क्या आज हमारे देश की शिक्षा प्रणाली को सुधार करने की ज़रूरत नहीं है?...


user

Sushil Kumar

Accountant

2:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक शब्द में आंसर दे दो कि विस्तार बताओ एक शब्द नहीं देता हूं कि नहीं शिक्षा को सुधारने की जरूरत नहीं है अब आदमी की आर्थिक स्थिति सुधार नहीं है आर्मी सुधार में है आदमी पर निगरानी रखनी है कभी बसपा में सुधार सकता है इतना विश्वास मत कीजिए देश के सभी उच्च अधिकारियों को सोचना पड़ेगा कि किसी पर विश्वास किया जाए तो यह समाज माननीय व्यवहारों का प्रजातंत्र जाल है मानवीय व्यवहार जब तक चलेंगे तब तक का अनुष्ठान है पैसे से तो चलानी है तो समाज में पैसा दीजिए पैसे का उद्धार कीजिए सही शिक्षा का उद्धार कीजिए नहीं तो ऐसा नहीं हो सकता तो सही शिक्षक कीजिए पैसा वह खुद बम पैसा खुद बना लेंगे तक सुधार नहीं आया तो सरकारी स्कूल डांस है सरकारी स्कूल मस्त है लेकिन कमी है तो सिर्फ कुछ गार्डन सभी मुखिया थी समाचार जाते हैं क्लास टीचर की और उनके जाने वाले सामाजिक कार्य और मीटिंग मीटिंग होती है लेकिन मुझे समझ में नहीं आता आंचल मीटिंग चालू हुई है लेकिन मीटिंग क्या होती है एक दूसरे को पता नहीं है लेकिन गाड़ी नहीं समझ पाता है टीचर पन्ना इनको कुछ समझा पा रहा है कि मीटिंग क्या करनी है यह सब चीजें देखकर तो आए हैं हमारे बाहर के घूमने वाले विदेशी तंत्र के लोग जो विदेशों में अपने आने जाने का प्लान करते हैं वहां के टेक्नोलॉजी देखते हैं कि ऐसे कार्य किया था है तो एकदम ठीक चल रहा है ऐसे काम किया था यह सिस्टम ठीक चल रहा है नकल नकल करने पर नकल करने की परंपरा हमारे नीचे भी चल रही थी सट्टा स्कूली बच्चों की हालत थी नकल नकल तो मिली नहीं नकली कर रहे थे अकल जहां बोल रही थी वहां हमारी आर्थिक स्थिति लटक रही थी

ek shabd me answer de do ki vistaar batao ek shabd nahi deta hoon ki nahi shiksha ko sudhaarne ki zarurat nahi hai ab aadmi ki aarthik sthiti sudhaar nahi hai army sudhaar me hai aadmi par nigrani rakhni hai kabhi BSP me sudhaar sakta hai itna vishwas mat kijiye desh ke sabhi ucch adhikaariyo ko sochna padega ki kisi par vishwas kiya jaaye toh yah samaj mananiya vyavaharon ka prajatantra jaal hai manviya vyavhar jab tak chalenge tab tak ka anushthan hai paise se toh chalani hai toh samaj me paisa dijiye paise ka uddhar kijiye sahi shiksha ka uddhar kijiye nahi toh aisa nahi ho sakta toh sahi shikshak kijiye paisa vaah khud bomb paisa khud bana lenge tak sudhaar nahi aaya toh sarkari school dance hai sarkari school mast hai lekin kami hai toh sirf kuch garden sabhi mukhiya thi samachar jaate hain class teacher ki aur unke jaane waale samajik karya aur meeting meeting hoti hai lekin mujhe samajh me nahi aata aanchal meeting chaalu hui hai lekin meeting kya hoti hai ek dusre ko pata nahi hai lekin gaadi nahi samajh pata hai teacher panna inko kuch samjha paa raha hai ki meeting kya karni hai yah sab cheezen dekhkar toh aaye hain hamare bahar ke ghoomne waale videshi tantra ke log jo videshon me apne aane jaane ka plan karte hain wahan ke technology dekhte hain ki aise karya kiya tha hai toh ekdam theek chal raha hai aise kaam kiya tha yah system theek chal raha hai nakal nakal karne par nakal karne ki parampara hamare niche bhi chal rahi thi satta skuli baccho ki halat thi nakal nakal toh mili nahi nakli kar rahe the akal jaha bol rahi thi wahan hamari aarthik sthiti latak rahi thi

एक शब्द में आंसर दे दो कि विस्तार बताओ एक शब्द नहीं देता हूं कि नहीं शिक्षा को सुधारने की

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  86
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!