आरक्षण के विरोध के लिए क्या आप सभी को लगता है कि आरक्षण विरोधी पार्टी का संगठन या उदय होना चाहिए?...


user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आरक्षण की शुरुआत हमारे देश में हुई थी एक अच्छी सोच के साथ हमारे देश में निचले तबके के साथ बहुत अन्याय पूर्ण व्यवहार हुआ करता था और उन्हें बहुत ही दृष्टि से देखा जाता था और कई निम्न कार्य उनसे करवाए जाते थे उनकी ऐसी बदतर स्थिति को देखते हुए ही उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए उन्हें बाकी समाज के लोगों के समकक्ष बनाने के लिए संविधान में आरक्षण का प्रावधान रखा गया था कि वह आरक्षण की सहायता से आत्मनिर्भर बन सके और स्वावलंबी बन कर शिक्षित होकर एक अच्छा जीवन जी सकें लेकिन यह आरक्षण कुछ लोगों ने गलत दिशा में डाल दिया जो लोग आरक्षण के हकदार थे उन तक आरक्षण पहुंच नहीं पाया और कुछ लोग जो आरक्षण लेकर उसकी फायदा उठाते रहे वह गलत हुआ एक ही परिवार की कई पीढ़ियों ने आरक्षण का फायदा उठाया और वह आरक्षण लेने वाले लोग वह परिवार करोड़पति हो गए लेकिन जो वाकई में निर्धन लोग थे अशिक्षित लोग थे उन तक आरक्षण की लाभ नहीं पहुंच पाया और यही गलत हुआ इसीलिए आज देश में इस बात का रूप है कि आरक्षण को खत्म किया जाए क्योंकि सामान्य वर्ग को भी उनके हिस्से का जो काम है वह नहीं मिलता और आरक्षण की वजह से उन्हें बहुत तकलीफ होती है लेकिन मुझे नहीं लगता है कि इसके लिए किसी नई पार्टी का आरक्षण विरोधी पार्टी का उदय होना चाहिए पहले कि हमारे देश में बहुत सारी पार्टियां हैं तरह-तरह की पार्टियों की वजह से वैसे ही देशभक्त है और फिर आरक्षण में थोड़ा सा भी बदलाव हिंसा का रूप ले लेता है इसकी जरूरत पर जागरूकता की जागरूक होकर ही हम इस पर

aarakshan ki shuruaat hamare desh mein hui thi ek achi soch ke saath hamare desh mein neechle tabke ke saath bahut anyay purn vyavhar hua karta tha aur unhe bahut hi drishti se dekha jata tha aur kai nimn karya unse karvaye jaate the unki aisi badataar sthiti ko dekhte hue hi unhe svaavlambi banaane ke liye unhe baki samaaj ke logon ke samkaksh banaane ke liye samvidhan mein aarakshan ka pravadhan rakha gaya tha ki vaah aarakshan ki sahaayata se aatmanirbhar ban sake aur svaavlambi ban kar shikshit hokar ek accha jeevan ji sakein lekin yah aarakshan kuch logon ne galat disha mein daal diya jo log aarakshan ke haqdaar the un tak aarakshan pahunch nahi paya aur kuch log jo aarakshan lekar uski fayda uthate rahe vaah galat hua ek hi parivar ki kai peedhiyon ne aarakshan ka fayda uthaya aur vaah aarakshan lene waale log vaah parivar crorepati ho gaye lekin jo vaakai mein nirdhan log the ashikshit log the un tak aarakshan ki labh nahi pahunch paya aur yahi galat hua isliye aaj desh mein is baat ka roop hai ki aarakshan ko khatam kiya jaaye kyonki samanya varg ko bhi unke hisse ka jo kaam hai vaah nahi milta aur aarakshan ki wajah se unhe bahut takleef hoti hai lekin mujhe nahi lagta hai ki iske liye kisi nayi party ka aarakshan virodhi party ka uday hona chahiye pehle ki hamare desh mein bahut saree partyian hain tarah tarah ki partiyon ki wajah se waise hi deshbhakt hai aur phir aarakshan mein thoda sa bhi badlav hinsa ka roop le leta hai iski zaroorat par jagrukta ki jaagruk hokar hi hum is par

आरक्षण की शुरुआत हमारे देश में हुई थी एक अच्छी सोच के साथ हमारे देश में निचले तबके के साथ

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:42

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आरक्षण के विरोध में क्या आरक्षण विरोधी पार्टी का संगठन का उदय होना चाहिए अगर आपको आरक्षण हटाना है तो कितने आसान चीज नहीं है कुछ दिन पहले सेक्शन में थोड़े पहुंच चेंज किए गए थे तो उसी काम काफी हंगामा मच गया था इसलिए तो चेंज कर उसमें काफी आरक्षण हटाना बिल्कुल इतनी आसान चीज है नहीं लेकिन इसके लिए बहुत स्ट्रॉन्ग प्रोटेस्ट की बहुत जरूरत है सब लोग मिलकर इस चीज को हटाने की कोशिश करेंगे तभी चीज बेहद सकती है तो विरोधी पार्टी के संगठन का उपदेश जरूर होना चाहिए ताकि चीज है समाज से हाथ पर

aarakshan ke virodh mein kya aarakshan virodhi party ka sangathan ka uday hona chahiye agar aapko aarakshan hatana hai toh kitne aasaan cheez nahi hai kuch din pehle section mein thode pahunch change kiye gaye the toh usi kaam kafi hungama match gaya tha isliye toh change kar usmein kafi aarakshan hatana bilkul itni aasaan cheez hai nahi lekin iske liye bahut strong protest ki bahut zaroorat hai sab log milkar is cheez ko hatane ki koshish karenge tabhi cheez behad sakti hai toh virodhi party ke sangathan ka updesh zaroor hona chahiye taki cheez hai samaaj se hath par

आरक्षण के विरोध में क्या आरक्षण विरोधी पार्टी का संगठन का उदय होना चाहिए अगर आपको आरक्षण ह

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  261
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
aarakshan virodhi party ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!