अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखाकर उन पर कोई चीज़ थोपते हैं, तो उसका क्या किया जाए?...


user

DR. MANISH

MULTI TASKER & DR.M.D (A.M.), B-PHARMA, PGDM-M

3:27
Play

Likes  8  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
29 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Chaman Rawat

Homeopathy Doctor

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा हम लोग अपने कपड़े दिखाते हैं तो दिखाने तेजा को क्या फर्क वह क्या खाते हैं क्या पहनते हैं उनको भी आप अपने परिवार का अभिमान में अपना खाते हैं तो खाते नहीं है एक बात बता रहा हूं अभी जल्दी बात करो ठीक है मैंने अब्दुल कलाम के साथ भी काम किया है मेरा बिजनेस बहुत अच्छा चल रहा है तो मैंने उससे मैंने उसके वार्तालाप को रोकते हुए मैंने सिर्फ इतना कहा देखे सड़क कितने पैसे वाले हो मेरी गर्लफ्रेंड टेशन पर सिर्फ ₹50 में ₹50 दूंगा और प्लीज अपने के बारे में बताएं बस वही पर चुप ज्यादा रोते अपनी गलती का रिलेशन हो जाता है कि अगर आप मेरे पास दवा लेने आए या किसी गरीब को आप ऐसा किसी गरीब के वह पैसा तो आप उसको दो नहीं दोगे आप के पास करोड़ो रुपए था उसको कुछ पैसा दे दोगे तो 4 करोड जाएगा क्लॉक को 7:00 ऐसा कुछ नहीं है अमीर को पैसे की जरूरत गरीब से भी ज्यादा रहती है इसलिए सही मायनों में गरीबी ज्यादा करीब रहता है

beta hum log apne kapde dikhate hain toh dikhane teja ko kya fark vaah kya khate hain kya pehente hain unko bhi aap apne parivar ka abhimaan me apna khate hain toh khate nahi hai ek baat bata raha hoon abhi jaldi baat karo theek hai maine abdul kalam ke saath bhi kaam kiya hai mera business bahut accha chal raha hai toh maine usse maine uske vartalaap ko rokte hue maine sirf itna kaha dekhe sadak kitne paise waale ho meri girlfriend teshan par sirf Rs me Rs dunga aur please apne ke bare me bataye bus wahi par chup zyada rote apni galti ka relation ho jata hai ki agar aap mere paas dawa lene aaye ya kisi garib ko aap aisa kisi garib ke vaah paisa toh aap usko do nahi doge aap ke paas croredo rupaye tha usko kuch paisa de doge toh 4 crore jaega clock ko 7 00 aisa kuch nahi hai amir ko paise ki zarurat garib se bhi zyada rehti hai isliye sahi maayano me garibi zyada kareeb rehta hai

बेटा हम लोग अपने कपड़े दिखाते हैं तो दिखाने तेजा को क्या फर्क वह क्या खाते हैं क्या पहनते

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  515
WhatsApp_icon
user

Anand

Soft Skill Trainer & Life Coach

2:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो पहली चीज समझ लो जो साइकिल पर जाता है ना उसे लगता के बाइक वाले कितना नसीब वाला है बाइक पे जाता है वह देखता है कि कार वाला कितने हंसी पालक पूरी फैमिली को कार में लेकर जाता है जो कार में जाता है वह सोचता है कि मर्सिडीज बीएमडब्ल्यू गाड़ी में जो चाहता हूं कितना नसीबदार है पर वह सोचता है कि जो प्लेन में जाता है हम बानी हैं बदला है मोदी जी है कि नेता लोग चाहते हो तो वह कितना नसीबदार है तो देखो कंपेयर करने जाओगे तो कभी खुश नहीं रह पाओगी कितना भी आ गया अपने घर बने बाजू अलग बढ़ाकर बना दिया फिर से दुखी एक गाड़ी ली सामने वाले ने दो गाड़ी ले फिर दुखी तो इसका अंत नहीं है अमीर गरीब आपके मन में से निकाल दो सामने वाला भले चलता रहे आपको पता चलेगा आप अभी चल रहे हो दूसरों की वजह से यदि आपके मन में ऐसा कुछ रहेगा ही नहीं आप अपने जीवन में खुश है रोटी कपड़ा मकान कोई आज तक ऊपर कुछ लेके गया है तू ही सोच ही आपका जीवन बदल सकती है एक पॉजिटिव थॉट्स आपका जीवन बदल देगी जो है अच्छा है और अच्छा प्यार करना है आपको पॉजिटिवली हंसते-हंसते करो तो जो अमीर हो उससे आपकी अच्छी जिंदगी होगी बस उसके सामने जाकर इस्माइल दो और थैंक्यू बोलते रहो अपने आप उसको इतना अंदर सेव होगा ना क्यों अमीर है फिर भी वह अपने आप को गरीब समझेगा लेकिन यह मत दिमाग में लगाओ तो ठोक रही हूं उनको जो करना है कल उनके संस्कार है लेकिन आपको खुश रहना है तो अपने को जिंदगी में बदलाव लाना पड़ेगा उनकी सोच रखनी पड़ेगी बिग थिंकिंग बिग मैजिक इन अवर लाइफ बहुत बड़ा अच्छा होगा इस पर ध्यान नहीं तो आपको हमीर भी कैसे बना उसके बारे में सोचो नई नई आईडी अपने नए बिजनेस छोटे छोटे बिजनेस को ऑफ करो पैसे बचाओ और एक अच्छी लाइफ स्टाइल ही हो तो यह देखने के बाद भी वह सोचेगा कि इतने में भी कैसे खुश है वह टेंशन में आ जाएगा पर मैं उनको भी ना को भी दिखाने के लिए नहीं करना कुछ बन जाना हमें दुनिया को दिखाना मैं खुद अंदर से खुश रहना है जो चीज मिले उसमें खुश संतोष चीज पैदा करो जलन निकाल दो जीवन में से ईर्ष्या जलन से कुछ नहीं होता दुखी मिलता है लोगों को खुश रखो और खुश रहो दूसरों का आनंद दोगे तो आपके जीवन में आनंद आएगा मेरा नाम भी आनंदी है

dekho pehli cheez samajh lo jo cycle par jata hai na use lagta ke bike waale kitna nasib vala hai bike pe jata hai vaah dekhta hai ki car vala kitne hansi paalak puri family ko car me lekar jata hai jo car me jata hai vaah sochta hai ki mercedes BMW gaadi me jo chahta hoon kitna nasibdar hai par vaah sochta hai ki jo plane me jata hai hum bani hain badla hai modi ji hai ki neta log chahte ho toh vaah kitna nasibdar hai toh dekho compare karne jaoge toh kabhi khush nahi reh paogi kitna bhi aa gaya apne ghar bane baju alag badhakar bana diya phir se dukhi ek gaadi li saamne waale ne do gaadi le phir dukhi toh iska ant nahi hai amir garib aapke man me se nikaal do saamne vala bhale chalta rahe aapko pata chalega aap abhi chal rahe ho dusro ki wajah se yadi aapke man me aisa kuch rahega hi nahi aap apne jeevan me khush hai roti kapda makan koi aaj tak upar kuch leke gaya hai tu hi soch hi aapka jeevan badal sakti hai ek positive thoughts aapka jeevan badal degi jo hai accha hai aur accha pyar karna hai aapko positively hansate hansate karo toh jo amir ho usse aapki achi zindagi hogi bus uske saamne jaakar ismail do aur thainkyu bolte raho apne aap usko itna andar save hoga na kyon amir hai phir bhi vaah apne aap ko garib samjhega lekin yah mat dimag me lagao toh thok rahi hoon unko jo karna hai kal unke sanskar hai lekin aapko khush rehna hai toh apne ko zindagi me badlav lana padega unki soch rakhni padegi big thinking big magic in avar life bahut bada accha hoga is par dhyan nahi toh aapko hamir bhi kaise bana uske bare me socho nayi nayi id apne naye business chote chote business ko of karo paise bachao aur ek achi life style hi ho toh yah dekhne ke baad bhi vaah sochega ki itne me bhi kaise khush hai vaah tension me aa jaega par main unko bhi na ko bhi dikhane ke liye nahi karna kuch ban jana hamein duniya ko dikhana main khud andar se khush rehna hai jo cheez mile usme khush santosh cheez paida karo jalan nikaal do jeevan me se irshya jalan se kuch nahi hota dukhi milta hai logo ko khush rakho aur khush raho dusro ka anand doge toh aapke jeevan me anand aayega mera naam bhi anandi hai

देखो पहली चीज समझ लो जो साइकिल पर जाता है ना उसे लगता के बाइक वाले कितना नसीब वाला है बाइ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:01
Play

Likes  509  Dislikes    views  5093
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डी जे स्टाइल तो अपने-अपने मेरे को दिखाना यह तो बहुत कुछ बातें और हमारे पास पैसा है तो हम दूसरों की मदद करेंगे क्या करेंगे और हम सक्षम है अपने परिवार अपने पैर पर खड़ा है या मेरे पिताजी का पैसा है मेरे पास बहुत है तो हम कैसे करें दूसरों को उसके पैर पर खड़ा कैसे करें कोई टाइम नहीं खाता है दिखा दीजिए कोई अमीर है गरीब का स्टाइल दिखाता है उसको दिखाएं दीजिए उसका आनंद उसी चीज में आप अपना काम करिए ठीक है और काम करते रहिए अपने परिवार को संभालते रहिए उस उसकी तरफ नहीं देखेंगे तो खुद ब खुद पोस्टेड होगा आप उसकी तरफ ध्यान देते हैं देखते हैं तभी वह आपको दिखा रहा है और ध्यान नहीं देंगे अपने काम से मतलब रखेंगे इग्नोर करेंगे तो खुद ब खुद उसको इलाज होगा कि यह जो चीज मेरे पास है उसकी कोई वैल्यू नहीं है कोई फल नहीं दे रहा है

d je style toh apne apne mere ko dikhana yah toh bahut kuch batein aur hamare paas paisa hai toh hum dusro ki madad karenge kya karenge aur hum saksham hai apne parivar apne pair par khada hai ya mere pitaji ka paisa hai mere paas bahut hai toh hum kaise kare dusro ko uske pair par khada kaise kare koi time nahi khaata hai dikha dijiye koi amir hai garib ka style dikhaata hai usko dikhaen dijiye uska anand usi cheez me aap apna kaam kariye theek hai aur kaam karte rahiye apne parivar ko sambhalate rahiye us uski taraf nahi dekhenge toh khud bsp khud posted hoga aap uski taraf dhyan dete hain dekhte hain tabhi vaah aapko dikha raha hai aur dhyan nahi denge apne kaam se matlab rakhenge ignore karenge toh khud bsp khud usko ilaj hoga ki yah jo cheez mere paas hai uski koi value nahi hai koi fal nahi de raha hai

डी जे स्टाइल तो अपने-अपने मेरे को दिखाना यह तो बहुत कुछ बातें और हमारे पास पैसा है तो हम द

Romanized Version
Likes  183  Dislikes    views  1278
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Gupta

Astrologer And Tantrokt Vastu Consultant

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवाल किया क्या कमी और अपने कपड़े स्टाइल उनका पेआउट नहीं उनका होता है और यह सिर्फ इसका उदाहरण कहीं हमारे यहां देख देख सकते हैं जो कि यहां से जो पैसे का दिखावा था और जब इनका स्टेटस खराब हो तो सही अपना देश छोड़कर ही भाग्य 29 30 से गरीब से भी बदतर हो गई तो कभी आप ऐसी स्थिति में सोचें कि वह इतना स्टाइलिश कपड़े पहनते हैं यह है वह देखी पहनना हमें भी एक सिंपल है कि सिटी में रहना जो होता है उसकी स्थिति जो हम अपना अच्छा खा सकते हैं पहन सकते हैं उनसे कहीं ज्यादा अच्छे सुकून में रहते हैं उनको रात में नींद नहीं आती तो कितने लोन लिए रहते हैं इतनी टेंशन रहती है वह सिर्फ बाहरी तो मुस्कुराहट होती उसके पीछे का दर्द आप उनका नहीं समझ सकते तो कभी भी अपनी तुलना उनसे ना करें वह हम लोगों से कई गुना ज्यादा बेकारी सीखे

sawaal kiya kya kami aur apne kapde style unka payout nahi unka hota hai aur yah sirf iska udaharan kahin hamare yahan dekh dekh sakte hain jo ki yahan se jo paise ka dikhawa tha aur jab inka status kharab ho toh sahi apna desh chhodkar hi bhagya 29 30 se garib se bhi badataar ho gayi toh kabhi aap aisi sthiti me sochen ki vaah itna stylish kapde pehente hain yah hai vaah dekhi pahanna hamein bhi ek simple hai ki city me rehna jo hota hai uski sthiti jo hum apna accha kha sakte hain pahan sakte hain unse kahin zyada acche sukoon me rehte hain unko raat me neend nahi aati toh kitne loan liye rehte hain itni tension rehti hai vaah sirf bahri toh muskurahat hoti uske peeche ka dard aap unka nahi samajh sakte toh kabhi bhi apni tulna unse na kare vaah hum logo se kai guna zyada bekari sikhe

सवाल किया क्या कमी और अपने कपड़े स्टाइल उनका पेआउट नहीं उनका होता है और यह सिर्फ इसका उदाह

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
user

Sachidanand Joshi

Naturopath Yoga Trainer

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर लोग गरीब लोगों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन पर थोपते उनका क्या किया है तो उसका क्या किया जाए अमीर लोग आपके ऊपर कुछ नहीं तो पूरे उनके पास पैसा है वह पहनते हैं आप उनका स्टाइल मत धारण कीजिएगा आप उनकी की जीत होगी क्यों यूज़ कर रहे हैं आप अपना एक व्यक्तित्व बनाइए और अपने व्यक्तित्व चलिए जो कि अमीर लोग आपका व्यक्तित्व पकड़कर आपके परिजनों को पकड़ने लगे ना तो पढ़ने की आवश्यकता ही नहीं आप अपना अलग स्टाइल बनाई है आप अपनी जीवन जीने की कला को अलग तरह से दर्शाइए आप कामयाब हो गए और सदा कामयाब होंगे कोई अमीर गरीब की बात नहीं होगी इसमें आप अपना स्टाइल बनाई है आप अपना व्यक्तित्व व्यक्तित्व को चमका है कोई अमीर गरीब नहीं होता फिर सब आपको ही धारण करने लगेंगे यह मेरी आपसे आपके लिए कामना है मैं सच्चिदानंद जोशी योगाचार्य एवं

amir log garib logo par apne kapde aur style dikha kar un par thopte unka kya kiya hai toh uska kya kiya jaaye amir log aapke upar kuch nahi toh poore unke paas paisa hai vaah pehente hain aap unka style mat dharan kijiega aap unki ki jeet hogi kyon use kar rahe hain aap apna ek vyaktitva banaiye aur apne vyaktitva chaliye jo ki amir log aapka vyaktitva pakadakar aapke parijanon ko pakadane lage na toh padhne ki avashyakta hi nahi aap apna alag style banai hai aap apni jeevan jeene ki kala ko alag tarah se darshaiye aap kamyab ho gaye aur sada kamyab honge koi amir garib ki baat nahi hogi isme aap apna style banai hai aap apna vyaktitva vyaktitva ko chamaka hai koi amir garib nahi hota phir sab aapko hi dharan karne lagenge yah meri aapse aapke liye kamna hai main sacchidanand joshi yogacharya evam

अमीर लोग गरीब लोगों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन पर थोपते उनका क्या किया है तो उसका

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1967
WhatsApp_icon
user

Atul Roy

Family Counsellor (Online & telephonic)

0:16
Play

Likes  105  Dislikes    views  1634
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

3:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्की भैया मैं आपको बता देना चाहता हूं सबका अपना रहन-सहन होता है अपना स्टैंडर्ड होता है अपने लेवल होता है सब लोग अपने लेवल के हिसाब से काम करते हैं जिस व्यक्ति के पास बहुत ज्यादा पैसा है तो वह अपने हिसाब से रहेगा कोई किसी गरीब को नहीं दिखाता है कि मैं बहुत पैसे वाला हूं तो तुम देख कर मुझे भी मोटिवेट हो अगर पैसे वाला है तो अपने हिसाब से कपड़ा पड़ा पहन रहा है गरीब आदमी को भी यह कोशिश करना चाहिए कि मैं जितने में हूं खुश हूं आई मेरे पास नहीं है तो मैं कहां से पहन लूंगा मेरे पास इतना पैसा नहीं है तो मैं कहां से इतना अच्छा खाऊंगा हां मैं पढ़ लूंगा लिखूंगा मेहनत करूंगा 1 दिन बहुत बड़ा बनूंगा तो यह सब सोचना चाहिए कभी भी किसी चीज को नकारात्मक तरीके से नहीं लेना चाहिए बहुत अरे अमीर लोग हैं जो 10 10,000 का चाय पीते हैं जबकि हम लोग ₹10 का चाय पीते हैं और चाय बनाने में दूध भी वही यूज़ हो रहा है चीनी भी वही हो रहा है चाय पत्ती भी वही यूज़ हो रहा है लेकिन वह लोग 10000 का पी रहे हैं क्योंकि उनके पास बहुत पैसा है उस हिसाब से उनको दिया जाता है हम लोग ₹10 का पीते हैं आप होटल में जाओगे रोटी खाओगे अब रोटी थोड़ा सा एकदम सिस्टम से दिया जाएगा ₹2000 की एक रोटी मिलती है वही रोटी ₹5 की मिलती है बाहर ढाबा वहां पर तो सब जगह का अपना अपना लेवल होता है स्टैंडर्ड होता है और समझदारी से काम लेना चाहिए अगर कोई आपको दिखा रहा है कि मैं बहुत पैसे वाला हूं बहुत स्टाइलिश हूं तो आप उससे कुछ प्रेरणा लीजिए कि इसके पास बहुत पैसा है तो यह दिखा रहा है लेकिन मैं अपने पैसे से 1 दिन कुछ बहुत अच्छा करके दिखाऊंगा जब मैं बहुत बड़े पोजीशन पर पहुंच लूंगा मेरे पास बहुत पैसा आएगा तो मैं साधारण कपड़ा पहन लूंगा साधारण तरीके से रहूंगा लेकिन गरीब बच्चों को फ्री में पढ़ाऊंगा उनका फीस दूंगा मैं स्कूल में कुछ इस तरीके से काम करूंगा तब जाकर समाज में अच्छा संदेश जाएगा तो कहने का मतलब है और मोमेंट पर इंसान कुछ बड़ा कर सकता है कुछ अच्छा कर सकता है तो किसी भी गरीब व्यक्ति को किसी भी अमीर व्यक्ति से घबराने की जरूरत नहीं है जो अमीर व्यक्ति बहुत दिखावा करते हैं कि मैं बहुत बड़ा हूं तुम लोग मेरे आगे मत छोड़ो ऐसे अमीर लोगों को मैं बता देना चाहता हूं कि मरने के बाद जो कफ़न होता है ना कफन का कोई ब्रांड नहीं होता है चाहे करोड़पति मरे चाहे गरीब बारे उसी कफन में बात करो जाता है श्मशान घाट और उसे जलाया जाता है तो ऐसा बिल्कुल ना करें सब लोगों को मिल जुल कर रहना है अमीर लोगों को कोशिश करनी चाहिए कि गरीब लोगों की मदद करें गरीब लोगों को भी कोशिश करना चाहिए कि मैं पढ़ लिखकर मेहनत करके आगे बढ़ो और अपने परिवार में खुशहाली लाओ धन्यवाद

vicky bhaiya main aapko bata dena chahta hoon sabka apna rahan sahan hota hai apna standard hota hai apne level hota hai sab log apne level ke hisab se kaam karte hain jis vyakti ke paas bahut zyada paisa hai toh vaah apne hisab se rahega koi kisi garib ko nahi dikhaata hai ki main bahut paise vala hoon toh tum dekh kar mujhe bhi motivate ho agar paise vala hai toh apne hisab se kapda pada pahan raha hai garib aadmi ko bhi yah koshish karna chahiye ki main jitne me hoon khush hoon I mere paas nahi hai toh main kaha se pahan lunga mere paas itna paisa nahi hai toh main kaha se itna accha khaunga haan main padh lunga likhunga mehnat karunga 1 din bahut bada banunga toh yah sab sochna chahiye kabhi bhi kisi cheez ko nakaratmak tarike se nahi lena chahiye bahut are amir log hain jo 10 10 000 ka chai peete hain jabki hum log Rs ka chai peete hain aur chai banane me doodh bhi wahi use ho raha hai chini bhi wahi ho raha hai chai patti bhi wahi use ho raha hai lekin vaah log 10000 ka p rahe hain kyonki unke paas bahut paisa hai us hisab se unko diya jata hai hum log Rs ka peete hain aap hotel me jaoge roti khaoge ab roti thoda sa ekdam system se diya jaega Rs ki ek roti milti hai wahi roti Rs ki milti hai bahar dhaba wahan par toh sab jagah ka apna apna level hota hai standard hota hai aur samajhdari se kaam lena chahiye agar koi aapko dikha raha hai ki main bahut paise vala hoon bahut stylish hoon toh aap usse kuch prerna lijiye ki iske paas bahut paisa hai toh yah dikha raha hai lekin main apne paise se 1 din kuch bahut accha karke dikhaunga jab main bahut bade position par pohch lunga mere paas bahut paisa aayega toh main sadhaaran kapda pahan lunga sadhaaran tarike se rahunga lekin garib baccho ko free me padhaunga unka fees dunga main school me kuch is tarike se kaam karunga tab jaakar samaj me accha sandesh jaega toh kehne ka matlab hai aur moment par insaan kuch bada kar sakta hai kuch accha kar sakta hai toh kisi bhi garib vyakti ko kisi bhi amir vyakti se ghabrane ki zarurat nahi hai jo amir vyakti bahut dikhawa karte hain ki main bahut bada hoon tum log mere aage mat chodo aise amir logo ko main bata dena chahta hoon ki marne ke baad jo kafan hota hai na kafan ka koi brand nahi hota hai chahen crorepati mare chahen garib bare usi kafan me baat karo jata hai shmashan ghat aur use jalaya jata hai toh aisa bilkul na kare sab logo ko mil jul kar rehna hai amir logo ko koshish karni chahiye ki garib logo ki madad kare garib logo ko bhi koshish karna chahiye ki main padh likhkar mehnat karke aage badho aur apne parivar me khushahali laao dhanyavad

विक्की भैया मैं आपको बता देना चाहता हूं सबका अपना रहन-सहन होता है अपना स्टैंडर्ड होता है अ

Romanized Version
Likes  358  Dislikes    views  4801
WhatsApp_icon
play
user
1:17

Likes  55  Dislikes    views  672
WhatsApp_icon
user

H.P. Vashista

Youtuber | Life Coach | MLM Super Guru

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम एच डी वशिष्ठ प्रॉफिटगुरु ओके लाइफ यूट्यूब चैनल पर आपका स्वागत है आपका सवाल है अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़ों और स्टाइल दिखा कर उन पर कोई चीज दे तो उसका क्या किया जाए बड़े आश्चर्य की बात पता चलेगी आप को गरीब आदमी के जीवन में स्टाइल का कोई लेना देना नहीं है वह अपने जरूरत के हिसाब से गर्मी सर्दी के हिसाब से कपड़े पहनता है अमीर आदमी जो जुकर बर्ग वगैरह जितने भी लोग हैं आप यकीन नहीं करेंगे 1000 2000 ₹3000 के कपड़े पहनते हैं हां यह सच है आप जितने भी रईस लोगों को देखेंगे ना जो बड़े-बड़े रहीस लोग हैं उनके कपड़े बहुत ज्यादा महंगे नहीं होते हैं कुछ सीटों को छोड़कर के दोनों ऑफिशियल अपने बिजनेस के लिए काम करने के लिए पहनने पड़ते हैं अगर नॉर्मल लाइफ में देखेंगे बिल्कुल साधारण कपड़े पहनेंगे बोलो बिल्कुल साधारण कपड़े परंतु मिडिल फैमिली वाला व्यक्ति फंसा हुआ है ना मैं जिस औरत के चक्कर में रोटी पूरी नहीं हो रही नाम है जिस औरत के चक्कर में नकली डिजाइन डर के कपड़े पहनते हैं एक दूसरे के ऊपर वह लोग अमीर नहीं होते जो महंगे कपड़े महंगी घड़ियां दिखाकर के स्टाइल मारते रईस व्यक्ति तो कोई और ही होते हैं

namaskar doston mera naam h d vashistha prafitguru ok life youtube channel par aapka swaagat hai aapka sawaal hai amir log garibon par apne kapdo aur style dikha kar un par koi cheez de toh uska kya kiya jaaye bade aashcharya ki baat pata chalegi aap ko garib aadmi ke jeevan me style ka koi lena dena nahi hai vaah apne zarurat ke hisab se garmi sardi ke hisab se kapde pehanta hai amir aadmi jo jukar berg vagera jitne bhi log hain aap yakin nahi karenge 1000 2000 Rs ke kapde pehente hain haan yah sach hai aap jitne bhi raees logo ko dekhenge na jo bade bade rahis log hain unke kapde bahut zyada mehnge nahi hote hain kuch seaton ko chhodkar ke dono official apne business ke liye kaam karne ke liye pahanne padate hain agar normal life me dekhenge bilkul sadhaaran kapde pahnenge bolo bilkul sadhaaran kapde parantu middle family vala vyakti fansa hua hai na main jis aurat ke chakkar me roti puri nahi ho rahi naam hai jis aurat ke chakkar me nakli design dar ke kapde pehente hain ek dusre ke upar vaah log amir nahi hote jo mehnge kapde mehengi ghadiyan dikhakar ke style marte raees vyakti toh koi aur hi hote hain

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम एच डी वशिष्ठ प्रॉफिटगुरु ओके लाइफ यूट्यूब चैनल पर आपका स्वागत है

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  607
WhatsApp_icon
user

Sapna

Social Worker

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन तक कोई चीज भोंकते हैं तो उसका क्या किया जाए तो मैं आपको बताना चाहूंगी हमें भारतीय संविधान में बहुत से ऐसे मौलिक अधिकार मिले हैं जिनमें समानता स्वतंत्रता शिक्षा का अधिकार कहीं भी आने-जाने का अधिकार अपना जीवन जीने का अधिकार ऐसे अधिकारी सावधान ने दिए हुए हैं और जो हमारा सविधान है उसमें जो कानून है तो वह कानून सबके लिए समान है उस कानून में ना कोई छोटा है ना कोई बड़ा है ना कोई गरीब है ना कोई पैसे वाला है कानून सबके लिए समान है यदि कोई अमीर व्यक्ति कपड़े और अपना स्टाइल दिखा कर किसी गरीब व्यक्ति को सताता है या उस पर कोई गलत बात थोपना चाहता है तो गरीब व्यक्तियों को ऐसे व्यक्तियों से बिल्कुल भी डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि व्यक्ति गरीब जरूर होता है लेकिन हर व्यक्ति का मान सम्मान होता है यदि आपके मन मान सम्मान को ठेस पहुंच रही है और आप पर कोई गलत का फूफा जा रहा है तो आप उसका जवाब दीजिए आप को डरने की कोई जरूरत नहीं है यदि आप सही हैं आपने कोई गलती नहीं किए तो आप को डरने की बिल्कुल जरूरत नहीं है और आप जो यह भेदभाव है गरीब अमीर छोटा बड़ा ही कुछ नहीं होता कानून सबके लिए बराबर होता है आपको आपको भी जीने का अधिकार है मान सम्मान पाने का अधिकार है इन बातों को याद रखिए और किसी से आप को डरने की जरूरत नहीं है और जो भी आप का फायदा उठाना चाहता है यहां पर कोई गलत इल्जाम लगाना चाहता है तो आप अपने सही होने का प्रमाण दीजिए क्योंकि आपका भी मान सम्मान है आपको भी समान अधिकार है आपको भी जीने का अधिकार है और किसी से आप को डरने की कोई जरूरत नहीं है सपना शर्मा

aapka prashna hai amir log garibon par apne kapde aur style dikha kar un tak koi cheez bhonkte hain toh uska kya kiya jaaye toh main aapko batana chahungi hamein bharatiya samvidhan me bahut se aise maulik adhikaar mile hain jinmein samanata swatantrata shiksha ka adhikaar kahin bhi aane jaane ka adhikaar apna jeevan jeene ka adhikaar aise adhikari savdhaan ne diye hue hain aur jo hamara samvidhan hai usme jo kanoon hai toh vaah kanoon sabke liye saman hai us kanoon me na koi chota hai na koi bada hai na koi garib hai na koi paise vala hai kanoon sabke liye saman hai yadi koi amir vyakti kapde aur apna style dikha kar kisi garib vyakti ko sataata hai ya us par koi galat baat thopna chahta hai toh garib vyaktiyon ko aise vyaktiyon se bilkul bhi darane ki zarurat nahi hai kyonki vyakti garib zaroor hota hai lekin har vyakti ka maan sammaan hota hai yadi aapke man maan sammaan ko thes pohch rahi hai aur aap par koi galat ka fufa ja raha hai toh aap uska jawab dijiye aap ko darane ki koi zarurat nahi hai yadi aap sahi hain aapne koi galti nahi kiye toh aap ko darane ki bilkul zarurat nahi hai aur aap jo yah bhedbhav hai garib amir chota bada hi kuch nahi hota kanoon sabke liye barabar hota hai aapko aapko bhi jeene ka adhikaar hai maan sammaan paane ka adhikaar hai in baaton ko yaad rakhiye aur kisi se aap ko darane ki zarurat nahi hai aur jo bhi aap ka fayda uthana chahta hai yahan par koi galat illajam lagana chahta hai toh aap apne sahi hone ka pramaan dijiye kyonki aapka bhi maan sammaan hai aapko bhi saman adhikaar hai aapko bhi jeene ka adhikaar hai aur kisi se aap ko darane ki koi zarurat nahi hai sapna sharma

आपका प्रश्न है अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन तक कोई चीज भोंकते हैं तो

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  2081
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है अमीर लोग गरीब और अब गरीबों पर अपने कपड़े आदि स्टाइल वगैरा ठोकने का काम करते हैं उनके साथ क्या किया जाना चाहिए उनका क्या किया जाए तो मेरे छोटा सा शब्दों में है उन अमीरों पर अंधकार आ जाता है और उस अहंकार की वजह से वह यह सब हरकतें करते हैं वह भूल जाते हैं कि वह भी इंसान हैं वह भी कभी इसी मुफलिसी से निकल कर आए हैं या वह भी कभी उनको भी मरना है वही भूल जाते हैं और क्या करना चाहिए लेकिन मैं तो सिर्फ यही कहना चाहूंगा कि उनका अहंकार तोड़ना चाहिए जिनका नशे में चूर है उनका नशा तोड़ना चाहिए जिससे इंसान होता है उसके अंदर भी वही कौन होता है जो अमीर के अंदर होता है वह भी वही रोटी खाता है जो अमीर खाता है सिर्फ फर्क क्या होता है कि दौलत का होता है और यह दौलत का जो नशा है उनका वह नशा उतारना चाहिए

aapka sawaal hai amir log garib aur ab garibon par apne kapde aadi style vagera thokne ka kaam karte hain unke saath kya kiya jana chahiye unka kya kiya jaaye toh mere chota sa shabdon me hai un amiron par andhakar aa jata hai aur us ahankar ki wajah se vaah yah sab harakatein karte hain vaah bhool jaate hain ki vaah bhi insaan hain vaah bhi kabhi isi muflisi se nikal kar aaye hain ya vaah bhi kabhi unko bhi marna hai wahi bhool jaate hain aur kya karna chahiye lekin main toh sirf yahi kehna chahunga ki unka ahankar todna chahiye jinka nashe me chur hai unka nasha todna chahiye jisse insaan hota hai uske andar bhi wahi kaun hota hai jo amir ke andar hota hai vaah bhi wahi roti khaata hai jo amir khaata hai sirf fark kya hota hai ki daulat ka hota hai aur yah daulat ka jo nasha hai unka vaah nasha utarana chahiye

आपका सवाल है अमीर लोग गरीब और अब गरीबों पर अपने कपड़े आदि स्टाइल वगैरा ठोकने का काम करते

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सोना अमीर लोग गरीब पर अपने कपड़े उस टाइम दिखा कर उन पर कई नई चीजें ठोकते हैं उनका क्या किया जाए नहीं दोस्त मैं यही कहना चाहूंगा कि कोई भी व्यक्ति अपने ब्रांड से ब्रांड के कपड़े पहनने से अच्छा नहीं होता बल्कि ब्रांडेड सोच से अच्छा होते हैं अगर ब्रांडेड कपड़े भी पहन रखे हैं और घर सोच है उसकी घटिया तो वह ब्रांड ब्रांडेड नहीं हो सकता ब्रांडेड होते हैं एक अच्छी बेहतरीन सोच से तो अपनी सोच को सकारात्मक रखो चाहे आप पर किसी भी लेवल पर हैं आज फाइनेंसियल नहीं डिस्प्यूट हो सकता है आपके पास 10:00 मिनट कि आप गरीब है गरीब वह है जो मान लेता है मैं गरीब हूं गरीबों नहीं किसकी फाइनेंसियल कंडीशन खराब है यानी रोशन दोस्त कोई भी आपके कुछ तो करा दो सोने वाले को पहले ही वेलवेट करो यदि आप के काम का है आपको कुछ प्रोडक्ट यूट्यूब से मिलने वाली है तो उसको मांगा दवाई पेट तो ब्रांडेड कपड़े पहनने से कोई भी बड़ा नहीं होता बड़ा होता है ब्रांडेड शूज ब्रांडेड फोटो जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ रहे

namaskar aapka sona amir log garib par apne kapde us time dikha kar un par kai nayi cheezen thokte hain unka kya kiya jaaye nahi dost main yahi kehna chahunga ki koi bhi vyakti apne brand se brand ke kapde pahanne se accha nahi hota balki branded soch se accha hote hain agar branded kapde bhi pahan rakhe hain aur ghar soch hai uski ghatiya toh vaah brand branded nahi ho sakta branded hote hain ek achi behtareen soch se toh apni soch ko sakaratmak rakho chahen aap par kisi bhi level par hain aaj financial nahi dispute ho sakta hai aapke paas 10 00 minute ki aap garib hai garib vaah hai jo maan leta hai main garib hoon garibon nahi kiski financial condition kharab hai yani roshan dost koi bhi aapke kuch toh kara do sone waale ko pehle hi velvet karo yadi aap ke kaam ka hai aapko kuch product youtube se milne wali hai toh usko manga dawai pet toh branded kapde pahanne se koi bhi bada nahi hota bada hota hai branded shoes branded photo jai hind jai bharat aapka din shubha rahe

नमस्कार आपका सोना अमीर लोग गरीब पर अपने कपड़े उस टाइम दिखा कर उन पर कई नई चीजें ठोकते हैं

Romanized Version
Likes  114  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने काम ही लोग अपनी स्टाइल के कपड़े गरीबों के ठोकर अपनी स्टाइल दिखाते हैं तो उनके लिए क्या किया जाए गलती तो गरीबों की है क्यों वह अमीरों की नकल करते हैं जमीन के पास इतने साधन नहीं है उतनी उनके पास आए नहीं है क्योंकि उनकी नकल करना जरूरी है और नगर करके क्या आप मुझे चले हो जाएंगे अभी किस टाइम के कपड़ों से ना तो अमीर हो जाएंगे नहीं उन जैसी आपके अंदर विचारधारा आएगी तो फिर क्यों निकल कर क्यों अपना खून अपना समय बर्बाद कर बेहतर है कि हम उनकी नकल छोड़ दें और अच्छा जी मुझे

apne kaam hi log apni style ke kapde garibon ke thokar apni style dikhate hain toh unke liye kya kiya jaaye galti toh garibon ki hai kyon vaah amiron ki nakal karte hain jameen ke paas itne sadhan nahi hai utani unke paas aaye nahi hai kyonki unki nakal karna zaroori hai aur nagar karke kya aap mujhe chale ho jaenge abhi kis time ke kapdo se na toh amir ho jaenge nahi un jaisi aapke andar vichardhara aayegi toh phir kyon nikal kar kyon apna khoon apna samay barbad kar behtar hai ki hum unki nakal chhod de aur accha ji mujhe

अपने काम ही लोग अपनी स्टाइल के कपड़े गरीबों के ठोकर अपनी स्टाइल दिखाते हैं तो उनके लिए क्य

Romanized Version
Likes  372  Dislikes    views  4989
WhatsApp_icon
user

Vijay kotapkar

Mind Trainer

7:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो सवाल है ना आपका इस सवाल ज़ख्मी लिखा है क्या बोली सवाल के ऊपर में आपको क्या टिप्पणी दो मुझे बोलो पहले चलो सवाली अपने उल्टा लिखा है क्या अमीर लोग अपने कपड़े नहीं अच्छे-अच्छे पहनते और गरीब लोगों पर ही हूं मजाक उड़ा कर देखो यार आज गरीब अपने घर में गरीबी असली है कि थी उसको आता नहीं अमीर बनना तो उसके बारे में सोचता कि आज दुनिया के अंदर मानो यह नाकामयाबी लोगों के चेहरे पर भी गरीबी की यही वजह है कि उसको सोचना ही नहीं आता ही नहीं है इस पर तो आज मैंने दोपहर को एक किताब है अमेरिका को मैंने सोचा वह मेरे सुनने सुनने के बाद में मुझे मन में ख्याल आया कि आपका जो सवाल का जवाब है ना वह मैं आपको सही ढंग से देखो कि गरीब रहने का एक ही वजह है कि वह सोचता नहीं है कि आमिर कैसे बना जाए और आमिर जो लोग हैं जो अच्छे कपड़े पहनते हैं तो क्या वह गरीब लोग गरीब लोग यह सोचते हैं कि वह अच्छे कपड़े की पहनता है अपना नजर का एक धोखा होता है कि वह अच्छा कमाता है तो सुबह के अच्छे कपड़े धोने उसकी यानी जो लोगों को मिलना है जैसे लोगों से मिलता है तो अच्छे इंप्रेशन लेकर नहीं जाएगा वह गरीबी पटेल पटेल के जैसे जाएगा तो क्या सूरत पसंद करेंगे मेरा मालू कंपनी में बड़ा ऑफिसर है मैनेजर है तो क्या उसको लोग पसंद करेंगे नहीं पसंद करेंगे दोषी ज्योति एक तो इंसान के पास नॉलेज नॉलेज सादगी है तो वैसे लोगों को भी लोग पसंद करते तो सादगी का मतलब क्यों फॉर्मल रहता है नॉर्मल रहता ही नहीं करता और दूसरा जो है उसको कौन सा होता है ऐसे लोगों से बड़े-बड़े बिजनेसेस मत मिलना होता है तो इंसान क्या करेगा तो शादी दर्द सादगी से जाएगा रात उसकी इंप्रेशन नहीं रहेगी वहां पर क्योंकि हम बोलते हैं ना कि फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन एबी आप जाओ तो दो चीज लेकर जाओ नॉलेज और आपका एटीट्यूड आपका जो बाहरी जो आपका दिखाओ नाचे ना जैसी दिखाओ नहीं बोलते इसको लेकर अपनी प्लीज इसको बोलते तो आप सोचो खाले कंपनी हमें क्लीनिंग के लोग होते हैं जो चेहरे पर कील क्यों रखते हो और एटीकेटी में ही टाइपिंग के लोग घूमते अब आप मान लो कि यह सोच रहे हो कि गरीब इंसान यह सोचता है तो गरीब इंसान ऐसा सोचता है ना इसलिए गरीब रहता है कि कभी भी इंसान की कॉपी करना नहीं चाहता है कि उसका भाग्य में लिखा है कि जो इंसान जैसा सोचता है वैसा बन जाता है यह सिद्धांत ना ब्रह्मांड का नियम में आरक्षण का विरोध प्रदर्शन का सिद्धांत है और इस पर काफी सारी किताबें भी लिखी गई और भगवत गीता बाइबल इन सभी चीजों में इसका वर्णन किया कि जो इंसान जैसा सोचता है वैसा जो इंसान समझता है ना तो वैसे ही फ्री के मन में यह इच्छा होगी सेल्फी निकाल सेल्फी निकाल देना क्योंकि उनके पास हो का रहने का माहौल बन जाता है कि किलो प्रति का सिद्धांत है जैसा आप सोचते वैसे मॉल आपके सामने खड़े हो सकते लेकिन हिम्मत नहीं करते लोग कार केवल सेल्फी नहीं निकालते आदमी नहीं करते जो इंसान से जो इंसान बात करता है अगर कोई गरीब इंसान बात करता है वह कोशिश करता है उसकी अमीर बन पाएगा और इस पर ऐसे भी होगा थे जिन्होंने किताब लिखे रिचार्ज करने के बाद में किताब लिखी गरीबी में फर्क इतना सोच आमिर आमिर की तरह सोचता है और बनता है यूसी दिमाग में किसी चलते के पैसे से पैसों को किस तरह की और एक गरीब है कि मैं घर को कैसे चलाऊं और दूसरा में लोगों के घर कैसे जाऊं तो दोनों भाग्य किस्मत वाली बात ही नहीं है अगर मान लो कि कोई गरीब है क्या आप में से कोई गरीब हो तो आज से विचार ही छोड़ देना क्योंकि आपके विचार आपको नीचे की तरफ ले जाते तो विचार को जितना ऊपर करोगे इतनी छोटी सी कहानी बोलता कि धीरुभाई अंबानी की बात करता हूं अभी छोटी बच्चे थे ज्यादा इसमें समझ नहीं थी लेकिन उनको ऐसा लगता था ना कि मुझे बस अमीर बनना है तू क्या करता है जहां पर महंगी से महंगी चाय मिलती थी कोई होटल में जाते थे और वहां पर जाकर हो जा चाय पीते थे जिस चाय की मिली बहुत ज्यादा थी लेकिन को शौक था बस वह अपनी कमाई को है ना वह चाय में खर्च कर देता क्या था जो भारत पर ऐसे बातें सुनते लाखों करोड़ों की मन की बात सुनते थे ना तो उनके दिमाग के अंदर उनके पूरे ब्रेन के अंदर पूरे चेंज करने बॉडी में 600 खरब कोशिकाएं दोस्त मेरे तो पूरे दिमाग में उनके जनीज हो जाती थी यू पावर आ जाता था कि मेरे पास भी है सारा पावर और मेरे पास भी शब्द शब्द के पावर के लिए उन्होंने वह चाय का खर्चा करना शुरू किया और आज देखो आज उनकी जो मुकेश अंबानी की वाइफ है ना वो तीन लाख की चाय पीती हुई थी तारीख में 300000 की चाय होती है जी चाय पीते हुए की चाय की कीमत ₹300000 होती है कि आप गरीबी के बारे में ज्यादा सोचते कि वह कभी इंडियन सूट नियम बनाते नहीं है क्योंकि वैसी तरंग की मिमिक्री कौन से आप मैच कर लेते हो अगर आपको मान लो अच्छा लगा और आप तो मेरे काफी करें और इसके पहले भी बोल चुका हूं आप को जोड़ना जोड़ना मेरा एड्रेस मैंने दे दिया है मेरा मोबाइल नंबर मैंने दे दिया है और मैं क्या काम करता हूं अभी सारे सबरी में मत बोल दे पाओगे बैकग्राउंड पूरा देख पाओगे कि भाई सभी करते क्या करें जब तक आप करीब आओगे नहीं तो कैसे अरे मुझसे नहीं तो किसी और से जुड़ जाना लेकिन होगा क्या अगर मालूम किसी को छोड़ते नहीं किसी को गुरु बनाया तेरे किसी को मेंटल नहीं बनाते मारलाइज के अंदर सांप क्या क्या आपकी तरक्की से खुद ही दूर भाग रहे एक शख्स की वजह से एक बार की वजह से और शकोडर जीवन में कभी तरक्की नहीं लाते हमें वहां क्यों गई थी मैं नहीं कर सकता यह मेरे बस में नहीं है जो शब्द तूने यह चोर यह चोर हमारी भी तब तक कभी दुनिया में तरक्की इंसान कर नहीं पाएगा हमारे देश के अंदर जो लोग गरीब है और जो नेगेटिव सोचते इसकी वजह उनका पूरा चेंज कर दो इसको कॉपी कर कर

yah jo sawaal hai na aapka is sawaal zakhmi likha hai kya boli sawaal ke upar me aapko kya tippani do mujhe bolo pehle chalo savali apne ulta likha hai kya amir log apne kapde nahi acche acche pehente aur garib logo par hi hoon mazak uda kar dekho yaar aaj garib apne ghar me garibi asli hai ki thi usko aata nahi amir banna toh uske bare me sochta ki aaj duniya ke andar maano yah naakamyaambee logo ke chehre par bhi garibi ki yahi wajah hai ki usko sochna hi nahi aata hi nahi hai is par toh aaj maine dopahar ko ek kitab hai america ko maine socha vaah mere sunne sunne ke baad me mujhe man me khayal aaya ki aapka jo sawaal ka jawab hai na vaah main aapko sahi dhang se dekho ki garib rehne ka ek hi wajah hai ki vaah sochta nahi hai ki aamir kaise bana jaaye aur aamir jo log hain jo acche kapde pehente hain toh kya vaah garib log garib log yah sochte hain ki vaah acche kapde ki pehanta hai apna nazar ka ek dhokha hota hai ki vaah accha kamata hai toh subah ke acche kapde dhone uski yani jo logo ko milna hai jaise logo se milta hai toh acche impression lekar nahi jaega vaah garibi patel patel ke jaise jaega toh kya surat pasand karenge mera maloom company me bada officer hai manager hai toh kya usko log pasand karenge nahi pasand karenge doshi jyoti ek toh insaan ke paas knowledge knowledge saadgi hai toh waise logo ko bhi log pasand karte toh saadgi ka matlab kyon formal rehta hai normal rehta hi nahi karta aur doosra jo hai usko kaun sa hota hai aise logo se bade bade bijneses mat milna hota hai toh insaan kya karega toh shaadi dard saadgi se jaega raat uski impression nahi rahegi wahan par kyonki hum bolte hain na ki first impression is the last impression ab aap jao toh do cheez lekar jao knowledge aur aapka attitude aapka jo bahri jo aapka dikhaao nache na jaisi dikhaao nahi bolte isko lekar apni please isko bolte toh aap socho khale company hamein cleaning ke log hote hain jo chehre par keel kyon rakhte ho aur ATKT me hi typing ke log ghumte ab aap maan lo ki yah soch rahe ho ki garib insaan yah sochta hai toh garib insaan aisa sochta hai na isliye garib rehta hai ki kabhi bhi insaan ki copy karna nahi chahta hai ki uska bhagya me likha hai ki jo insaan jaisa sochta hai waisa ban jata hai yah siddhant na brahmaand ka niyam me aarakshan ka virodh pradarshan ka siddhant hai aur is par kaafi saari kitaben bhi likhi gayi aur bhagwat geeta bible in sabhi chijon me iska varnan kiya ki jo insaan jaisa sochta hai waisa jo insaan samajhata hai na toh waise hi free ke man me yah iccha hogi selfie nikaal selfie nikaal dena kyonki unke paas ho ka rehne ka maahaul ban jata hai ki kilo prati ka siddhant hai jaisa aap sochte waise mall aapke saamne khade ho sakte lekin himmat nahi karte log car keval selfie nahi nikalate aadmi nahi karte jo insaan se jo insaan baat karta hai agar koi garib insaan baat karta hai vaah koshish karta hai uski amir ban payega aur is par aise bhi hoga the jinhone kitab likhe recharge karne ke baad me kitab likhi garibi me fark itna soch aamir aamir ki tarah sochta hai aur banta hai UC dimag me kisi chalte ke paise se paison ko kis tarah ki aur ek garib hai ki main ghar ko kaise chalau aur doosra me logo ke ghar kaise jaaun toh dono bhagya kismat wali baat hi nahi hai agar maan lo ki koi garib hai kya aap me se koi garib ho toh aaj se vichar hi chhod dena kyonki aapke vichar aapko niche ki taraf le jaate toh vichar ko jitna upar karoge itni choti si kahani bolta ki dhirubhai ambani ki baat karta hoon abhi choti bacche the zyada isme samajh nahi thi lekin unko aisa lagta tha na ki mujhe bus amir banna hai tu kya karta hai jaha par mehengi se mehengi chai milti thi koi hotel me jaate the aur wahan par jaakar ho ja chai peete the jis chai ki mili bahut zyada thi lekin ko shauk tha bus vaah apni kamai ko hai na vaah chai me kharch kar deta kya tha jo bharat par aise batein sunte laakhon karodo ki man ki baat sunte the na toh unke dimag ke andar unke poore brain ke andar poore change karne body me 600 kharab koshikayen dost mere toh poore dimag me unke janij ho jaati thi you power aa jata tha ki mere paas bhi hai saara power aur mere paas bhi shabd shabd ke power ke liye unhone vaah chai ka kharcha karna shuru kiya aur aaj dekho aaj unki jo mukesh ambani ki wife hai na vo teen lakh ki chai piti hui thi tarikh me 300000 ki chai hoti hai ji chai peete hue ki chai ki kimat Rs hoti hai ki aap garibi ke bare me zyada sochte ki vaah kabhi indian suit niyam banate nahi hai kyonki vaisi tarang ki mimicry kaun se aap match kar lete ho agar aapko maan lo accha laga aur aap toh mere kaafi kare aur iske pehle bhi bol chuka hoon aap ko jodna jodna mera address maine de diya hai mera mobile number maine de diya hai aur main kya kaam karta hoon abhi saare sabri me mat bol de paoge background pura dekh paoge ki bhai sabhi karte kya kare jab tak aap kareeb aaoge nahi toh kaise are mujhse nahi toh kisi aur se jud jana lekin hoga kya agar maloom kisi ko chodte nahi kisi ko guru banaya tere kisi ko mental nahi banate marlaij ke andar saap kya kya aapki tarakki se khud hi dur bhag rahe ek sakhs ki wajah se ek baar ki wajah se aur shakodar jeevan me kabhi tarakki nahi laate hamein wahan kyon gayi thi main nahi kar sakta yah mere bus me nahi hai jo shabd tune yah chor yah chor hamari bhi tab tak kabhi duniya me tarakki insaan kar nahi payega hamare desh ke andar jo log garib hai aur jo Negative sochte iski wajah unka pura change kar do isko copy kar kar

यह जो सवाल है ना आपका इस सवाल ज़ख्मी लिखा है क्या बोली सवाल के ऊपर में आपको क्या टिप्पणी

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user

Maaya Saikh

YUDIVO Marketing Private Limited..

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर लोग गरीबों के कपड़े स्टाइल दिखाते हैं जिसे ठोकते हैं उनका क्या किया जो आप उन चीजों को मत देखिए क्या करते हैं क्या दिखाते हैं उनको सब किसकी भेजी आपके पास जो है उसका शुक्र अदा कीजिए आप जो कपड़े पहनती जो खाना खाते हो पहले कुछ भी जो आप से नीचे ना तुम को देखेंगे तो ऊपर वाले का शुक्रिया अदा करेंगे आप क्या मुझसे बेहतर जिनके पास खाने के लिए रोती हुई नहीं स्टाइल को फॉलो करते हैं तो आप मेहनत कीजिए कि आप जो वर्क करते हो काम कर उससे ज्यादा मेहनत करो तो कॉमन सी बातें आप अच्छा काम आओगे तो उनसे ज्यादा स्टाइल स्टाइल सिर्फ दिखावा होता है आज या कल इंसान

amir log garibon ke kapde style dikhate hain jise thokte hain unka kya kiya jo aap un chijon ko mat dekhiye kya karte hain kya dikhate hain unko sab kiski bheji aapke paas jo hai uska shukra ada kijiye aap jo kapde pahanti jo khana khate ho pehle kuch bhi jo aap se niche na tum ko dekhenge toh upar waale ka shukriya ada karenge aap kya mujhse behtar jinke paas khane ke liye roti hui nahi style ko follow karte hain toh aap mehnat kijiye ki aap jo work karte ho kaam kar usse zyada mehnat karo toh common si batein aap accha kaam aaoge toh unse zyada style style sirf dikhawa hota hai aaj ya kal insaan

अमीर लोग गरीबों के कपड़े स्टाइल दिखाते हैं जिसे ठोकते हैं उनका क्या किया जो आप उन चीजों को

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर ऐसा कोई करता है तो आप उसे तो देखिए और मुंह फेर लीजिए आप लोग जितना ज्यादा उन्हें देखेंगे उतना ज्यादा जरूर महसूस करेंगे ऐसा कोई आदमी आपके सामने आ रहा हूं कि जब वह पेड़ कैसे हो जाइए कोई बहाना मारी मूवी घर जाइए जवाब देंगे न्यू नैना अपने-अपने महसूस होगी हमें जलील कर रहे हैं और जला लो तुम्हें सुन करेंगे अच्छे-अच्छे कपड़े पहन रखे हैं लेकिन जवाब देंगे सबसे अच्छा तरीका यह जॉब कर रहा है बात कर रहे हैं आपसे जान पहचान गया तो बात करते-करते वीडियो चाहिए चलिए ठीक है और अगर सामने से आ रहे तब दूसरे मुंह कर दे रही है उसकी तो देखिए मत क्योंकि आज ही कपड़े पहनता है इसलिए क्यों दूसरों को दिखा सके वह कि मैं कितने बढ़िया रही सो कितना अच्छे कपड़े पहनता हूं कितना बड़ा आदमी हूं मैं तो सब मुंह फेर लिया कोई उनको देखने की

agar aisa koi karta hai toh aap use toh dekhiye aur mooh pher lijiye aap log jitna zyada unhe dekhenge utana zyada zaroor mehsus karenge aisa koi aadmi aapke saamne aa raha hoon ki jab vaah ped kaise ho jaiye koi bahana mari movie ghar jaiye jawab denge new naina apne apne mehsus hogi hamein jalil kar rahe hain aur jala lo tumhe sun karenge acche acche kapde pahan rakhe hain lekin jawab denge sabse accha tarika yah job kar raha hai baat kar rahe hain aapse jaan pehchaan gaya toh baat karte karte video chahiye chaliye theek hai aur agar saamne se aa rahe tab dusre mooh kar de rahi hai uski toh dekhiye mat kyonki aaj hi kapde pehanta hai isliye kyon dusro ko dikha sake vaah ki main kitne badhiya rahi so kitna acche kapde pehanta hoon kitna bada aadmi hoon main toh sab mooh pher liya koi unko dekhne ki

अगर ऐसा कोई करता है तो आप उसे तो देखिए और मुंह फेर लीजिए आप लोग जितना ज्यादा उन्हें देखेंग

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  2720
WhatsApp_icon
user
0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई आज से तो नहीं है तब से है जब से सृष्टि चली है जिसके पास कुछ ज्यादा है वह दूसरे को दिखाता ही है और यही तो है सब दुनिया में देरी से चलता है सब प्रैक्टिकल है पाकिस्तानी अपने आप को दिखाने की कोशिश में आगे जाता है कोशिश करता है कि मैं भी सामने वाले को प्रभावित कर लो मगर यह आपके ऊपर है क्या प्रभावित होते हैं या नहीं होते आप किसी से प्रभावित इसलिए ना हो उसी कपड़े पहने एक अच्छे बोल वाला व्यक्ति आपसे अच्छी बातें करने वाले व्यक्ति से प्रभावित हो अच्छे कपड़े वालों से प्रभावित हो उसका मतलब आप कुछ किया मेरी पर फिदा हो गए उसका अमीरी कोई मायने नहीं रखती अगर उसकी जुबान अच्छी नहीं है तो फिर मेरे लिए सुरक्षित रहिए लोगों को भी शिक्षित कीजिए और खुद को सुरक्षित रहिए

bhai aaj se toh nahi hai tab se hai jab se shrishti chali hai jiske paas kuch zyada hai vaah dusre ko dikhaata hi hai aur yahi toh hai sab duniya me deri se chalta hai sab practical hai pakistani apne aap ko dikhane ki koshish me aage jata hai koshish karta hai ki main bhi saamne waale ko prabhavit kar lo magar yah aapke upar hai kya prabhavit hote hain ya nahi hote aap kisi se prabhavit isliye na ho usi kapde pehne ek acche bol vala vyakti aapse achi batein karne waale vyakti se prabhavit ho acche kapde walon se prabhavit ho uska matlab aap kuch kiya meri par fida ho gaye uska amiri koi maayne nahi rakhti agar uski jubaan achi nahi hai toh phir mere liye surakshit rahiye logo ko bhi shikshit kijiye aur khud ko surakshit rahiye

भाई आज से तो नहीं है तब से है जब से सृष्टि चली है जिसके पास कुछ ज्यादा है वह दूसरे को दिखा

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1781
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  20  Dislikes    views  317
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई अमीर अपने कपड़े उसका ही लिखा कर रिमो पर कोई चीज धूप नहीं सकता वह तो फिर भी बात तो तोते हैं आप उनकी नौकरी करते हैं आप उनसे मांगने जाते हैं तब तो सकते हैं अगर आप उनसे कोई चीज की उम्मीद ना करें तो तो भी सकते कुछ लिया पर वह कपड़े अस्थाई दिखाकर तो बिल्कुल भी नहीं

koi amir apne kapde uska hi likha kar rimo par koi cheez dhoop nahi sakta vaah toh phir bhi baat toh tote hain aap unki naukri karte hain aap unse mangne jaate hain tab toh sakte hain agar aap unse koi cheez ki ummid na kare toh toh bhi sakte kuch liya par vaah kapde asthai dikhakar toh bilkul bhi nahi

कोई अमीर अपने कपड़े उसका ही लिखा कर रिमो पर कोई चीज धूप नहीं सकता वह तो फिर भी बात तो तोते

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Startsammer

Youtuber

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवारी है क्या मिल लो कपिल स्टाइल दिखाते तो देखिए बारे में बताता हूं जो लोग फेमस होना चाहते थे कि एक चले ससुराल में दे दो स्टाइल से बोलोगी काम करते हैं क्यों करते कि क्या वही देख कर उनको फॉलो करते क्योंकि अगर वह असली में कॉमेडी करते हैं असल में कोई टैलेंट दिखाते हैं तो लुक नहीं देखते बेसिक रिसर्च चाहिए मन के चली गई तो बीवी फेमस हो रखे इंसान जैसे कि भुवन बाम वह भी जब इंस्टाग्राम पर आते तो अच्छा था फोटो बनाते हैं अच्छे कपड़े बनवाते क्यों आते हैं क्योंकि अगर ना घर के काम में आएंगे तो क्या आप उनको फॉलो करोगे बेसिकली बात तो करो नहीं कर देगा थोड़ी सी ड्यूटी है तो यह कोशिश थोपना नहीं हुआ और दो सही में मिले जैसे कि बिल कैसे माफ जगह बकरों की फेसबुक के मालिक है तो यह ऐसे कपड़े कोई पहनते नहीं है बस सिंपल स्टाइल मिल जाते हैं अगला को मैं जो आपस में 65 टेलिंग दिया गया भाइयों के अंदर

sawari hai kya mil lo kapil style dikhate toh dekhiye bare me batata hoon jo log famous hona chahte the ki ek chale sasural me de do style se bologi kaam karte hain kyon karte ki kya wahi dekh kar unko follow karte kyonki agar vaah asli me comedy karte hain asal me koi talent dikhate hain toh look nahi dekhte basic research chahiye man ke chali gayi toh biwi famous ho rakhe insaan jaise ki bhuvan bam vaah bhi jab instagram par aate toh accha tha photo banate hain acche kapde banvaate kyon aate hain kyonki agar na ghar ke kaam me aayenge toh kya aap unko follow karoge basically baat toh karo nahi kar dega thodi si duty hai toh yah koshish thopna nahi hua aur do sahi me mile jaise ki bill kaise maaf jagah bakron ki facebook ke malik hai toh yah aise kapde koi pehente nahi hai bus simple style mil jaate hain agla ko main jo aapas me 65 telling diya gaya bhaiyo ke andar

सवारी है क्या मिल लो कपिल स्टाइल दिखाते तो देखिए बारे में बताता हूं जो लोग फेमस होना चाहते

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन पर कोई चीज होते हैं तो उसका क्या किया जाए कुछ नहीं करना उसका करना क्या है देखो अमीर और गरीब अमीर तो हम भी सोचते हैं हम तो अपने लिए खुद के लिए अमीर है उनके कहने से पैसों से मिलो ना कोई अमीर नहीं है यह कोई बड़ी बात नहीं है पैसों से भी रोना अमीरों के पास भी अमीर होते हैं ना अमीर मतलब क्या होता है वह इंसान ने होते मस्तानी होते हैं उनके भी दो हाथ दो पैर दो आंख दो कान दो ना होती है ना ऐसे हमारे भी होते हैं अमीर और गरीब खुशियों से कपड़े में भी कुछ नहीं रखा है जैसे दौड़े पहन सकते हैं सकते हैं वह ऐसे कपड़े पहने शेर दिखा करके पहली बात तो उनके जैसे कपड़े तो मैं कभी मैनू हम जैसे हम हम उनसे बराबरी करने के लायक नहीं है हम जहां हैं सही है बहुत अच्छे हैं और वह अपने क्या दिखाता स्टाइल स्टाइल क्या होता है स्टाइल अपना अपना स्टाइल होता है दूसरे का देख कर नहीं किया जाता है उसके लिए कुछ नहीं करना है वैसे मतलब यह जो फालतू की जो स्टाइल दिखाते हैं जमीर दिखाते हैं अमीर मतलब क्या होता है अमीर होता क्या है इसको क्या हुआ तो नहीं होगा ना तो खुद अपने आप को मजबूत बनाकर रखिए खुश रहिए थैंक्यू

amir log garibon par apne kapde aur style dikha kar un par koi cheez hote hain toh uska kya kiya jaaye kuch nahi karna uska karna kya hai dekho amir aur garib amir toh hum bhi sochte hain hum toh apne liye khud ke liye amir hai unke kehne se paison se milo na koi amir nahi hai yah koi badi baat nahi hai paison se bhi rona amiron ke paas bhi amir hote hain na amir matlab kya hota hai vaah insaan ne hote mastani hote hain unke bhi do hath do pair do aankh do kaan do na hoti hai na aise hamare bhi hote hain amir aur garib khushiyon se kapde me bhi kuch nahi rakha hai jaise daude pahan sakte hain sakte hain vaah aise kapde pehne sher dikha karke pehli baat toh unke jaise kapde toh main kabhi mainu hum jaise hum hum unse barabari karne ke layak nahi hai hum jaha hain sahi hai bahut acche hain aur vaah apne kya dikhaata style style kya hota hai style apna apna style hota hai dusre ka dekh kar nahi kiya jata hai uske liye kuch nahi karna hai waise matlab yah jo faltu ki jo style dikhate hain jamir dikhate hain amir matlab kya hota hai amir hota kya hai isko kya hua toh nahi hoga na toh khud apne aap ko majboot banakar rakhiye khush rahiye thainkyu

अमीर लोग गरीबों पर अपने कपड़े और स्टाइल दिखा कर उन पर कोई चीज होते हैं तो उसका क्या किया ज

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
play
user

Grt2100

Youtb Par S T Motivation

0:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप भी अमृत उठते हैं या अपना स्टाइल दिखाते हैं तो भाई उसको आप अपनी ताकत बनाओ ऐसी ताकत बनाओ एक मोटिवेशन की तरह जो कि अपने आप उसको दिखाओ कि गरीब कोई कम नहीं है

agar aap bhi amrit uthte hain ya apna style dikhate hain toh bhai usko aap apni takat banao aisi takat banao ek motivation ki tarah jo ki apne aap usko dikhaao ki garib koi kam nahi hai

अगर आप भी अमृत उठते हैं या अपना स्टाइल दिखाते हैं तो भाई उसको आप अपनी ताकत बनाओ ऐसी ताकत ब

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ नहीं बस देखते रहिए उसका मतलब जो भी है उससे बड़ा करके दिखाने का कुछ ठान लीजिए मन में है उसको खुद ब खुद लाइज हो जाएगा उसे कुछ मत कहिए अपने मन में ठान लीजिए और उस पर एक्शन लीजिए कुछ बड़ा करने का थान दीजिए

kuch nahi bus dekhte rahiye uska matlab jo bhi hai usse bada karke dikhane ka kuch than lijiye man me hai usko khud bsp khud lies ho jaega use kuch mat kahiye apne man me than lijiye aur us par action lijiye kuch bada karne ka than dijiye

कुछ नहीं बस देखते रहिए उसका मतलब जो भी है उससे बड़ा करके दिखाने का कुछ ठान लीजिए मन में है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समरथ को नहिं दोष गुसाईं जो समर्थन होता है और वह यदि ऐसा करता है तो उसको दोष नहीं होता परंतु यही उसकी सबसे बड़ी भूल होती है कि अगर माल लो अपने पास में कुछ है और उस पर हमें घमंड हो गया तो एक ना एक दिन में घमंड समाप्त हो जाएगा और फिर वह किसी के भी सामने नहीं आए

samrath ko nahin dosh gusain jo samarthan hota hai aur vaah yadi aisa karta hai toh usko dosh nahi hota parantu yahi uski sabse badi bhool hoti hai ki agar maal lo apne paas me kuch hai aur us par hamein ghamand ho gaya toh ek na ek din me ghamand samapt ho jaega aur phir vaah kisi ke bhi saamne nahi aaye

समरथ को नहिं दोष गुसाईं जो समर्थन होता है और वह यदि ऐसा करता है तो उसको दोष नहीं होता परंत

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गरीब लोग अमीर लोगों का कुछ नहीं कह सकते आप जैसे हो आप वैसे ही रहो वह जैसे हैं उन्हें वह भी छोड़ना कैसा रहना है उन्हें स्टाइल मारनी है नहीं मारनी है उनको उसी उसमें जीना अच्छा लगता है इतनी बुझीते हैं आपको अपने उसमें दिन अच्छा लगता आप अपनी की तरह रो

garib log amir logo ka kuch nahi keh sakte aap jaise ho aap waise hi raho vaah jaise hain unhe vaah bhi chhodna kaisa rehna hai unhe style marni hai nahi marni hai unko usi usme jeena accha lagta hai itni bujhite hain aapko apne usme din accha lagta aap apni ki tarah ro

गरीब लोग अमीर लोगों का कुछ नहीं कह सकते आप जैसे हो आप वैसे ही रहो वह जैसे हैं उन्हें वह भी

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user

Jyotsna

Homemaker

1:19
Play

Likes  80  Dislikes    views  950
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा तो नहीं है क्या कर्मवीर लोग अपने कपड़े दिखा कर गरीबों पर होते हैं लेकिन हम गरीब यहां मिडिल क्लास फैमिली में अपनी आकांक्षाओं को बढ़ा देते हैं हमें भी ऐसी पहनना है तो वह बात गलत है हमसे बराबरी करने लगे सबकी अपनी अपनी जगह है शायद उन्होंने भी बहुत मेहनत की करके शाम तक पहुंचे आप जो चाहते हैं वह मिल गया हमें चलने वाली भावना नहीं आनी चाहिए और वह नहीं चूक रहे हैं हमको तो अपने दिमाग में कुछ करने कि हमें भी यही चाहिए बिना कुछ किए रहेंगे तो सब चीजें अपने

aisa toh nahi hai kya karmaveer log apne kapde dikha kar garibon par hote hain lekin hum garib yahan middle class family me apni akankshaon ko badha dete hain hamein bhi aisi pahanna hai toh vaah baat galat hai humse barabari karne lage sabki apni apni jagah hai shayad unhone bhi bahut mehnat ki karke shaam tak pahuche aap jo chahte hain vaah mil gaya hamein chalne wali bhavna nahi aani chahiye aur vaah nahi chuk rahe hain hamko toh apne dimag me kuch karne ki hamein bhi yahi chahiye bina kuch kiye rahenge toh sab cheezen apne

ऐसा तो नहीं है क्या कर्मवीर लोग अपने कपड़े दिखा कर गरीबों पर होते हैं लेकिन हम गरीब यहां म

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!