बन्दर के अन्दर दिल होता है या नहीं?...


user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बंधन के अंदर भी होता है नहीं होता है मगर और बंदर की कहानी सुनी होगी अपनी जान झाड़ पर दिलाने की बात कर कर अपने आप को बचा लेता है

bandhan ke andar bhi hota hai nahi hota hai magar aur bandar ki kahani suni hogi apni jaan jhad par dilaane ki baat kar kar apne aap ko bacha leta hai

बंधन के अंदर भी होता है नहीं होता है मगर और बंदर की कहानी सुनी होगी अपनी जान झाड़ पर दिलान

Romanized Version
Likes  360  Dislikes    views  4873
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि बंदर के अंदर दिल होता है या नहीं इसका उत्तर है एक कहावत कही जाती है कि बंदर के अंदर दिल नहीं होता क्योंकि वह एक जगह से दूसरी जगह बहुत ही तेजी से उछाल लगा लेते हैं परंतु यह सत्य नहीं है यह मात्र एक कहावत है हर जानवर के अंदर दिल होता है धन्यवाद

aapka prashna hai ki bandar ke andar dil hota hai ya nahi iska uttar hai ek kahaavat kahi jaati hai ki bandar ke andar dil nahi hota kyonki vaah ek jagah se dusri jagah bahut hi teji se uchal laga lete hain parantu yah satya nahi hai yah matra ek kahaavat hai har janwar ke andar dil hota hai dhanyavad

आपका प्रश्न है कि बंदर के अंदर दिल होता है या नहीं इसका उत्तर है एक कहावत कही जाती है कि ब

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  628
WhatsApp_icon
play
user

sharad

Business Owner

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यकीनन बंदर के अंदर इंसान से बेहतर होता है उसके अंदर छाया होती है अपनों के लिए वह अपने समाज के प्रति जागृत होता है यदि बंदर के समाज का एक भी हो जाए तो पूरी की पूरी प्रजातियों से लड़ने के लिए तत्पर हो जाती है

yakinan bandar ke andar insaan se behtar hota hai uske andar chhaya hoti hai apnon ke liye vaah apne samaj ke prati jagrit hota hai yadi bandar ke samaj ka ek bhi ho jaaye toh puri ki puri prajatiyo se ladane ke liye tatpar ho jaati hai

यकीनन बंदर के अंदर इंसान से बेहतर होता है उसके अंदर छाया होती है अपनों के लिए वह अपने समाज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  63
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!