मुझे अपना घर में अच्छा नहीं लगता ना मेरे लोग घर का बगल का अच्छा लगते हैं मैं बाहर में रहना चाहता हूँ क्या वह सही है बाहर में पढ़ाई लिखाई काम करना चाहता हूँ क्या वह सही है?...


play
user

fighter

Counselor & Coach

4:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे अपने घर में अच्छा नहीं लगता ना मेरे लोग घर का बगल का अच्छा लगते हैं मैं बाहर में रहना चाहता हूं क्या यह सही है और इसके बाद कट गया सवाल है आप समझ गए कहीं सही गलत कुछ नहीं होता कानूनन और गैरकानूनी होता है तो आप ऐसा तो कुछ भी नहीं कर रहे जो इसको कहां जाएगी गैरकानूनी है तो यह आपका बड़ा अच्छा विचार है कि आपको अलग रहकर अपना कुत्ता है पढ़ाई जो भी एक काम कर दो बातें कहूंगा एक तो आप इस बात का ख्याल रखिए कि आपके घर घर वाले अफोर्ड नहीं कर सकते आप को अलग रखने का उनको आपको बोलने का और उनके पैसे लेने का कोई हक पहली बात तो आप भी जरूर देखें कि आपके घर वालों की आर्थिक स्थिति कैसी दूसरा जब आप कमाने लगेंगे थोड़ा बहुत पकाने लगेंगे आपने अगर अपने घर वालों को पैसे नहीं दिए मैं तो कहता हूं जिंदगी भर देने के लिए जब तक वह बेचारे दिन बाद सिर्फ मां बाप को दीजिए मैं नहीं कह रहा भाई बहन को भी अगर आप नहीं दे तो गलत हो जाए तो आप अपना पेट मत काटिए और बताइए और उनको दीजिए सही गलत कुछ मत पूछ लिया कानूनन 18 साल के बाद आप मालिक हैं और कानून हमारे को कुछ राइट देता है राइट सैनी की राई आ रही थी राइट है तो इसके पूरे समर्थन में हूं बहुत सारे लोग बहुत कुछ कहेंगे मां-बाप को छोड़ दिया आपने यह वह नहीं हमारा यह मानना है कि इस साल इस बैक डिस्कंटेंटमेंट कोई ना कोई अगर यह सब चीजें मिलाकर आपको अगर बाहर जाने में एक तरह से प्रोत्साहन दे रहा है और उसकी वजह से एक आपको मतलब कुछ करने का जज्बा जज्बा मिल रहा है मैडम मोटिवेशन बहुत जरूरी है ना तो इससे बढ़िया कुछ नहीं हो सकता मेरा घर छोटा है मेरे घर में ज्यादा लोग हैं मैं जहां रहता हूं मतलब जिस जगह रहता हूं मुझे वह अच्छा नहीं लगता बहुत बढ़िया इससे बढ़िया कुछ हो ही नहीं सकता तो आप प्लीज मैं आपको बताता हूं जिनके पास जो उस जगह पर रहते हैं जिनके पास किसी चीज की कमी नहीं हो वह क्या सोचते हैं उनका डिसेटिस्फेक्शन क्या है डिस्कंटेंटमेंट टेबल क्या है कि मुझे इंडिया के बाहर पढ़ाई करनी है रहना है वगैरह चलो आपने इंडिया के बाहर पढ़ाई भी कर दी ठीक है ना और वह आपको नौकरी मिली डिस्कंटेंटमेंट क्या है ना जब भी मैं रावल करूं तो मुझे फर्स्ट क्लास में पढ़ाई विक्रम बिजनेस क्लास में फर्स्ट क्लास

mujhe apne ghar me accha nahi lagta na mere log ghar ka bagal ka accha lagte hain main bahar me rehna chahta hoon kya yah sahi hai aur iske baad cut gaya sawaal hai aap samajh gaye kahin sahi galat kuch nahi hota kanunan aur gairkanuni hota hai toh aap aisa toh kuch bhi nahi kar rahe jo isko kaha jayegi gairkanuni hai toh yah aapka bada accha vichar hai ki aapko alag rahkar apna kutta hai padhai jo bhi ek kaam kar do batein kahunga ek toh aap is baat ka khayal rakhiye ki aapke ghar ghar waale afford nahi kar sakte aap ko alag rakhne ka unko aapko bolne ka aur unke paise lene ka koi haq pehli baat toh aap bhi zaroor dekhen ki aapke ghar walon ki aarthik sthiti kaisi doosra jab aap kamane lagenge thoda bahut pakane lagenge aapne agar apne ghar walon ko paise nahi diye main toh kahata hoon zindagi bhar dene ke liye jab tak vaah bechare din baad sirf maa baap ko dijiye main nahi keh raha bhai behen ko bhi agar aap nahi de toh galat ho jaaye toh aap apna pet mat katiye aur bataiye aur unko dijiye sahi galat kuch mat puch liya kanunan 18 saal ke baad aap malik hain aur kanoon hamare ko kuch right deta hai right saini ki rai aa rahi thi right hai toh iske poore samarthan me hoon bahut saare log bahut kuch kahenge maa baap ko chhod diya aapne yah vaah nahi hamara yah manana hai ki is saal is back diskantentament koi na koi agar yah sab cheezen milakar aapko agar bahar jaane me ek tarah se protsahan de raha hai aur uski wajah se ek aapko matlab kuch karne ka jajba jajba mil raha hai madam motivation bahut zaroori hai na toh isse badhiya kuch nahi ho sakta mera ghar chota hai mere ghar me zyada log hain main jaha rehta hoon matlab jis jagah rehta hoon mujhe vaah accha nahi lagta bahut badhiya isse badhiya kuch ho hi nahi sakta toh aap please main aapko batata hoon jinke paas jo us jagah par rehte hain jinke paas kisi cheez ki kami nahi ho vaah kya sochte hain unka disetisfekshan kya hai diskantentament table kya hai ki mujhe india ke bahar padhai karni hai rehna hai vagera chalo aapne india ke bahar padhai bhi kar di theek hai na aur vaah aapko naukri mili diskantentament kya hai na jab bhi main raval karu toh mujhe first class me padhai vikram business class me first class

मुझे अपने घर में अच्छा नहीं लगता ना मेरे लोग घर का बगल का अच्छा लगते हैं मैं बाहर में रहना

Romanized Version
Likes  630  Dislikes    views  3782
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!