रेकी क्या होता है?...


user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

3:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेकी जापानी भाषा का एक शब्द है जिसका अर्थ है यूनिवर्सल लाइफ फोर्स एनर्जी यह मनुष्य की सभ्यता की शुरुआत से मनुष्य की जो धरती पर जो जीवन आया है उस समय से हर मनुष्य को आदिमानव को भी ज्ञान था कि हमारे अंदर प्राण ऊर्जा है और इस प्राण ऊर्जा के कारण ही हम देख पाते हैं बोल पाते हैं सुन पाते हैं और जो बच्चे छोटे होते हो बड़े हो जाते हैं हमारा शरीर कार्य करता है यह सब प्राण के का ही होता है इसी प्राण ऊर्जा को चीन की अन्य नामों से भी जाना जाता है आप जब भी प्राणायाम करते हैं योग करते हैं तो आपके अंदर प्राण ऊर्जा का ही प्रवाह ज्यादा होता है जिसकी वजह से आप स्वस्थ होते हैं जवाब कोई भी विज्ञान की मेडिकल की यूज करते हैं तो से होता क्या है कि आपके अंदर की प्राण हो जा ही संतुलित होती है और आप उससे स्वस्थ होते हैं यह हमारे यहां के आयुर्वेद में पहले से जानी जाती थी नेचुरोपैथी में भी जानी जाती है एलोपैथी वाले अभी इस कश्यप को समझ नहीं पाए हैं इसलिए जो लोग समझ जाते हैं वह तो इसको यूज़ कर लेते हैं क्योंकि अगर एलोपैथिक दवाई के साथ अगर रेकी यूज करी जाए तो उसका परिणाम बहुत फायदा होता है जैसे मान लीजिए किसी के अंडे टूट गई है और डॉक्टर ने कहा कि एक महीना लगेगा प्लास्टर कहेगा और उसको रिकी दी जाए राष्ट्र लगाने के बाद तो वह 15 दिन में स्वस्थ हो सकता है तो इस तरह से देखेगी चमत्कार होते हैं और भी लगभग अभी तक यह प्रयोग किया जा चुका है लगभग हर रोग में से किसे फायदा होता है और क्यों होता है उसका वितरण है ऊर्जा का असंतुलन हीरो की उत्पत्ति लाता है जब रेकी भी जाती है तो ऊर्जा का आंसर तो असंतुलन दूर होता है और उसको व्यक्ति का रोग दूर होता है ठीक है सारे रोगों में एक ही काम करती है और जहां तक सफलता का प्रतिशत की बात है तो कोई सी भी विधवा हो उपचार कि वह सत्तर से अस्सी परसेंट होती है या उसको फायदा उससे लोगों को होता है चाहे वह एलोपैथी होम्योपैथी हो आयुर्वेदिक को तो कोई सी भी विधि और एक ही हो इनको हंड्रेड परसेंट तो कोई भी पद्धति फायदा नहीं पहुंचा पाती है क्योंकि अगर ऐसा होता तो फिर कोई भी मरता नहीं सभी लोग ठीक हो जाते तो मर तो रहे ही हैं लोग क्योंकि प्रकृति सबसे इंपोर्टेंट है रिकी भी कहा जाए कि एक सुगठित स्वचालित तरीके से कार्य करती है लेकिन बौद्धिक ऊर्जा है जितना इसको समझेंगे उतना ही आपको इसको यूज़ भी कर पाएंगे लेकिन सीखने का आसान तरीका है आप एक ही मास्टर से संपर्क करें मुझसे भी कर सकते हैं मैं करता हूं और उसका क्या ट्रीटमेंट है उससे आप उसके प्रति सजग हो जाएंगे और उसको उपयोग कर पाएंगे अटेनमेंट लेने में कोई बहुत समय नहीं लगता आप ऑनलाइन भी ले सकते हैं लेकिन सीखने के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए हमसे संपर्क करें बहुत-बहुत धन्यवाद नमस्कार

reki japani bhasha ka ek shabd hai jiska arth hai universal life force energy yah manushya ki sabhyata ki shuruat se manushya ki jo dharti par jo jeevan aaya hai us samay se har manushya ko adimanav ko bhi gyaan tha ki hamare andar praan urja hai aur is praan urja ke karan hi hum dekh paate hain bol paate hain sun paate hain aur jo bacche chote hote ho bade ho jaate hain hamara sharir karya karta hai yah sab praan ke ka hi hota hai isi praan urja ko china ki anya namon se bhi jana jata hai aap jab bhi pranayaam karte hain yog karte hain toh aapke andar praan urja ka hi pravah zyada hota hai jiski wajah se aap swasthya hote hain jawab koi bhi vigyan ki medical ki use karte hain toh se hota kya hai ki aapke andar ki praan ho ja hi santulit hoti hai aur aap usse swasthya hote hain yah hamare yahan ke ayurveda mein pehle se jani jaati thi naturopathy mein bhi jani jaati hai allopathy waale abhi is kashyap ko samajh nahi paye hain isliye jo log samajh jaate hain vaah toh isko use kar lete hain kyonki agar allopathic dawai ke saath agar reki use kari jaaye toh uska parinam bahut fayda hota hai jaise maan lijiye kisi ke ande toot gayi hai aur doctor ne kaha ki ek mahina lagega plaster kahega aur usko riki di jaaye rashtra lagane ke baad toh vaah 15 din mein swasthya ho sakta hai toh is tarah se dekhenge chamatkar hote hain aur bhi lagbhag abhi tak yah prayog kiya ja chuka hai lagbhag har rog mein se kise fayda hota hai aur kyon hota hai uska vitaran hai urja ka asantulan hero ki utpatti lata hai jab reki bhi jaati hai toh urja ka answer toh asantulan dur hota hai aur usko vyakti ka rog dur hota hai theek hai saare rogo mein ek hi kaam karti hai aur jaha tak safalta ka pratishat ki baat hai toh koi si bhi vidva ho upchaar ki vaah sattar se assi percent hoti hai ya usko fayda usse logo ko hota hai chahen vaah allopathy homeopathy ho ayurvedic ko toh koi si bhi vidhi aur ek hi ho inko hundred percent toh koi bhi paddhatee fayda nahi pohcha pati hai kyonki agar aisa hota toh phir koi bhi marta nahi sabhi log theek ho jaate toh mar toh rahe hi hain log kyonki prakriti sabse important hai riki bhi kaha jaaye ki ek sugthit svachalit tarike se karya karti hai lekin baudhik urja hai jitna isko samjhenge utana hi aapko isko use bhi kar payenge lekin sikhne ka aasaan tarika hai aap ek hi master se sampark kare mujhse bhi kar sakte hain main karta hoon aur uska kya treatment hai usse aap uske prati sajag ho jaenge aur usko upyog kar payenge atenment lene mein koi bahut samay nahi lagta aap online bhi le sakte hain lekin sikhne ke liye prashikshan prapt karne ke liye humse sampark kare bahut bahut dhanyavad namaskar

रेकी जापानी भाषा का एक शब्द है जिसका अर्थ है यूनिवर्सल लाइफ फोर्स एनर्जी यह मनुष्य की सभ्य

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  958
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!