भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है?...


user

Balwant Yadav

Journalist

6:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है यह प्रस्तुत सुनने में थोड़ा अजीब जरूर है परंतु है बड़ा सही भारत जैसे देश में भ्रष्टाचार उस दीमक की तरह से है जो दिन प्रतिदिन इस को खोखला करता जा रहा है और भ्रष्टाचार की जड़ कहीं न कहीं राजनीति से ही है शासक वर्ग से ही भ्रष्टाचार की जड़ शुरू हो रही है क्या कहना पिक्चर कि नहीं होगा कि आज भारत में ईमानदार व्यक्तियों की खोज किया जाए तो प्रतिशत में बहुत कम लोग ऐसे मिलेंगे जो वास्तव में ईमानदार बाकी भ्रष्टाचारियों की तो बात ही छोड़ दिया जाए आजादी के बाद अगर भारत में सबसे ज्यादा किसी का हरासमेंट हुआ है तो इंसान का नैतिक पतन नैतिक पर गिरा है हर इंसान अपने नैतिकता से इस कदर गिरता गया कि भ्रष्टाचार की झलक प्रत्येक व्यक्ति के अंदर देखने को मिलती है पंचायत चुनाव से लेकर बड़े-बड़े चुनाव में ऐसा देखा जाता है कि हर व्यक्ति पैसा लेकर वोट करना गलत व्यक्ति को वोट देना और वह व्यक्ति जो पैसा लगाकर चुनाव जीतता है वह क्या करता है सारी योजनाओं का सारे धन का गमन कर जाता है आज राजनीति व्यवसाय हो गया है पैसा लगाकर लोग चुनाव लड़ते हैं और चुनाव जीत जाने के बाद उस पैसे को निकालते हैं तू कहीं ना कहीं जनता का पैसा जो सरकार द्वारा जनता को दिया जाता है इस पर 30% यही जनता तक पहुंच पाता है बाकी सारा पैसा नेताओं अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा खा लिया जाता है कुछ कटु शब्द हैं जो नहीं कहना चाहिए लेकिन भारत में सरकारी नौकरियों में बैठे हुए लोग ऐसे हैं जो सरकार से तनख्वाह सिर्फ बैठने का लेते हैं काम करने के लिए उन्हें रिश्वत की जरूरत पड़ती है बिना रिश्वत लिए काम नहीं करते हैं वह सिर्फ कुर्सी पर बैठने का पैसा सरकार से लेते हैं काम करने का नहीं अगर वह किसी तरीके से पकड़ भी लिए जाते हैं तो अपने नाजायज तरीके से कमाई हुई दौलत का कुछ हिस्सा खर्च करके बड़ी आसानी से बचे जाते हैं तो कहेंगे नीचे से लेकर 1 चपरासी से लेकर और सबसे ऊंची कुर्सी पर बैठा हुआ व्यक्ति में कहीं कोई ऐसा नजर नहीं आता जी ना भ्रष्टाचार ना हो या जो भ्रष्टाचारी ना हो इसलिए हमारे अनुसार भ्रष्टाचार एक ऐसे दिमाग की तरह से है जो भारत जैसे देश को दिन प्रतिदिन खोखला करता जा रहा है उसके अस्तित्व को गिराता जा रहा है अगर भारत से भ्रष्टाचार को जड़ से मिटा दिया जाए तो मेरा दावा है कि पूरे विश्व में भारत की बराबरी करने वाला कोई भी देश नहीं होगा भारत विश्व गुरु रहा है विश्व गुरु रहेगा परंतु जब तक भारत में भ्रष्टाचार रहेगा इसका उत्थान नहीं हो सकता किसी कीमत पर नहीं हो सकता तो भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है या कहना बिल्कुल गलत नहीं है क्योंकि इस भ्रष्ट युग में कभी ऐसा समर्थक की ईमानदार ओके जग में भ्रष्टाचारियों का जीना मुहाल हो जाता था आज की स्थिति यह है इस भ्रष्ट समाज समाज में ईमानदार व्यक्ति नहीं जी सकता उसे किसी न किसी तरीके से हटा दिया जाता है तो भ्रष्टाचार ही इस देश की तरक्की का सबसे बड़ा बाधक है

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hai yah prastut sunne me thoda ajib zaroor hai parantu hai bada sahi bharat jaise desh me bhrashtachar us dimak ki tarah se hai jo din pratidin is ko khokhla karta ja raha hai aur bhrashtachar ki jad kahin na kahin raajneeti se hi hai shasak varg se hi bhrashtachar ki jad shuru ho rahi hai kya kehna picture ki nahi hoga ki aaj bharat me imaandaar vyaktiyon ki khoj kiya jaaye toh pratishat me bahut kam log aise milenge jo vaastav me imaandaar baki bharashtachariyo ki toh baat hi chhod diya jaaye azadi ke baad agar bharat me sabse zyada kisi ka harasment hua hai toh insaan ka naitik patan naitik par gira hai har insaan apne naitikta se is kadar girta gaya ki bhrashtachar ki jhalak pratyek vyakti ke andar dekhne ko milti hai panchayat chunav se lekar bade bade chunav me aisa dekha jata hai ki har vyakti paisa lekar vote karna galat vyakti ko vote dena aur vaah vyakti jo paisa lagakar chunav jitata hai vaah kya karta hai saari yojnao ka saare dhan ka gaman kar jata hai aaj raajneeti vyavasaya ho gaya hai paisa lagakar log chunav ladte hain aur chunav jeet jaane ke baad us paise ko nikalate hain tu kahin na kahin janta ka paisa jo sarkar dwara janta ko diya jata hai is par 30 yahi janta tak pohch pata hai baki saara paisa netaon adhikaariyo karmachariyon dwara kha liya jata hai kuch katu shabd hain jo nahi kehna chahiye lekin bharat me sarkari naukriyon me baithe hue log aise hain jo sarkar se tankhvaah sirf baithne ka lete hain kaam karne ke liye unhe rishwat ki zarurat padti hai bina rishwat liye kaam nahi karte hain vaah sirf kursi par baithne ka paisa sarkar se lete hain kaam karne ka nahi agar vaah kisi tarike se pakad bhi liye jaate hain toh apne najayaj tarike se kamai hui daulat ka kuch hissa kharch karke badi aasani se bache jaate hain toh kahenge niche se lekar 1 chaprasi se lekar aur sabse unchi kursi par baitha hua vyakti me kahin koi aisa nazar nahi aata ji na bhrashtachar na ho ya jo bhrashtachaari na ho isliye hamare anusaar bhrashtachar ek aise dimag ki tarah se hai jo bharat jaise desh ko din pratidin khokhla karta ja raha hai uske astitva ko girata ja raha hai agar bharat se bhrashtachar ko jad se mita diya jaaye toh mera daawa hai ki poore vishwa me bharat ki barabari karne vala koi bhi desh nahi hoga bharat vishwa guru raha hai vishwa guru rahega parantu jab tak bharat me bhrashtachar rahega iska utthan nahi ho sakta kisi kimat par nahi ho sakta toh bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hai ya kehna bilkul galat nahi hai kyonki is bhrasht yug me kabhi aisa samarthak ki imaandaar ok jag me bharashtachariyo ka jeena muhal ho jata tha aaj ki sthiti yah hai is bhrasht samaj samaj me imaandaar vyakti nahi ji sakta use kisi na kisi tarike se hata diya jata hai toh bhrashtachar hi is desh ki tarakki ka sabse bada badhak hai

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है यह प्रस्तुत सुनने में थोड़ा अजीब जरूर है प

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है देखिए भ्रष्टाचार भारत ही नहीं विश्व की समस्या है परंतु पिछले कुछ वर्षों में भ्रष्टाचार में काफी कमी आई है लोग अपने लालच की वजह से कई बार अपने लाभ की वजह से कुछ ऐसे कार्य करते हैं जो समाज को नुकसान बताते हैं उसमें वह पैसे को और बाकी चीजों की वजह से भ्रष्टाचार करते हैं लेकिन पिछले कुछ वर्षों से इसमें कमी आई है और यह भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो गया है ऐसा कहना बिल्कुल गलत होगा लेकिन हां धीरे-धीरे इसमें और कमी आ सकती है और ज्यादा जानता है

namaskar aapka prashna hai bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hai dekhiye bhrashtachar bharat hi nahi vishwa ki samasya hai parantu pichle kuch varshon me bhrashtachar me kaafi kami I hai log apne lalach ki wajah se kai baar apne labh ki wajah se kuch aise karya karte hain jo samaj ko nuksan batatey hain usme vaah paise ko aur baki chijon ki wajah se bhrashtachar karte hain lekin pichle kuch varshon se isme kami I hai aur yah bhrashtachar puri tarah se khatam ho gaya hai aisa kehna bilkul galat hoga lekin haan dhire dhire isme aur kami aa sakti hai aur zyada jaanta hai

नमस्कार आपका प्रश्न है भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है देखिए भ्रष्टाचार भा

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1326
WhatsApp_icon
user

Dharmendra Singh

Govt officer

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों हैं भारत में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार को मांग रहे हैं लेकिन मैं मानता हूं भ्रष्टाचार होता है क्यों है इसकी सबसे बड़ी वजह है कि हमारे देश में सबसे ज्यादा भ्रष्ट सरकारी कर्मचारियों और राजनेताओं को माना जाता है और राजनेता भी सबसे ज्यादा भ्रष्ट अपने कर्मचारियों को ही मानते हैं पर मैं समझता हूं इसमें सबसे ज्यादा दोषी सरकार हैं जो अपने कर्मचारियों की आज की महंगाई के अनुसार आशा वेतन प्रोवाइड नहीं कराती हैं जिससे उनको भ्रष्टाचार करने के लिए मजबूर होना पड़ता है अगर आज देखा जाए तो एक हमारे यहां जो श्रम आयोग है यह बताना योग बनते हैं वह भी खत्म कर दिए गए हैं जो आज के महंगाई के अकॉर्डिंग वेतन का निर्धारण करते थे आज मिनिमम वेतन अगर देखा जाए जिसके 2 मिनट बच्चे हैं पढ़ाई लिखाई घर-घर दवा दारू का बर्ताव का सारा खर्चा जोड़ा जाए तो लगभग जाकर के 35 से ₹40000 के ऊपर पहुंचता है और हमारे यहां मिनिमम वेतन जाकर के बहुत कम हैं 24 5000 और उससे कम भी बनता है इतने में लोगों को परिवार का पालन पढ़ाई लिखाई अच्छे से अच्छा दवा दारू संभव नहीं है इसलिए कर्मचारी भ्रष्टाचार करने लगते हैं और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के लिए हमारे राजनेता भी कम नहीं है वह भी गलत कर के लिए दबाव बनाते हैं तो जस्ट सर करते हैं और कर्मचारियों से भ्रष्टाचार कर करवाते हैं हम इंतजार एक ऐसी समस्या है इसको आसानी से दर्शना कदम के अंतर्गत अभी कदम के सकता है जब हम किसी के काम की सही बालू उसको प्रदान कर सके और उसको मौका ही ना मिले कि वह गलत करें

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hain bharat me sabse badi samasya bhrashtachar ko maang rahe hain lekin main maanta hoon bhrashtachar hota hai kyon hai iski sabse badi wajah hai ki hamare desh me sabse zyada bhrasht sarkari karmachariyon aur rajnetao ko mana jata hai aur raajneta bhi sabse zyada bhrasht apne karmachariyon ko hi maante hain par main samajhata hoon isme sabse zyada doshi sarkar hain jo apne karmachariyon ki aaj ki mahangai ke anusaar asha vetan provide nahi karati hain jisse unko bhrashtachar karne ke liye majboor hona padta hai agar aaj dekha jaaye toh ek hamare yahan jo shram aayog hai yah batana yog bante hain vaah bhi khatam kar diye gaye hain jo aaj ke mahangai ke according vetan ka nirdharan karte the aaj minimum vetan agar dekha jaaye jiske 2 minute bacche hain padhai likhai ghar ghar dawa daaru ka bartaav ka saara kharcha joda jaaye toh lagbhag jaakar ke 35 se Rs ke upar pahuchta hai aur hamare yahan minimum vetan jaakar ke bahut kam hain 24 5000 aur usse kam bhi banta hai itne me logo ko parivar ka palan padhai likhai acche se accha dawa daaru sambhav nahi hai isliye karmchari bhrashtachar karne lagte hain aur bhrashtachar ko badhawa dene ke liye hamare raajneta bhi kam nahi hai vaah bhi galat kar ke liye dabaav banate hain toh just sir karte hain aur karmachariyon se bhrashtachar kar karwaate hain hum intejar ek aisi samasya hai isko aasani se darshana kadam ke antargat abhi kadam ke sakta hai jab hum kisi ke kaam ki sahi baalu usko pradan kar sake aur usko mauka hi na mile ki vaah galat kare

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों हैं भारत में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार को म

Romanized Version
Likes  114  Dislikes    views  2049
WhatsApp_icon
play
user

KRISHNA KUMAR SINGH

Social Activist

0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्यार का सबसे बड़ा दोषी जनता है आप भ्रष्टाचार जो है ना जड़ से खत्म नहीं कर सकते कारण है कि सरकार तो ऊपर बैठी हुई है वह तो हाई लेवल को देखती है वह ज्यादा ही भ्रष्टाचार

pyar ka sabse bada doshi janta hai aap bhrashtachar jo hai na jad se khatam nahi kar sakte karan hai ki sarkar toh upar baithi hui hai vaah toh high level ko dekhti hai vaah zyada hi bhrashtachar

प्यार का सबसे बड़ा दोषी जनता है आप भ्रष्टाचार जो है ना जड़ से खत्म नहीं कर सकते कारण है कि

Romanized Version
Likes  158  Dislikes    views  2671
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि भारत में ही सही मायनों में करेक्शन के जन्मदाता को ज्यादा है इस पर अंकुश लगाने वाले ही नहीं चाहते कि करप्शन खत्म हो

kyonki bharat mein hi sahi maayano mein correction ke janmadata ko zyada hai is par ankush lagane waale hi nahi chahte ki corruption khatam ho

क्योंकि भारत में ही सही मायनों में करेक्शन के जन्मदाता को ज्यादा है इस पर अंकुश लगाने वाले

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  244
WhatsApp_icon
user

Zulfiqar Waddo

Journalist

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की देश की भ्रष्टाचार क्यों है क्योंकि यहां के जो अधिकारी के होते हैं वह कुछ पैसे लेकर काम कर लेते हैं लोग होते हैं भ्रष्टाचार नहीं है कुछ लोग लेते हैं कि पूरा देश भ्रष्टाचार नहीं होता है कुछ लोग होंगे एक भ्रष्टाचारी उसके हमारे देश का नाम खराब हो रहा है यह गलत बात है

bharat ki desh ki bhrashtachar kyon hai kyonki yahan ke jo adhikari ke hote hain vaah kuch paise lekar kaam kar lete hain log hote hain bhrashtachar nahi hai kuch log lete hain ki pura desh bhrashtachar nahi hota hai kuch log honge ek bhrashtachaari uske hamare desh ka naam kharab ho raha hai yah galat baat hai

भारत की देश की भ्रष्टाचार क्यों है क्योंकि यहां के जो अधिकारी के होते हैं वह कुछ पैसे लेकर

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  436
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नए-नए इस बात पर मैं मानता हूं हमारी हमारी सोच ही हमारी और ठीक है मैं मानता हूं कि मोदी की बात नहीं कर रहा किसी ने कहा कि मुझे बंद कर देना होता है सोच सोच करते हैं इतिहास में भारत आपको आप तरक्की के रास्ते पर कॉल करना है छोटा सा उदाहरण देना चाहूंगा अपना निकालकर उसका हिंदी वर्जन भी निकाला है और वह भी अमेजॉन पर बुक कर सकते और संजय तिवारी अगर आप मेरा पूरा नाम करेंगे नाइंथ बुक मिनिमम यदि बात बताने का प्रयास किया है कि हमारे लिए हमारी सोच को बेहतर बनाते हैं तुम हम क्या नहीं कर सकते एक छोटा सा उदाहरण है कि क्या 90 दिनों में लाइन की के कैलेंडर के बीच में कुछ चैलेंज की बात आई थी कोई चैलेंज कर रहा था कि वह ठंडा पानी जो अपने होते हैं उसमें हमारे देश के समाज के हित की बात करें हमारे समाज के होगा और आपको एक से बढ़कर एक जीवन और समझने में आएंगी दिलकश लगेगी और कुछ भी करूंगी कि हमारे देश की एक दिव्यांग महिला हैं जिन्होंने विकलांग होने के बावजूद माउंट एवरेस्ट की तमाम मुबारक हो बहुत देर तक सभी कहानियां है क्या हम हमारे देश को बेहतर बनाने के लिए योजनाएं हैं मोदी जी ने स्वच्छ भारत शौचालय के द्वारा किसानों के लिए मेघवालों की बात कर रहे हैं किसानों को कृषि मंडी वाला दीजिए हम उस में समाज के तौर पर हम अगर हमारी सोच को बड़ा कैसे करते हैं विचार मत अपने विजयादशमी के उद्बोधन में कहते हैं कि समाज को कुछ करना होगा सरकारें तो आती है काम करती समाज को आगे बढ़ना होगा

naye naye is baat par main manata hoon hamari hamari soch hi hamari aur theek hai manata hoon ki modi ki baat nahi kar raha kisi ne kaha ki mujhe band kar dena hota hai soch soch karte hain itihas mein bharat aapko aap tarakki ke raste par call karna hai chota sa udaharan dena chahunga apna nikalakar uska hindi version bhi nikaala hai aur vaah bhi amazon par book kar sakte aur sanjay tiwari agar aap mera pura naam karenge ninth book minimum yadi baat batane ka prayas kiya hai ki hamare liye hamari soch ko behtar banate hain tum hum kya nahi kar sakte ek chota sa udaharan hai ki kya 90 dino mein line ki ke calendar ke beech mein kuch challenge ki baat I thi koi challenge kar raha tha ki vaah thanda paani jo apne hote hain usme hamare desh ke samaj ke hit ki baat kare hamare samaj ke hoga aur aapko ek se badhkar ek jeevan aur samjhne mein aayengi dilkash lagegi aur kuch bhi karungi ki hamare desh ki ek divyang mahila hain jinhone viklaang hone ke bawajud mount EVEREST ki tamaam mubarak ho bahut der tak sabhi kahaniya hai kya hum hamare desh ko behtar banane ke liye yojanaye hain modi ji ne swachh bharat shauchalay ke dwara kisano ke liye meghvalon ki baat kar rahe hain kisano ko krishi mandi vala dijiye hum us mein samaj ke taur par hum agar hamari soch ko bada kaise karte hain vichar mat apne vijayadashami ke udbodhan mein kehte hain ki samaj ko kuch karna hoga sarkaren toh aati hai kaam karti samaj ko aage badhana hoga

नए-नए इस बात पर मैं मानता हूं हमारी हमारी सोच ही हमारी और ठीक है मैं मानता हूं कि मोदी की

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  562
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार इसलिए है क्योंकि अगर आज तक फैला हुआ है हर छोटे से छोटे काम में भ्रष्टाचार शिष्टाचार माना जाने लगा के काम नहीं होते इसलिए भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar isliye hai kyonki agar aaj tak faila hua hai har chote se chote kaam mein bhrashtachar shishtachar mana jaane laga ke kaam nahi hote isliye bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार इसलिए है क्योंकि अगर आज तक फैला हुआ है हर छोटे से छोटे

Romanized Version
Likes  247  Dislikes    views  3354
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की क्यों दोस्तों भ्रष्टाचार इसलिए सबसे महत्व है क्योंकि हमारे देश पहले सोने की चिड़िया कहा जाता था क्यों अंग्रेजो ने लूटा यहां से कुछ लोग जो सेट किए तो भारत देश को लूट सके और आज भी हुई चीज हो रहा है इतना सपोर्ट नहीं कर रहे बस में चढ़ी नहीं मिटा रहे इसलिए हमारे देश का धरोहर बिक रहे हैं और हर एक नौकरी में घुस लग रहे हैं जो अच्छा व्यक्ति पढ़ने लिखने वाला उसको पर ही मिलना है कोई भी सरकार का योजना उस व्यक्ति गरीब तक नहीं पहुंच रहा है टाइम आवास योजना हो या कोई भी योजना है अगर वहां तक पहुंच ही जा रहा है तो लोग उसमें से भी पैसे ले रहे कोई भी सरकारी योजना है तो उसमें के जो उसके नीचे काम करने वाले हैं सब पैसे ले रहे हैं जो कि ऐसा नहीं करना चाहिए चाहे बैंकों या डॉक्टरी लाइन हो कहीं भी ऐसा कोई क्षेत्र यहां पर घोषणा लगता हो सब जगह लगता है इसलिए हम ही रिक्वेस्ट करेंगे कि आप घूस देना बंद करें भट्टाचार्य मुक्त देश बनाएं इस संसार में एक अच्छाइयां पहले लोग आगे बढ़ें एक अच्छे इंसान को ही अच्छा जॉब मिल सके जो उस लायक हो चाहे मैं क्यों ना हो चाहे और कोई क्यों ना हो हम भी रिक्वेस्ट है क्योंकि भट्टाचार्य की सबसे बड़ा देश बन चुका है नहीं तो शायद हर एक व्यक्ति को आज बेरोजगार नहीं होता रोजगार होता है और देश में विकास की तरफ जाता तो दोस्तों आज आपसे भी कुछ कहना चाहेंगे कि जरूर आप आप अपने घर से अपने समाज से अपने गांव से स्टार्ट करें थोड़ा-थोड़ा करेंगे तो 1 दिन जरुर पूरी बकेट भर सकते हैं थैंक यू

hello doston aap ka question hai bharat ki sabse baadi samasya bhrashtachar ki kyon doston bhrashtachar isliye sabse mahatva hai kyonki hamare desh pehle sone ki chidiya kaha jata tha kyon angrejo ne loota yahan se kuch log jo set kiye toh bharat desh ko loot sake aur aaj bhi hui cheez ho raha hai itna support nahi kar rahe bus mein chadhi nahi mita rahe isliye hamare desh ka dharohar bik rahe hai aur har ek naukri mein ghus lag rahe hai jo accha vyakti padhne likhne vala usko par hi milna hai koi bhi sarkar ka yojana us vyakti garib tak nahi pohch raha hai time aawas yojana ho ya koi bhi yojana hai agar wahan tak pohch hi ja raha hai toh log usme se bhi paise le rahe koi bhi sarkari yojana hai toh usme ke jo uske niche kaam karne waale hai sab paise le rahe hai jo ki aisa nahi karna chahiye chahen bankon ya doctari line ho kahin bhi aisa koi kshetra yahan par ghoshana lagta ho sab jagah lagta hai isliye hum hi request karenge ki aap ghus dena band kare bhattacharya mukt desh banaye is sansar mein ek achaiya pehle log aage badhe ek acche insaan ko hi accha job mil sake jo us layak ho chahen main kyon na ho chahen aur koi kyon na ho hum bhi request hai kyonki bhattacharya ki sabse bada desh ban chuka hai nahi toh shayad har ek vyakti ko aaj berozgaar nahi hota rojgar hota hai aur desh mein vikas ki taraf jata toh doston aaj aapse bhi kuch kehna chahenge ki zaroor aap aap apne ghar se apne samaj se apne gaon se start kare thoda thoda karenge toh 1 din zaroor puri bucket bhar sakte hai thank you

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की क्यों दोस्तों भ्रष्ट

Romanized Version
Likes  135  Dislikes    views  905
WhatsApp_icon
user

Kr Wahid Ali

Journalist

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की इसलिए है कि यहां कोई गरीब है तुम्हारी भी है और अमीर है तो वह ज्यादा अमीर होता जा रहा है कारण क्या है उसका कि सरकारी तंत्र में जो लोग बैठे हैं उनको अच्छी तनख्वाह मिल रही है अच्छी सैलरी मिल रही है बावजूद इसके उनकी नजरें भ्रष्टाचार कर पैसे कमाने की रहती है क्योंकि उनकी जरूरतें अधिक हो जाती हैं कि बहुत ज्यादा पैसा कमाने पर निर्भर रहते हैं और उसका मुख्य कारण यह भी है कि जो नौकरी हम पाते हैं या सरकारी विभाग में जो नौकरी लगती हैं उसे 50% से ऊपर तू नौकरियां सेटिंग से लगाई जाती है समुद्र से 2000000 रुपए खर्च करके आता है तो आगे जब पैसे खर्च करेगा तो कम आएगा कहां से उसे नौकरी से कब आएगा और वह भ्रष्टाचार करेगा क्योंकि उस पैसे पर करना होता है जल्दी तो कहीं ना कहीं यह भी कारण है अगर पूर्ण रूप से टेस्ट देकर और पारदर्शिता के साथ नौकरी न कुछ अद्भुत से चर्बी कम हो क्योंकि वहां कम से कम किसी पद पर कोई टैलेंटेड बंदा है या जो जो मैं कोलिफिकेशन उसकी बहुत हाई हो सकता है कि वह भर्ती कर कम करें लेकिन अब एजुकेशन की मरने की शिक्षा की गुणवत्ता बिना देखे ही कुछ बंदे जो मर जाते हैं जितेंद्र को गंदा करते हैं इसलिए पारदर्शिता बहुत जरूरी है लेकिन जो पॉसिबल नहीं है देश के अंदर

hamare desh me sabse badi samasya bhrashtachar ki isliye hai ki yahan koi garib hai tumhari bhi hai aur amir hai toh vaah zyada amir hota ja raha hai karan kya hai uska ki sarkari tantra me jo log baithe hain unko achi tankhvaah mil rahi hai achi salary mil rahi hai bawajud iske unki najarein bhrashtachar kar paise kamane ki rehti hai kyonki unki jaruratein adhik ho jaati hain ki bahut zyada paisa kamane par nirbhar rehte hain aur uska mukhya karan yah bhi hai ki jo naukri hum paate hain ya sarkari vibhag me jo naukri lagti hain use 50 se upar tu naukriyan setting se lagayi jaati hai samudra se 2000000 rupaye kharch karke aata hai toh aage jab paise kharch karega toh kam aayega kaha se use naukri se kab aayega aur vaah bhrashtachar karega kyonki us paise par karna hota hai jaldi toh kahin na kahin yah bhi karan hai agar purn roop se test dekar aur pardarshita ke saath naukri na kuch adbhut se charbi kam ho kyonki wahan kam se kam kisi pad par koi talented banda hai ya jo jo main qualification uski bahut high ho sakta hai ki vaah bharti kar kam kare lekin ab education ki marne ki shiksha ki gunavatta bina dekhe hi kuch bande jo mar jaate hain jitendra ko ganda karte hain isliye pardarshita bahut zaroori hai lekin jo possible nahi hai desh ke andar

हमारे देश में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की इसलिए है कि यहां कोई गरीब है तुम्हारी भी है औ

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  508
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अत्याचार का मुख्य कारण राजनेता कर्मचारी एवं आम जनता भी हमें सबसे बड़ा दोषी आम जनता को मानता हूं क्योंकि आम जनता अपने आप को भ्रष्टाचार से अलग होना चाहे और भ्रष्टाचार का विरोध करे तो भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा भारत में भ्रष्टाचारी बहुत बड़ी समस्या है इसके लिए ना तो कोई राजनेता कदम उठाते हैं ना कोई पत्रकार है ना तो कोई मतलब किसी सरकारी कर्मचारी या फिर आम जनता जनता भ्रष्टाचार

atyachar ka mukhya karan raajneta karmchari evam aam janta bhi hamein sabse bada doshi aam janta ko maanta hoon kyonki aam janta apne aap ko bhrashtachar se alag hona chahen aur bhrashtachar ka virodh kare toh bhrashtachar khatam ho jaega bharat me bhrashtachaari bahut badi samasya hai iske liye na toh koi raajneta kadam uthate hain na koi patrakar hai na toh koi matlab kisi sarkari karmchari ya phir aam janta janta bhrashtachar

अत्याचार का मुख्य कारण राजनेता कर्मचारी एवं आम जनता भी हमें सबसे बड़ा दोषी आम जनता को मानत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है इस वजह से इस सब अपने अपने निजी स्वार्थ में जी रहे हैं और ज्यादा कमाना चाह रहे हैं इसलिए भ्रष्टाचार बढ़ रहा है जब तक अपने स्वार्थ से बाहर नहीं आएंगे तब तक भ्रष्टाचार समाप्त नहीं होगा

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hai is wajah se is sab apne apne niji swarth me ji rahe hain aur zyada kamana chah rahe hain isliye bhrashtachar badh raha hai jab tak apne swarth se bahar nahi aayenge tab tak bhrashtachar samapt nahi hoga

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है इस वजह से इस सब अपने अपने निजी स्वार्थ में

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  827
WhatsApp_icon
user

Amrendra Kant

Journalist and Reporter

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब तक राजनेता भ्रष्टाचार में लिप्त रहेंगे हमारा देश भ्रष्टाचार के चंगुल में फंसा रहेगा भ्रष्टाचार हम हमारी जनता हमारे आसपास हमारे मित्र हमारे सहयोगी फैलाते मेरा काम जल्दी हो इसके लिए भ्रष्टाचार होता भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए ठोस निर्णय लेना होगा कोई भी सरकार हो कहीं की भी सरकार हो ठोस निर्णय नहीं लेगी तो भ्रष्टाचारियों चलता रहेगा और भ्रष्टाचार नियंत्रण कोई सरकार नहीं कर पाए

jab tak raajneta bhrashtachar me lipt rahenge hamara desh bhrashtachar ke changul me fansa rahega bhrashtachar hum hamari janta hamare aaspass hamare mitra hamare sahyogi failate mera kaam jaldi ho iske liye bhrashtachar hota bhrashtachar par ankush lagane ke liye thos nirnay lena hoga koi bhi sarkar ho kahin ki bhi sarkar ho thos nirnay nahi legi toh bharashtachariyo chalta rahega aur bhrashtachar niyantran koi sarkar nahi kar paye

जब तक राजनेता भ्रष्टाचार में लिप्त रहेंगे हमारा देश भ्रष्टाचार के चंगुल में फंसा रहेगा भ्र

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भ्रष्टाचार भारत की समस्या नहीं भारत के साथ-साथ और भी दूसरे मुल्कों की समस्या है भ्रष्टाचार भारत में भ्रष्टाचार को इतनी अहमियत ना दी जाए और भी बहुत मुद्दे हैं रोजगार के मुद्दे भी हैं भारत में एजुकेशन के मुद्दे भी हैं भारत में इनको भी प्रमुखता से लिया जाइए प्रमुखता से हैं ना कि जो भ्रष्टाचार भारत में प्रमुखता से भ्रष्टाचार तो सब जगह की बात है इसको खत्म नहीं किया जा सकता अगर आप लोग और हम लोग प्रयास करेंगे तो उसको कम किया जाए

bhrashtachar bharat ki samasya nahi bharat ke saath saath aur bhi dusre mulko ki samasya hai bhrashtachar bharat me bhrashtachar ko itni ahamiyat na di jaaye aur bhi bahut mudde hain rojgar ke mudde bhi hain bharat me education ke mudde bhi hain bharat me inko bhi pramukhta se liya jaiye pramukhta se hain na ki jo bhrashtachar bharat me pramukhta se bhrashtachar toh sab jagah ki baat hai isko khatam nahi kiya ja sakta agar aap log aur hum log prayas karenge toh usko kam kiya jaaye

भ्रष्टाचार भारत की समस्या नहीं भारत के साथ-साथ और भी दूसरे मुल्कों की समस्या है भ्रष्टाचार

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की समस्या यह बहुत ही बात बोली आपने क्वेश्चन अच्छा है आपका के भ्रष्टाचार भारत में सबसे ज्यादा है अगर भारत से भ्रष्टाचार खत्म हो जाए तो वह दिन दूर नहीं कि जो हमारी कारू जापान चीन यह देश जो गति में आगे बढ़ रहे हैं इंडिया भी उसी गति आगे बढ़ेगा लेकिन यहां पर घर कम नहीं होता है इंडिया का पैसा है इंडिया के पास इतना सारा टैक्स कलेक्शन आता है बहुत सारी चीजें होती है लेकिन क्या है कि जो वहां से जो डिसटीब्यूट होता है उभरते एमपी को दिया जाता है या आपका विधायक को दिया जाता है पार्षद को दिया जाता है ग्राम पंचायत में दिया जाता है तू जहां लगना चाहिए ऊपर से आता 10000000 तो नीचे रह जाता है ₹100000 भूत का सही से उपयोग नहीं हो पाता है उसी कारण वे चर्चा ज्यादा फैल रही आपको क्या लगता है कि जिसने यह विधायक जो भी रहता है मैं किसी को ना महीना चाहता क्या यह सब दूध के धुले किसी गरीब को देखें अपने नेता बनते हैं वही जो गरीबो रियल में जो इस तरीके से लाल बहादुर शास्त्री और बहुत सारे उदाहरण है जो सच में गरीब थी और उन्हें अपनी जैसे कि एपीजे अब्दुल कलाम सच में अकेली डर से अटल बिहारी वाजपेई इंडिया के अंदर क्या लगता है आप लोगों के हैं जिन्हें किसी से मतलब नहीं है घर में क्या होगा परिवार में क्या है वहां पर क्या अपनी जैसा है वह ठीक है वह उसी हाल में उसे मोह माया से ज्यादा मतलब नहीं है लेकिन यहां तो इतना ऐसे हर चीज क्यों मतलब ही नहीं है इतना एस दिया जा रहा इलेक्ट्रिसिटी बिल फ्री दिया जा रहा है मोबाइल में फ्री दिया जा रहा है गाड़ी जो लोग है ना सच में रियलिटी है कि इंडिया के पीपल रिजर्व करते हैं बुरा मत मानना जी जरूर करते हैं क्योंकि जहां पर यह बात सामने आती है ना कि यह मेरे चाचा का लड़का है या फिर रिश्तेदार क्या वह उसका है अगर उस कंडीशन में आप बोल कर दो ना बहुत गलत है आपको बेसिक से कोई अनजान है आपका दुश्मन क्यों नहीं है अगर वह आपको लगता है कि यह बंदा आपके इलाके का आपके गांव का पर शहर का वार्ड का आपके क्षेत्र का विकास करा सकता है तो मुझे लगता क्या आपको उसको लगता कि आपको उसको वोट करना चाहिए जिससे दुश्मन है वह आप ऐसे लोगों को वोट करते हैं और पार्टी के नाम पर बीजेपी अच्छी पार्टी है तो बीजेपी को वोट कर दिया कंडे कंडे का कोई भी कांग्रेसी है तो कांग्रेस को वोट कर दिया है उसको भी कोई कैंडिडेट नहीं थे आप कैंडिडेट को देखकर वोट करना चाहिए अगर वह अच्छा है ना तो आपके लिए लड़के आगे जाकर अपनी बात रखते आपके लिए फल आ सकता है आपके इलाके में विकास करा सकता है अगर आपने अच्छे व्यक्ति को वोट नहीं किया तो वह आपका अपना विकास नहीं रखता हो पाएगा कभी आप अपनी बात जिसके सामने बेझिझक होकर उसके सामने रख सकते हैं आपकी वह हेल्प कर सकता है नहीं टाइम आधी रात को बस यार तभी खत्म होगा जब खुदा आपको उसको चाहोगे अगर आपके नहीं चाहते यहां जो भी चल रहा है जैसे सलाइजो कंडीशन चल बेटी सब अच्छा है तो मुझे नहीं लगता कि भ्रष्टाचार कभी खत्म होगा

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar ki samasya yah bahut hi baat boli aapne question accha hai aapka ke bhrashtachar bharat me sabse zyada hai agar bharat se bhrashtachar khatam ho jaaye toh vaah din dur nahi ki jo hamari karu japan china yah desh jo gati me aage badh rahe hain india bhi usi gati aage badhega lekin yahan par ghar kam nahi hota hai india ka paisa hai india ke paas itna saara tax collection aata hai bahut saari cheezen hoti hai lekin kya hai ki jo wahan se jo distibyut hota hai ubharte MP ko diya jata hai ya aapka vidhayak ko diya jata hai parshad ko diya jata hai gram panchayat me diya jata hai tu jaha lagna chahiye upar se aata 10000000 toh niche reh jata hai Rs bhoot ka sahi se upyog nahi ho pata hai usi karan ve charcha zyada fail rahi aapko kya lagta hai ki jisne yah vidhayak jo bhi rehta hai main kisi ko na mahina chahta kya yah sab doodh ke dhule kisi garib ko dekhen apne neta bante hain wahi jo garibo real me jo is tarike se laal bahadur shastri aur bahut saare udaharan hai jo sach me garib thi aur unhe apni jaise ki apj abdul kalam sach me akeli dar se atal bihari vajpayee india ke andar kya lagta hai aap logo ke hain jinhen kisi se matlab nahi hai ghar me kya hoga parivar me kya hai wahan par kya apni jaisa hai vaah theek hai vaah usi haal me use moh maya se zyada matlab nahi hai lekin yahan toh itna aise har cheez kyon matlab hi nahi hai itna S diya ja raha electricity bill free diya ja raha hai mobile me free diya ja raha hai gaadi jo log hai na sach me reality hai ki india ke pipal reserve karte hain bura mat manana ji zaroor karte hain kyonki jaha par yah baat saamne aati hai na ki yah mere chacha ka ladka hai ya phir rishtedar kya vaah uska hai agar us condition me aap bol kar do na bahut galat hai aapko basic se koi anjaan hai aapka dushman kyon nahi hai agar vaah aapko lagta hai ki yah banda aapke ilaake ka aapke gaon ka par shehar ka ward ka aapke kshetra ka vikas kara sakta hai toh mujhe lagta kya aapko usko lagta ki aapko usko vote karna chahiye jisse dushman hai vaah aap aise logo ko vote karte hain aur party ke naam par bjp achi party hai toh bjp ko vote kar diya kande kande ka koi bhi congressi hai toh congress ko vote kar diya hai usko bhi koi candidate nahi the aap candidate ko dekhkar vote karna chahiye agar vaah accha hai na toh aapke liye ladke aage jaakar apni baat rakhte aapke liye fal aa sakta hai aapke ilaake me vikas kara sakta hai agar aapne acche vyakti ko vote nahi kiya toh vaah aapka apna vikas nahi rakhta ho payega kabhi aap apni baat jiske saamne bejhijhak hokar uske saamne rakh sakte hain aapki vaah help kar sakta hai nahi time aadhi raat ko bus yaar tabhi khatam hoga jab khuda aapko usko chahoge agar aapke nahi chahte yahan jo bhi chal raha hai jaise salaijo condition chal beti sab accha hai toh mujhe nahi lagta ki bhrashtachar kabhi khatam hoga

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार की समस्या यह बहुत ही बात बोली आपने क्वेश्चन अच्छा है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Cm Chouhan

Teacher

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है क्योंकि आज कहीं ना कहीं छोटे स्तर से लगाकर बड़े स्तर तक हर व्यक्ति भ्रष्ट लोगों में जकड़ा हुआ है देखा जाए तो पंचायत स्तर ग्राम पंचायत की बात कर रहा हूं मैं ग्राम पंचायत स्तर पर छोटे-मोटे काम कराने के लिए कभी सचिव इन को रिश्वत दी बड़े स्तर पर चाहे स्वास्थ्य विभाग और इन को रिश्वत देकर काम करवाना चाहे किसी केस के दरमियान बात करें तो वकील या जज या इनको पैसे देकर अपना काम निकलवाना को खरीद के अपना काम करवाना व्यक्ति हमेशा ऊपर नहीं जाता मार्च को भी किस कारण अगर समाज ऐसे पीछे जाएगा तू देश में से जाएगा इसीलिए यह देश की सबसे बड़ी समस्या है थैंक यू

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hai kyonki aaj kahin na kahin chote sthar se lagakar bade sthar tak har vyakti bhrasht logo me jakada hua hai dekha jaaye toh panchayat sthar gram panchayat ki baat kar raha hoon main gram panchayat sthar par chote mote kaam karane ke liye kabhi sachiv in ko rishwat di bade sthar par chahen swasthya vibhag aur in ko rishwat dekar kaam karwana chahen kisi case ke darmiyaan baat kare toh vakil ya judge ya inko paise dekar apna kaam nikalwana ko kharid ke apna kaam karwana vyakti hamesha upar nahi jata march ko bhi kis karan agar samaj aise peeche jaega tu desh me se jaega isliye yah desh ki sabse badi samasya hai thank you

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है क्योंकि आज कहीं ना कहीं छोटे स्तर से लगाकर बड़े स्त

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user

Startsammer

Youtuber

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि भारत में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है देखिए तो करने दो अपने कहा कहा भ्रष्टाचार के जो है वह कुछ हम करते हैं जैसे कि हमें लाइन में आवेदन कुछ पैसे दे देना कभी अपने शिफाली सेवा देना कि भाई यह मेरा दोस्त है मैं चाचा का लड़का है मामा है ताया है जो भी सीधे हैं आप लिख लो जल्दी काम करने की कोशिश करते हो तो स्टार्टिंग से होती है अब नहीं के बाद क्या होता है कि मंगली की लाइन लगी हुई है ऑफिसर है वह बाहर खड़ा है अंदर आया बैठा अपनी डिटेल निकला के लोगों को मत जानू हम पहले आए और उसको पहले पहले काम मिल गया उसी का काम तो करवा दिया तो यहां पर क्या होता है तो बाकी लिखता नहीं है क्या करेंगे बाकी पैसे देंगे उसको इसी वजह से वह भी आगे अविनाश जाते हैं छोटे घर में एक घंटा खेलूंगा छोड़ देता हूं अब यह बात आती है कि सरकार के पास तो नहीं होता सब तो मिल नहीं सका इतने करीब 2 दिन की बेसिक निर्बाचीतो कहां से देगी वह पीछे खड़ी रहेगी और इसी को बसेरा कहते हैं

aapka sawaal hai ki bharat me sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hai dekhiye toh karne do apne kaha kaha bhrashtachar ke jo hai vaah kuch hum karte hain jaise ki hamein line me avedan kuch paise de dena kabhi apne shifali seva dena ki bhai yah mera dost hai main chacha ka ladka hai mama hai taya hai jo bhi sidhe hain aap likh lo jaldi kaam karne ki koshish karte ho toh starting se hoti hai ab nahi ke baad kya hota hai ki mangali ki line lagi hui hai officer hai vaah bahar khada hai andar aaya baitha apni detail nikala ke logo ko mat janu hum pehle aaye aur usko pehle pehle kaam mil gaya usi ka kaam toh karva diya toh yahan par kya hota hai toh baki likhta nahi hai kya karenge baki paise denge usko isi wajah se vaah bhi aage avinash jaate hain chote ghar me ek ghanta khelunga chhod deta hoon ab yah baat aati hai ki sarkar ke paas toh nahi hota sab toh mil nahi saka itne kareeb 2 din ki basic nirbachito kaha se degi vaah peeche khadi rahegi aur isi ko basera kehte hain

आपका सवाल है कि भारत में सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है देखिए तो करने दो अपने कहा

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Prem Verma

Journalist

2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने देश भारत में भ्रष्टाचार बड़ी समस्या इस वजह से क्योंकि हम लोग जो है बहुत अच्छे लोग हैं हमारे अंदर जो दया भावनाएं हैं जो किसी की मदद करने की भावना है वह बहुत ज्यादा है जब हम किसी को काम करते हुए देखते हैं बहुत ज्यादा काम करते हैं हालांकि इसकी ड्यूटी होती है तो हमारे दिल और चाचा जाती है हमारे जेहन में हमारे अंदर जो है आती है यार भैया काम बहुत करना बहुत मेहनत कर रहा है अरे भाई उसका जो है जो मेहनत का मूल्य है उसकी जो सैलरी है उसकी कीमत है सरकार देती है तो फिर भी हमारे अंदर भावना आती है नहीं आ रही तो बहुत अच्छा कर रहा है तू यह जो है यह अच्छी भावना हमारे अंदर है उस वजह से हम उसका आदर करते हैं मान करते थे यह पुराने समय में भी चला रहा हमारा हमने कुछ देखा तो नहीं है पर जो पढ़ते हैं या सुनते हैं सम्मान करते हैं उसका मार्ग दिया सम्मान कह दीजिए उस्मान सम्मान की जो परिभाषा बदलते बदलते आज रिश्वत बदल गई है पहले जो हम देते थे उसे मान सम्मान कहा जाता था अब यह जो रिश्वतखोर लोग हैं इसे अपना हक समझने लगते हैं और जब से उनका हक समझा है तो इन्होंने हम लोगों की जो है कमजोर नब्ज पकड़ रखी है उसका फायदा उठाते हैं यह भ्रष्टाचार जो है फैला रहे हैं अक्सर आपने देखा हो गया सुना होगा किसी मैच में या कोई काम करवाने के लिए क्षमा भी घुस चलती है पर एक इंसान ऐसा होता है जो उस खोरी के खिलाफ आवाज उठाता है उसका काम भी हो जाता है हर आदमी अपनी लाइफ में इतना बिजी है कि वह आवाज नहीं उठाना चाहता इस वजह से यह समस्या जो बढ़ती ही जा रही है इसे हम लोग मिलजुलकर ही खत्म कर सकते हैं जैसे कहते हैं चैन बनती है आवाज उठाएगा तो दूसरा सपोर्ट करें ऐसे करते-करते अपने अंदर की अच्छाई को जरूर रखें पर भ्रष्टाचार के प्रति जगह अपनी अच्छाई मत वो करें भ्रष्टाचार को इग्नोर ही करें और इसे रोकने के लिए जो आप कर सकते हैं वह कीजिए

apne desh bharat mein bhrashtachar badi samasya is wajah se kyonki hum log jo hai bahut acche log hain hamare andar jo daya bhaavnaye hain jo kisi ki madad karne ki bhavna hai vaah bahut zyada hai jab hum kisi ko kaam karte hue dekhte hain bahut zyada kaam karte hain halaki iski duty hoti hai toh hamare dil aur chacha jaati hai hamare jehan mein hamare andar jo hai aati hai yaar bhaiya kaam bahut karna bahut mehnat kar raha hai are bhai uska jo hai jo mehnat ka mulya hai uski jo salary hai uski kimat hai sarkar deti hai toh phir bhi hamare andar bhavna aati hai nahi aa rahi toh bahut accha kar raha hai tu yah jo hai yah achi bhavna hamare andar hai us wajah se hum uska aadar karte hain maan karte the yah purane samay mein bhi chala raha hamara humne kuch dekha toh nahi hai par jo padhte hain ya sunte hain sammaan karte hain uska marg diya sammaan keh dijiye usman sammaan ki jo paribhasha badalte badalte aaj rishwat badal gayi hai pehle jo hum dete the use maan sammaan kaha jata tha ab yah jo rishwatkhor log hain ise apna haq samjhne lagte hain aur jab se unka haq samjha hai toh inhone hum logo ki jo hai kamjor nabj pakad rakhi hai uska fayda uthate hain yah bhrashtachar jo hai faila rahe hain aksar aapne dekha ho gaya suna hoga kisi match mein ya koi kaam karwane ke liye kshama bhi ghus chalti hai par ek insaan aisa hota hai jo us khori ke khilaf awaaz uthaata hai uska bhi ho jata hai har aadmi apni life mein itna busy hai ki vaah awaaz nahi uthana chahta is wajah se yah samasya jo badhti hi ja rahi hai ise hum log miljulakar hi khatam kar sakte hain jaise kehte hain chain banti hai awaaz uthayega toh doosra support kare aise karte karte apne andar ki acchai ko zaroor rakhen par bhrashtachar ke prati jagah apni acchai mat vo kare bhrashtachar ko ignore hi kare aur ise rokne ke liye jo aap kar sakte hain vaah kijiye

अपने देश भारत में भ्रष्टाचार बड़ी समस्या इस वजह से क्योंकि हम लोग जो है बहुत अच्छे लोग हैं

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश की एक बहुत बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है क्योंकि भ्रष्टाचार की वजह से ही अलग-अलग क्षेत्रों में सही तरीके से काम नहीं हो पाता और जो लोग भ्रष्टाचार में लिप्त होते हैं वह सिर्फ खुद के फायदे के बारे में सोचते हैं बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो बड़े-बड़े पदों पर बैठे हैं और अपने पद का दुरुपयोग करके खूब सारे पैसे कमाने के बारे में सोचते रहते हैं उन्हें देश की आम जनता से कोई लेना देना नहीं रहता है तू इस तरह से हम समझ सकते हैं कि अगर हमारे देश में भ्रष्टाचार की समस्या समाप्त हो जाए तो बहुत जो दूसरी समस्याएं हैं वह भी खत्म हो सकती हैं जैसे कि गरीबी बेरोजगारी इस तरह की समस्याएं भ्रष्टाचार की वजह से और भी अधिक बढ़ गई हैं तो हम मान सकते हैं कि भ्रष्टाचार आज हमारे देश की सबसे प्रमुख समस्या बन चुकी है

hamare desh ki ek bahut badi samasya bhrashtachar hai kyonki bhrashtachar ki wajah se hi alag alag kshetro mein sahi tarike se kaam nahi ho pata aur jo log bhrashtachar mein lipt hote hain vaah sirf khud ke fayde ke bare mein sochte hain bahut saare aise log hain jo bade bade padon par baithe hain aur apne pad ka durupyog karke khoob saare paise kamane ke bare mein sochte rehte hain unhe desh ki aam janta se koi lena dena nahi rehta hai tu is tarah se hum samajh sakte hain ki agar hamare desh mein bhrashtachar ki samasya samapt ho jaaye toh bahut jo dusri samasyaen hain vaah bhi khatam ho sakti hain jaise ki garibi berojgari is tarah ki samasyaen bhrashtachar ki wajah se aur bhi adhik badh gayi hain toh hum maan sakte hain ki bhrashtachar aaj hamare desh ki sabse pramukh samasya ban chuki hai

हमारे देश की एक बहुत बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है क्योंकि भ्रष्टाचार की वजह से ही अलग-अलग क्ष

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की मौजूदा व्यवस्था स्थिति इतनी खराब हो चुकी हैं राजनीति विशेष तौर पर भारत की इतने निचले स्तर की आ चुकी है कि किसी भी पार्टी या किसी भी नेता या किसी भी इंसान को कोई फर्क नहीं पड़ता यह चीजें बहुत काम हो चुके हैं जुडिशरी सर्विस भारत की इतनी भी है और जुडिशरी तो पूरी तरीके से गवर्नमेंट का कंट्रोल होता है तो कोई डर नहीं है कोई वातावरण डिस माहौल नहीं करने वालों की कमी है जिसके कारण भारत में लगातार भ्रष्टाचार में बढ़ोतरी हो रही है कि सबको अपने फायदे चाहिए और वह फायदे के लिए तरसते हैं

bharat ki maujuda vyavastha sthiti itni kharab ho chuki hain raajneeti vishesh taur par bharat ki itne nichle sthar ki aa chuki hai ki kisi bhi party ya kisi bhi neta ya kisi bhi insaan ko koi fark nahi padta yah cheezen bahut kaam ho chuke hain judiciary service bharat ki itni bhi hai aur judiciary toh puri tarike se government ka control hota hai toh koi dar nahi hai koi vatavaran dis maahaul nahi karne walon ki kami hai jiske karan bharat mein lagatar bhrashtachar mein badhotari ho rahi hai ki sabko apne fayde chahiye aur vaah fayde ke liye taraste hain

भारत की मौजूदा व्यवस्था स्थिति इतनी खराब हो चुकी हैं राजनीति विशेष तौर पर भारत की इतने निच

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है यह भारत किससे में सबसे बड़ी समस्या है क्योंकि आप जहां भी जाएंगे भ्रष्टाचार करप्शन आपको मिलेगा ही ऐसी PC सिंपल सा लॉजिक है और कि भ्रष्टाचार जो एक व्यक्ति द्वारा नहीं फहराया जाता है यह म्यूच्यूअल होता है आप ऑफिस की भारत में इतनी ज्यादा जनसंख्या इतनी ज्यादा लोग हैं कि हर व्यक्ति को अपने काम जल्दी करवाना है और एंप्लॉई लिमिटेड है सीमित है तू अब इसलिए आप बोलते हैं कि आप कुछ पैसा ले लो मेरा काम जल्दी कर दो ठीक है आप कहीं ना कहीं फोर्स करें मैं तो कल के लिए और लोगों के सी लेते हैं इससे जुड़े करप्शन बढ़ता गया बढ़ता गया और आप इतना मतलब इतना बड़ा रूप ले चुका है कि भारत की प्रगति भारत के डेवलपमेंट के नहीं रोक लगाती है यह बहुत जरूरी है कि हर एक लोग समझे कि के हर एक लोग नए विचार के साथ नए विचार धाराओं के साथ देश को आगे बढ़ाने में मदद करें बहुत जरूरी है लोग इस चीज पसंद की चीज गलत है ना करें और सब कुछ सिस्टेमेटिक को इस मुझे लगता है काफी काफी अच्छा लगेगा यह चीज नई जनरेशन नहीं सोचता ने के लिए अभी से जो बच्चे हैं कॉलेज में पढ़ाई जानी चाहिए ताकि बच्चों के दिमाग में सिर्फ चीज आए और आगे चलकर वह ऐसी गलती ना करें क्योंकि अभी ब्लॉक कर दें

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar hi kyon hai yah bharat kisse mein sabse badi samasya hai kyonki aap jaha bhi jaenge bhrashtachar corruption aapko milega hi aisi PC simple sa logic hai aur ki bhrashtachar jo ek vyakti dwara nahi fahraya jata hai yah mutual hota hai aap office ki bharat mein itni zyada jansankhya itni zyada log hain ki har vyakti ko apne kaam jaldi karwana hai aur emplai limited hai simit hai tu ab isliye aap bolte hain ki aap kuch paisa le lo mera kaam jaldi kar do theek hai aap kahin na kahin force kare main toh kal ke liye aur logo ke si lete hain isse jude corruption badhta gaya badhta gaya aur aap itna matlab itna bada roop le chuka hai ki bharat ki pragati bharat ke development ke nahi rok lagati hai yah bahut zaroori hai ki har ek log samjhe ki ke har ek log naye vichar ke saath naye vichar dharaon ke saath desh ko aage badhane mein madad kare bahut zaroori hai log is cheez pasand ki cheez galat hai na kare aur sab kuch sistemetik ko is mujhe lagta hai kaafi kafi accha lagega yah cheez nayi generation nahi sochta ne ke liye abhi se jo bacche hain college mein padhai jani chahiye taki baccho ke dimag mein sirf cheez aaye aur aage chalkar vaah aisi galti na kare kyonki abhi block kar dein

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार ही क्यों है यह भारत किससे में सबसे बड़ी समस्या है क्यो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार इसलिए क्योंकि उनके प्रचार की वजह से हमारे देश में विकास रुक रहा है और लोगों के काम नहीं हो पाते हैं वह भ्रष्टाचार करते हैं और इसी वजह से हमारे देश में कहीं ना कहीं जो लोग गरीब है वह अपना काम नहीं करवा पाते क्योंकि उनके पास भ्रष्टाचार करने के लिए पैसे देने के लिए उनके पास संपत्ति नहीं होती है उसके अलावा भ्रष्टाचार से हमारी जी कॉल मी होती है वह भी खराब होती है हमारे देश में और जो लोग गरीबी से तड़प रहे हैं उनका पैसा कहीं ना कहीं भ्रष्ट लोगों के पास जा रहा होता है तो इसलिए भ्रष्टाचार और भी कई तरीकों से हमारे देश के लिए हानिकारक है लेकिन यही बचा है जिसकी वजह से हमारा देश भ्रष्टाचार की समस्या से जूझ रहा है और इसी वजह से भ्रष्टाचार एक बहुत बड़ी समस्या हमारे देश के लिए

bharat ki sabse badi samasya bhrashtachar isliye kyonki unke prachar ki wajah se hamare desh mein vikas ruk raha hai aur logo ke kaam nahi ho paate hain vaah bhrashtachar karte hain aur isi wajah se hamare desh mein kahin na kahin jo log garib hai vaah apna kaam nahi karva paate kyonki unke paas bhrashtachar karne ke liye paise dene ke liye unke paas sampatti nahi hoti hai uske alava bhrashtachar se hamari ji call me hoti hai vaah bhi kharab hoti hai hamare desh mein aur jo log garibi se tadap rahe hain unka paisa kahin na kahin bhrasht logo ke paas ja raha hota hai toh isliye bhrashtachar aur bhi kai trikon se hamare desh ke liye haanikarak hai lekin yahi bacha hai jiski wajah se hamara desh bhrashtachar ki samasya se joojh raha hai aur isi wajah se bhrashtachar ek bahut badi samasya hamare desh ke liye

भारत की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार इसलिए क्योंकि उनके प्रचार की वजह से हमारे देश में विका

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!