जाति बड़ी या व्यक्ति?...


user
1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एक लाइन का उत्तर है व्यक्ति हमेशा जाति से बड़ा होता है क्यों की जाती हमको जन्म के आधार पर मिल सकती है जिसको हम लोग कहते हैं कि यह प्रोडक्ट स्थिति है पहले आपको अपने आप मिल गया कोई कोशिश नहीं करना पड़ा लेकिन व्यक्ति में जाओ किसी भी जाति का हो दृढ़ इच्छा शक्ति हो एक निश्चित गोल हो लक्ष्मी और उस पर वह लक्ष्य प्राप्ति तक चैन से ना बैठे तू व्यक्ति जो है चाहे वह किसी भी जाति का हो सभी जाति के लोग उसकी इज्जत करते हैं जैसे हमारे महामहिम राष्ट्रपति जी हैं हमारे सुप्रीम कोर्ट की चीफ जस्टिस है हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी हैं अब इनकी जाती कोई पूछता है क्या तू साबित हुआ कि नहीं व्यक्ति जाति से बड़ा है तब वह जाकर नियोगी की तरह काम करके अपने जीवन के लक्ष्य को हासिल कर सकें

dekhiye ek line ka uttar hai vyakti hamesha jati se bada hota hai kyon ki jaati hamko janam ke aadhar par mil sakti hai jisko hum log kehte hain ki yah product sthiti hai pehle aapko apne aap mil gaya koi koshish nahi karna pada lekin vyakti me jao kisi bhi jati ka ho dridh iccha shakti ho ek nishchit gol ho laxmi aur us par vaah lakshya prapti tak chain se na baithe tu vyakti jo hai chahen vaah kisi bhi jati ka ho sabhi jati ke log uski izzat karte hain jaise hamare mahamhim rashtrapati ji hain hamare supreme court ki chief justice hai hamare mananiya pradhanmantri ji hain ab inki jaati koi poochta hai kya tu saabit hua ki nahi vyakti jati se bada hai tab vaah jaakar niyogi ki tarah kaam karke apne jeevan ke lakshya ko hasil kar sake

देखिए एक लाइन का उत्तर है व्यक्ति हमेशा जाति से बड़ा होता है क्यों की जाती हमको जन्म क

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  1446
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

सुरेश चंद आचार्य

Social Worker ( Self employed )

0:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार साथियों व्यक्ति और जाति व्यक्तियों के समूह से ही जाति बनती है इसलिए जाति का महत्व बढ़ जाता है व्यक्ति की पहचान भी जाति से होती है इसलिए भी व्यक्ति से बड़ी जाति होती है जाति के लिए व्यक्ति कुर्बान हो सकता है भलाई के हित में कार्य करना उसका फर्ज बनता है इसलिए भी व्यक्ति से बड़ी जाति होती है

namaskar sathiyo vyakti aur jati vyaktiyon ke samuh se hi jati banti hai isliye jati ka mahatva badh jata hai vyakti ki pehchaan bhi jati se hoti hai isliye bhi vyakti se badi jati hoti hai jati ke liye vyakti kurban ho sakta hai bhalai ke hit me karya karna uska farz banta hai isliye bhi vyakti se badi jati hoti hai

नमस्कार साथियों व्यक्ति और जाति व्यक्तियों के समूह से ही जाति बनती है इसलिए जाति का महत्व

Romanized Version
Likes  96  Dislikes    views  2154
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!