अगर मस्तिष्क का प्रयोग सिर्फ अपने फायदे के लिए किया जाए तो क्या हम सिर्फ ठग ही कहलाए जाने चाहिए?...


user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस सवाल के लिए मेरा जवाब और उसे शायद थोड़ा डिफरेंट होगा मैं कहती हूं कि हां मस्तिष्क का प्रयोग सिर्फ अपने फायदे के लिए किया जाए तो भी कोई प्रॉब्लम नहीं है अब डिपेंड करता है कि वह फायदा क्या है जैसे फॉर एग्जांपल मैं अपने मस्तिष्क का प्रयोग किस चीज में सबसे ज्यादा करना चाहती हूं कि जहां मुझे सबसे ज्यादा सेटिस्फेक्शन इलेक्शन मुझे मिलता है लोगों की हेल्प करके उनकी जिंदगी में खुशियों को भर कर दिया उनकी जो प्रॉब्लम से उसको सॉल्व करके अगर मैं अपने मस्तिष्क का इस्तेमाल सिर्फ सेटिस्फेक्शन को पानी के लिए कर रही हैं जो सेटिस्फेक्शन मुझे लोगों की मदद करके मिल रहा है तो क्या प्रॉब्लम है

is sawaal ke liye mera jawab aur use shayad thoda different hoga main kehti hoon ki haan mastishk ka prayog sirf apne fayde ke liye kiya jaaye toh bhi koi problem nahi hai ab depend karta hai ki vaah fayda kya hai jaise for example main apne mastishk ka prayog kis cheez mein sabse zyada karna chahti hoon ki jaha mujhe sabse zyada setisfekshan election mujhe milta hai logo ki help karke unki zindagi mein khushiyon ko bhar kar diya unki jo problem se usko solve karke agar main apne mastishk ka istemal sirf setisfekshan ko paani ke liye kar rahi hain jo setisfekshan mujhe logo ki madad karke mil raha hai toh kya problem hai

इस सवाल के लिए मेरा जवाब और उसे शायद थोड़ा डिफरेंट होगा मैं कहती हूं कि हां मस्तिष्क का प्

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1235
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं लिखिए अंग्रेजी में दम है कौन सी यानी कि आपका अंदर का आवाज अभी एकदम से मुझे वह बोर्ड का ट्रांसलेशन यानी कि हिंदी का शब्द नहीं पता है लेकिन जो आपके अंदर की आवाज है उसको साफ रहना चाहिए तो देखिए वी ऑल आर सेल्फिश मैं तो क्लियर बात करती हूं हमेशा यह बनावटी कि हां मैं बहुत अच्छी हूं या यह बहुत अच्छा है कोई अच्छा नहीं होता है और कोई बुरा भी नहीं होता है हम सब में गडरिया से यानी कि हम सब में बुराइयां भी हैं भर भर के और अच्छाई अच्छाइयां भी है लेकिन आपको ऐसा काम करना चाहिए ना जिससे दूसरों को कभी भारी छूट नहीं पहुंचे और एक्स एक्स एक्स में आप एकदम लालची या फिर खुदगर्ज और सिर्फ अपना फायदा करने वाली या करने वाला यह सब आप में अगर ट्रीट्स है तो इस धीरे धीरे आपको समझना होगा कि यार मैं क्या कर रही हूं और क्या हो रहा है गलत चीज है तो यह चीज आपको नहीं करनी चाहिए न्यू सुनने को भी सेल्फिश जरूर अगर आप सिर्फ अपना फायदा देखोगे प्रश्न है अगर मस्तिष्क का प्रयोग सिर्फ अपने फायदे के लिए किया जाए तो क्या हम ऑफ कोर्स ऑफ इसलिए आप थक जाओगे लेकिन छोटे-मोटे ठग हम सब लोग हैं क्योंकि आप आप कितना भी बताओगे आपको भी पता है खुद और हम सबको पता है कि हम मंगरे रियाज हैं मतलब हम सब कहीं ना कहीं खराब है लेकिन आप की कोशिश ज्यादा से ज्यादा ही होनी थी कि आप कभी भी लोगों का इस्तेमाल करके अपना फायदा नहीं करो यह आपको हमेशा सोचना चाहिए अच्छा ऐसा काम करो जिससे सामने वाला कभी फायदा क्योंकि तभी आपको अंदर से अच्छा लगेगा देखना मतलब

namaste doston meri rani doctor priya jha ke taraf se aap sabko din ki bahut saree subhkamnaayain likhiye angrezi mein dum hai kaun si yani ki aapka andar ka awaaz abhi ekdam se mujhe wah board ka translation yani ki hindi ka shabd nahi pata hai lekin jo aapke andar ki awaaz hai usko saaf rehna chahiye toh dekhie va all r selfish main toh clear baat karti hoon hamesha yeh banaavatee ki haan main bahut acchi hoon ya yeh bahut accha hai koi accha nahi hota hai aur koi bura bhi nahi hota hai hum sab mein gadariya se yani ki hum sab mein buraiyan bhi hain bhar bhar ke aur acchai achaiya bhi hai lekin aapko aisa kaam karna chahiye na jisse dusro ko kabhi bhari chhut nahi pahuche aur x x x mein aap ekdam lalchi ya phir khudgarz aur sirf apna fayda karne wali ya karne vala yeh sab aap mein agar treats hai toh is dhire dhire aapko samajhna hoga ki yaar main kya kar rahi hoon aur kya ho raha hai galat cheez hai toh yeh cheez aapko nahi karni chahiye new sunne ko bhi selfish zaroor agar aap sirf apna fayda dekhoge prashna hai agar mastishk ka prayog sirf apne fayde ke liye kiya jaye toh kya hum of course of isliye aap thak jaoge lekin chote mote thug hum sab log hain kyonki aap aap kitna bhi bataoge aapko bhi pata hai khud aur hum sabko pata hai ki hum mangare riyaaz hain matlab hum sab kahin na kahin kharab hai lekin aap ki koshish zyada se zyada hi honi thi ki aap kabhi bhi logo ka istemal karke apna fayda nahi karo yeh aapko hamesha sochna chahiye accha aisa kaam karo jisse saamne vala kabhi fayda kyonki tabhi aapko andar se accha lagega dekhna matlab

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं लि

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  2168
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अग्र मस्तिष्क का प्रयोग हमारे दिमाग का प्रयोग केवल हमारे अपने फायदे के लिए किया जाए तो बिल्कुल जिसमें हम स्वार्थी कहला सकते हैं थक गई ला सकते हैं थक मतलब होता है जो दूसरों को ठगे अपने फायदे के लिए नहीं दिया गया कि केवल अपने फायदे के लिए प्रयोग करें कभी-कभी कहीं दीप जले सोसाइटी के फायदे के लिए लोगों के फायदे के लिए उपयोग किया जा सकता है तो हम कर सकते हैं हर एक इंसान जो स्वार्थी होता ज्यादा लोग अपने बारे में ज्यादा सोचते हैं कभी भी किसी इंसान को मैंने नहीं देखा कि सपने सोसायटी के लोगों अपने परिवार अपने पूरे आसपास के लोगों के बारे में सोचें इसलिए हमेशा जो हम लोग अपने बारे में सोचते हैं यह गलत है हिसाब से हमें जो है मस्तिष्क का प्रयोग अपने के ऑपरेशन ही करने के लिए नहीं करना जब नौकरी करना चाहिए करना चाहिए कि हमारे कारण किसी को भी फायदा हो सकता हमें जो है बिल्कुल भी फायदा देना चाहिए तभी तो यह बेहतर हो पाएगा

agr mastishk ka prayog hamare dimag ka prayog keval hamare apne fayde ke liye kiya jaaye toh bilkul jisme hum swaarthi kahela sakte hain thak gayi la sakte hain thak matlab hota hai jo dusro ko thage apne fayde ke liye nahi diya gaya ki keval apne fayde ke liye prayog kare kabhi kabhi kahin deep jale society ke fayde ke liye logo ke fayde ke liye upyog kiya ja sakta hai toh hum kar sakte hain har ek insaan jo swaarthi hota zyada log apne bare mein zyada sochte hain kabhi bhi kisi insaan ko maine nahi dekha ki sapne sociaty ke logo apne parivar apne poore aaspass ke logo ke bare mein sochen isliye hamesha jo hum log apne bare mein sochte hain yah galat hai hisab se hamein jo hai mastishk ka prayog apne ke operation hi karne ke liye nahi karna jab naukri karna chahiye karna chahiye ki hamare karan kisi ko bhi fayda ho sakta hamein jo hai bilkul bhi fayda dena chahiye tabhi toh yah behtar ho payega

अग्र मस्तिष्क का प्रयोग हमारे दिमाग का प्रयोग केवल हमारे अपने फायदे के लिए किया जाए तो बिल

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!