हिंदुस्तान में कोई भी अपना काम ईमा NDA री से नहीं करता, क्यों?...


play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान में कोई भी अपना काम इमानदारी से क्यों नहीं करता तो ऐसा नहीं कह सकते कि केवल दो ही लोग काम करते हैं हिंदुस्तान में उनकी गलती से काम में ईमानदारी नहीं होती कहीं पर हम भी जिम्मेदार हैं अपने काम को जल्दी कराने के लिए अपने फायदे के लिए तो हिंदुस्तान के लिए घूस लेते हुए पकड़े जाते हैं घूस लेते हैं काम का जो है बिना पैसे कर नहीं करते इसका मुख्य कारण यह है कि प्रशासन और हमारी गवर्नमेंट चोर है करप्शन को हटाना चाहिए और लोगों को जो भी कलेक्टर ऑफिस से उनको जो भी पोस्ट से हटाएगी जो ऑफिस में बहाली देगी शीशा टूट मुकदमा होगा तो बिल्कुल जय भारत के विकास में खत्म हो जाएगा और भारत की हर एक ईमानदार हो जाएंगे दूसरे का दूसरे को जो है इसके फायदे बताएगा कि वह यह भी कह सकते हैं कि हिंदुस्तान में कोई भी अपना काम इमानदारी से इसलिए नहीं करता क्योंकि लोग जानते हैं कि जो भी काम इमानदारी से होता उसमें ज्यादा बेनिफिट नहीं होता है जो काम किया जाता है वह काम जल्द से जल्द हो जाता है और फिर भी ज्यादा होता है उसमें

Hindustan mein koi bhi apna kaam imaandari se kyon nahi karta toh aisa nahi keh sakte ki keval do hi log kaam karte hain Hindustan mein unki galti se kaam mein imaandaari nahi hoti kahin par hum bhi zimmedar hain apne kaam ko jaldi karane ke liye apne fayde ke liye toh Hindustan ke liye ghus lete hue pakde jaate hain ghus lete hain kaam ka jo hai bina paise kar nahi karte iska mukhya karan yah hai ki prashasan aur hamari government chor hai corruption ko hatana chahiye aur logo ko jo bhi collector office se unko jo bhi post se hataegi jo office mein bahali degi shisha toot mukadma hoga toh bilkul jai bharat ke vikas mein khatam ho jaega aur bharat ki har ek imaandaar ho jaenge dusre ka dusre ko jo hai iske fayde batayega ki vaah yah bhi keh sakte hain ki Hindustan mein koi bhi apna kaam imaandari se isliye nahi karta kyonki log jante hain ki jo bhi kaam imaandari se hota usme zyada benefit nahi hota hai jo kaam kiya jata hai vaah kaam jald se jald ho jata hai aur phir bhi zyada hota hai usmein

हिंदुस्तान में कोई भी अपना काम इमानदारी से क्यों नहीं करता तो ऐसा नहीं कह सकते कि केवल दो

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  159
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
parmanu parikshan in india ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!