भारतीय औरतें माथे पर बिंदिया क्यों लगाती हैं?...


play
user

Vatsal

Engineering Student

0:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किस भारतीय औरतें होती हैं जो लेडीस होती है वह माथे पर जो बिंदिया लगाती हैं वह इस तरीके का एक संस्कृति है एक तरीके का प्रतीक है कि एक तरीके से एक सुहागन स्त्री की एक निशानी है और आज के टाइम में सुहागन ही नहीं जो छोटी-छोटी लड़कियां भी होती है मूवी बंद कैसे गिरती जो है सो रहा है उन पर पहनती तो यह जी आजकल तो वैसे ही जस्ट एक फैशन के सूट बन गया है जिसकी मर्जी के लायक नहीं बस्ती से भारतीय हिंदू वादी संस्कृति से विशेष तौर से जुड़ा हुआ होता है

kis bharatiya auraten hoti hain jo ladies hoti hai vaah mathe par jo bindiya lagati hain vaah is tarike ka ek sanskriti hai ek tarike ka prateek hai ki ek tarike se ek suhagan stree ki ek nishani hai aur aaj ke time mein suhagan hi nahi jo choti choti ladkiyan bhi hoti hai movie band kaise girti jo hai so raha hai un par pahanti toh yah ji aajkal toh waise hi just ek fashion ke suit ban gaya hai jiski marji ke layak nahi basti se bharatiya hindu wadi sanskriti se vishesh taur se juda hua hota hai

किस भारतीय औरतें होती हैं जो लेडीस होती है वह माथे पर जो बिंदिया लगाती हैं वह इस तरीके का

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं बिंदी की कल्चर वैल्यू तो है इसके अलावा अगर बात की जाए तो आप देखिए जिस जगह मेहंदी लगाई जाती है उसे क्या मुझे लगता है कि सेंटर पॉइंट डेकोरेट का और वहां बहुत ज्यादा पॉजिटिव एनर्जी होती है तो शायद इसी वजह से उसको लगाया जाता है इसके अलावा जब कोई लेडीस बिंदी लगाती है तो उस का श्रंगार मुझे लगता है कि बिना बिल्ली अधूरा है

lekin mujhe lagta hai ki kahin na kahin bindi ki culture value toh hai iske alava agar baat ki jaaye toh aap dekhiye jis jagah mehendi lagayi jaati hai use kya mujhe lagta hai ki center point decorate ka aur wahan bahut zyada positive energy hoti hai toh shayad isi wajah se usko lagaya jata hai iske alava jab koi ladies bindi lagati hai toh us ka shringar mujhe lagta hai ki bina billi adhura hai

लेकिन मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं बिंदी की कल्चर वैल्यू तो है इसके अलावा अगर बात की जाए त

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में महिलाओं का सिर पर बिंदी लगाना सुहाग का प्रतीक माना जाता है हमारे धर्म और संस्कृति में माना जाता है कि जिस महिला की शादी हो जाती है उसे अपने पति की लंबी आयु के लिए अपने ललाट पर सिंदूर की या किसी भी तरह की बिंदी जरूर लगानी चाहिए उससे उनकी आयु बढ़ती है और साथ ही यह इसका भी प्रतीक है कि आप एक शादीशुदा महिला है और इसलिए हमारे देश में औरतें बिंदी लगाती है

hamare desh mein mahilaon ka sir par bindi lagana suhaag ka prateek mana jata hai hamare dharm aur sanskriti mein mana jata hai ki jis mahila ki shadi ho jaati hai use apne pati ki lambi aayu ke liye apne lalaat par sindoor ki ya kisi bhi tarah ki bindi zaroor lagani chahiye usse unki aayu badhti hai aur saath hi yah iska bhi prateek hai ki aap ek shaadishuda mahila hai aur isliye hamare desh mein auraten bindi lagati hai

हमारे देश में महिलाओं का सिर पर बिंदी लगाना सुहाग का प्रतीक माना जाता है हमारे धर्म और संस

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारे भारत में जहां पर रीति रिवाजों का कल्चर का बहुत ज्यादा ध्यान रखा जाता है बहुत महत्व दिया जाता है उसे वहां पर कुछ ऐसी चीजों से कुछ ऐसी मान्यता है जिन को फॉलो करना जरूरी समझ आता है उनमें से एक है माथे पर बिंदिया लगाना बिंदी लगाना और महिलाएं होती हैं ऐसा माना जाता है कि यह सुहाग का प्रतीक है बिंदी लगाना और कोई महिला बिंदी लगा रही है तो यह वह यह निर्भर करता है कि वह अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती है तुम आना चाहता हूं प्रधान पर दूंगी अगर कभी मेरी ममा हिंदी ना लगाएं भूल जाए ऐसा कुछ हो तो मेरी नानी मिनट रूकना शुरू कर देते की बिंदी लगाने से अच्छा नहीं लगता यह वह तो यह बहुत अच्छा सेंटीमेंटल बालों से जुड़ी हुई है और क्योंकि यह आपके हस्बैंड की लंबी उम्र से रिलेटेड है तो फिर सारी मर जाए वैसे भी सेंटी होकर बिंदी लगा लेती है राजकुमार नतीजा विक्की पहले साड़ी सूट पर ज्यादा जोर आज के समय में क्योंकि हर महिला मतलब मोटी महिला बुकिंग होती है तो कहीं ना कहीं फॉर्मल कपड़े आ जाता और वहां पर बिंदी मंगलसूत्र यह सब का हार जाता है उनसे ज्यादा रिलेटेड नहीं रहता है बट फिर भी आज भी है जिस बहुत ज्यादा माना था मैंने

dekhiye hamare bharat mein jaha par riti rivajon ka culture ka bahut zyada dhyan rakha jata hai bahut mahatva diya jata hai use wahan par kuch aisi chijon se kuch aisi manyata hai jin ko follow karna zaroori samajh aata hai unmen se ek hai mathe par bindiya lagana bindi lagana aur mahilaye hoti hain aisa mana jata hai ki yah suhaag ka prateek hai bindi lagana aur koi mahila bindi laga rahi hai toh yah vaah yah nirbhar karta hai ki vaah apne pati ki lambi umr ki kamna karti hai tum aana chahta hoon pradhan par dungi agar kabhi meri mamba hindi na lagaye bhool jaaye aisa kuch ho toh meri naani minute rukna shuru kar dete ki bindi lagane se accha nahi lagta yah vaah toh yah bahut accha sentimental balon se judi hui hai aur kyonki yah aapke husband ki lambi umr se related hai toh phir saree mar jaaye waise bhi centi hokar bindi laga leti hai rajkumar natija vicky pehle saree suit par zyada jor aaj ke samay mein kyonki har mahila matlab moti mahila booking hoti hai toh kahin na kahin formal kapde aa jata aur wahan par bindi mangalsutra yah sab ka haar jata hai unse zyada related nahi rehta hai but phir bhi aaj bhi hai jis bahut zyada mana tha maine

देखिए हमारे भारत में जहां पर रीति रिवाजों का कल्चर का बहुत ज्यादा ध्यान रखा जाता है बहुत म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user

Indian Mystic

Indian Mystic

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सर यह तो ऐसा सवाल हो गया कि लोग कपड़ा क्यों पहनते हैं कपड़ा क्यों पहनते हैं भाई आप यहां जब हम आए थे क्या हमारे शरीर पर कपड़ा था नहीं लेकिन हमें कुछ कहना था जो हमारी बॉडी को छिपाए हमने पहले पत्तियों की थी हमने कपड़े का निर्यात किया हमने और चीजें बनाई देने लगे तो आज हम अपनी चॉइस और पतन के हिसाब से चीजें करते हैं तो ठीक वैसे जो यह बिंदिया है यह भी यार कहीं न कहीं एक सिंगार का हिस्सा है जो औरतों का सिंगार होता है चूड़ी कंगना सिंदूर मंगलसूत्र पायल बिंदिया और भी कई चीजें हैं इसमें सिंगार का हिस्सा है तो माथे पर ही बिंदी लगाने का एक जो है यह जो चालू खाता है ना अब आप चश्मा आंखों पर ही क्यों पहनते हैं आप चश्मा जो है दबंग की तरीके हमेशा कॉल में पीछे सीट आगे आपको पैसे लगा देना कि शोभा देता है आपकी आंखों को दूध को बचाता है तो ठीक वैसे ही माथे पर बिंदी भाई एक सटीक लगती है और वह जैसे हम लोग में मर्दों में टीका लगाते हैं तो माथे पर ही टिका लगाते हैं ना तो वैसे ही उनके में टीका लगाना नहीं उनके में बिंदी लगाना शोभा देता है पर एक सिंगार का हिस्सा है तो इस पर कोई सवाल बनता नहीं है

sir yah toh aisa sawaal ho gaya ki log kapda kyon pehente hain kapda kyon pehente hain bhai aap yahan jab hum aaye the kya hamare sharir par kapda tha nahi lekin hamein kuch kehna tha jo hamari body ko chipaye humne pehle pattiyo ki thi humne kapde ka niryat kiya humne aur cheezen banai dene lage toh aaj hum apni choice aur patan ke hisab se cheezen karte hain toh theek waise jo yah bindiya hai yah bhi yaar kahin na kahin ek shingar ka hissa hai jo auraton ka shingar hota hai chudi kangana sindoor mangalsutra payal bindiya aur bhi kai cheezen hain isme shingar ka hissa hai toh mathe par hi bindi lagane ka ek jo hai yah jo chaalu khaata hai na ab aap chashma aankho par hi kyon pehente hain aap chashma jo hai dabang ki tarike hamesha call mein peeche seat aage aapko paise laga dena ki shobha deta hai aapki aankho ko doodh ko bachata hai toh theek waise hi mathe par bindi bhai ek sateek lagti hai aur vaah jaise hum log mein mardon mein tika lagate hain toh mathe par hi tika lagate hain na toh waise hi unke mein tika lagana nahi unke mein bindi lagana shobha deta hai par ek shingar ka hissa hai toh is par koi sawaal banta nahi hai

सर यह तो ऐसा सवाल हो गया कि लोग कपड़ा क्यों पहनते हैं कपड़ा क्यों पहनते हैं भाई आप यहां जब

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!