कोई भी राजनेता या बड़ा अधिकारी नौकरी ज्वाइन करते समय शपथ लेता है फिर बाद में भ्रष्टाचार करता है क्या यह सत्य है?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम जी की नाक कटा कोई भी राजनेता करके अदा कर मैं ऐसा ऐसा करूंगा उसे शपथ दिलाई जाती लेकिन वह इतना ज्यादा तो यही करने के लिए मुझे सब मिल जाए दूसरे को इतना पैसा इन लोगों को मिलता है सरकारी तनखा देती है उसके बाद उनका पेट नहीं भरता काम नहीं जा रहा काम करेंगे तो बिना रिश्वत के काम नहीं करेंगे इतना भ्रष्टाचार खत्म हो जाए जो इंसान गरीब असहाय हैं उनके काम होने लगे किसान वे परेशान घूमता है वह किसान और बेचारे गरीब और जो आता है उनके नाम होने लगे दुनिया में कोई नहीं रहे लेकिन अपना केवल पेट भरते हैं अपना पेट भर दे उसके बाद भी इनको शब्द नहीं होता और और और और और की लालसा कभी जिंदगी में खत्म नहीं होती है तब भी जो जो इन्होंने शपथ खाई उसका कोई मोल नहीं रहता इनकी क्या है अब इनका मंजू है इनका इतना पैसे के लिए लालायित रहता है कि उनके मन से पैसे कर लो नहीं इनका कहते हैं इनका ईमान मर गया शपथ लेते यह शपथ लेते कुछ और है शपथ लेने के बाद ऐसा लगता है इन्होंने अपना ईमान बेच कोई दिन दुखी किसी की परवाह नहीं मान रहे हमारे केवल अपना पेट भरो अपना पेट हाउ मेनी समझाओ यह हालत है इन भ्रष्टाचारियों पर जरूर लगाम लगना चाहिए ऐसी सजा इन लोगों को होनी चाहिए कि सभी का दिल काम जाए 10 नेता हो चाहे अधिकारी आप का कल्याण हो आपका दिन शुभ हो दोस्तों धन्यवाद

ram ji ki nak kata koi bhi raajneta karke ada kar main aisa aisa karunga use shapath dilai jaati lekin vaah itna zyada toh yahi karne ke liye mujhe sab mil jaaye dusre ko itna paisa in logo ko milta hai sarkari tankha deti hai uske baad unka pet nahi bharta kaam nahi ja raha kaam karenge toh bina rishwat ke kaam nahi karenge itna bhrashtachar khatam ho jaaye jo insaan garib asahay hain unke kaam hone lage kisan ve pareshan ghoomta hai vaah kisan aur bechare garib aur jo aata hai unke naam hone lage duniya me koi nahi rahe lekin apna keval pet bharte hain apna pet bhar de uske baad bhi inko shabd nahi hota aur aur aur aur aur ki lalasa kabhi zindagi me khatam nahi hoti hai tab bhi jo jo inhone shapath khai uska koi mole nahi rehta inki kya hai ab inka manju hai inka itna paise ke liye lalayit rehta hai ki unke man se paise kar lo nahi inka kehte hain inka iman mar gaya shapath lete yah shapath lete kuch aur hai shapath lene ke baad aisa lagta hai inhone apna iman bech koi din dukhi kisi ki parvaah nahi maan rahe hamare keval apna pet bharo apna pet how many samjhao yah halat hai in bharashtachariyo par zaroor lagaam lagna chahiye aisi saza in logo ko honi chahiye ki sabhi ka dil kaam jaaye 10 neta ho chahen adhikari aap ka kalyan ho aapka din shubha ho doston dhanyavad

राम जी की नाक कटा कोई भी राजनेता करके अदा कर मैं ऐसा ऐसा करूंगा उसे शपथ दिलाई जाती लेकिन व

Romanized Version
Likes  328  Dislikes    views  3250
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!