आध्यात्मिक शिक्षा क्या है?...


user

Narendra Bhardwaj

Spirituality Reformer

3:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महोदय आपने पूछा आध्यात्मिक आध्यात्मिक शिक्षा का संबंध आत्मा के विकास से आत्मक धार से ऐसी शिक्षा जो हमारे जीवन के उद्देश्य सफल करती हूं और हां जीवन की लास्ट तक ले जाती हो उसको आध्यात्मिक शिक्षा के आध्यात्मिक शिक्षा में बहुत सारे गुण धर्म है जैसे मानविता इंसानियत सत्य अहिंसा करुणा दया और उपकार इमानदारी विकारों से दूर रहने के लिए जो जो समबाहु वो कर्म करने का नाम आध्यात्मिक शिक्षा आध्यात्मिक शिक्षा हमेशा त्याग के ऊपर निर्भर है जहां त्याग है जहां समर्पण है जहां प्रेम है यहां करुणा है जहां सत्य है वहां विकास वहां वृद्धि है मां उन्नति आत्मा की उत्तरोत्तर विकास से संबंधित जितना भी ज्ञान है वह समस्त माध्यमिक शिक्षा के अंतर्गत शुभ आचरण सरल आचरण सरल स्वभाव ईश्वर में आस्था गुरुजनों मात पिता और बड़ों का सम्मान जीवो के प्रति दया भाव यह सारे गुण अध्यापक शिक्षा के अन्य जो व्यक्ति आध्यात्मिक मार्ग पर यात्रा कर रहा होता है उसे इन सभी आयामों को अपनाना पड़ता इन सभी गुणों को अपनाना पड़ता इन सभी आश्रमों को अप यदि कोई व्यक्ति आध्यात्मिक शिक्षा में उत्तरोत्तर वृद्धि करना चाहता है उसे प्रेम पूर्ण व्यवहार अपनाना पड़ेगा उसे जीवो के प्रति दया और करुणा का भाव रखना पड़ेगा उसे माता-पिता सदगुरु और भगवान के प्रति सम्मान रखना पड़ेगा बड़ों के प्रति आदर भाव रखना पड़ेगा प्रकृति के प्रति कृतज्ञता का भाव रखना पड़ेगा और जिसने भी जो कुछ भी सीखे उसके प्रति अनुग्रहित होने का भाव यह सारी आध्यात्मिक शिक्षा के महत्वपूर्ण अंग है आध्यात्मिक शिक्षा एक बहुत विस्तृत विषय है और इस विषय में सारे शास्त्रों सारे ग्रंथों का निचोड़ परहित है जो परित्याग इन सब के साथ जीवन यापन कर रहा है वह आध्यात्मिक शिक्षा में आगे बढ़ रहा है आध्यात्मिक शिक्षा जो है एक मानवीय भाव विकसित करना परहित के कार्य करना प्रकृति को सुरक्षित रखना और अपने द्वारा कभी किसी का इतना हो चाहे वह प्रकृति हो चाहे वह चाहे इंसान हो चाहे चर अचर कोई भी वस्तु कोई भी पुरानी हो सब के प्रति आदर माध्यमिक शिक्षा का धन्यवाद

mahoday aapne poocha aadhyatmik aadhyatmik shiksha ka sambandh aatma ke vikas se aatmkatha dhar se aisi shiksha jo hamare jeevan ke uddeshya safal karti hoon aur haan jeevan ki last tak le jaati ho usko aadhyatmik shiksha ke aadhyatmik shiksha me bahut saare gun dharm hai jaise manvitha insaniyat satya ahinsa corona daya aur upkar imaandari vikaron se dur rehne ke liye jo jo sambahu vo karm karne ka naam aadhyatmik shiksha aadhyatmik shiksha hamesha tyag ke upar nirbhar hai jaha tyag hai jaha samarpan hai jaha prem hai yahan corona hai jaha satya hai wahan vikas wahan vriddhi hai maa unnati aatma ki uttarottar vikas se sambandhit jitna bhi gyaan hai vaah samast madhyamik shiksha ke antargat shubha aacharan saral aacharan saral swabhav ishwar me astha gurujanon maat pita aur badon ka sammaan jeevo ke prati daya bhav yah saare gun adhyapak shiksha ke anya jo vyakti aadhyatmik marg par yatra kar raha hota hai use in sabhi aayamon ko apnana padta in sabhi gunon ko apnana padta in sabhi aashramon ko up yadi koi vyakti aadhyatmik shiksha me uttarottar vriddhi karna chahta hai use prem purn vyavhar apnana padega use jeevo ke prati daya aur corona ka bhav rakhna padega use mata pita sadhguru aur bhagwan ke prati sammaan rakhna padega badon ke prati aadar bhav rakhna padega prakriti ke prati kritagyata ka bhav rakhna padega aur jisne bhi jo kuch bhi sikhe uske prati anugrahit hone ka bhav yah saari aadhyatmik shiksha ke mahatvapurna ang hai aadhyatmik shiksha ek bahut vistrit vishay hai aur is vishay me saare shastron saare granthon ka nichod parhit hai jo parityag in sab ke saath jeevan yaapan kar raha hai vaah aadhyatmik shiksha me aage badh raha hai aadhyatmik shiksha jo hai ek manviya bhav viksit karna parhit ke karya karna prakriti ko surakshit rakhna aur apne dwara kabhi kisi ka itna ho chahen vaah prakriti ho chahen vaah chahen insaan ho chahen char achar koi bhi vastu koi bhi purani ho sab ke prati aadar madhyamik shiksha ka dhanyavad

महोदय आपने पूछा आध्यात्मिक आध्यात्मिक शिक्षा का संबंध आत्मा के विकास से आत्मक धार से ऐसी श

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1293
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!