पर्यावरण अध्ययन जरूरी क्यों है?...


user

Bheekha Ram Prajapati

वरिष्ठ प्राध्यापक | Career Advice

3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पर्यावरण अध्ययन क्यों जरूरी है मैं बताना चाहूंगा कि मनुष्य का एक जिस संबंध है वह पर्यावरण से बहुत गहरा है क्योंकि बिन पर्यावरण मनुष्य का इस धरती पर रहना मुश्किल है क्योंकि मनुष्य का पर्यावरण एक गहरा ताल्लुक होने के नाते प्रतिदिन आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए काम आने वाली समस्त जो वस्तु है वह हमेशा मनुष्य पर्यावरण से ही प्राप्त करता है क्योंकि हमारा हमारी चारों और जो पाया जाने वाला जो आवरण है वही आवरण कहीं न कहीं प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मनुष्य पर कई डरता है क्या हमारे लिए कहीं कहिए उपयोगी है उदाहरण के बाद और ये बात करें ऑक्सीजन है कार्रवाई के तौर पर जो हमारे लिए अति महत्वपूर्ण है इसके साथ-साथ अनेक ऐसी गैस से हैं जो सारे के सारे पर्यावरण की हमारे द्वारा गाया जाने वाला अनाज पर्यावरण का आने वाला प्रकाश यदि पर्यावरण की ही देन है क्योंकि विटामिन मिलता है और कितने सारे हैं उनके लिए पर्यावरण की जरूरत है और इसके माध्यम से हमें फल मिलते हैं उन्हें प्राणवायु मिलती है तो हम यही चाहते हैं कि पर्यावरण का चिन्ह क्यों जरूरी है यह पर्यावरण का अध्ययन हमें हम स्कूल में पढ़ाया जाता है लेकिन साथ-साथ बच्चों को इसके विषय में घर पर भी क्या कर देने की शिक्षा देना भी जरूरी थी माध्यम से बच्चों के प्रति ज्यादा इंटरेस्ट चलेंगे तो आने वाले समय में भी इस प्रकार से बढ़ती पापुलेशन इस प्रकार से बढ़ती आबादी के बीच में कल कारखाने इस प्रदूषण के बीच में बच्चों को क्या कर सकते इस पर्यावरण के प्रति हमें सूचित कर सकते हैं सचेत रख सकते हैं आज छोटे-छोटे बच्चे की परिपाटी पर यदि हम पर्यावरण से संबंधित अच्छी बातों को करेंगे आने वाले समय में इस पर्यावरण की रक्षा में लिखित तौर पर कर सकेंगे पर्यावरण हमारे लिए बेहद जरूरी है और इसकी शिक्षा बहुत ही जरूरी है क्योंकि पर्यावरण की बिना हम अपनी इस धरती पर रहने की कल्पना कर ही नहीं सकते हैं थैंक यू

namaskar aapka paryavaran adhyayan kyon zaroori hai main batana chahunga ki manushya ka ek jis sambandh hai vaah paryavaran se bahut gehra hai kyonki bin paryavaran manushya ka is dharti par rehna mushkil hai kyonki manushya ka paryavaran ek gehra talluk hone ke naate pratidin avashayaktaon ki purti ke liye kaam aane wali samast jo vastu hai vaah hamesha manushya paryavaran se hi prapt karta hai kyonki hamara hamari charo aur jo paya jaane vala jo aavaran hai wahi aavaran kahin na kahin pratyaksh ya apratyaksh roop se manushya par kai darta hai kya hamare liye kahin kahiye upyogi hai udaharan ke baad aur ye baat kare oxygen hai karyawahi ke taur par jo hamare liye ati mahatvapurna hai iske saath saath anek aisi gas se hain jo saare ke saare paryavaran ki hamare dwara gaaya jaane vala anaaj paryavaran ka aane vala prakash yadi paryavaran ki hi then hai kyonki vitamin milta hai aur kitne saare hain unke liye paryavaran ki zarurat hai aur iske madhyam se hamein fal milte hain unhe pranavayu milti hai toh hum yahi chahte hain ki paryavaran ka chinh kyon zaroori hai yah paryavaran ka adhyayan hamein hum school me padhaya jata hai lekin saath saath baccho ko iske vishay me ghar par bhi kya kar dene ki shiksha dena bhi zaroori thi madhyam se baccho ke prati zyada interest chalenge toh aane waale samay me bhi is prakar se badhti population is prakar se badhti aabadi ke beech me kal karkhane is pradushan ke beech me baccho ko kya kar sakte is paryavaran ke prati hamein suchit kar sakte hain sachet rakh sakte hain aaj chote chote bacche ki paripati par yadi hum paryavaran se sambandhit achi baaton ko karenge aane waale samay me is paryavaran ki raksha me likhit taur par kar sakenge paryavaran hamare liye behad zaroori hai aur iski shiksha bahut hi zaroori hai kyonki paryavaran ki bina hum apni is dharti par rehne ki kalpana kar hi nahi sakte hain thank you

नमस्कार आपका पर्यावरण अध्ययन क्यों जरूरी है मैं बताना चाहूंगा कि मनुष्य का एक जिस संबंध है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  195
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!