्ट्रहित में इसको दबा दिया जाता है जो नई दिखानी है तो पूरी दुनिया दो लोगों का पूरे देश के लोगों का महीने का काम करता है लेकिन आपका दोस्त का एक ही जवाब है क्योंकि भारत पर भारत में मीडिया के लिए कोई कानून नहीं है जो थोड़े बहुत कानून के द्वारा हम कर सकते लेकिन वहां पर भी कोई काम नहीं होती और होता है धन्यवाद

yadi bharat me koi TV anchor galat video pesh karta hai toh us par karyavahi kyon nahi hoti kyonki bharat me media ke liye koi censorship ka pravadhan hai hi nahi abhi tak bharat ke kanoon me media ke liye particular koi aisa pravadhan nahi hai lekin sarkar ne kuch ejenshiya banai hai jo Independence kaam se mba kiya hai kuch lekin vaah jail me hai vaah usme media ke log baithe hue hote hain jaise dutt sharma india TV ke v v editor hai aur unke hue chalte hain toh bhi kisne complaint ki samajh lo kisi ne galat news dikhaiye toh report kya karenge vote karenge yah samachar sahi hai jo is color ke liye aap palani palani agency ke paas jaiye wahan complaint kijiye toh phir wahan ke naam par wahan par na karta hai aur kabhi kabar bilkul galat nahi hoti hai toh bhi vaah sab mile hue hote hain isliye bharat me aisa kuch hota nahi hai usme kisi vyakti ki manhani hui hoti hai toh aap court me difarmeshan ka case kar sakte hain civil suit karke un par aap bhi permission ka case kar sakte hain aur yah ek media ke liye yahi sabse bada hathiyar hai media ko sabak sikhane ka aleph ek nirjeev me chala lo kuch koi poochta nahi hai aur court me bhi yadi aapki aap pahuche hue hain aapki yogi aapki jo koi takat hai main aapko ek udaharan deta hoon ki sant asharam bapu bahut jana mana prakaran unke upar toh unki sanstha ne kai media channel par galat khabar chalane ke liye bahut saare case kiye lekin singles SP kahin chala nahi toh pet kam filme gaye india me complain kiya lekin media ki galat news ko media waale ko koi fark nahi pada kuch nahi hua sirf 1 minute chala jaaye lekin iska kuch maksad kuch nahi hua iska ab dusri ek baat hai media report me koi shak criminal yadi koi news ke dwara news channel ne koi criminal koi crime kiya hai ajay Singh NDTV ne 26 tarikh ko jo hamla hua ka reporting aise aise dhang se reporting kiya toh uska fayda benefit pakistani aatankwadion ko aatankwadi TV dekh kar ek baar ki paristhitiyon ka pata kar rahe the abhi bahar kaisa maal lekar aaya commando kidhar se aa rahe hain unko batata hai yah court me case chalaiye pura aur court ne nirbheek aur 2 din ke liye band karne ka aadesh diya lekin is desh ke netaon ne candidate din bhi bill par nahi hai vaah kuch upar gaye hain april me ho sakta hai tum media hamare desh me itna powerful hai unke jo hai unki lo bhi bahut power car par bhi apna control rakh sakti hai isliye powerful hai kyonki jo media ke jo malik hai vaah bharat me jo dikhte hain vaah asli malik nahi hai kuch arab me hai europe me hai ki media ko rb funded hai aur european isliye bharat sarkar bhi dabi rehti hai is par kuch kare karyavahi nahi hoti poore bharat ka durbhagya hai kyonki media ke dwara yahan par kai acche acche logo ko badnaam kiya jata hai hamare santo ko badnaam kiya jaaye usi ko badnaam kiya jata hai toh khabar dikhaiye Rastrahit me isko daba diya jata hai jo nayi dikhaani hai toh puri duniya do logo ka poore desh ke logo ka mahine ka kaam karta hai lekin aapka dost ka ek hi jawab hai kyonki bharat par bharat me media ke liye koi kanoon nahi hai jo thode bahut kanoon ke dwara hum kar sakte lekin wahan par bhi koi kaam nahi hoti aur hota hai dhanyavad

यदि भारत में कोई टीवी एंकर गलत वीडियो पेश करता है तो उस पर कार्यवाही क्यों नहीं होती क्यों

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  565
KooApp_icon
WhatsApp_icon
26 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!