राजीव गांधी ज़िन्दा होते तो कांग्रेस की स्थिति कैसी होती?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो एक हाथी कल क्वेश्चन है कि अगर राहुल राजीव गांधी जी जिंदा होते तो देश की हालत कैसे होते हैं अब एग्जैक्ट ली तो कोई नहीं बता सकता किस प्रकार की देश के हालात होते लेकिन हमें यह जरूर कहूंगा कि कांग्रेस की आज जो स्थिति है जो कांग्रेस 2 लगभग 10 साल तक लगातार सरकार सत्ता में रही उसके बाद आज स्थिति अभी 50 या 51 सीटें कांग्रेस पार्टी के लोकसभा में तो कहीं ना कि मुझे लगता है जो आज सिचुएशन कांग्रेस पार्टी की शायद इतनी बुरी सिचुएशन कांग्रेस पार्टी की नहीं होती क्योंकि जिस प्रकार का उनकी राजनीति रही हो कहीं ना कहीं अच्छी राजनीति की जो आजकल के कांग्रेस के लोग करते हैं

yah toh ek haathi kal question hai ki agar rahul rajeev gandhi ji zinda hote toh desh ki halat kaise hote hain ab exact li toh koi nahi bata sakta kis prakar ki desh ke haalaat hote lekin hamein yah zaroor kahunga ki congress ki aaj jo sthiti hai jo congress 2 lagbhag 10 saal tak lagatar sarkar satta mein rahi uske baad aaj sthiti abhi 50 ya 51 seaten congress party ke lok sabha mein toh kahin na ki mujhe lagta hai jo aaj situation congress party ki shayad itni buri situation congress party ki nahi hoti kyonki jis prakar ka unki raajneeti rahi ho kahin na kahin achi raajneeti ki jo aajkal ke congress ke log karte hain

यह तो एक हाथी कल क्वेश्चन है कि अगर राहुल राजीव गांधी जी जिंदा होते तो देश की हालत कैसे हो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विजय कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है भारत को कितने साल तक निर्धारित किया है इस क्वेश्चन करने के लिए मजबूत बनाने के लिए इंदिरा गांधी राजीव गांधी इन सब का बहुत बड़ा रोल रहा है लेकिन आज के समय में क्योंकि कांग्रेस का नेतृत्व अब जो है वह इतना स्ट्रांग नहीं है राहुल गांधी एक अच्छे व्यक्ति हो सकते हैं पर वह एक अच्छे नेता नहीं है क्योंकि वह संभाल नहीं पा रहे हैं मेरे हिसाब से अगर कांग्रेस जीती रही है कहीं पर तू इस वजह से नहीं जीतेगी कांग्रेस परफॉर्म कर रहे हो सर जी क्योंकि भाजपा से परफॉर्म नहीं कर पा रही है तो इसको देखते हुए मुझे लगता है कि अगर आज ही कहानियां जिंदा होते हो सॉन्ग नहीं तो आप इसकी जरूरत है अभी हमारे देश को कांग्रेस को को मिल रहा होता तो कांग्रेस की स्थिति बहुत ही ज्यादा बेहतर होती अब से तुम बहुत ज्यादा बेहतर होती राजीव गांधी होते तो शायद भाजपा सत्ता में आई नहीं पाते क्योंकि राजस्थान एक बहुत अच्छे नेता थे और उन्होंने जो को उसके लिए बहुत कुछ किया देश के लिए बहुत कुछ किया तो बिल्कुल स्थिति बहुत बेहतर होती

vijay congress sabse badi party hai bharat ko kitne saal tak nirdharit kiya hai is question karne ke liye majboot banane ke liye indira gandhi rajeev gandhi in sab ka bahut bada roll raha hai lekin aaj ke samay mein kyonki congress ka netritva ab jo hai vaah itna strong nahi hai rahul gandhi ek acche vyakti ho sakte hain par vaah ek acche neta nahi hai kyonki vaah sambhaal nahi paa rahe hain mere hisab se agar congress jeeti rahi hai kahin par tu is wajah se nahi jitegi congress perform kar rahe ho sir ji kyonki bhajpa se perform nahi kar paa rahi hai toh isko dekhte hue mujhe lagta hai ki agar aaj hi kahaniya zinda hote ho song nahi toh aap iski zarurat hai abhi hamare desh ko congress ko ko mil raha hota toh congress ki sthiti bahut hi zyada behtar hoti ab se tum bahut zyada behtar hoti rajeev gandhi hote toh shayad bhajpa satta mein I nahi paate kyonki rajasthan ek bahut acche neta the aur unhone jo ko uske liye bahut kuch kiya desh ke liye bahut kuch kiya toh bilkul sthiti bahut behtar hoti

विजय कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है भारत को कितने साल तक निर्धारित किया है इस क्वेश्चन करने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश में सबसे लंबे समय तक सत्ता पर काबिज रहने वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस बहुत कमजोर हो गई है राहुल गांधी और सोनिया गांधी की भरपूर कोशिश जारी है लेकिन उसके बाद भी कांग्रेस लोगों के बीच विश्वास नहीं बना पा रही है इस समय इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राजीव गांधी ने कांग्रेस को बहुत अच्छी तरह से संभाला था राजीव गांधी कि अगर हत्या नहीं हुई होती तो आज कांग्रेस की क्या स्थिति होगी यह सवाल बार-बार दिमाग में सभी के उठता है राजीव गांधी को उनके नए विचारों और तकनीकी को प्राथमिकता देने के प्रयासों नहीं कनक पहचान दिलाई थी उन्होंने बाजार से लेकर तकनीक में सुधार की शुरुआत की थी देश को विश्व स्तर पर लाने के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया था लेकिन भोपाल गैस कांड शाहबानो मामला और बोफोर्स कांड के कारण राजीव गांधी की ईमानदार छवि को नुकसान पहुंचा था और उनकी सरकार उनकी लोकप्रियता हटने से गिर गई थी लेकिन राजीव गांधी ने उसके बाद भी झूठ छोड़ कर कर अपनी सरकार नहीं बनाई उन्होंने भी पीसीएस के साथ विपक्ष में रहकर समर्थन दिया लेकिन वह सरकार भी नहीं चली राजीव गांधी ने उसके बाद जब लोकसभा चुनाव हुए तो राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी और 1991 के चुनाव में पी वी नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री बने लेकिन वह खुद अपने नेतृत्व से डरी हुई थी इसलिए पार्टी में ही फूट डालने शुरु हो गई थी और उसके बाद 2004 में कांग्रेस ने वापस सत्ता में वापसी करिए और मोहन मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाया एक कुशल और मजबूत नेतृत्व नहीं होने के कारण आज कांग्रेस इस स्थिति तक पहुंच गई है अगर राजीव गांधी होते तो यह हालात नहीं होते

desh mein sabse lambe samay tak satta par kabij rehne wali bharatiya rashtriya congress bahut kamjor ho gayi hai rahul gandhi aur sonia gandhi ki bharpur koshish jaari hai lekin uske baad bhi congress logo ke beech vishwas nahi bana paa rahi hai is samay indira gandhi ki hatya ke baad rajeev gandhi ne congress ko bahut achi tarah se sambhala tha rajeev gandhi ki agar hatya nahi hui hoti toh aaj congress ki kya sthiti hogi yah sawaal baar baar dimag mein sabhi ke uthata hai rajeev gandhi ko unke naye vicharon aur takniki ko prathamikta dene ke prayaso nahi kanak pehchaan dilai thi unhone bazaar se lekar taknik mein sudhaar ki shuruat ki thi desh ko vishwa sthar par lane ke liye mahatvapurna yogdan diya tha lekin bhopal gas kaand shahbano maamla aur Bofors kaand ke karan rajeev gandhi ki imaandaar chhavi ko nuksan pohcha tha aur unki sarkar unki lokpriyata hatane se gir gayi thi lekin rajeev gandhi ne uske baad bhi jhuth chod kar kar apni sarkar nahi banai unhone bhi pcs ke saath vipaksh mein rahkar samarthan diya lekin vaah sarkar bhi nahi chali rajeev gandhi ne uske baad jab lok sabha chunav hue toh rajeev gandhi ki hatya kar di gayi thi aur 1991 ke chunav mein p va narsimha rav pradhanmantri bane lekin vaah khud apne netritva se dari hui thi isliye party mein hi feet dalne shuru ho gayi thi aur uske baad 2004 mein congress ne wapas satta mein wapsi kariye aur mohan manmohan Singh ko pradhanmantri banaya ek kushal aur majboot netritva nahi hone ke karan aaj congress is sthiti tak pohch gayi hai agar rajeev gandhi hote toh yah haalaat nahi hote

देश में सबसे लंबे समय तक सत्ता पर काबिज रहने वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस बहुत कमजोर हो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user
Play

Likes    Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!