राम का मतलब?...


user

Jitendra Singh@1668

Social Worker

9:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सुंदर अति सुंदर क्वेश्चन किया है लेकिन क्वेश्चन करने वाले कौन साहब है क्वेश्चन बहुत सुंदर है सुंदर-सुंदर क्वेश्चन का उत्तर में देना चाहूंगा राम सब का मतलब बहुत बड़ा है उसका मतलब जिसकी समझ में आ गया समझो उसने सब कुछ पा लिया राम शब्द जो है वह आपने सुना होगा की बाल्मीकि जी ने मरा मरा घाट करके और ब्रह्म ज्ञानी बन गए लेकिन ऐसा नहीं है कि बस मरा मरा मरा बोलते रहे वह भ्रम के लिए बनके चेन्नई राम राजा दशरथ के पुत्र हैं इससे पहले भी राम पैलेस राम एक नाम ना हो करके राम एक रास्ता है राम एक जीने की बेटी है राम ने रास्ता मेहमान मेरा जब राम पैदा हुए तो उनका जो कार्य था वह विधि सम्मत वेदों शास्त्रों के अनुसार था भगवान की विधि के अनुसार उन्होंने अपना जीवन मर्यादा सेजिया मर्यादा शब्द भी एक ऐसा ही शब्द है तो उनके कार्य को रामायण रास्ता में मैंने मेरा राम ने कहा मेरा रास्ता रास्ता जो है मैं जो बनाऊंगा वह रास्ता मेरा शास्त्र सम्मत होगा और मर्यादा मर्यादा किसको कहते हैं मर जमाया दैनिक मरने के बाद जो याद किया जाए उसको मर्यादा काजा मर्यादा शब्द कोई लकी नहीं है कोई देखा नहीं है मर्यादा का मतलब है जिसके आचरण को मर जमा याद यानी मरने के बाद जो याद किया जाए आचरण उसको मर्यादा कहते हैं राम शब्द में भी यही है राम मैंने कहा था ना मैंने मेरा राम का का रास्ता जो है वह मेरा होगा तो इसको बाल्मीकि जी ने दूसरे शब्दों में कहा उन्होंने मैं पहले और बाद में लगाया उन्होंने कहा मैं मैंने मेरा सामने रास्ता मेरा रास्ता भी वही होगा जो श्रीराम का रास्ता है जो भगवान की विधि का रास्ता है मैं अब उस विधि पर चलूंगा अभी तक में गलत रास्ते पर था उस रास्ते को छोड़कर कहते हैं कि उनका रास्ता गलत था उस पर मैं ज्यादा नहीं कहूंगा लेकिन मैं जरूर कहूंगा कि उन्होंने अपना रास्ता जो गलत था उसको त्याग कर और कहा मेरा रास्ता भी वही होगा जो उस कुदरत की प्रकृति की उस राम की विधि होगी वह मेरा रास्ता होगा क्योंकि बाल्मीकि जी तो राम के पैदा होने से पहले ही थे इसलिए उन्हें मरा मरा या राम-राम जपने के लिए इसका मतलब है कि राम से पहले राम का नाम जोकर तो है और राम सबका बरसात पर यह इतना ही है मैं यही कहना चाहूंगा कि राम मैंने रास्ता और मैं मैंने मेरा तो इसको बाल्मीकि जी ने उल्टा बोला मेरा रास्ता वही होगा जो प्रकृति का और राम का विधि सम्मत रास्ता होगा अब मेरा रास्ता वह इसलिए लोग बोलते हैं कि उन्होंने मरा मरा मरा मरा जपा नहीं उन्होंने मेरा दाता मतलब अपना अज्ञानता का रास्ता छोड़कर भगवान की विधि का रास्ता अपना लिया और उन्होंने उसी को मेरा रास्ता बताया इसलिए राम शब्द का मतलब है की जय मर्यादा भगवान राम की थी हम भी मेरा भी वही रास्ता हो मेरा भी वही कौन हो अगर यह हम इन चीजों का मतलब समझ लेंगे तो शब्द ज्ञान शिक्षा को हम बढ़ा पाएंगे और शब्द ज्ञान शिक्षा से लोग बहुत कुछ सीख जाएंगे देखिए एक शब्द आता है राजा राजा ही क्यों कहा जाता है साजा हीस्को क्यों लिखते हैं उसका भी मतलब ऐसा ही है रामा ने रास्ता जाम अनेजा जो भी रास्ता राजा तय कर देता है उसी पर चलना होता है मोदी जी ने लोक डाउन कर दिया देखिए सब कुछ थमा हुआ है उन्होंने जो रास्ता बताया उसी पर दुनिया चल रही है मोदी जी ने दिया जलाने के लिए कहा लोगों ने दी वे चलाएं मोदी जी ने जो भी कहा लोगों ने थाली बजाई मोदी जी ने कहा था कि बजाओ ने ताली बजाई चिमटा बजाया घंटी बजाई शंख बजाया घड़ियाल बजाया यानी कि राजा शब्द का भी मतलब यही है रामा ने रास्ता जाम जो हमारा राष्ट्र अध्यक्ष है उसने जो बोल दिया जो नियम बना दिया उसी पर संसार को दुनिया को चलना पड़ता है ऐसे ही जैसे राजा सबने ऐसे ही राम इन शब्दों के बहुत गहरे मतलब है आज इन चीजों को पढ़े लिखे लोग भी नहीं जानते हैं यही मेरा दुख है कि हमारा शब्द ज्ञान छुप गया अर्थ ज्ञान में जी रहे हम सोचते हैं राम कोई नाम होगा ऐसा नहीं है राम कोई नाम नहीं है राम सिर्फ एक है कह लीजिए कि राम एक लक्ष्मण देखा है राम एक ऐसा बॉर्डर है कि यह यह चेतावनी देता है कि जिस प्रकार मर्यादा से रामजी हैं मेरा भी वही रास्ता हो तो जैसे राजा सबका एक साथ देता है रानी रामायण राजस्थानी मैंने नहीं रानी जो रास्ता नहीं बनाती वह महल में रहती है उसको कहा गांधी राम ने रास्ता नहीं मैंने नहीं तो रास्ता नहीं बनाती हो रानी होती है राजा राम ने रास्ता जाम अनेजा जो रास्ता राजा ने तय कर दिया जो नियम कैसे बनाते कानून बना दिया उसी पर चलना पड़ेगा उसको राजा कहा जाता है मेरे कहने का तात्पर्य है कि इस शब्द का महत्व तो बहुत बड़ा है सादा महत्व है कितनी ईश्वर की विधि है जीने की जितनी वेदों की विधि है जितनी शौक भी दिया है वह सभी सबके अंदर है इसलिए मेरा आप लोगों से निवेदन है विनती क्या बहुत सुंदर क्वेश्चन किया इस क्वेश्चन को सुनकर के मन बहुत प्रसन्न हुआ मैं चाहता हूं आप जैसे लोग आए और आकर के इस समाज को सुसज्जित करें चले बस में बना रहा हूं बस आप सरकार से स्कूल लागू कर आइए फिर शब्द ज्ञान से देखिए हम लोग कितने नस होते हैं फिर हमारे अधिकारी भ्रष्ट नहीं होंगे हमारे अधिकारी सत्यवादी होंगे हमारे अधिकारी शब्दों के गुणों को जानेंगे अधिकारी को यही पता नहीं अधिकारी कहते किसको है ऐसे आध्यात्मिक बुद्धि जिसकी आध्यात्मिक बुद्धि का विकास हो भौतिक जगत के साथ में कार्य कार्य और रहते नचना वही कार्य की रचना कर्मचारी से करा सकता है यानी उस आदमी से करा सकता है जो भौतिक जगत में लिप्त है कर्मचारी पशु करो करना जानता है इसलिए आप लोगों से मेरा निवेदन है क्या आप अपनी इस शब्द ज्ञान शिक्षा को बढ़ाइए देश कौन मत बनाइए आगे बढ़िए हम देश की अग्नि बंद करके इस समाज को पूर्ण करें यही मेरी आखिरी इच्छा अभिलाषा है और मुझे उम्मीद है कि आपने पोस्ट किया है तो जरूर आप मेरे इस दर्द को भी समझ रहे होंगे धन्यवाद नमस्कार

bahut sundar ati sundar question kiya hai lekin question karne waale kaun saheb hai question bahut sundar hai sundar sundar question ka uttar me dena chahunga ram sab ka matlab bahut bada hai uska matlab jiski samajh me aa gaya samjho usne sab kuch paa liya ram shabd jo hai vaah aapne suna hoga ki balmiki ji ne mara mara ghat karke aur Brahma gyani ban gaye lekin aisa nahi hai ki bus mara mara mara bolte rahe vaah bharam ke liye banke Chennai ram raja dashrath ke putra hain isse pehle bhi ram Palace ram ek naam na ho karke ram ek rasta hai ram ek jeene ki beti hai ram ne rasta mehmaan mera jab ram paida hue toh unka jo karya tha vaah vidhi sammat vedo shastron ke anusaar tha bhagwan ki vidhi ke anusaar unhone apna jeevan maryada sejiya maryada shabd bhi ek aisa hi shabd hai toh unke karya ko ramayana rasta me maine mera ram ne kaha mera rasta rasta jo hai main jo banaunga vaah rasta mera shastra sammat hoga aur maryada maryada kisko kehte hain mar Jamaya dainik marne ke baad jo yaad kiya jaaye usko maryada kaazaa maryada shabd koi lucky nahi hai koi dekha nahi hai maryada ka matlab hai jiske aacharan ko mar jama yaad yani marne ke baad jo yaad kiya jaaye aacharan usko maryada kehte hain ram shabd me bhi yahi hai ram maine kaha tha na maine mera ram ka ka rasta jo hai vaah mera hoga toh isko balmiki ji ne dusre shabdon me kaha unhone main pehle aur baad me lagaya unhone kaha main maine mera saamne rasta mera rasta bhi wahi hoga jo shriram ka rasta hai jo bhagwan ki vidhi ka rasta hai main ab us vidhi par chalunga abhi tak me galat raste par tha us raste ko chhodkar kehte hain ki unka rasta galat tha us par main zyada nahi kahunga lekin main zaroor kahunga ki unhone apna rasta jo galat tha usko tyag kar aur kaha mera rasta bhi wahi hoga jo us kudrat ki prakriti ki us ram ki vidhi hogi vaah mera rasta hoga kyonki balmiki ji toh ram ke paida hone se pehle hi the isliye unhe mara mara ya ram ram japne ke liye iska matlab hai ki ram se pehle ram ka naam joker toh hai aur ram sabka barsat par yah itna hi hai main yahi kehna chahunga ki ram maine rasta aur main maine mera toh isko balmiki ji ne ulta bola mera rasta wahi hoga jo prakriti ka aur ram ka vidhi sammat rasta hoga ab mera rasta vaah isliye log bolte hain ki unhone mara mara mara mara japa nahi unhone mera data matlab apna agyanata ka rasta chhodkar bhagwan ki vidhi ka rasta apna liya aur unhone usi ko mera rasta bataya isliye ram shabd ka matlab hai ki jai maryada bhagwan ram ki thi hum bhi mera bhi wahi rasta ho mera bhi wahi kaun ho agar yah hum in chijon ka matlab samajh lenge toh shabd gyaan shiksha ko hum badha payenge aur shabd gyaan shiksha se log bahut kuch seekh jaenge dekhiye ek shabd aata hai raja raja hi kyon kaha jata hai saja hisko kyon likhte hain uska bhi matlab aisa hi hai rama ne rasta jam aneja jo bhi rasta raja tay kar deta hai usi par chalna hota hai modi ji ne lok down kar diya dekhiye sab kuch thama hua hai unhone jo rasta bataya usi par duniya chal rahi hai modi ji ne diya jalane ke liye kaha logo ne di ve chalaye modi ji ne jo bhi kaha logo ne thali bajai modi ji ne kaha tha ki bajao ne tali bajai chimta bajaya ghanti bajai shankh bajaya ghadiyal bajaya yani ki raja shabd ka bhi matlab yahi hai rama ne rasta jam jo hamara rashtra adhyaksh hai usne jo bol diya jo niyam bana diya usi par sansar ko duniya ko chalna padta hai aise hi jaise raja sabane aise hi ram in shabdon ke bahut gehre matlab hai aaj in chijon ko padhe likhe log bhi nahi jante hain yahi mera dukh hai ki hamara shabd gyaan chup gaya arth gyaan me ji rahe hum sochte hain ram koi naam hoga aisa nahi hai ram koi naam nahi hai ram sirf ek hai keh lijiye ki ram ek lakshman dekha hai ram ek aisa border hai ki yah yah chetavani deta hai ki jis prakar maryada se ramji hain mera bhi wahi rasta ho toh jaise raja sabka ek saath deta hai rani ramayana rajasthani maine nahi rani jo rasta nahi banati vaah mahal me rehti hai usko kaha gandhi ram ne rasta nahi maine nahi toh rasta nahi banati ho rani hoti hai raja ram ne rasta jam aneja jo rasta raja ne tay kar diya jo niyam kaise banate kanoon bana diya usi par chalna padega usko raja kaha jata hai mere kehne ka tatparya hai ki is shabd ka mahatva toh bahut bada hai saada mahatva hai kitni ishwar ki vidhi hai jeene ki jitni vedo ki vidhi hai jitni shauk bhi diya hai vaah sabhi sabke andar hai isliye mera aap logo se nivedan hai vinati kya bahut sundar question kiya is question ko sunkar ke man bahut prasann hua main chahta hoon aap jaise log aaye aur aakar ke is samaj ko susajjit kare chale bus me bana raha hoon bus aap sarkar se school laagu kar aaiye phir shabd gyaan se dekhiye hum log kitne nas hote hain phir hamare adhikari bhrasht nahi honge hamare adhikari satyawadi honge hamare adhikari shabdon ke gunon ko jaanege adhikari ko yahi pata nahi adhikari kehte kisko hai aise aadhyatmik buddhi jiski aadhyatmik buddhi ka vikas ho bhautik jagat ke saath me karya karya aur rehte nachana wahi karya ki rachna karmchari se kara sakta hai yani us aadmi se kara sakta hai jo bhautik jagat me lipt hai karmchari pashu karo karna jaanta hai isliye aap logo se mera nivedan hai kya aap apni is shabd gyaan shiksha ko badhaiye desh kaun mat banaiye aage badhiye hum desh ki agni band karke is samaj ko purn kare yahi meri aakhiri iccha abhilasha hai aur mujhe ummid hai ki aapne post kiya hai toh zaroor aap mere is dard ko bhi samajh rahe honge dhanyavad namaskar

बहुत सुंदर अति सुंदर क्वेश्चन किया है लेकिन क्वेश्चन करने वाले कौन साहब है क्वेश्चन बहुत

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  118
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!