क्या आज कोई भी इंसान सही मन से पूजा करता है?...


user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

2:30
Play

Likes  9  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:04

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित हम ऐसे कोई नहीं होती कि सब के बारे में बताएं लेकिन इतना तो जाहिर है कि मैक्स मुझे पसंद है जो कोई सच्चे मन से पूजा नहीं करता है और किसी बात की पूजा करना इतना जरूरी भी नहीं है अगर हम वेद पढ़े अभी का घर हम पढ़ते हैं एक जैसे हनुमान चालीसा पढ़ते हैं या फिर कुछ और भी पढ़ते हैं उसमें लिखा होता है कि इन लोगों की पूजा करने से आदमी की बुद्धि विद्या ज्ञान मिलेगा लेकिन अर्थमेटिक हमारे मुख से श्रीमद् भागवत गीता है हमारे बीच हमारे पुराने अगर हम उसमें पढ़े तो में कहीं नहीं लिखा गया है कि भगवान की पूजा करना जरूरी है भगवान को चढ़ावा चढ़ाना जरूरी है क्योंकि जो खुद ऑलमाइटी है जिसने हमें यह सब दिया है हमारे जीवन यापन करने के लिए उसे हमसे कुछ नहीं चाहिए और दूसरी तरफ जो हमने यही कहावत भी है कि कर्म ही पूजा है या नहीं अगर हम काम करते हैं तो उसमें ही हमारी पूजा का हम जो करना है हमें + साइन किया गया वर्क अगर हम उसको सही तरीके से करें तो मतलब वह इक्विपमेंट होता है हमारे आराध्य की पूजा करने के बराबर

likhit hum aise koi nahi hoti ki sab ke bare mein bataye lekin itna toh jaahir hai ki max mujhe pasand hai jo koi sacche man se puja nahi karta hai aur kisi baat ki puja karna itna zaroori bhi nahi hai agar hum ved padhe abhi ka ghar hum padhte hain ek jaise hanuman chalisa padhte hain ya phir kuch aur bhi padhte hain usme likha hota hai ki in logo ki puja karne se aadmi ki buddhi vidya gyaan milega lekin arthametic hamare mukh se shrimad bhagwat geeta hai hamare beech hamare purane agar hum usme padhe toh mein kahin nahi likha gaya hai ki bhagwan ki puja karna zaroori hai bhagwan ko chadhava chadhana zaroori hai kyonki jo khud alamaiti hai jisne hamein yah sab diya hai hamare jeevan yaapan karne ke liye use humse kuch nahi chahiye aur dusri taraf jo humne yahi kahaavat bhi hai ki karm hi puja hai ya nahi agar hum kaam karte hain toh usme hi hamari puja ka hum jo karna hai hamein sign kiya gaya work agar hum usko sahi tarike se kare toh matlab vaah Equipment hota hai hamare aradhya ki puja karne ke barabar

लिखित हम ऐसे कोई नहीं होती कि सब के बारे में बताएं लेकिन इतना तो जाहिर है कि मैक्स मुझे पस

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
murti puja in bhagwat geeta ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!