बूढ़े लोग पुराने तौर-तरी कौन के कपड़े क्यों पहनते हैं?...


user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका क्वेश्चन है कि बूढ़े लोग पुराने तौर-तरीके कौन के कपड़े क्यों पहनते हैं दोस्तों इसलिए पढ़ते हैं क्योंकि सभी को अपने जो होता है क्या नाम है पहनावे पर बोलचाल की भाषा पर सबको अपना गर्व होता है क्योंकि हम एक भले ही इंग्लिश सीख लिया भरे की फ्रेंच जर्मन जर्मन अमेरिकन इंग्लिश सीख लिए हैं कहीं का भी स्टेटस देख लिए हैं अपनी मातृभाषा हिंदी को जरूर बोलेंगे अपने गांव की भाषा बोलेंगे अपने गांव के पहनावा पहनेंगे तो जरूर हमारे दिल से अटैच है ना कि समाज से क्योंकि हमारे जोशी दिल से अटैच होता है वह आपके साथ

namaskar doston aapka question hai ki budhe log purane taur tarike kaun ke kapde kyon pehente hain doston isliye padhte hain kyonki sabhi ko apne jo hota hai kya naam hai pahnawe par bolchal ki bhasha par sabko apna garv hota hai kyonki hum ek bhale hi english seekh liya bhare ki french german german american english seekh liye hain kahin ka bhi status dekh liye hain apni matrubhasha hindi ko zaroor bolenge apne gaon ki bhasha bolenge apne gaon ke pahanava pahnenge toh zaroor hamare dil se attach hai na ki samaj se kyonki hamare joshi dil se attach hota hai vaah aapke saath

नमस्कार दोस्तों आपका क्वेश्चन है कि बूढ़े लोग पुराने तौर-तरीके कौन के कपड़े क्यों पहनते है

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1117
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Shipra Ranjan

Life Coach

1:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि बुरे लोग पुराने तौर-तरीकों से कपड़े क्यों पहनते हैं तो पर बोलते हैं कि पूरी जिंदगी में जो तरीके से जिस चीज को अपनाया है आदत पड़ जाती है उसकी उसके उसे बदलना किसी के लिए भी पॉसिबल नहीं हो पाता है अगर आप जो भी चीज को फॉलो कर रहे हैं या जो भी ट्रेंड फॉलो कर रहे हैं घर में कपड़े लेने के लिए जो भी कपड़े पहनते हो अगर अचानक से आकर कि कोई कह दे कि इस चीज को छोड़कर दूसरी चीज को आप पहनना शुरू कर देना शुरू कर दिया खुद को किस परिस्थिति में रखकर भी सोचे कि जो व्यक्ति जो इंसान इतने सालों से इस तरीके से रह रहा है उसका बहन से उसका उठना बैठना उसके कपड़े पहनने का तरीका वह सब उसकी आदत में शुमार हो जाता है उसको एकदम से बदल पाना किसी के लिए भी मुमकिन नहीं होता है चाहे वह प्राणी जनरेशन हो जाए आज के दर्शन

aapka sawaal hai ki bure log purane taur trikon se kapde kyon pehente hai toh par bolte hai ki puri zindagi mein jo tarike se jis cheez ko apnaya hai aadat pad jaati hai uski uske use badalna kisi ke liye bhi possible nahi ho pata hai agar aap jo bhi cheez ko follow kar rahe hai ya jo bhi trend follow kar rahe hai ghar mein kapde lene ke liye jo bhi kapde pehente ho agar achanak se aakar ki koi keh de ki is cheez ko chhodkar dusri cheez ko aap pahanna shuru kar dena shuru kar diya khud ko kis paristithi mein rakhakar bhi soche ki jo vyakti jo insaan itne salon se is tarike se reh raha hai uska behen se uska uthna baithana uske kapde pahanne ka tarika vaah sab uski aadat mein shumaar ho jata hai usko ekdam se badal paana kisi ke liye bhi mumkin nahi hota hai chahen vaah prani generation ho jaaye aaj ke darshan

आपका सवाल है कि बुरे लोग पुराने तौर-तरीकों से कपड़े क्यों पहनते हैं तो पर बोलते हैं कि पूर

Romanized Version
Likes  197  Dislikes    views  2909
WhatsApp_icon
user

Naren khatri

Student And Social Worker

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप पूछ रहे हैं कि बुड्ढे लोग पुराने तौर-तरीकों के कपड़े क्यों पहनते हैं तो बता दूं कि पुराने तो तरीके वह हमारी संस्कृति है और और संस्कृति के हिसाब से वह अपने कपड़े पहनते हैं अपनी समाज में और हमारे युवा आजकल मॉडर्न होते जा रहे हैं और हमारी संस्कृति को भी भूलते जा रहे हैं तो हमें पुराने कपड़ों का सम्मान करना चाहिए कैसे भी हो

aap puch rahe hain ki buddhe log purane taur trikon ke kapde kyon pehente hain toh bata doon ki purane toh tarike vaah hamari sanskriti hai aur aur sanskriti ke hisab se vaah apne kapde pehente hain apni samaj mein aur hamare yuva aajkal modern hote ja rahe hain aur hamari sanskriti ko bhi bhulte ja rahe hain toh hamein purane kapdo ka sammaan karna chahiye kaise bhi ho

आप पूछ रहे हैं कि बुड्ढे लोग पुराने तौर-तरीकों के कपड़े क्यों पहनते हैं तो बता दूं कि पुरा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!