यह वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है?...


user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि यह वायरस किसी की देन है या कुदरत का कोई करिश्मा है कुछ लोगों का कहना है कि यह जानवरों से या सांप से या कहीं से ज्यादातर लोग मानते हैं कि चमगादड़ से आया हुआ है कि चाइना के लोग कुछ भी खा सकते हैं तो वहां से चमगादड़ में वायरस होकर वहां से इंसान में ट्रांसफर हुआ है जबकि कुछ लोगों का मानना है कि चीन ने पूरे देश पर अपना पूरे दुनिया के ऊपर अपना सर्वोच्च बनाने के लिए यानी वैसे वह अमेरिका का मुकाबला नहीं कर सकता लेकिन उसके फलों की है कि वह सब के व्यापार को बंद करा दो सब की सब कुछ इतनी को सब कुछ सही करा दो और उसके बाद अपने गुणों में को बढ़ा दो तो यह भी इसकी कोई सच्चाई का अभी कुछ सबूत नहीं है कुछ नहीं है पर काफी लोगों का मानना है कि चीन ने खुद वायरस बनाया है या तो वहां से डिलीट हो गया है या जानबूझकर चाइना ने बाकी लोगों के ऊपर लिख कर दिया लेकिन यह सब सुनी सुनाई बातें हैं अभी तक इसका कोई सबूत नहीं है जब थोड़ी देर के बाद जब यह कंट्रोल में आएगा तो हर देश अपने इन्वेस्टिगेशन करेगा हर देश पता लगाएगा और जो कल रेट है उसको सजा मिलेगी

abhi tak yah pata nahi chal paya hai ki yah virus kisi ki then hai ya kudrat ka koi karishma hai kuch logo ka kehna hai ki yah jaanvaro se ya saap se ya kahin se jyadatar log maante hain ki chamgadar se aaya hua hai ki china ke log kuch bhi kha sakte hain toh wahan se chamgadar me virus hokar wahan se insaan me transfer hua hai jabki kuch logo ka manana hai ki china ne poore desh par apna poore duniya ke upar apna sarvoch banane ke liye yani waise vaah america ka muqabla nahi kar sakta lekin uske falon ki hai ki vaah sab ke vyapar ko band kara do sab ki sab kuch itni ko sab kuch sahi kara do aur uske baad apne gunon me ko badha do toh yah bhi iski koi sacchai ka abhi kuch sabut nahi hai kuch nahi hai par kaafi logo ka manana hai ki china ne khud virus banaya hai ya toh wahan se delete ho gaya hai ya janbujhkar china ne baki logo ke upar likh kar diya lekin yah sab suni sunayi batein hain abhi tak iska koi sabut nahi hai jab thodi der ke baad jab yah control me aayega toh har desh apne investigation karega har desh pata lagaega aur jo kal rate hai usko saza milegi

अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि यह वायरस किसी की देन है या कुदरत का कोई करिश्मा है कुछ लो

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  479
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Vikas

Health and Fitness Expert

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी यह कहा नहीं जा सकता है कि यह वायरस किसी की देन है या किसी कंट्री द्वारा बनाया गया अब हो सकता है कुदरती देखो क्योंकि जैसे-जैसे पालेकर की करिए विज्ञान में भी तो वैसे वैसे बीमारियां बड़ी है कम नहीं हुई है जैसे पहले मलेरिया होता है अब डेंगू होने लग गया लोग मलेरिया से नहीं डरते डेंगू से डरते हैं डेंगू चिकनगुनिया हो गया अभी कुछ पक्का नहीं कह सकते

abhi yah kaha nahi ja sakta hai ki yah virus kisi ki then hai ya kisi country dwara banaya gaya ab ho sakta hai kudarati dekho kyonki jaise jaise palekar ki kariye vigyan me bhi toh waise waise bimariyan badi hai kam nahi hui hai jaise pehle malaria hota hai ab dengue hone lag gaya log malaria se nahi darte dengue se darte hain dengue chikungunya ho gaya abhi kuch pakka nahi keh sakte

अभी यह कहा नहीं जा सकता है कि यह वायरस किसी की देन है या किसी कंट्री द्वारा बनाया गया अब ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user

Dr Anil Kumar Agarwal

Physician &Laser Acupuncture specialist

0:19
Play

Likes  98  Dislikes    views  781
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह भारत आपका सवाल है यह बारिश किसकी देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा नहीं किए भैरव जो है मेरे ख्याल से सोची-समझी एक बहुत बड़ी चाइना की साजिश है यह चाइना की को रहना भारत जो कोरोनावायरस है यह चाइना की देन है इसको चाइना ने पूरी दुनिया में फैला दिया है यह करिश्मा नहीं है ठीक है

yah bharat aapka sawaal hai yah barish kiski then hai ya phir kudrat ka koi karishma nahi kiye bhairav jo hai mere khayal se sochi samjhi ek bahut badi china ki saajish hai yah china ki ko rehna bharat jo coronavirus hai yah china ki then hai isko china ne puri duniya me faila diya hai yah karishma nahi hai theek hai

यह भारत आपका सवाल है यह बारिश किसकी देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा नहीं किए भैरव जो है

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  324
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह किसी की देन नहीं है किसी ने इसे बनाया नहीं है बस मान लीजिए कि है कुदरत का करिश्मा है बस इसमें हमें सावधानी बरतनी चाहिए किसी के दोषारोपण में नहीं देना है पूरी दुनिया इस महामारी की चपेट में आ चुकी है इससे बचने का एक ही सरल सीधा साधा होता है हमें अपने घर में रहना है और बार-बार हाथ धोना है मुंह पर हाथ नहीं खेलना है साथ ही साथ अगर कोई सर्दी खांसी आदि बीमारी ग्रस्त हो तो उनसे थोड़ी दूरी पर रहना साथ ही साथ अगर ऐसी कोई शिकायत आती है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर सलाह लेनी चाहिए डरने की कोई आवश्यकता नहीं है सर्दी बुखार हो तो भी ऐसी कोई गंभीर बीमारी नहीं है बस थोड़ी सी औषधि से यह बीमारी ठीक हो सकती है लेकिन करो ना से डरना है तो बस हमें घर में रहना है हमारे साथ जितने भी साथी घर के परिवार है उन्हें सुख शांति से रहना है तो यह कुदरत का करिश्मा आप इसे मान सकते इसे किसी ने बनाया नहीं किसी ने छोड़ा नहीं ना कोई उसे बनाने वाला है ना कोई किसी का भला है बुरा करने वाला है बस कुछ दिनों के बाद यह अपने आप जैसा दुनिया में आया है अपने आप दुनिया से चला जाएगा इस बात को आप को मानना है कुछ दिनों के बाद इसके ऊपर अवश्य दी तो आएगी जरूर अभी तो फिलहाल कोई आपसे भी है नहीं आने वाले दिनों में रखेंगे कि क्या होता है बस एक ही उपाय है घर में रहना सुरक्षित रहना है अपना ख्याल रखना है परिवार का ख्याल रखना है और देश का ख्याल रखना

yah kisi ki then nahi hai kisi ne ise banaya nahi hai bus maan lijiye ki hai kudrat ka karishma hai bus isme hamein savdhani bartani chahiye kisi ke dosharopan me nahi dena hai puri duniya is mahamari ki chapet me aa chuki hai isse bachne ka ek hi saral seedha saadha hota hai hamein apne ghar me rehna hai aur baar baar hath dhona hai mooh par hath nahi khelna hai saath hi saath agar koi sardi khansi aadi bimari grast ho toh unse thodi doori par rehna saath hi saath agar aisi koi shikayat aati hai toh turant doctor ke paas jaakar salah leni chahiye darane ki koi avashyakta nahi hai sardi bukhar ho toh bhi aisi koi gambhir bimari nahi hai bus thodi si aushadhi se yah bimari theek ho sakti hai lekin karo na se darna hai toh bus hamein ghar me rehna hai hamare saath jitne bhi sathi ghar ke parivar hai unhe sukh shanti se rehna hai toh yah kudrat ka karishma aap ise maan sakte ise kisi ne banaya nahi kisi ne choda nahi na koi use banane vala hai na koi kisi ka bhala hai bura karne vala hai bus kuch dino ke baad yah apne aap jaisa duniya me aaya hai apne aap duniya se chala jaega is baat ko aap ko manana hai kuch dino ke baad iske upar avashya di toh aayegi zaroor abhi toh filhal koi aapse bhi hai nahi aane waale dino me rakhenge ki kya hota hai bus ek hi upay hai ghar me rehna surakshit rehna hai apna khayal rakhna hai parivar ka khayal rakhna hai aur desh ka khayal rakhna

यह किसी की देन नहीं है किसी ने इसे बनाया नहीं है बस मान लीजिए कि है कुदरत का करिश्मा है ब

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  467
WhatsApp_icon
user

Nishant Kr. Sharma

Social Worker And Advocate

1:34
Play

Likes  82  Dislikes    views  1442
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार कुदरत का करिश्मा तो मैं इसको नहीं कह सकता हूं क्योंकि यह सीन के वाहन शहर से आया है और जैसा कि बताया जा रहा है कि 3:00 वहां पर किसी प्रकार का कोई एक्सपेरिमेंट कर रहे थे जो कि पहले चमगादड़ में बताया जा रहा था फिर कभी तो कोई और बात बता दी जा रही है टीम ने अभी तक कोई पुख्ता कोई ऐसी बात नहीं कही है जिसके बारे में हम कह सकें कि यह और किसी वजह से या कुदरत की वजह से कुछ है यह मेरे को लगता है कि चिंता ही कुछ ऐसा था कि वह किसी प्रकार का वायरस बायोवेपन तैयार कर रहे थे जिस कारण ऐसा हुआ है यह कैसी एक्सपेरिमेंट कर रहे थे डिस्कवरी चैनल

namaskar kudrat ka karishma toh main isko nahi keh sakta hoon kyonki yah seen ke vaahan shehar se aaya hai aur jaisa ki bataya ja raha hai ki 3 00 wahan par kisi prakar ka koi experiment kar rahe the jo ki pehle chamgadar me bataya ja raha tha phir kabhi toh koi aur baat bata di ja rahi hai team ne abhi tak koi pukhta koi aisi baat nahi kahi hai jiske bare me hum keh sake ki yah aur kisi wajah se ya kudrat ki wajah se kuch hai yah mere ko lagta hai ki chinta hi kuch aisa tha ki vaah kisi prakar ka virus bayovepan taiyar kar rahe the jis karan aisa hua hai yah kaisi experiment kar rahe the discovery channel

नमस्कार कुदरत का करिश्मा तो मैं इसको नहीं कह सकता हूं क्योंकि यह सीन के वाहन शहर से आया है

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1707
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

6:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह वायरस किसकी देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है देखिए विशेषज्ञों की राय है यह जो वायरस है वहीं चीन की देन है चीन विश्व में अपनी आर्थिक धाक को जमाने के लिए अपने जो उसका अमेरिका आदि देशों से युवक युद्ध चला करता है उस गांव को बेड को जमाने के लिए अन्य देशों की आर्थिक स्थिति को चोट पहुंचाने के लिए उसने यह वायरस को छोड़ा है और वह यह वायरस अब अपने यहां उसने इस वायरस को बीमारी को ठीक कर लिया है और चीन के बाजारों में समान स्थितियां हो गई हैं जबकि अन्य देश में इसका बहुत बड़ा असर हुआ है और कई देशों में हजारों की संख्या में लोग मरीज हो गए हैं और लॉक डाउन के कारण से उन्हें उनकी सरकारें का आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है और यह भी बताते हैं कि नहीं इसके इस वायरस को उसके पहले ही इसकी जो दवा है वह भी बना ली है जिसके कारण से ईद में अब स्थितियां समान हो गई है अन्य देशों में बहुत बड़ा देशों को इसका नुकसान उठाना पड़ रहा है पूरा देश बंद है संस्थान सभी बंद है और देशों के ऊपर आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है उनका पूरा दो बेकार था वह ठप हो गया है इसकी इटली में अमेरिका में आओ विश्व के कई देशों में यह संकट गहरा गया है और मरीजों की संख्या बढ़ती चली जा रही है यह बताया जाता है कि चीन ने अन्य देशों के साथ में इसका बदला लिया है वह समृद्धि प्राप्त करना चाहता है अन्य देशों की आर्थिक स्थिति को कमजोर करने के लिए चीन ने इस वायरस को चौड़ा है अब हकीकत कुछ भी हो लेकिन यह सच है चीन एक ऐसा देश है जो दुनिया में उसकी जो खबरें हैं वह बाहर नहीं आ पाती वही खबरें विश्व में बाहर आ पाती हैं जिसे चीन स्वयं चाहा करता है उन खबरों को प्रकाशित किया करता है इसलिए चीन पर निगाह रखना बहुत जरूरी हो गया है और इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र संघ को भी चीन के खिलाफ कार्यवाही करना चाहिए संयुक्त राष्ट्र संघ भी मौन है और स्वास्थ्य संयुक्त राष्ट्र संघ का जो स्वास्थ्य संगठन है वह भी इस संबंध में कोई कारगर कदम नहीं उठा रहा है इसलिए सारे देशों चीन पर निगाह रखनी चाहिए और यह देखना चाहिए कि यह वायरस कहीं चीन के द्वारा तो नहीं भेजा गया है क्योंकि अन्य देश आर्थिक रूप से बंद होने के कारण से बिछड़ते जा रहे हैं और चीन में सुधार हो रहा है इसका मूल कारण क्या है और संयुक्त राष्ट्र संघ को इस संबंध में जांच दल भी भेजना चाहिए और वह पता लगाए की टीम ने यह वायरस चीन के द्वारा भेजा गया अथवा किसी अनुपस्थिति के कारण से यह वायरस उत्पन्न हुआ है यदि इन जो है वही कुटेल देश है और वह पूरे विश्व में सभी देशों की आर्थिक स्थिति को बदहाली के कगार पर पहुंचाना चाहता है और अपनी स्थिति को वह मजबूत करना चाहता है और अपना उत्पादन सारे विश्व की आवाज आरो में फैलाना चाहता है तो यह कहीं उसकी कोई साजिश तो नहीं है इसलिए पड़ोसी देशों को भी सावधान रहने की आवश्यकता है

yah virus kiski then hai ya phir kudrat ka koi karishma hai dekhiye vishesagyon ki rai hai yah jo virus hai wahi china ki then hai china vishwa me apni aarthik Dhak ko jamane ke liye apne jo uska america aadi deshon se yuvak yudh chala karta hai us gaon ko bed ko jamane ke liye anya deshon ki aarthik sthiti ko chot pahunchane ke liye usne yah virus ko choda hai aur vaah yah virus ab apne yahan usne is virus ko bimari ko theek kar liya hai aur china ke bazaro me saman sthitiyan ho gayi hain jabki anya desh me iska bahut bada asar hua hai aur kai deshon me hazaro ki sankhya me log marij ho gaye hain aur lock down ke karan se unhe unki sarkaren ka aarthik bojh badhta ja raha hai aur yah bhi batatey hain ki nahi iske is virus ko uske pehle hi iski jo dawa hai vaah bhi bana li hai jiske karan se eid me ab sthitiyan saman ho gayi hai anya deshon me bahut bada deshon ko iska nuksan uthana pad raha hai pura desh band hai sansthan sabhi band hai aur deshon ke upar aarthik bojh badhta ja raha hai unka pura do bekar tha vaah thap ho gaya hai iski italy me america me aao vishwa ke kai deshon me yah sankat gehra gaya hai aur marizon ki sankhya badhti chali ja rahi hai yah bataya jata hai ki china ne anya deshon ke saath me iska badla liya hai vaah samridhi prapt karna chahta hai anya deshon ki aarthik sthiti ko kamjor karne ke liye china ne is virus ko chauda hai ab haqiqat kuch bhi ho lekin yah sach hai china ek aisa desh hai jo duniya me uski jo khabren hain vaah bahar nahi aa pati wahi khabren vishwa me bahar aa pati hain jise china swayam chaha karta hai un khabaro ko prakashit kiya karta hai isliye china par nigah rakhna bahut zaroori ho gaya hai aur is sambandh me sanyukt rashtra sangh ko bhi china ke khilaf karyavahi karna chahiye sanyukt rashtra sangh bhi maun hai aur swasthya sanyukt rashtra sangh ka jo swasthya sangathan hai vaah bhi is sambandh me koi kargar kadam nahi utha raha hai isliye saare deshon china par nigah rakhni chahiye aur yah dekhna chahiye ki yah virus kahin china ke dwara toh nahi bheja gaya hai kyonki anya desh aarthik roop se band hone ke karan se bichadte ja rahe hain aur china me sudhaar ho raha hai iska mul karan kya hai aur sanyukt rashtra sangh ko is sambandh me jaanch dal bhi bhejna chahiye aur vaah pata lagaye ki team ne yah virus china ke dwara bheja gaya athva kisi anupsthiti ke karan se yah virus utpann hua hai yadi in jo hai wahi kutel desh hai aur vaah poore vishwa me sabhi deshon ki aarthik sthiti ko badahali ke kagar par pahunchana chahta hai aur apni sthiti ko vaah majboot karna chahta hai aur apna utpadan saare vishwa ki awaaz RO me faillana chahta hai toh yah kahin uski koi saajish toh nahi hai isliye padosi deshon ko bhi savdhaan rehne ki avashyakta hai

यह वायरस किसकी देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है देखिए विशेषज्ञों की राय है यह जो वा

Romanized Version
Likes  212  Dislikes    views  2155
WhatsApp_icon
user

Dr.Mohsin Naqvi

Doctor (Homeopath)

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह वायरस कुदरत का करिश्मा नहीं बलदेवपुर कुदरत का प्रकोप है जो लोगों ने प्रकृति को नुकसान पहुंचाया हम लोगों ने पृथ्वी पर तमाम पेड़ों को काट डाला शहर बता दिए और हमारे आसपास भी पेड़ पौधे नहीं है आप जंगल में जाइए जंगल में शांति मिलेगी आपको अभी हवा मिलेगी चिड़ियों की आवाज में मिलेंगी शहर में आते ही बस गाड़ियों की आवाज में मिलेगी बस प्रदूषण मिलेगा और कुछ नहीं होगी इसी वजह से फोटो खींचो और वह उसका बदला ले रही हो

yah virus kudrat ka karishma nahi baladevapur kudrat ka prakop hai jo logo ne prakriti ko nuksan pahunchaya hum logo ne prithvi par tamaam pedon ko kaat dala shehar bata diye aur hamare aaspass bhi ped paudhe nahi hai aap jungle me jaiye jungle me shanti milegi aapko abhi hawa milegi chidiyon ki awaaz me milegi shehar me aate hi bus gadiyon ki awaaz me milegi bus pradushan milega aur kuch nahi hogi isi wajah se photo khicho aur vaah uska badla le rahi ho

यह वायरस कुदरत का करिश्मा नहीं बलदेवपुर कुदरत का प्रकोप है जो लोगों ने प्रकृति को नुकसान प

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  369
WhatsApp_icon
user

Gautam Thakur

Pharmacist( Production Officer Mankind Group)

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक मेरा मानना है यह वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है लेकिन जहां तक मेरा ख्याल है कि मनुष्य जंगली जानवरों को काफी समय से पहले से खा रहा है यह नहीं है कि इसी सदी में ऐसी साल वह इसे खाना शुरू की है इसलिए अगर वायरस हो ना होता तो आज से कोई साल पहले ही फैल चुका होता इसकी जो वजह से जंगली जानवर खाने से मैं यह नहीं कहता कि बिल्कुल वह नहीं हो सकती लेकिन बहुत कम चांस है कि जंगली जानवरों को खाने से ही यह हुआ है जिसकी कोई और भी कारण हो सकते हैं क्योंकि जंगली जानवर यह समझ लीजिए हम लोग काफी समय पहले से खा रहे हैं चाइनीस कि नहीं ऐसी मछलियां और इतने हजारों साल बाद हुआ जिसमें लगा यह सोचने का विषय है ठीक है धन्यवाद

jaha tak mera manana hai yah virus kisi ki then hai ya phir kudrat ka koi karishma hai lekin jaha tak mera khayal hai ki manushya jungli jaanvaro ko kaafi samay se pehle se kha raha hai yah nahi hai ki isi sadi me aisi saal vaah ise khana shuru ki hai isliye agar virus ho na hota toh aaj se koi saal pehle hi fail chuka hota iski jo wajah se jungli janwar khane se main yah nahi kahata ki bilkul vaah nahi ho sakti lekin bahut kam chance hai ki jungli jaanvaro ko khane se hi yah hua hai jiski koi aur bhi karan ho sakte hain kyonki jungli janwar yah samajh lijiye hum log kaafi samay pehle se kha rahe hain Chinese ki nahi aisi machhliyan aur itne hazaro saal baad hua jisme laga yah sochne ka vishay hai theek hai dhanyavad

जहां तक मेरा मानना है यह वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है लेकिन जहां तक

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  193
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम क्या पूछे हैं वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा आपके लिए इंपॉर्टेंट आप यह नहीं है कि किसी की देन है कि कुदरत का करिश्मा है न तो आप कुदरत से लड़ सकते हैं और अगर जो कि यह दिन होगी मान लीजिए किसी की अगर यह देन है अब जिस तरफ इंडिकेट करना चाह रहे तू कहीं ना कहीं वह हम आपसे ज्यादा पावरफुल तो अगर उस की देन है उसने दिया है तू अब हम उस से लड़ तो सकते नहीं हैं हम ला सकते हैं कितने हमें जब पता है कि को रोना से सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने से प्रिवेंशन करने से बचाव करने से यह कुछ दिन बाद इसकी साइकिल जब खत्म हो गई थी यह खुद-ब-खुद खत्म हो जाएगा तो जब हमारे पास सबसे बड़ा प्रमाण हमारे पास स्वयं है हमें या किसी से डरने की क्या जरूरत है आप उन सारे नियमों को भालू करिए ना लगदा उनके सारे नियमों को फॉलो करिए जो करो ना के अगेंस्ट में आपको प्रिवेंशन बचाओ बताया गया है जो बताया जा रहा है उन सारी नियमों को पालन करिए ना उसको आप बाय ईमानदारी पालन करिए अगर आपको करो ना हो जाए तो बताइए लेकिन अगर आप नियमों को पालन नहीं करेंगे तो आप अफेक्टेड हो गए अब इन प्रश्नों को करना छोड़ दीजिए कि किसने किया यानी चंद्र किया या किसने करवाएं यह आपके लिए अभी फोटो नहीं इंपॉर्टेंट अब आपके लिए है कि अब हमें इसे कैसे बाहर आना है

hum kya pooche hain virus kisi ki then hai ya phir kudrat ka koi karishma aapke liye important aap yah nahi hai ki kisi ki then hai ki kudrat ka karishma hai na toh aap kudrat se lad sakte hain aur agar jo ki yah din hogi maan lijiye kisi ki agar yah then hai ab jis taraf indicate karna chah rahe tu kahin na kahin vaah hum aapse zyada powerful toh agar us ki then hai usne diya hai tu ab hum us se lad toh sakte nahi hain hum la sakte hain kitne hamein jab pata hai ki ko rona se social distensing maintain karne se prevention karne se bachav karne se yah kuch din baad iski cycle jab khatam ho gayi thi yah khud bsp khud khatam ho jaega toh jab hamare paas sabse bada pramaan hamare paas swayam hai hamein ya kisi se darane ki kya zarurat hai aap un saare niyamon ko bhaloo kariye na lagada unke saare niyamon ko follow kariye jo karo na ke against me aapko prevention bachao bataya gaya hai jo bataya ja raha hai un saari niyamon ko palan kariye na usko aap bye imaandaari palan kariye agar aapko karo na ho jaaye toh bataiye lekin agar aap niyamon ko palan nahi karenge toh aap affected ho gaye ab in prashnon ko karna chhod dijiye ki kisne kiya yani chandra kiya ya kisne karvaaein yah aapke liye abhi photo nahi important ab aapke liye hai ki ab hamein ise kaise bahar aana hai

हम क्या पूछे हैं वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा आपके लिए इंपॉर्टेंट आप य

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  3249
WhatsApp_icon
user

Himmat

Student

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातक की अगर कोई वायरस हमने लेबोरेटरी में बनाया हुआ है उस पर उसका एंड क्यूट और भी वहीं पर बनता ही है लेकिन जब कोई वायरस प्रकृति से फैल जाता है किसी जानवर से किसी मनुष्य से किसी प्राणी से जातक गर्ल्स मीडिया का कहना है तो यह वाइरस किसी हरसू प्रजाति के चमगादड़ से फैला हुआ है चीन के वुहान में वहां के लोग इस प्रकार की प्रजाति के चमगादड़ का सुख पीते हैं तो आप सोच सकते हैं के वायरस कैसे नहीं मिलेगा

jatak ki agar koi virus humne laboratory me banaya hua hai us par uska and cute aur bhi wahi par banta hi hai lekin jab koi virus prakriti se fail jata hai kisi janwar se kisi manushya se kisi prani se jatak girls media ka kehna hai toh yah virus kisi harasu prajati ke chamgadar se faila hua hai china ke wuhan me wahan ke log is prakar ki prajati ke chamgadar ka sukh peete hain toh aap soch sakte hain ke virus kaise nahi milega

जातक की अगर कोई वायरस हमने लेबोरेटरी में बनाया हुआ है उस पर उसका एंड क्यूट और भी वहीं पर ब

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई साहब नफरतें कब होती है जब आदमी अपने मजहब से हटकर चलने लगता है सही है कि यह वायरस मालिक के तरफ से है और मालिक की कुदरत की यह करिश्मा ही है और खासतौर से जब जब बीजेपी की सरकार आई है आप पूरा करके देख लेंगे अटल जी की सरकार बनी तो उसमें कारगिल हुआ चड्डी बंडी वाले आए और दिल्ली में बंदर आया और उसके बाद मनोचा आया और क्या-क्या हुआ इनकी भी सरकार आई है तो कुडैना वर्ष आया है और फिर दोबारा तीसरी बार अगर इनकी सरकार बन गई तो घर या लाएगा हम लोगों को ले जाएगा

bhai saheb nafraten kab hoti hai jab aadmi apne majhab se hatakar chalne lagta hai sahi hai ki yah virus malik ke taraf se hai aur malik ki kudrat ki yah karishma hi hai aur khaasataur se jab jab bjp ki sarkar I hai aap pura karke dekh lenge atal ji ki sarkar bani toh usme kargil hua chaddee bundy waale aaye aur delhi me bandar aaya aur uske baad manocha aaya aur kya kya hua inki bhi sarkar I hai toh kudaina varsh aaya hai aur phir dobara teesri baar agar inki sarkar ban gayi toh ghar ya layega hum logo ko le jaega

भाई साहब नफरतें कब होती है जब आदमी अपने मजहब से हटकर चलने लगता है सही है कि यह वायरस मालिक

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  234
WhatsApp_icon
user

Sarita Prasad

House Wife And Study

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है या वायरस किसी की ट्रेन या फिर कुदरत का कोई करिश्मा यह अभी तक हम नहीं जान पाए हैं यदि किसी का दिन है या कुदरत का करिश्मा है लेकिन अगर यह किसी की देन है तो यह पूरी दुनिया में क्यों फैला हुआ है अगर यह कुदरत की करिश्मा है तभी तो की दवाई क्यों नहीं बन पाई है अगर यह कुदरत की देन होती बीमारी तो अभी तक इसकी दवाई बन चुकी होती है क्योंकि यह कोई नहीं हुआ यह वायरस है कि कहीं से लिख हुई है यह चिंकी वहां शहर से यह वायरल हुई है वैज्ञानिक ने किसी चीज को किसी चीज के लिए सर्च किया था जो जीवाणु कहीं से यह लिंक हो गया है धरती के 20 फुट चिकन में यह लो शहर में नीचे यह बना हुआ है जहां पर साइंटिस्ट कार्रवाई करते हैं कुछ ना कुछ सर्च करते रहते हैं वहां से वायरस में हुआ है जहां तक मुझे पता है मैंने आपको बताया लेकिन मुझे इतना कुछ नहीं पता फिर भी जो पता है मैं आपको यह बता रही हूं

question hai ya virus kisi ki train ya phir kudrat ka koi karishma yah abhi tak hum nahi jaan paye hain yadi kisi ka din hai ya kudrat ka karishma hai lekin agar yah kisi ki then hai toh yah puri duniya me kyon faila hua hai agar yah kudrat ki karishma hai tabhi toh ki dawai kyon nahi ban payi hai agar yah kudrat ki then hoti bimari toh abhi tak iski dawai ban chuki hoti hai kyonki yah koi nahi hua yah virus hai ki kahin se likh hui hai yah chinki wahan shehar se yah viral hui hai vaigyanik ne kisi cheez ko kisi cheez ke liye search kiya tha jo jivanu kahin se yah link ho gaya hai dharti ke 20 feet chicken me yah lo shehar me niche yah bana hua hai jaha par scientist karyawahi karte hain kuch na kuch search karte rehte hain wahan se virus me hua hai jaha tak mujhe pata hai maine aapko bataya lekin mujhe itna kuch nahi pata phir bhi jo pata hai main aapko yah bata rahi hoon

क्वेश्चन है या वायरस किसी की ट्रेन या फिर कुदरत का कोई करिश्मा यह अभी तक हम नहीं जान पाए ह

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

Dr.Shailender Jaiswal

Doctor(Neurologist) National AND W.HO. Award Winner(HOLISTIC),Awarded By Parliyament Of India, Delhi City Ki Shan By Dainik Jagaran And Radio City 91 F.M

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुरेंद्र सॉरी दोस्तों किसी के दिन या की कुदरत का करिश्मा है इस समस्या का समाधान में अभी कर देते हैं यह वायरस किसी की डेट नहीं है यह है वह प्रकृति प्रदत कोशिका पैरामीशियम आपने सुना ही मोबाइल सब जैसे हम इंसानों ने जन्म लिया वैसे बैक्टीरिया और जितने भी जन्म दिया और है कि हम लोगों का विकास हो गया पूरी तरह से धीरे धीरे धीरे धीरे हम बहुत कुछ जीवों का पर्वत होने लगे और मनुष्य के रूप में परिवर्तित हो गए हैं लेकिन बारिश जो हैं इनके कार्य नहीं होता जो कि किसी भी मनुष्य या किसी भी जानवर के संपर्क में आकर के विभिन्न इस होते हैं या मिठीत होते हैं यह उस डीएनए पर अटैक करके फिर वहां पर उस अकॉर्डिंग्ली अपने आपको मैं टेंशन करने लगते हैं आइए दो से चार चार आठ 16 1632 3264 क्रोमोजोम्स हमारे विकास होते हैं जैसे रूम पर मीटिंग होता है हार्मोन वह क्रोमोजोम्स के रूप में कन्वर्ट करके दो से चार चार से 832 से 2 सीसी प्रक्रिया है उस अकॉर्डिंग हमारे मनुष्य को संरचना विकसित होती है उसी तरह बारिश जो है वह एक क्वेश्चन होते हैं इनका अलग न्यूक्लियस होता है इनका अलग डीएनए स्ट्रक्चर होता है और सेल स्ट्रक्चर होता है यह जो वर्सेस हैं हमारे लिए आज इतने हानिकारक है उतने ही लाभदायक व्यक्ति अगर है तुमसे तो कभी जिंदा रह नहीं सकता उस बैक्टीरिया हमारे लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं तंत्र को ठीक करने के लिए भी बैक्टीरिया का बहुत बड़ा योगदान है इसलिए आप बता सकते हो कि वायरस जो हैं वह प्रकृति कुदरत का करिश्मा नहीं कुदरत के साथ ही इसकी उत्पत्ति हुई हैं ठीक है तो अब आप मैं यह समझता हूं कि आप की भ्रांति दूर हो गई होगी कि वायरस किसी की देन है या कुदरत का करिश्मा नहीं प्रकृति प्रदत

surendra sorry doston kisi ke din ya ki kudrat ka karishma hai is samasya ka samadhan me abhi kar dete hain yah virus kisi ki date nahi hai yah hai vaah prakriti pradat koshika paramisium aapne suna hi mobile sab jaise hum insano ne janam liya waise bacteria aur jitne bhi janam diya aur hai ki hum logo ka vikas ho gaya puri tarah se dhire dhire dhire dhire hum bahut kuch jivon ka parvat hone lage aur manushya ke roop me parivartit ho gaye hain lekin barish jo hain inke karya nahi hota jo ki kisi bhi manushya ya kisi bhi janwar ke sampark me aakar ke vibhinn is hote hain ya mithit hote hain yah us DNA par attack karke phir wahan par us akardingli apne aapko main tension karne lagte hain aaiye do se char char aath 16 1632 3264 kromojoms hamare vikas hote hain jaise room par meeting hota hai hormone vaah kromojoms ke roop me convert karke do se char char se 832 se 2 cc prakriya hai us according hamare manushya ko sanrachna viksit hoti hai usi tarah barish jo hai vaah ek question hote hain inka alag nucleus hota hai inka alag DNA structure hota hai aur cell structure hota hai yah jo versus hain hamare liye aaj itne haanikarak hai utne hi labhdayak vyakti agar hai tumse toh kabhi zinda reh nahi sakta us bacteria hamare liye bahut hi labhdayak hote hain tantra ko theek karne ke liye bhi bacteria ka bahut bada yogdan hai isliye aap bata sakte ho ki virus jo hain vaah prakriti kudrat ka karishma nahi kudrat ke saath hi iski utpatti hui hain theek hai toh ab aap main yah samajhata hoon ki aap ki bhranti dur ho gayi hogi ki virus kisi ki then hai ya kudrat ka karishma nahi prakriti pradat

सुरेंद्र सॉरी दोस्तों किसी के दिन या की कुदरत का करिश्मा है इस समस्या का समाधान में अभी कर

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user
0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह वायरस चीन की रेन है

yah virus china ki rain hai

यह वायरस चीन की रेन है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  35
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहन की देन है चीन बहन की देन है

yah behen ki then hai china behen ki then hai

यह बहन की देन है चीन बहन की देन है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user

Ajay Ramnani

Nursing Staff

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन अभी तक कोई कह नहीं सकता कि यह कोरोनावायरस कैसे आया कैसे एंटर हुआ इंडिया में या चीन में कैसे बना है तो पहली बात तो यह है कि कोरोनावायरस चीन के महान वैज्ञानिक प्रयोगशाला में कम का दर्द भरे प्रयोग किया गया उसके लिए निकला है चीन में एक्सपेरिमेंट हो गया पूरे देश में तारे सारे दे सारे कमल सिंह का निमोनिया जैसी केयर का जन्म

lekin abhi tak koi keh nahi sakta ki yah coronavirus kaise aaya kaise enter hua india me ya china me kaise bana hai toh pehli baat toh yah hai ki coronavirus china ke mahaan vaigyanik prayogshala me kam ka dard bhare prayog kiya gaya uske liye nikala hai china me experiment ho gaya poore desh me taare saare de saare kamal Singh ka pneumonia jaisi care ka janam

लेकिन अभी तक कोई कह नहीं सकता कि यह कोरोनावायरस कैसे आया कैसे एंटर हुआ इंडिया में या चीन म

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

को जब कोई भी नाटक सकते नहीं बनाती यह इंसान की देन है इंसान की कोई न कोई गलती जैसे कोरोना वायरस आजकल चल रहा है तो यह बैटरी कुदरती होता है सवाईभोज उसका उसने खा लिया फिर व्यक्ति ने कराया तो हो गया हम यह कह सकते हैं कि यह शोभा विकेट नहीं है तो उसने खारिया से नहीं पता था तो वह पहले लेकिन यह आजकल की लेबोरेटरीज में कई तरह के वायरस प्यार भी किए जा रहे हैं क्योंकि आने वाले योजना जैसी जो बड़ी सकते हैं यह बालाजी कलवार का सोचें बालाजी कलवार जाए यही है कि वायरस करके सेंड कर दो अभी तक की नस का बारिश का कितना उसका सारी दुनिया बंद पड़ी है तब एक्टर मुंबई में दिव्य शक्ति शक्ति में पैदा कर दिया है

ko jab koi bhi natak sakte nahi banati yah insaan ki then hai insaan ki koi na koi galti jaise corona virus aajkal chal raha hai toh yah battery kudarati hota hai savaibhoj uska usne kha liya phir vyakti ne karaya toh ho gaya hum yah keh sakte hain ki yah shobha wicket nahi hai toh usne khariya se nahi pata tha toh vaah pehle lekin yah aajkal ki leboretrij me kai tarah ke virus pyar bhi kiye ja rahe hain kyonki aane waale yojana jaisi jo badi sakte hain yah balaji kalevar ka sochen balaji kalevar jaaye yahi hai ki virus karke send kar do abhi tak ki nas ka barish ka kitna uska saari duniya band padi hai tab actor mumbai me divya shakti shakti me paida kar diya hai

को जब कोई भी नाटक सकते नहीं बनाती यह इंसान की देन है इंसान की कोई न कोई गलती जैसे कोरोना व

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user
0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

या वायरस कुदरत की गई नहीं है यह मनुष्य की ही खुराफाती ओं का खामियाजा है कोई नई चीज साइंटिस्ट किसी भी चीज की खोज कर रही है उसमें डीएनए के देशों को इधर-उधर कर दिया गया तो वे सही से उस स्थान पर नहीं रहते जो पांचों देश होते हैं वह किसी और अन्य स्थान पर बैठ गए जिससे इसमें वायरस का रूप ले लिया करवाई किए कोई न कोई मेडिसिन ले जैविक हथियार बन कर तैयार हो

ya virus kudrat ki gayi nahi hai yah manushya ki hi khurafati on ka khamiyaja hai koi nayi cheez scientist kisi bhi cheez ki khoj kar rahi hai usme DNA ke deshon ko idhar udhar kar diya gaya toh ve sahi se us sthan par nahi rehte jo panchon desh hote hain vaah kisi aur anya sthan par baith gaye jisse isme virus ka roop le liya karwai kiye koi na koi medicine le Jaivik hathiyar ban kar taiyar ho

या वायरस कुदरत की गई नहीं है यह मनुष्य की ही खुराफाती ओं का खामियाजा है कोई नई चीज साइंटिस

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें बारिश में दोनों बातें हैं और सबसे पहली बात यह है यह कुदरत का करिश्मा है ईश्वर की देन है क्योंकि उसकी मर्जी से पढ़ता तक नील की जानें गई हैं इस बारिश की वजह से तो उस ईश्वर की मर्जी थी तभी ऐसा हुआ तो किसी न किसी जरिए सेविका ईश्वर आपको खुशी देता है तो किसी ने किसी की बारिश की शक्ल में इस पर कहीं भेजा हुआ है जरिया बन गया है कि जहां से उपाय वायरस फैला हुआ है अगर तकनीकी यह गाना यह दुनिया भी है इस पर मैसेज डाल देना किसी ना किसी के जरिए ऐसा होता है उसकी मर्जी से कहना कुछ भी रखाना सामने आया था खाना खाना पड़ेगा ऐसा नहीं सोचा कि हम नहीं खाएंगे तो करो

isme barish me dono batein hain aur sabse pehli baat yah hai yah kudrat ka karishma hai ishwar ki then hai kyonki uski marji se padhata tak neel ki jaane gayi hain is barish ki wajah se toh us ishwar ki marji thi tabhi aisa hua toh kisi na kisi jariye sevika ishwar aapko khushi deta hai toh kisi ne kisi ki barish ki shakl me is par kahin bheja hua hai zariya ban gaya hai ki jaha se upay virus faila hua hai agar takniki yah gaana yah duniya bhi hai is par massage daal dena kisi na kisi ke jariye aisa hota hai uski marji se kehna kuch bhi rakhana saamne aaya tha khana khana padega aisa nahi socha ki hum nahi khayenge toh karo

इसमें बारिश में दोनों बातें हैं और सबसे पहली बात यह है यह कुदरत का करिश्मा है ईश्वर की देन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Aadil Raja

Staff Nurse

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोरोनावायरस यह कुदरत की देन या करिश्मा हम दोनों कह सकते हैं आजकल की लाइफ स्टाइल हमने इतनी चेंज कर दिए इंटरनेट सोशल वर्कर यूट्यूब मोबाइल्स नेट सारे ऐसे मतलब टाइमिंग पूरा-पूरा सोशल मीडिया आगरा यूज़ करते हैं ना कि फिजिकल माइंड ली स्ट्रोक होना अपनी फिजिकल हेल्थ स्ट्रांग करना है हेल्थ से रिलेटेड ऐसा कुछ भी नहीं तो मत इम्टी पावर इंप्रूव नहीं होना यह सबसे बड़ा वायरस या किसी भी चीज या किसी बीमारी का होना सबसे बड़ा कारण है कि हमारी इम्यूनिटी भी वैसा ही लॉस हो चुकी है इतनी स्टॉक नहीं रहती है इसलिए हमारे बॉडी पर कोई भी डिसीजन कोई भी बारिश जल्दी से खर्च करता है

coronavirus yah kudrat ki then ya karishma hum dono keh sakte hain aajkal ki life style humne itni change kar diye internet social worker youtube mobiles net saare aise matlab timing pura pura social media agra use karte hain na ki physical mind li stroke hona apni physical health strong karna hai health se related aisa kuch bhi nahi toh mat imti power improve nahi hona yah sabse bada virus ya kisi bhi cheez ya kisi bimari ka hona sabse bada karan hai ki hamari immunity bhi waisa hi loss ho chuki hai itni stock nahi rehti hai isliye hamare body par koi bhi decision koi bhi barish jaldi se kharch karta hai

कोरोनावायरस यह कुदरत की देन या करिश्मा हम दोनों कह सकते हैं आजकल की लाइफ स्टाइल हमने इतनी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सारे वायरस कुदरत की करिश्मा कुदरत का करिश्मा क्या है यह सजीव है या नहीं यह चर्चा का विषय है जो वैज्ञानिक समाज है वैज्ञानिक समुदाय है वह इस बात पर चर्चा करता है कि जो वायरस पर है वह सजीव होता है या नहीं क्योंकि इसमें सजीव होने के लिए बहुत सारा कुछ नहीं है इसमें बस उतना प्रोटीन और उतना ही जी मटेरियल है जिससे या अपना प्रजनन कर सकता है किसी भी दूसरे सजीव शरीर में घुसकर इन बैक्टीरिया के अंदर घुसकर और बैक्टीरिया के जीन का उपयोग करके और अपनी संख्या बढ़ाना और फिर उस सजीव को उस सेल कोटा गोबरिया हो या कोई दूसरा खूनी चुनरिया मल्टीसेल्यूलर ऑर्गेनाइज्म्स उसको मार देना कुल मिलाकर वायरस अपने आप में भगवान का प्रकृति का एक अजूबा है एक करिश्मा है कोरोनावायरस बहुत सारी चर्चा हो रही है चीन ने बनाया अमेरिका ने बनाया किसने बनाया किसने फैलाया लेकिन कुल मिलाकर जो भी प्रकृति का बनाया हुआ भारत का सिस्टम है उसी में कुछ मेडी मॉडिफिकेशन हुआ है चाहे वह इंसान ने किया वह अपने आप हो गया वह अपने आप भी होता रहता है वायरस है ही है साईं हां लेकिन इसमें कोई दो मत नहीं है क्या इसको हमने हम सभी ने मिलकर यह वायरस इंसानों से इंसानों में फैल रहा है और यह जो सबसे जिम्मेवार लोग हैं इस धरती के जो हवाई जहाज से चलने वाले पानी के जातक चलने लोग हैं सिर्फ उन्हीं लोगों से पहले इस धरती के सबसे जिम्मेवार लोगों ने इंसान का बनाया हुआ कोई जैविक हथियार हो इसको फैलाया स्टोर फैलाना पूरे मानव जाति के सबसे उत्कृष्ट लोगों का गलती है उनकी जिम्मेवारी है

saare virus kudrat ki karishma kudrat ka karishma kya hai yah sajeev hai ya nahi yah charcha ka vishay hai jo vaigyanik samaj hai vaigyanik samuday hai vaah is baat par charcha karta hai ki jo virus par hai vaah sajeev hota hai ya nahi kyonki isme sajeev hone ke liye bahut saara kuch nahi hai isme bus utana protein aur utana hi ji material hai jisse ya apna prajanan kar sakta hai kisi bhi dusre sajeev sharir me ghuskar in bacteria ke andar ghuskar aur bacteria ke gene ka upyog karke aur apni sankhya badhana aur phir us sajeev ko us cell quota gobriya ho ya koi doosra khuni chunariya maltiselyular argenaijms usko maar dena kul milakar virus apne aap me bhagwan ka prakriti ka ek ajoobaa hai ek karishma hai coronavirus bahut saari charcha ho rahi hai china ne banaya america ne banaya kisne banaya kisne faelaya lekin kul milakar jo bhi prakriti ka banaya hua bharat ka system hai usi me kuch medi modification hua hai chahen vaah insaan ne kiya vaah apne aap ho gaya vaah apne aap bhi hota rehta hai virus hai hi hai sai haan lekin isme koi do mat nahi hai kya isko humne hum sabhi ne milkar yah virus insano se insano me fail raha hai aur yah jo sabse jimmewar log hain is dharti ke jo hawai jahaj se chalne waale paani ke jatak chalne log hain sirf unhi logo se pehle is dharti ke sabse jimmewar logo ne insaan ka banaya hua koi Jaivik hathiyar ho isko faelaya store faillana poore manav jati ke sabse utkrasht logo ka galti hai unki jimmewari hai

सारे वायरस कुदरत की करिश्मा कुदरत का करिश्मा क्या है यह सजीव है या नहीं यह चर्चा का विषय ह

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:27
Play

Likes  68  Dislikes    views  2030
WhatsApp_icon
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह वायरस किसी की बहन नहीं है बहन कुदरत की नहीं है ना ही कुदरत का करिश्मा है यह बयान एक इंसान की है यह कहता है कि चीन के वहां वहां शहर से ही रिलीज हुआ और इसका जिम्मेदार है चीनी है जो नतीजे आज यहां तक है चीन ने हमसे 75 दिन छुपाकर अक्टूबर में ही वायरस प्लीज हो गया दिसंबर के महीने में हम पता चला जब नौबत यहां तक आ गई कि नहीं अपने लोग गवाही क्योंकि कोई शक नमस्ते अमेरिका की हालत नहीं डालना बहुत नाजुक अमेरिका इटली बहुत ज्यादा स्पेन यह एक चीन की देन है ना कि कुदरत का कहर इंसान

yah virus kisi ki behen nahi hai behen kudrat ki nahi hai na hi kudrat ka karishma hai yah bayan ek insaan ki hai yah kahata hai ki china ke wahan wahan shehar se hi release hua aur iska zimmedar hai chini hai jo natije aaj yahan tak hai china ne humse 75 din cchupakar october me hi virus please ho gaya december ke mahine me hum pata chala jab naubat yahan tak aa gayi ki nahi apne log gawaahi kyonki koi shak namaste america ki halat nahi dalna bahut naajuk america italy bahut zyada Spain yah ek china ki then hai na ki kudrat ka kahar insaan

यह वायरस किसी की बहन नहीं है बहन कुदरत की नहीं है ना ही कुदरत का करिश्मा है यह बयान एक इंस

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह वायरस किसी की देन है या कुदरत का कोई करिश्मा जो भी है है तो है ही आम इंसान के लिए बहुत तकलीफ दे है बहुत नुकसान दे हर तरह से सेहत के मामले में भी और फाइनेंस भी कंडीशन के बम लिए भी मैं तो यह चाहता हूं जल्दी से जल्दी इसका कोई इलाज हो निकले जिससे ये हल निकले जिससे लोग आम जो आम इंसान है जो रोज कमाता खाता है उसका भी मसला हल हो या उसको हम सब देखने की कोशिश करें हम अपने आसपास देखें और उसका हम सहायता करें हमारी सबकी जिम्मेदारी है

dekhiye yah virus kisi ki then hai ya kudrat ka koi karishma jo bhi hai hai toh hai hi aam insaan ke liye bahut takleef de hai bahut nuksan de har tarah se sehat ke mamle me bhi aur finance bhi condition ke bomb liye bhi main toh yah chahta hoon jaldi se jaldi iska koi ilaj ho nikle jisse ye hal nikle jisse log aam jo aam insaan hai jo roj kamata khaata hai uska bhi masala hal ho ya usko hum sab dekhne ki koshish kare hum apne aaspass dekhen aur uska hum sahayta kare hamari sabki jimmedari hai

देखिए यह वायरस किसी की देन है या कुदरत का कोई करिश्मा जो भी है है तो है ही आम इंसान के लिए

Romanized Version
Likes  193  Dislikes    views  2426
WhatsApp_icon
user

Dr Shalman Khan

Doctor (Physician)

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो यह मैं पहले भी अपनी इस सवाल का जवाब दे चुका हूं हम यह नहीं कह सकते कि कुदरत का कोई करिश्मा है या किसी की देन है अभी इस चीज का कोई खुलासा नहीं हुआ है ना ही इस चीज का कोई क्लियर हुआ है कि मैं यह कुदरत की देन है या मान लो के किसी की वजह से हुआ है यह नहीं कहा जा सकता अभी इसलिए नहीं कहा जा सकता कि कोई क्लीयरप्वाइंट नहीं हुआ है इस बात पर विचार तभी होगा जब हम लोग भी थोड़ा शांति से बैठेंगे भाई हां कुदरत की देन है क्या था यह चीज तो तभी पता लगेगी पहले हमें अपने देश को अपनी कंट्री को अपने जो जनता है उसको बचाना है और अपने सभी भाइयों को बहुत सेफ रखना है तो यह ध्यान देना अभी जो टाइम है तो सिर्फ यह टाइम है यह सोचने का टाइम है क्या हमें कैसे मतलब गवर्नमेंट का साथ देना है तो उसमें हमें सोशल डिस्टेंसिंग का मांस का स्पेशली ध्यान रखना और घर पर रहना है अगर मान लो के लोग डाउन चल रहा है तो ब्लॉक डाउन में घर से नहीं निकलना है अगर कोई जरूरत वाली चीज ज्यादा ही कोई इमरजेंसी है तो एक बंदा जाए और अपना जो भी वर्क है वह करके और वह आराम से बाहर ही हाथ धोए पहले उसके बाद में एंट्री करेगा पर हाथ धोने के बाद में अच्छे से फैसले के बाद में ठीक है इसलिए क्या पता नहीं किसी के टच में आ जाए वह गलती से तो पूरे परिवार जाएगा ना उसमें तो इसलिए सोच कर डिस्पेंसिंग मास्को और अपना सैनिटाइजर वगैरा या माल ओके एंड वास करते रहे गर्म पानी पीते दिन में तीन तीन बार गर्म पानी पिए ठीक है सुबह दोपहर शाम गर्म पानी का गर्म दूध पी सकते हैं आपको तो यह ध्यान रखो और यह इस तरह की बात अभी कोई नहीं क्लियर हुई है कभी कुदरत का करिश्मा है या मान लो कि यह किसी की देन है

dekho yah main pehle bhi apni is sawaal ka jawab de chuka hoon hum yah nahi keh sakte ki kudrat ka koi karishma hai ya kisi ki then hai abhi is cheez ka koi khulasa nahi hua hai na hi is cheez ka koi clear hua hai ki main yah kudrat ki then hai ya maan lo ke kisi ki wajah se hua hai yah nahi kaha ja sakta abhi isliye nahi kaha ja sakta ki koi kliyarapwaint nahi hua hai is baat par vichar tabhi hoga jab hum log bhi thoda shanti se baitheange bhai haan kudrat ki then hai kya tha yah cheez toh tabhi pata lagegi pehle hamein apne desh ko apni country ko apne jo janta hai usko bachaana hai aur apne sabhi bhaiyo ko bahut safe rakhna hai toh yah dhyan dena abhi jo time hai toh sirf yah time hai yah sochne ka time hai kya hamein kaise matlab government ka saath dena hai toh usme hamein social distensing ka maas ka speshli dhyan rakhna aur ghar par rehna hai agar maan lo ke log down chal raha hai toh block down me ghar se nahi nikalna hai agar koi zarurat wali cheez zyada hi koi emergency hai toh ek banda jaaye aur apna jo bhi work hai vaah karke aur vaah aaram se bahar hi hath dhoe pehle uske baad me entry karega par hath dhone ke baad me acche se faisle ke baad me theek hai isliye kya pata nahi kisi ke touch me aa jaaye vaah galti se toh poore parivar jaega na usme toh isliye soch kar dispensing moscow aur apna sainitaijar vagera ya maal ok and was karte rahe garam paani peete din me teen teen baar garam paani piye theek hai subah dopahar shaam garam paani ka garam doodh p sakte hain aapko toh yah dhyan rakho aur yah is tarah ki baat abhi koi nahi clear hui hai kabhi kudrat ka karishma hai ya maan lo ki yah kisi ki then hai

देखो यह मैं पहले भी अपनी इस सवाल का जवाब दे चुका हूं हम यह नहीं कह सकते कि कुदरत का कोई कर

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  249
WhatsApp_icon
user

Karan Soni

Clothin Shop

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रेम ठाकुर दास और यह बारात किसकी देन है या कोई काम नहीं करते उसका वायरस बीमारी फैली है उसे पढ़ पाते हैं तो लोग की है अपना ही इस में बस फर्क इतना जो लोग नहीं बिकी होंगे उसमें भी शामिल हो रहे हैं उन्हें भी मारी लग रही होगी मार रहे हैं लेकिन इसमें आना चाहिए कि मर गए सब लोग जब से ले रही है जिसे हमने उसको दिया

prem thakur das aur yah baraat kiski then hai ya koi kaam nahi karte uska virus bimari faili hai use padh paate hain toh log ki hai apna hi is me bus fark itna jo log nahi biki honge usme bhi shaamil ho rahe hain unhe bhi mari lag rahi hogi maar rahe hain lekin isme aana chahiye ki mar gaye sab log jab se le rahi hai jise humne usko diya

प्रेम ठाकुर दास और यह बारात किसकी देन है या कोई काम नहीं करते उसका वायरस बीमारी फैली है उस

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो जांच का विषय है कि क्या हो सकता है कैसे हुआ है मैं अननेचुरल है कि नेचुरल है

yah toh jaanch ka vishay hai ki kya ho sakta hai kaise hua hai main unnatural hai ki natural hai

यह तो जांच का विषय है कि क्या हो सकता है कैसे हुआ है मैं अननेचुरल है कि नेचुरल है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user
0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने प्रश्न किया वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है जिसको आप जो भी समझ लीजिए देन है फिर भी कुदरत नहीं दिया है और और करिश्मा है फिर भी करिश्मा ही है कुदरत का तो दिन में जो है वह चीन का दिया हुआ है चीन के वुहान शहर से यह कोरोना वायरस उत्पन्न हुई है इस रिसर्च के दौरान वहां से उत्पन्न हुई है वहीं पूरे शहर में फैला पूरे देश में फैला है धन्यवाद

apne prashna kiya virus kisi ki then hai ya phir kudrat ka koi karishma hai jisko aap jo bhi samajh lijiye then hai phir bhi kudrat nahi diya hai aur aur karishma hai phir bhi karishma hi hai kudrat ka toh din me jo hai vaah china ka diya hua hai china ke wuhan shehar se yah corona virus utpann hui hai is research ke dauran wahan se utpann hui hai wahi poore shehar me faila poore desh me faila hai dhanyavad

अपने प्रश्न किया वायरस किसी की देन है या फिर कुदरत का कोई करिश्मा है जिसको आप जो भी समझ ली

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  1230
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!